डाटा एनालिसिस क्या है और ये काम कैसे आएगा?

1 minute read
82 views
Leverage-Edu-Default-Blog

एक्शनएब्ल इनसाइट्स को ढूंढने के लिए डेटा एनालिसिस किया जाता है जो निर्णय लेने में मदद करता है। डेटा एनालिसिस में डेटा माइनिंग, डिस्क्रिप्टिव और प्रेडिक्टिव एनालिसिस, सांख्यिकीय एनालिसिस, बिजनेस एनालिसिस और बड़े डेटा एनालिसिस शामिल हो सकते हैं। Data analysis kya hai के बारे में विस्तार से जानने के लिए ब्लॉग को अंत तक पढ़ें। 

डेटा एनालिसिस क्या है? 

डेटा से महत्वपूर्ण जानकारी निकालने की प्रक्रिया को डेटा एनालिसिस कहते हैं। डेटा एनालिसिस में कई चरण शामिल होते हैं जैसे डेटा सेट स्थापित करना, प्रोसेसिंग के लिए डेटा तैयार करना, मॉडलों को लागू करना, प्रमुख निष्कर्षों की पहचान करना और रिपोर्ट बनाना आदि। 

डेटा एनालिसिस क्यों करते हैं? 

Data analysis kya hai जानने के बाद जानते हैं कि डेटा एनालिसिस क्यों करते हैं जानने के लिए नीचे दिए गए पॉइंट्स को पढ़ें:

  • डेटा एनालिसिस की प्रक्रिया में वो सभी तरीके शामिल हैं जिससे आप डेटा को तोड़ सकते हैं, समय के साथ रुझान का आकलन कर सकते हैं, और एक सेक्टर या माप को दूसरे की तुलना कर सकते हैं।
  • इसमें एक नज़र में ट्रेंड्स और रिलेशनशिप्स को सहज बनाने के लिए डेटा को देखने के विभिन्न तरीकों को भी शामिल किया जा सकता है। 
  • डेटा एनालिसिस से प्रेडिक्टिव एनालिसिस भी करने को मिलता है। 
  • इससे हम आने वाले ट्रेंड का भी अनुमान लगा सकते हैं। 
  • डेटा एनालिसिस का उपयोग अनेक में क्षैत्र में डेटा के मूल्यांकन के लिए किया जाता हैं, जैसे मेडिकल क्षेत्र, शेयर मार्केट, उद्योग क्षेत्र, शिक्षा क्षेत्र, सामाजिक सुधार क्षेत्र, किसी योजना को लागू करने व उसके क्रियान्वयन के लिए, बिजनेस शुरू करने और बिजनेस बढ़ाने के लिए इत्यादि।

डेटा एनालिसिस के प्रकार

Data analysis kya hai यह तो आप जान गए हैं लेकिन क्या आप जानते हैं डेटा एनालिसिस निम्नलिखित प्रकार के होते हैं:

  • डिस्क्रिप्टिव एनालिसिस
  • डायग्नोस्टिक एनालिटिक्स 
  • प्रेडिक्टिव एनालिटिक्स
  • प्रेस्क्रिप्टिव एनालिसिस

डेटा एनालिसिस के लाभ और चुनौतियां

डेटा एनालिसिस के लाभ और चुनौतियां नीचे दी गई हैं:

  • डेटा एनालिसिस किसी संगठन या कंपनी के लिए बेहतर निर्णय लेने, बेस्ट कस्टमर सर्विस देने, प्रोडक्टिविटी बढ़ाने और रेवेन्यू बढ़ाने के लिए एक आवश्यक प्रक्रिया हैं।
  • एनालिसिस से बिजनेस के लिए सही जानकारी प्राप्त कर सकते है।
  • डेटा एनालिसिस करके किसी ऑर्गेनाइजेशन या कंपनी के लिए अधिक प्रोफिट बना सकते है।
  • इससे आप अधिक प्रभावी मार्केटिंग कैंपेन बना सकते है।
  • एनालिसिस से आप ग्राहको की जरूरत को समझ सकते है और ग्राहको को बेहतरीन सर्विस या प्रोडक्ट दे सकते है।
  • डेटा एनिलिसिस के कारण हमें ग्राहक इटरैक्शन सुनने, व्यवहार और रिलेवेंट जानकारी सीखने, लक्ष्यों को हासिल करने, अधिक प्रभावी एक्सनेबल इनसाइट्स बनाने और बिजनेस उतार-चढ़ाव को सिखने की क्षमता मिलती है।
  • डेटा एनालिसिस के बाद बेहतर एक्शन प्लान बना सकते है।

