बीएससी मैथ्स के बाद क्या करें?

2 minute read
1.6K views
10 shares
Career after BSc Maths

आप मैथ्स के बहुत शौक़ीन हैं और इसमें ही आपका जूनून है और आपने बीएससी मैथ्स कर रखा है। आप सोच रहे हैं कि कैसे मैं बीएससी मैथ्स के बाद आगे बढूं तो यह ब्लॉग आपके लिए ही है। यह ब्लॉग आपकी बीएससी मैथ्स के बाद जुड़ी हर दुविधा को दूर कर देगा और उसके बाद आप यह नहीं पूछेंगे कि Bsc Maths ke Baad Kya Kare तो चलिए, जानते हैं इसके बारे में संपूर्ण जानकारी।

Check out: पढ़ाई के लिए मिलेगा आसानी से Educational Loan

बीएससी मैथ्स क्या है?

बीएससी मैथ्स एक अंडरग्रेजुएट शैक्षणिक डिग्री है जो गणित या संबंधित विषयों में अध्ययन के एक कार्यक्रम को सफलतापूर्वक पूरा करने के लिए प्रदान की जाती है, जैसे कि एप्लाइड गणित, बीमांकिक विज्ञान, कम्प्यूटेशनल विज्ञान, डेटा विश्लेषण, वित्तीय गणित, गणितीय भौतिकी, शुद्ध गणित, संचालन अनुसंधान या सांख्यिकी आदि। व्यवहार में, यह अनिवार्य रूप से गणित में विशेषज्ञता के साथ विज्ञान डिग्री या कला की बैचलर्स डिग्री के बराबर है। अपेक्षाकृत कम संस्थान गणित में बैचलर डिग्री प्रदान करते हैं।

बीएससी मैथ्स क्यों करें?

बीएससी मैथ्स करने के फायदे नीचे बताए गए हैं:

  • इस कोर्स को करने के दो फायदे हैं एक तो आपको गणित में स्पेशलाइजेशन मिल जाता है दूसरा गणित के साथ-साथ कंप्यूटर का ज्ञान भी दिया जाता है अगर इंटर में आपके मार्क्स गणित में बहुत अच्छे हैं तो आप मैथ से बीएससी कर सकते हैं।
  • बैंकिंग के एग्जाम में अधिकत्तर सवाल गणित के आते हैं इसलिए बैंकिंग का एग्जाम क्लियर करना आपके लिए आसान होगा। 
  • आपकी गणित मजबूत होने से आप स्टेटिस्टिक्स, डाटा एनालिसिस, फाइनेंसियल गणित को आसानी से समझ सकते हैं। 

बीएससी गणित के बाद उच्च शिक्षा के विकल्प

काफी संख्या में छात्र नॉलेज लेने के लिए गणित में उच्च शिक्षा लेते हैं। गणित में परास्नातक (Masters) या पीएचडी, बीएससी गणित के बाद करियर बनाने के लिए छात्र चुनते हैं। एक इंटर-डिसिप्लिनरी फील्ड में आप कंप्यूटर साइंस, डेटा एनालिटिक्स, इकोनॉमिक्स, फाइनेंस और स्टैटिस्टिक्स जैसे क्षेत्रों में इसे कर सकते हैं। अगर मुख्य तकनीकी क्षेत्र नहीं है, तो आप एमबीए जैसे विशेष और प्रोफेशनल कोर्स का विकल्प भी चुन सकते हैं। कुछ सबसे प्रसिद्ध एमबीए कोर्स कंप्यूटर साइंस, गुणवत्ता प्रबंधन और एकाउंटिंग में हैं। आपको Bsc Maths ke Baad Kya Kare से संबंधित कोर्सेज की लिस्ट दी जा रही है:

  1. MSc Maths
  2. MSc Actuarial Science
  3. MSc Financial Mathematics and Computation
  4. MA/MSc Statistics
  5. MSc Statistics and Operational Research
  6. Master of Data Science
  7. MBA in Finance
  8. Graduate Diploma in Mathematics and Statistics
  9. Master of Computer Applications (MCA)
  10. Chartered Accountancy (CA)
  11. Chartered Financial Analyst (CFA)
  12. Company Secretary (CS)
  13. Financial Risk Manager (FRM)
MCA

