BSc एग्रीकल्चर में विषय कौन से हैं? – Subject in B.Sc Agriculture in Hindi

1 minute read
bsc agriculture syllabus in hindi

भारत एक कृषि प्रधान देश हैं। जो देश की अर्थव्यवस्था का मुख्य स्रोत है। वहीं वर्तमान समय में कृषि को बढ़ावा देने के लिए कई प्रकार की कृषि तकनीकों का प्रयोग किया जाता हैं। इससे न केवल कृषि को बढ़ावा मिलता है साथ ही फसलों की नई किस्मों को भी खोजा जाता है। कृषि एक समृद्ध और अद्यतन व्यवसाय है जिससे दुनियाभर में लाखों-करोड़ों लोगों को रोजगार मिलता हैं। वहीं, अब युवाओं का रुझान भी कृषि की ओर बढ़ा हैं। 

भारत में कई ऐसे प्रतिष्ठित कृषि विश्वविद्यालय और संस्थान हैं जो कृषि से संबंधित कोर्सेज ऑफर करते हैं। अगर आप भी BSc Agriculture में एडमिशन लेकर अपना सुनहरा भविष्य बनाना चाहते हैं, तो आपको BSc agriculture subjects in Hindi के बारे में जान लेना चाहिए। यहाँ स्टूडेंट्स को bsc agriculture syllabus in hindi की जानकारी के साथ ही प्रमुख विश्वविद्यालय और करियर स्कोप के बारे में विस्तार से बताया गया है इसलिए ब्लॉग को अंत तक जरूर पढ़ें। 

कोर्सBachelor of Science (BSc) Agriculture
अवधि3 वर्ष
योग्यतासाइंस स्ट्रीम में 10+2 (PCB
विषयपादप आनुवंशिकी, कृषि मौसम विज्ञान, खाद्य प्रौद्योगिकी, बागवानी, कृषि विज्ञान, पशुपालन
प्रवेश परीक्षाएं-ICAR AIEEA
-MP PAT
-AP EAMCET
-PAU CET
-ACT/SAT (abroad)
अनुमानित सैलरीINR 3-6 लाख/सालाना
जॉब्स-एग्रीकल्चरल अफसर
-ICAR साइंटिस्ट
-एग्रीकल्चर एनालिस्ट
-रिसर्च साइंटिस्ट

BSc एग्रीकल्चर क्या है? – B.Sc Agriculture in Hindi

BSc एग्रीकल्चर 4 साल का अंडरग्रेजुएट डिग्री कोर्स है, जिसमें कृषि और इसके प्रक्टिकल्स से संबंधित विषय शामिल हैं। इस विषय में एग्रीकल्चरल साइंस, हॉर्टिकल्चर, पादप विकृति विज्ञान, कीट विज्ञान, मृदा विज्ञान, खाद्य प्रौद्योगिकी, कृषि अर्थशास्त्र, गृह विज्ञान, मत्स्य पालन, वानिकी और पशु चिकित्सा विज्ञान भी है। इसका उद्देश्य जल संसाधन प्रबंधन, मृदा निर्माण, कुक्कुट प्रबंधन, भूमि सर्वेक्षण आदि को बेहतर बनाने के लिए कृषि विज्ञान की आधुनिक तकनीक प्रदान करना है।

इस कोर्स का मुख्य उद्देश्य भविष्य की पीढ़ी को कृषि प्रोडक्टिविटी और उपज को कम करने के साथ-साथ कृषि उत्पादकता में सुधार के तरीकों में सहायता करना है। BSc एग्रीकल्चर कोर्स फीस आमतौर पर भारत में INR 2-3 लाख और विदेशों में INR 10-20 लाख (विश्वविद्यालय के अनुसार अलग-अलग) है।

BSc एग्रीकल्चर सिलेबस

यहां पहले, दूसरे और तीसरे और चौथे वर्ष का पूरा सिलेबस दिया गया है-

पहला वर्ष

भारतीय ग्रामीण समाजशास्त्र और संविधानसंयंत्र जैव रसायनअंग्रेजी में संचार और समझ कौशल
कृषि वित्त और सहयोगकंप्यूटर एप्लीकेशन का परिचयशैक्षणिक मनोविज्ञान
कृषि व्यवसाय प्रबंधन की मूल बातेंकृषि अर्थशास्त्र के सिद्धांतखेत प्रबंधन
कृषि मार्केटिंगउत्पादन अर्थशास्त्र