डेटा एनिलिसिस में चुनौतियां

  • आज के समय में बहुत ज्यादा डेटा मौजूद है, जिसमें से बेहतरीन डेटा खोज़ पाना कठिन होता है।
  • बहुत सारे डेटा को संभालना और पेश करना भी कठिन होता है।

डेटा एनालिसिस प्रोसेस

डेटा एनालिसिस प्रोसेस इस प्रकार है:

  1. डेटा की आवश्यकता
  2. डेटा को एकत्रित करना
  3. डेटा का स्पष्टीकरण
  4. डेटा एनालिसिस करना
  5. कम्युनिकेशन

ऑनलाइन कोर्सेज

डेटा एनिलिसिस के कुछ ऑनलाइन कोर्सेज नीचे दिए गए हैं:

  • SPSS Masterclass: Learn SPSS From Scratch to Advanced
  • Statistics & Mathematics for Data Science & Data Analytics
  • Statistics for Business Analytics and Data Science A-Z™
  • Statistics for Data Analysis Using Python
  • Statistics for Data Analysis Using Excel 2016
  • Python for Data Analysis: step-by-step with projects
  • IBM Data Science
  • Data Science Johns Hopkins University
  • BSc (Hons) Data Science & Analytics
  • MSc in Computer Science with Specialization in Data Analytics
  • PG Diploma in Data Science & Analytics
  • BTech CSE (Specialization in Data Analytics)
  • MSc Data Science and Analytics
  • Diploma in Data Analytics with Python (Online)
  • BTech CSE (Specialization in Big Data Analytics)
  • MSc Data Analytics Program
  • Diploma in Data Analytics
  • BTech CSE (Specialization in Big Data Analytics in association with IBM)
  • MBA Data Science and Analytics
  • Post Graduate Diploma in Data Analytics
  • BTech Data Science & Data Analytics
  • MSc Data Analytics
  • Post Graduate Diploma in Data Analytics in Economics
  • UG Program in Digital Marketing and Data Analytics

टॉप विदेशी यूनिवर्सिटीज़

डेटा एनिलिसिस की पेशकश करने वाली कुछ टॉप विदेशी यूनिवर्सिटीज़ की लिस्ट नीचे दी गई है:

भारतीय यूनिवर्सिटीज़

डेटा एनिलिसिस की पेशकश करने वाली कुछ टॉप भारतीय यूनिवर्सिटीज़ की लिस्ट नीचे दी गई है:

  • गोवा इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट (GIM)
  • MATS यूनिवर्सिटी, रायपुर
  • DIT यूनिवर्सिटी, देहरादून
  • यूनिवर्सल बिजनेस स्कूल, मुम्बई
  • विश्वकर्मा यूनिवर्सिटी
  • IIT (ISM) धनबाद
  • IIM शिलांग
  • IIM काशीपुर
  • IIM अमृतसर

योग्यता

आवेदन प्रक्रिया के साथ आगे बढ़ने से पहले, विश्वविद्यालय द्वारा आवश्यक शैक्षणिक योग्यता के माध्यम से जाना महत्वपूर्ण है। यहां डेटा एनिलिसिस के लिए सामान्य पात्रता मानदंड दिए गए हैं, जिसके बाद अधिकांश प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय हैं:

  • बैचलर्स के लिए 10+2 न्यूनतम अंकों के साथ किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से पूरी होना जरूरी है। 
  • यदि आप मास्टर्स करना चाहते हैं तो आवश्यक अंकों के साथ ग्रेजुएशन की डिग्री होना जरूरी है। 
  • कभी-कभी न्यूनतम GPA की आवश्यकता होती है। 
  • इंग्लिश लैंग्वेज प्रोफिशिएंसी टेस्ट जैसे : IELTS/TOEFL/PTE के स्कोर
  • किसी यूनिवर्सिटी में बैचलर्स के लिए SAT/ACT की मांग भी की जा सकती है। 
  • मास्टर्स के लिए GRE स्कोर की मांग भी की जा सकती है।

आवेदन प्रक्रिया

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेज़ों जैसे SOP, निबंध, सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीज़ा और छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूज़र नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुनें हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  • यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज़ 