यदि आपकी रूचि कंप्यूटर फील्ड में है और आप कंप्यूटर की फील्ड में अपना करियर बना कर किसी मल्टीनेशनल कंपनी में काम करना चाहते हैं तब आप बीएससी मैथ्स के बाद MCA कर सकते हैं। किसी अच्छे कॉलेज से MCA करने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ेगा।

MBA/ PGDM

अगर आपकी रूचि मैनेजमेंट की तरफ है तो आप बीएससी मैथ करने के बाद एमबीए या फिर पीजीडीएम यानी ” पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट ” कर सकते हैं

Bsc Actuarial Science 

फाइनेंस इन स्टैटिक्स पर आधारित साइंस को एक्चुअरियल साइंस कहते हैं। इसमें मैथ और स्टैटिक का उपयोग करके इन्वेस्टमेंट के बारे में विश्लेषण करना होता है। बैंकिंग सेक्टर, इंश्योरेंस सेक्टर में एक्चुअरियल साइंस के विद्यार्थियों की मांग को तेजी से बढ़ रही है। तो यह भी आपके लिए एक अच्छा करियर ऑप्शन हो सकता है।

Market Research

बीएससी मैथ्स करने के बाद आप मार्केट रिसर्च का कोर्स भी कर सकते हैं। जब भी कोई कंपनी अपना नया प्रोडक्ट मार्केट में लाती है तो उससे पहले वह मार्केट के हिसाब से रणनीतियां बनाती है। जैसे उस प्रोडक्ट की डिमांड को कैसे बढ़ाया जा सके। 

Chartered Accountants / CA

आपने CA के बारे में तो सुना ही होगा। तो अगर आपने बीएससी मैथ कर रखी है तो आप यह कोर्स भी कर सकते हैं। CA के लिए आपको CPT यानी कॉमन प्रोफेशनली टेस्ट पास करना होगा।

Check out: Education Loan without Collateral

दुनिया के टॉप विश्वविद्यालय

यदि आप विदेश में अध्ययन करने की योजना बना रहे हैं और दुनिया में सबसे अच्छी शिक्षा प्रणाली वाले देशों का हिस्सा बनने की योजना बना रहे हैं , तो गणित में एक कोर्स करना आपके लिए एक आकर्षक अनुभव हो सकता है। नीचे टेबल में दुंनिया के कुछ शीर्ष शैक्षणिक संस्थान हैं जहां आप एडमिशन ले सकते हैं : 

विश्वविद्यालय जगह
मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी अमेरीका
स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय अमेरीका
लीड्स विश्वविद्यालय यूके
न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय अमेरीका
कर्टिन विश्वविद्यालय ऑस्ट्रेलिया
दक्षिणी क्वींसलैंड विश्वविद्यालय ऑस्ट्रेलिया
पोर्ट्समाउथ विश्वविद्यालय यूके
लंदन की क्वीन मैरी यूनिवर्सिटी यूके
सस्केचेवान विश्वविद्यालय कनाडा
उत्तरी ब्रिटिश कोलंबिया विश्वविद्यालय कनाडा
विक्टोरिया यूनिवर्सिटी ऑफ वेलिंगटन न्यूज़ीलैंड
कैंटरबरी विश्वविद्यालय न्यूज़ीलैंड
हार्वर्ड विश्वविद्यालय अमेरीका

भारत के टॉप कॉलेज

भारत के टॉप कॉलेजों की सूची नीचे दी गई है:

  1. फर्ग्यूसन कॉलेज
  2. माउंट कार्मेल कॉलेज
  3. सी कॉलेज का सितारा
  4. सेंट जेवियर्स कॉलेज
  5. जादवपुर विश्वविद्यालय
  6. सेंट स्टीफंस कॉलेज
  7. रामकृष्ण मिशन विवेकानंद कॉलेज
  8. क्राइस्ट यूनिवर्सिटी
  9. दिल्ली यूनिवर्सिटी 