दूसरा वर्ष

मृदा इंजीनियरिंगजल इंजीनियरिंगफसल कीट और प्रबंधन और मशीनरी
कृषि शक्तिकृषि-प्रसंस्करण और खेती की संरचनाएंकृषि में ऊर्जा स्रोतों का अनुप्रयोग
कीट विज्ञान के सिद्धांतकीट विज्ञान की आर्थिक पृष्ठभूमिरेशम उत्पादन का परिचय

तीसरा वर्ष

कृषि विस्तार के आयामविस्तार के तरीके
कृषि प्रौद्योगिकियां – उनकी कार्यप्रणाली और प्रबंधनसंचार कौशल
उद्यमिता विकासमाइक्रोबायोलॉजी का परिचय
कृषि सूक्ष्म जीव विज्ञान के पहलूमृदा सूक्ष्म जीव विज्ञान

चौथा वर्ष

सांख्यिकी के सिद्धांतसांख्यिकी के मूल सिद्धांतकृषि में सांख्यिकी का महत्व
कृषि विज्ञान का परिचयकृषि विज्ञान के सिद्धांतकृषि मौसम विज्ञान
खरपतवार प्रबंधनकृषि अनुसंधान में प्रायोगिक तकनीकस्थायी कृषि जैविक खेती
कृषि प्रणाली और सिंचाई जल प्रबंधनफसल उत्पाद जल विभाजन प्रबंधनवर्षा आधारित कृषि

BSc एग्रीकल्चर का सेमेस्टर वाइज़ विषय

BSc agriculture subjects in Hindi कई सारे हैं और इस कोर्स को अच्छे से समझने के लिए सेमेस्टर वाइज़ विषय की लिस्ट दी गई है-

सेमेस्टर 1

  • ग्रामीण समाजशास्त्र और भारत का संविधान
  • शैक्षणिक मनोविज्ञान
  • संयंत्र जैव रसायन
  • कंप्यूटर एप्लीकेशन का परिचय
  • अंग्रेजी में संचार और समझ कौशल

सेमेस्टर 2

  • कृषि अर्थशास्त्र के सिद्धांत
  • फार्म प्रबंधन
  • उत्पादन अर्थशास्त्र
  • व्यापार और कीमतें
  • कृषि वित्त और सहयोग
  • कृषि विपणन
  • कृषि व्यवसाय प्रबंधन की मूल बातें

सेमेस्टर 3

  • मृदा इंजीनियरिंग
  • जल इंजीनियरिंग
  • मशीनरी
  • कृषि शक्ति
  • कृषि-प्रसंस्करण और खेती की संरचनाएं
  • कृषि में ऊर्जा स्रोतों का अनुप्रयोग

सेमेस्टर 4

  • कीट विज्ञान के सिद्धांत
  • कीट विज्ञान की आर्थिक पृष्ठभूमि
  • रेशम उत्पादन का परिचय
  • फसल कीट और प्रबंधन

सेमेस्टर 5

  • कृषि विस्तार के आयाम
  • विस्तार के तरीके
  • कृषि प्रौद्योगिकियां – उनकी कार्यप्रणाली और प्रबंधन
  • संचार कौशल
  • उद्यमिता विकास

सेमेस्टर 6

  • माइक्रोबायोलॉजी का परिचय
  • कृषि सूक्ष्म जीव विज्ञान के पहलू
  • मृदा सूक्ष्म जीव विज्ञान

सेमेस्टर 7

  • सांख्यिकी के सिद्धांत
  • सांख्यिकी के मूल सिद्धांत
  • कृषि में सांख्यिकी का महत्व

सेमेस्टर 8 

  • कृषि विज्ञान का परिचय
  • कृषि विज्ञान के सिद्धांत
  • कृषि मौसम विज्ञान
  • खरपतवार प्रबंधन
  • कृषि अनुसंधान में प्रायोगिक तकनीक
  • स्थायी कृषि
  • जैविक खेती
  • कृषि प्रणाली
  • सिंचाई जल प्रबंधन
  • फसल उत्पाद
  • जल विभाजन प्रबंधन
  • वर्षा आधारित कृषि