कुछ ज़रूरी दस्तावेज़ों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

करियर स्कोप 

उद्योगों और फर्मों द्वारा डेटा एनालिटिक्स को लागू करने के असंख्य तरीके हैं। कुछ और व्यवसायों पर एक नज़र डालें जिन्हें आप एक्सप्लोर कर सकते हैं।

  • प्रोजेक्ट मैनेजर
  • लॉजिस्टिक्स एक्सपर्ट
  • बिजनेस एनालिस्ट
  • स्ट्रेटजी एनालिस्ट
  • सोशल मीडिया डेटा एनालिस्ट
  • क्रेडिट एनालिस्ट
  • प्रिडिक्टिव एनालिटिक्स एक्सपर्ट
  • स्टैटिसटिकल एनालिसिस
  • प्रोग्रामर
  • सिक्योरिटी एनालिस्ट
  • डेटाबेस एनालिस्ट
  • A/B टेस्टिंग एनालिस्ट
  • एक्सेल एनालिस्ट

जॉब प्रोफाइल्स और सैलरी

Payscale के अनुसार डेटा एनालिसिस के लिए कुछ जॉब प्रोफ़ाइल और अनुमानित सालाना सैलरी नीचे दी गई है:

जॉब प्रोफ़ाइल अनुमानित सालाना सैलरी
डेटा एनालिस्ट INR 2.10 लाख-10 लाख
प्रोजेक्ट मैनेजर INR 4.65 लाख-20 लाख
लॉजिस्टिक एक्सपर्ट INR 2.49 लाख-10 लाख
स्ट्रेटजी एनालिस्ट INR 3.09 लाख-20 लाख
बिजनेस एनालिस्ट INR 2.73 लाख-10 लाख

FAQs

डेटा एनालिसिस प्रोसेस क्या है? 

डेटा एनालिसिस प्रोसेस इस प्रकार है:
डेटा की आवश्यकता
डेटा को एकत्रित करना
डेटा का स्पष्टीकरण
डेटा एनालिसिस करना
कम्युनिकेशन

Data analysis kya hai?

डेटा से महत्वपूर्ण जानकारी निकालने की प्रक्रिया को डेटा एनालिसिस कहते हैं। डेटा एनालिसिस में कई चरण शामिल होते हैं जैसे डेटा सेट स्थापित करना, प्रोसेसिंग के लिए डेटा तैयार करना, मॉडलों को लागू करना, प्रमुख निष्कर्षों की पहचान करना और रिपोर्ट बनाना आदि। 

डेटा एनालिसिस क्यों करते हैं? 

डेटा एनालिसिस क्यों करते हैं जाने के लिए नीचे दिए गए पॉइंट्स को पढ़ें:
1. डेटा एनालिसिस की प्रक्रिया में वो सभी तरीके शामिल हैं जिससे आप डेटा को तोड़ सकते हैं, समय के साथ रुझान का आकलन कर सकते हैं, और एक सेक्टर या माप को दूसरे की तुलना कर सकते हैं।
2. इसमें एक नज़र में ट्रेंड्स और रिलेशनशिप्स को सहज बनाने के लिए डेटा को देखने के विभिन्न तरीकों को भी शामिल किया जा सकता है। 
3. डेटा एनालिसिस से प्रेडिक्टिव एनालिसिस भी करने को मिलता है। 
4. डेटा एनालिसिस का उपयोग अनेक में फ़ील्ड में डेटा के मूल्यांकन के लिए किया जाता हैं, जैसे मेडिकल फ़ील्ड, शेयर मार्केट, उद्योग क्षेत्र, शिक्षा क्षेत्र, सामाजिक सुधार क्षेत्र, किसी योजना को लागू करने व उसके क्रियान्वयन के लिए, बिजनेस शुरू करने और बिजनेस बढ़ाने के लिए इत्यादि।

डेटा एनालिसिस के प्रकार क्या हैं? 

डाटा एनालिसिस निम्नलिखित प्रकार के होते हैं:
डिस्क्रिप्टिव एनालिसिस
डायग्नोस्टिक एनालिटिक्स 
प्रेडिक्टिव एनालिटिक्स
प्रेस्क्रिप्टिव एनालिसिस

उम्मीद है, इस ब्लॉग में Data analysis kya hai और डाटा एनालिसिस के बारे में सभी जानकारियां मिल गई होंगी। यदि आप विदेश में डेटा एनालिसिस कोर्स करना चाहते हैं तो 1800572000 पर कॉल करके Leverage Edu एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें। 

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. Data Science
Talk to an expert