योग्यता

यदि आप इस क्षेत्र में डिग्री प्राप्त करने के इच्छुक हैं, तो आपको अपने चुने हुए विश्वविद्यालय द्वारा निर्धारित पात्रता मानदंडों को पूरा करना होगा। ये आवश्यकताएं कोर्सेज के स्तर के अनुसार भिन्न होती हैं, जैसे बैचलर, मास्टर या डिप्लोमा।

  • उम्मीदवारों ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 प्रथम श्रेणी से पास किया हो।
  • भारत में मास्टर्स कोर्स के लिए कुछ कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज में प्रवेश परीक्षा के स्कोर अनिवार्य हैं। साथ ही कुछ कॉलेज और यूनिवर्सिटीज अपनी स्वयं की प्रवेश परीक्षाएं आयोजित करतीं हैं। विदेश में इन कोर्सेज के लिए यूनिवर्सिटी द्वारा निर्धारित आवश्यक ग्रेड आवश्यकताओं को पूरा करना जरुरी है, जो हर यूनिवर्सिटी और कोर्स के अनुसार अलग–अलग हो सकती है।
  • मास्टर डिग्री प्रोग्राम के लिए संबंधित क्षेत्र में प्रथम श्रेणी के साथ बैचलर्स डिग्री होना आवाश्यक है। साथ ही कुछ यूनिवर्सिटीज प्रवेश परीक्षा के आधार पर भी एडमिशन स्वीकार करतीं हैं।
  • विदेश की अधिकतर यूनिवर्सिटीज बैचलर्स के लिए SAT और मास्टर्स कोर्सेज के लिए GMAT/GRE स्कोर की मांग करते हैं।
  • विदेश की यूनिवर्सिटीज में एडमिशन के लिए IELTS या TOEFL टेस्ट स्कोर, अंग्रेजी प्रोफिशिएंसी के प्रमाण के रूप में ज़रूरी होते हैं। जिसमे IELTS स्कोर 7 या उससे अधिक और TOEFL स्कोर 100 या उससे अधिक होना चाहिए।
  • विदेश यूनिवर्सिटीज में पढ़ने के लिए SOP, LOR, सीवी/रिज्यूमे और पोर्टफोलियो भी जमा करने की जरूरत होती है।

आवेदन प्रक्रिया 

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीजा और छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  1. सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  2. यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  3. फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  4. अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  5. इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  6. यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज 

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

बीएससी मैथ्स में स्कोप

बीएससी मैथ्स के बाद करियर बनाने के उपर्युक्त रास्ते के अलावा, ऐसे कई अन्य लोकप्रिय क्षेत्र हैं, जिन्हें आप खोज सकते हैं जो आपके लिए नौकरी की संभावनाएं और विकास के अवसर प्रदान करते हैं। बीएससी मैथ्स करने के बाद आप इन छेत्रों में रोजगार पा सकते हैं। आइए, जानते हैं Bsc Maths ke Baad Kya Kare में।

  1. लेखा और व्यावसायिक सेवा
  2. प्रबंधन सलाहकार
  3. ग्राहक
  4. बीमांकिक पेशा
  5. बैंक पीओ
  6. निवेश बैंकिंग
  7. खुदरा बैंकिंग
  8. मल्टीमीडिया डिजाइनर
  9. लोक प्रशासक
  10. नीति विश्लेषक
  11. व्याख्याता / प्रोफेसर
  12. अंतरिक्षविज्ञानशास्री
  13. कंप्यूटिंग और आईटी
  14. इंजीनियरिंग वैज्ञानिक
  15. सामान्य प्रबंधन
  16. आपरेशनल रिसर्च
  17. अंतरिक्ष वैज्ञानिक
  18. डेवलपर
  19. संविभाग प्रबंधक
  20. सांख्यिकीविद

Check out: केनरा बैंक स्कॉलरशिप

बीएससी मैथ्स के बाद सैलरी

Bsc Maths ke Baad Kya Kare में बीएससी गणित के लिए औसत वेतन 2-10 लाख के बीच होता है। यहाँ वेतनमान के अनुसार बीएससी गणित की नौकरियों के लिए नौकरी के हिसाब से वेतन का निम्नलिखित विवरण दिया गया है:

बीएससी गणित के बाद नौकरियां वेतन [वेतनमान]
डेटा वैज्ञानिक ₹807,246
डेटा विश्लेषक ₹457,020
गणित शिक्षक / प्रोफेसर ₹348,673
प्रोजेक्ट मैनेजर ₹1,441,096
वरिष्ठ सॉफ़्टवेयर इंजीनियर ₹877,275
सॉफ्टवेयर इंजीनियर ₹435,727
संचालन प्रबंधक ₹899,000
Bsc Maths ke Baad Kya Kare
Salary-BSc-Maths

बीएससी मैथ्स के बाद नौकरी

एक इंटर-डिसिप्लिनरी क्षेत्र होने से बीएससी मैथ्स के बाद करियर की लिस्ट काफी डिटेल में है। टेक्नोलॉजी में प्रगति और लगभग हर क्षेत्र में डेटा और मशीन लर्निंग को शामिल करने से छात्रों के लिए गणित के अलावा अन्य संबद्ध क्षेत्रों में करियर के नए रास्ते खुल गए हैं। काम पर रखने वाले संगठन कंप्यूटर विज्ञान और सॉफ्टवेयर में बहुराष्ट्रीय उद्यमों (Multinational Companies) से लेकर अनुसंधान संगठनों (रिसर्च) और थिंक टैंक तक हैं। Bsc Maths ke Baad Kya Kare में कार्य प्रोफ़ाइल की लिस्ट इस प्रकार है:

  • डेटा एनालिस्ट (Data Analyst)
  • मशीन लर्निंग इंजीनियर (Machine Learning Engineer)
  • ऑपरेशनल रिसर्चर (Operational Researcher)
  • वित्तीय/निवेश विश्लेषक (Financial/Investment Analyst)
  • अनुसंधान सहायक / वैज्ञानिक (Research Assistant/Scientist)
  • मुख्य प्रबंधक (General Manager)
  • बीमा विज्ञान (Actuarial Science)
  • शिक्षक/प्रोफेसर (Teacher/Professor)
  • लेखा/पेशेवर सेवाएं (Accountancy/Professional Services)
डेटा एनालिस्ट

Bsc Maths ke Baad Kya Kare में डेटा सिर्फ कंप्यूटर साइंस और सॉफ्टवेयर तक ही सीमित नहीं है, यह फाइनेंस, व्यवसाय विश्लेषण (Business Analysis), बिक्री, मार्केटिंग, मानव संसाधन प्रबंधन (Human Resource Management) आदि जैसे क्षेत्रों तक भी फैला हुआ है। डेटा साइंस कोर्स छात्रों को विभिन्न तकनीकों और कौशल से लैस करता है, जिनका उपयोग किया जा सकता है कंपनी के निर्माण और कॉम्प्लेक्स डेटा सेटों की व्याख्या, उपभोक्ता विश्लेषण (Consumer Analysis) आदि पर।

मशीन लर्निंग इंजीनियर

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से संबंधित एक मशीन लर्निंग इंजीनियर को एल्गोरिदम (Algorithm) और डेटा आर्किटेक्चर की पहचान करने, उसका विश्लेषण करने और उसे बनाने का काम दिया जाता है। इसके अलावा, उनके कार्यों में फ्यूचर के लिए विश्लेषण, डेटा इन्फ्रास्ट्रक्चर का प्रबंधन, डेटा मॉडलिंग, प्रोग्रामिंग, शोध, और कई अन्य चीजें शामिल हैं। Bsc Maths ke Baad Kya Kare में इच्छुक छात्र मशीन लर्निंग में मास्टर्स भी कर सकते हैं।

ऑपरेशनल रिसर्चर

बीएससी मैथ्स के बाद इसकी करियर में बहुत मांग है, ऑपरेशन रिसर्च काम्प्लेक्स प्रणालियों को शामिल करने वाली समस्याओं का अध्ययन और विश्लेषण करने के लिए वैज्ञानिक और गणितीय तरीकों के उपयोग से संबंधित है। इस नौकरी में आपको अपने उच्च गणितीय नॉलेज का उपयोग करने को मिलेगा।