आप AI Course Finder की मदद से अपने पसंद के कोर्सेस और यूनिवर्सिटीज का चयन कर सकते हैं।

विदेश में BSc एग्रीकल्चर के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज

सीनियर सेकेंडरी स्कूल में भौतिकी, रसायन विज्ञान, गणित, कृषि और जीव विज्ञान वाले साइंस स्ट्रीम के छात्र BSc एग्रीकल्चर में डिग्री हासिल करने के लिए योग्य होते हैं। न्यूनतम परसेंटेज मापदंड एक यूनिवर्सिटी से दूसरी यूनिवर्सिटी में भिन्न हो सकता हैं लेकिन एक अच्छा IELTS या TOEFL स्कोर आपको अपनी पसंद के कॉलेज में ले जा सकता है। नीचे यूनिवर्सिटीज के नाम दिए गए हैं-

क्या आप UK में पढ़ाई करना चाहते है? तो Leverage Edu लाया है Mega UniConnect, दुनिया का पहला और सबसे बड़ा यूनिवर्सिटी फेयर जहाँ आपको मिल सकता है स्टडी अब्रॉड रेप्रेज़ेंटेटिव्स से बात करने का मौका। 

भारत में BSc एग्रीकल्चर के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज  

नीचे सारणीबद्ध भारत में शीर्ष बीएससी कृषि कॉलेज हैं,जो इच्छुक छात्रों को कोर्स प्रदान करते हैं-

  • चंडीगढ़ विश्वविद्यालय
  • गोविंद बल्लभ पंत कृषि और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय
  • भारत विश्वविद्यालय
  • अन्नामलाई विश्वविद्यालय
  • शिवाजी विश्वविद्यालय
  • जूनागढ़ कृषि विश्वविद्यालय
  • उड़ीसा कृषि और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय

BSc एग्रीकल्चर के लिए योग्यता

यदि आप इस कोर्स को करना चाहते हैं, तो BSc agriculture subjects in Hindi के अलावा आम योग्यता के बारे में जानना जरूरी है, जो इस प्रकार है:

  • छात्रों के पास 10 + 2 (साइंस स्ट्रीम) या विज्ञान स्ट्रीम विषयों जैसे भौतिकी, रसायन विज्ञान, गणित, कृषि और जीव विज्ञान के साथ समकक्ष परीक्षा होनी चाहिए। 
  • यदि आप विदेश में BSc एग्रीकल्चर करने का सोच रहे हैं, तो आपको IELTS/TOEFL/PTE आदि के लैंग्वेज टेस्ट के अंकों साथ SAT/ACT स्कोर प्राप्त करना होगा  । 
  • इसके अलावा, आपको SOP और LOR भी देना होगा।

क्या आप IELTS/TOEFL/SAT/GRE में अच्छे अंक प्राप्त करना चाहते हैं? आज ही इन एग्जाम की बेहतरीन तैयारी के लिए Leverage Live पर रजिस्टर करें और अच्छे स्कोर प्राप्त करें।

BSc एग्रीकल्चर के लिए आवेदन प्रक्रिया  

बीएससी कृषि में प्रवेश प्रक्रिया एक कॉलेज से दूसरे कॉलेज में भिन्न होती है। जहां कुछ कॉलेजों में प्रवेश परीक्षा के आधार पर प्रवेश दिया जाता है, वहीं अन्य कॉलेजों में छात्र सीधे कोर्स में प्रवेश ले सकते हैं। 

  • प्रवेश परीक्षा आधारित परीक्षा : विश्वविद्यालयों द्वारा आयोजित प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन करने के लिए, छात्रों को आवेदन पत्र भरना होगा और अपना पंजीकरण कराना होगा। केसीईटी 2021, केईएएम 2021 जैसी प्रवेश परीक्षाएं कर्नाटक और केरल के बीएससी कृषि कॉलेजों में परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले छात्रों को प्रवेश देती हैं।
  • सीधे प्रवेश के लिए : छात्र आवेदन की अंतिम तिथि से पहले संबंधित कॉलेज का आवेदन पत्र भर सकते हैं। उन्हें प्रवेश दिया जाएगा यदि कक्षा 12 वीं में उनके कुल अंक उनके योग्यता मानदंडों को पूरा करते हैं। 

विदेशी यूनिवर्सिटीज में BSc एग्रीकल्चर के लिए आवेदन प्रक्रिया 

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finderकी सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसेSOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTSTOEFLSATACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTSTOEFLPTEGMATGRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Liveकक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीजाऔर छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

आवदेन प्रक्रिया से सम्बन्धित जानकारी और मदद के लिए Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800572000 पर संपर्क करें

BSc एग्रीकल्चर के लिए आवश्यक दस्तावेज 

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

छात्र वीजा पाने के लिए भी Leverage Edu विशेषज्ञ आपकी हर सम्भव मदद करेंगे।

BSc एग्रीकल्चर के बाद करियर स्कोप

ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद, छात्र या तो कृषि विज्ञान में मास्टर्स, जैव प्रौद्योगिकी, ग्रामीण बैंकिंग, अंतरराष्ट्रीय कृषि व्यवसाय आदि जैसे क्षेत्रों में master in Science (MSc) या MBA in Agriculture करके उच्च अध्ययन का विकल्प चुन सकते हैं। इसके अलावा इस कोर्स को करने के बाद कई जॉब के विकल्प हैं जिनमें अच्छी सैलरी मिलती है, जो इस प्रकार हैं:

  • हॉर्टीकल्चरिस्ट
  • कृषिविद
  • अनुसंधान वैज्ञानिक
  • मृदा अभियंता
  • फार्म मैनेजर
  • खाद्य सूक्ष्म जीवविज्ञानी
  • जल संरक्षणवादी
  • व्यवसाय विकास प्रबंधक
  • पादप आनुवंशिकीविद्
  • पर्यावरण अभियान्ता
  • सिल्विकल्चरल रिसर्चर
  • जलीय पारिस्थितिकी विज्ञानी
  • वन्यजीव फोरेंसिक

जॉब प्रोफाइल्स और सैलरी

BSc agriculture subjects in Hindi जानने के बाद नीचे जॉब प्रोफाइल्स और सैलरी दी गई हैं-

जॉब प्रोफाइल्सऔसत सालाना सैलरी (INR)
एग्रीकल्चर अफसर9-10 लाख
असिस्टेंट प्लानटेशन मैनेजर5-6 लाख
एग्रीकल्चरल रिसर्च साइंटिस्ट6-7 लाख
एग्रीकल्चर डेवलपमेंट अफसर5-6 लाख
एग्रीकल्चर तकनीशियन4-5 लाख

FAQs

बीएससी एग्रीकल्चर में कौन-कौन से सब्जेक्ट होते हैं?

बीएससी एग्रीकल्चर में कई सब्जेक्ट हैं। यहां कुछ लोकप्रिय विषयों के नाम दिए हैं-
1. कृषि विज्ञान
2. कृषि अर्थशास्त्र
3. कीटविज्ञान
4. मृदा विज्ञान
5. पौध प्रजनन
6. कृषि इंजीनियरिंग
7. आनुवंशिकी

क्या बीएससी कृषि के लिए गणित अनिवार्य है?

नहीं, बीएससी कृषि के लिए गणित अनिवार्य नहीं है। हालांकि, बिना गणित वाले छात्रों को कृषि इंजीनियरिंग जैसे विषयों में परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

क्या बीएससी कृषि कठिन है?

नहीं, बीएससी कृषि कोई कठिन कोर्स नहीं है। यह छात्रों को कृषि के क्षेत्र में मौजूदा समस्याओं का समाधान खोजने के लिए प्रेरित करता है। खेती के प्रति झुकाव रखने वाले छात्र आमतौर पर यह कोर्स करते हैं।

कृषि में स्कोप क्या है?

इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप या तो बागवानी, पशुपालन, डेयरी और मत्स्य उद्योग में काम कर सकते हैं।

एग्रीकल्चर में बीएससी कितने साल की होती है?

BSc एग्रीकल्चर और यह 4 साल अंडर ग्रेजुएट बैचलर डिग्री का कोर्स होता है।

आशा है कि आपको bsc agriculture syllabus in hindi से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी मिल गई होगी। ऐसे हीकरियर और प्रतियोगी परीक्षाओं से जुड़े ब्लॉग्स पढ़ने के लिए Leverage Edu के साथ बने रहे। 

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*

6 comments