वित्तीय/निवेश विश्लेषक

बीएससी गणित के बाद एक आकर्षक करियर की तलाश में ग्रेजुएट्स अब फाइनेंस की ओर जा रहे हैं। फाइनेंस में एक करियर में नए बाजार के विकास, आर्थिक प्रभाव और वित्तीय मॉडलिंग के उचित परिश्रम का ध्यान रखना शामिल है।

अनुसंधान सहायक / वैज्ञानिक

एक शोध सहायक का झुकाव अकादमिक अनुसंधान और जांच की ओर अधिक होता है, अनुसंधान वैज्ञानिक अनुसंधान संगठनों, विश्वविद्यालयों, सरकारी निकायों और इसी तरह के संस्थानों के साथ मिलकर काम करते हैं।

मुख्य प्रबंधक

आप बीएससी गणित के बाद अपने करियर के रूप में मुख्य प्रबंधन को भी चुन सकते हैं। इस नौकरी में आपकी मुख्य भूमिका किसी कंपनी या फर्म के कार्यों की देखरेख करने की होगी। समस्या का समाधान और विश्लेषणात्मक कौशल जो आप अपनी बीएससी गणित की डिग्री के एक भाग के रूप में सीखते हैं।

बीमा साइंस

गणित में बीएससी के बाद सबसे लोकप्रिय करियर में से एक है बीमांकिक साइंस फाइनेंस और बीमा सहित विभिन्न व्यवसायों और क्षेत्रों में जोखिम का आकलन करने से संबंधित है। इस क्षेत्र में एक पेशेवर की मुख्य भूमिका जोखिम के फाइनेंसियल प्रभाव को कम करने में मदद करना है।

लेखा/पेशेवर सेवाएं

एकाउंटेंसी और पेशेवर सर्विसेज प्रमुख भूमिकाओं में से एक है अपने ग्राहकों को फाइनेंसियल सलाह देना। आप संख्याओं के बारे में अपना रास्ता जानते हैं तो आप पर किसी कंपनी के फाइनेंस का विश्लेषण करने और उपयोगी सलाह देने के लिए भरोसा किया जा सकता है। साथ में आप कर विभाग में काम कर सकते हैं या कॉर्पोरेट फाइनेंस का हिस्सा बन सकते हैं।

Check out: यूपीएससी की तैयारी कैसे करें

बीएससी मैथ्स के बाद बैंक की नौकरियां

बैंकिंग के बारे में सोचते ही सबसे पहली चीज दिमाग में आती है, पैसा । साथ ही, बैंकिंग क्षेत्र में एक सम्मानजनक पद पर काम करने के लिए मजबूत संख्यात्मक और विश्लेषणात्मक कौशल (Numerical and analytical skills) की आवश्यकता होती है। जब आप गणित के प्रति आपके प्रेम से इन दो बिंदुओं के बारे में सोचते हैं, तो आपको उस वक़्त बैंकिंग आपके लिए सही पेशा नहीं लगता है? Bsc Maths ke Baad Kya Kare में बीएससी होने के नाते मैथ्स डिग्री धारक, निवेश और खुदरा बैंकिंग में आपके लिए कई अवसर हैं।

बीएससी मैथ्स के बाद सरकारी नौकरियां

हर कोई आजकल सरकारी नौकरी चाहता है, लेकिन सब उसके लिए परीक्षा नहीं दे सकते और न ही उसे पास कर सकते। आर्ट्स के छात्रों के लिए सबसे बड़ी दुविधा है की वह उनके पास गणित विषय नहीं होता है और यूपीएससी और एसएससी में एक बड़ा सेक्शन गणित और मात्रात्मक तर्क (Quantitative Reasoning) होता है। लेकिन अब वह रुकावट नहीं है। Bsc Maths ke Baad Kya Kare में गणित में अच्छा होने के कारण आपके पास इन परीक्षाओं को पास करने का बेहतर मौका है।

Credits – Aman Dhattarwal

FAQ

प्रश्न 1: मैं बीएससी गणित के बाद इसरो (ISRO) कैसे ज्वाइन कर सकता हूं?

उत्तर: एमएससी (M.sc) पूरा करने के बाद एक वैज्ञानिक या इंजीनियर के रूप में इसरो ज्वाइन कर सकते हैं। जबकि बीएससी करने के बाद आप किसी अधिकारी या वैज्ञानिक के साथ सहायक के रूप में कार्य कर सकते हैं। भर्ती प्रक्रिया और संबंधित नोटिफिकेशन के लिए आधिकारिक वेबसाइट देखें।

प्रश्न 2: बीएससी के बाद सबसे अच्छा करियर ऑप्शन क्या है?

उत्तर: कैंडिडेट्स के पास बीएससी डिग्री तो वह यह करियर में जा सकते हैं. देखिए,
अस्पताल
शैक्षिक क्षेत्र
फोरेंसिक अपराध अनुसंधान (भौतिक अपराध अनुसंधान)
रासायनिक उद्योग
अनुसंधान केंद्र
फार्मास्यूटिकल्स और जैव प्रौद्योगिकी उद्योग
पर्यावरण प्रबंधन और संरक्षण
स्वास्थ्य रक्षक सुविधाएं प्रदान करने वाले
अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान

प्रश्न 3: गणित की डिग्री के साथ आपको कौन सी नौकरियां मिल सकती है?

उत्तर: मैथ्स की डिग्री के साथ आप यह निम्नलिखित नौकरियां कर सकते हैं.
निवेश बैंकर
विश्लेषक
क्रिप्टोग्राफर
अर्थशास्त्री
मुंशी
वित्तीय नियोजक
सांख्यिकीविद
गणितज्ञ
संचालन अनुसंधान विश्लेषक
वित्तीय नियोजक

प्रश्न 4: क्या बीएससी मैथ्स के बाद नौकरी मिल सकती है?

उत्तर: हां, नौकरी के कई विकल्प हैं जिन्हें आप गणित में बीएससी पूरा करने के बाद चुन सकते हैं। इनमें से कुछ में शामिल हैं:
अकाउंटेंसी और प्रोफेशनल सर्विस
प्रबंधन सलाहकार
ऑपरेशन रिसर्च
सामान्य प्रबंधन
एक्चुरियल साइंस
अंडरराइटर

प्रश्न 5: बीएससी गणित के बाद कौन सा कोर्स सबसे अच्छा है?

उत्तर: आप बीएससी मैथ्स के बाद हायर स्टडीज प्राप्त करना चाहते हैं, तो कई ओपशंस हैं। यहां कुछ लोकप्रिय कोर्स दिए गए हैं, जिनमें से आप चुन सकते हैं:
MSc Maths
MSc Actuarial Science
MSc Financial Mathematics and Computation
MSc Statistics
MSc Statistics and Operational Research
Master of Data Science

Check out: नौकरी की खोज कैसे करें

उम्मीद है, कि इस ब्लॉग में आपको Bsc Maths ke Baad Kya Kare के बारे में सभी जानकारी मिल गई होगी। यदि आप विदेश में मैथ्स की पढ़ाई करना चाहते हैं, तो हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन 1800 572 000 पर कॉल कर बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

6 comments
    1. Thank you. ऐसे ही अन्य ब्लॉग्स पढ़ने के लिए हमारी साइट पर बने रहे।

    1. जी आप बिलकुल कर सकते हैं मेडिकल की पढ़ाई BSc गणित के बाद। ऐसे ही आप हमारे ब्लॉग्स पढ़ते रहिये।

  1. Bsc के बाद कोई टेक्निकल डिग्री बताये सर् जो 1 2 साल का हो

  2. Me b.cs math se kar raha hnu yahai meri last year hai me kis deegree ya diploma ka anusharan karnu jo mujhe age safalta mile

    1. Thank you. ऐसे ही अन्य ब्लॉग्स पढ़ने के लिए हमारी साइट पर बने रहे।

    1. जी आप बिलकुल कर सकते हैं मेडिकल की पढ़ाई BSc गणित के बाद। ऐसे ही आप हमारे ब्लॉग्स पढ़ते रहिये।

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert