12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज

2 minute read
256 views
12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज

सभी कंप्यूटर कोर्सेज आकर्षक कोर्सेज है जो छात्रों को कंप्यूटर की दुनिया, इसकी प्रोग्रामिंग, प्रयोगों और विभिन्न सिद्धांतों से परिचित कराती है। कंप्यूटर कोर्सेज की मांग पिछले कुछ वर्षों में तेजी से बढ़ी है क्योंकि बड़ी संख्या में उद्योगों ने उन्हें रोजगार दिया है। कंप्यूटर कोर्सेज करने से कई तरह के रोजगार के अवसर खुलते हैं, जिन्हें एक छात्र कंप्यूटर साइंस के बाद कर सकता है। यदि आप 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज करकर करियर विकल्प चुनना चाहते हैं, तो आपको वर्तमान कंप्यूटर कोर्सेज के बारे में विचार करना चाहिए। आइए इस ब्लॉग में विस्तार से जानते हैं 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज के बारे में।

कोर्स का स्तर अंडरग्रेजुएट
पात्रता मापदंड 10+2 (साइंस स्ट्रीम, कंप्यूटर)
प्रवेश का मानदंड प्रवेश परीक्षा
सेक्टर/उद्योग वेब डिजाइनरप्रोग्रामर्स टैली असिस्टेंट, सीनियर कंप्यूटर ऑपरेटरगेम डेवलपर
औसत वार्षिक वेतन 8-10 लाख लगभग
This Blog Includes:
  1. 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज क्यों चुनें?
  2. 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज के लिए स्किल्स
  3. 12वीं के बाद प्रमुख कंप्यूटर कोर्सेज
    1. ADCA 
    2. TALLY 
    3. वेब डेवलपमेंट
    4. App Development
    5. BCA 
    6. साइबर सिक्योरिटी कोर्स
    7. वेब डिजाइनिंग
    8. VFX एंड एनीमेशन
    9. डिप्लोमा इन आईटी एंड कंप्यूटर साइंस
  4. 12वीं के बाद ऑनलाइन कंप्यूटर कोर्सेज
  5. 12वीं के बाद ऑफलाइन कंप्यूटर कोर्सेज
  6. 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज का सामान्य सिलेबस
  7. 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का सिलेबस
    1. पायथन लैंग्वेज
    2. जावा लैंग्वेज
  8. 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज के लिए विदेशी विश्वविद्यालय
  9. 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज के लिए भारतीय विश्वविद्यालय
  10. 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज के लिए सामान्य योग्यता
  11. भारत में आवेदन प्रक्रिया
  12. विदेशी विश्वविद्यालय के लिए आवेदन प्रक्रिया
  13. आवश्यक दस्तावेज 
  14. 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज के लिए बेस्ट बुक्स
  15. 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज के लिए प्रवेश परीक्षा
  16. प्रसिद्ध कम्पनियां
  17. जॉब प्रोफाइल्स व सैलरी
  18. FAQs

12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज क्यों चुनें?

12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज को क्यों चुनें, इसके कारण नीचे दिए गए हैं-

  • वर्क रिमोटली– डिजिटल दुनिया कंप्यूटर नेटवर्क से जुड़ी हुई है, और अब  अधिकांश चीजें क्लाउड में रहती हैं, इसलिए आपको किसी विशिष्ट स्थान से बंधे रहने की आवश्यकता नहीं है। आप अपना काम उतनी ही प्रभावी ढंग से अपनी पसंद के स्थान पर कर सकते हैं।
  • समस्या को सुलझाना– कंप्यूटर प्रोग्रामिंग आपके समस्या-समाधान स्किल को तेज करती है। आप एक बड़ी समस्या का विवरण लेते हैं और इसे छोटे टुकड़ों में तोड़ देते हैं, तब सॉल्व करते हैं इसलिए प्रोग्रामिंग द्वारा आप जो समस्या-समाधान स्किल सीखते हैं, वह आपके जीवन के हर पहलू में काम आती है।
  • फ्यूचर स्कोप– आवश्यक प्रशिक्षण और शिक्षा के स्तर के कारण एक्सपीरियंस कंप्यूटर विशेषज्ञ मुश्किल से आते हैं और अच्छे वेतन प्राप्त करते हैं। एक छात्र के रूप में, टेक्नोलॉजी की प्रगति से हमेशा नए अवसर पैदा होते हैं। अपने लाभ के लिए इन अवसरों का उपयोग करें और अपने करियर को आगे तक ले जाएं।
  • क्रिएटिविटी को बढ़ाना– जब आप कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के लिए कोडिंग करने की क्षमता रखते हैं तो उसकी कोई सीमा नहीं है। आप मैन्युअल कार्यों को स्वचालित कर सकते हैं, उपयोगकर्ताओं के लिए चीजों को तेज और आसान बना सकते हैं या लगभग किसी भी समस्या का समाधान कर सकते हैं।

12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज के लिए स्किल्स

कंप्यूटर कोर्सेज में करियर बनाने के लिए, आपके पास हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर सिस्टम को कुशलतापूर्वक संचालित करने के लिए आवश्यक स्किल सेट और कंप्यूटर एल्गोरिदम, डेटाबेस और ऑपरेटिंग सिस्टम की पूरी समझ होनी चाहिए। आइए एक नज़र डालें कि इस लगातार बढ़ते तकनीकी क्षेत्र में एक सफल करियर बनाने के लिए प्रमुख स्किल्स क्या चाहिए:

  • समस्या समाधान करने का हुनर
  • क्रिएटिविटी
  • महत्वपूर्ण विचार करने की स्किल्स
  • तकनीकी स्किल्स
  • ओर्गनाईज़ेशन के हुनर
  • टीम वर्क का हुनर
  • डिजिटल मार्केटिंग की नॉलेज
  • प्रोग्रामिंग की नॉलेज
  • विश्लेषणात्मक स्किल्स
  • कंप्यूटर एल्गोरिदम, ऑपरेटिंग सिस्टम, सॉफ्टवेयर, डेटाबेस हैंडलिंग आदि का गहन ज्ञान
  • C++, Java, वेब डेवलपमेंट जैसी प्रोग्रामिंग भाषाओं का ज्ञान होना चाहिए
  • Python, kotlin जैसी प्रोग्रामिंग भाषाओं का ज्ञान होना चाहिए

विदेश में आपके सभी अध्ययन आवश्यकताओं के लिए Leverage Edu App डाउनलोड करें।

12वीं के बाद प्रमुख कंप्यूटर कोर्सेज

12वीं के बाद प्रमुख कंप्यूटर कोर्सेज नीचे दिए गए हैं जिन्हें स्टूडेंट्स कर सकते हैं-

  • ADCA
  • TALLY
  • Web Development
  • App Development
  • BCA
  • Ethical Hacking
  • AutoCAD
  • Data Entry Operator
  • JAVA course
  • Computer Hardware Maintenance
  • Software Development
  • Computer Networking

ADCA 

ये एक 1 साल का बेसिक कंप्यूटर कोर्स है, जो दो सेमेस्टर में बटा होता है। प्रत्येक सेमेस्टर 6 महीने का होता है। ADCA का फुल फॉर्म Advance Diploma in Computer Application होता है। इस कोर्स में पहले सेमेस्टर में MS Office, कंप्यूटर फंडामेंटल्स, इंटरनेट, ईमेल आदि सिखाया जाता है और दूसरे सेमेस्टर में tally, सी प्रोग्रामिंग, कोरल्ड्रॉ, फोटोशॉप आदि के बारे में पढ़ाया जाता है।

TALLY 

पेपर पेन लेकर एकाउंटिंग का काम करना और डाटा को मेंटेन करना बहुत मुश्किल होता है। इसलिए ज्यादातर कंपनी रिकॉर्ड रखने और अकाउंटिंग के लिए TALLY सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करती हैं। यह सॉफ्टवेयर एकाउंटिंग और बड़ी संख्या में डाटा को मैनेज करने के काम आता है।

वेब डेवलपमेंट

वेव डेवलपमेंट कोर्स में आपको विभिन्न प्रोग्रामिंग लैंग्वेज (HTML, CSS, Java, etc.), कंप्यूटर ग्राफिक्स, मैथमेटिकल स्ट्रक्चर फॉर कंप्यूटर साइंस, आदि के बारे में पढ़ाया जाता है। बहुत सारे ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफार्म और यूट्यूब पर इसके कई सारे कोर्स मौजूद है।

App Development

हमारी रोजमर्रा की ज़िंदगी में हम न जाने कितनी ऐप्प्स का उपयोग करते हैं। ये सभी ऐप, ऐप डेवलपर ही बनाते है। वेब डेवलपर की तरह ही ऐप डेवलपर की मांग भी समय के साथ बढ़ती ही जा रही है।

BCA 

BCA का फुल फॉर्म Bachelor of Computer Application होता है, यह एक 3 साल का एक अंडर ग्रेजुएट प्रोग्राम है। जिन लोगों को कोडिंग करने में मजा आता है तथा कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर के बारे में सीखने की जिज्ञासा रहती हैं उन लोगों के लिए ये कोर्स उपयुक्त है।

साइबर सिक्योरिटी कोर्स

बढ़ते हुए कंप्यूटर का उपयोग तथा टेक्नोलॉजी के बढ़ने के साथ-साथ साइबर क्राइम भी तेजी से बढ़ रहा है। हमारे डाटा को सुरक्षित रखने के लिए साइबर सिक्योरिटी की टीम होती है जो हमारे डाटा को सुरक्षित रखने का काम करती है। साइबर सिक्योरिटी कोर्स यदि हम सर्टिफिकेट के लिए करते हैं तो ट्वेल्थ में गणित केमिस्ट्री फिजिक्स होना आवश्यक है तथा मान्यता प्राप्त बोर्ड से उत्तीर्ण होना चाहिए। परंतु यदि हम साबर सिक्योरिटी कोर्स डिग्री के लिए करते हैं तो हमें इसके लिए प्रवेश परीक्षा देना आवश्यक है। जैसे- जेईईमेन, जेईटी, नीट आदि। साइबर सिक्योरिटी कोर्स में बीए, बीएससी, बीसीए, बीटेक, आईटी आदि डिग्री कोर्स कर सकते हैं।

वेब डिजाइनिंग

वेब डिजाइनिंग में वेब का मतलब होता है वेबसाइट वेब डिजाइनिंग कोर्स में आपको वेबसाइट बनाना, वेबसाइट को मैनेज करना वेबसाइट के लिए डेटाबेस बनाना आदि सिखाया जाता है। वेब डिजाइनिंग का कोर्स करने के बाद आप अच्छी जॉब पा सकते हैं।परंतु उसके लिए आपको अच्छी प्रैक्टिस की आवश्यकता होगी। वेब डिजाइनिंग के दो पार्ट्स होते हैं एक फ्रंटेंड वेब डिजाइनिंग दूसरा बैकऐंड वेब डिजाइनिंग। यह कोर्स कंप्यूटर साइंस में डिप्लोमा करके, बीसीए कोर्स करके, भी करके या बीटेक करके भी कर सकते हैं।इस कोर्स में आप अपनी स्किल्स को जितना बढ़ाएंगे उतना ही अच्छी और ज्यादा सैलरी वाली जॉब मिल पाएगी। वेब डेवलपमेंट का कोर्स करने के लिए आपको Html, Javascript और Css की नॉलेज होना आवश्यक है। यह कोर्स ऑनलाइन भी किया जा सकता है।

VFX एंड एनीमेशन

आजकल कार्टूंस, वीडियो गेम्स, 3D मूवीस आदि का प्रचलन बहुत ज्यादा हो गया है। वीएफएक्स और एनिमेशन का प्रयोग आजकल मूवीस तथा वीडियोस में भी किया जाता है। इसके द्वारा चित्रों को भव्य रुप दिया जाता है। कई टेलीविजन शो में स्टेज परफॉर्मेंस के वक्त भी एनिमेशन का प्रयोग किया जाता है इसके द्वारा परफॉर्मेंस, फिल्म, गानो, कार्टूंस आदि में चार चांद लग जाते हैं। कई मूवीस में इमारतों और लोगों की जगह एनिमेशन का ही प्रयोग किया जाता है और हमें लगता है कि वह रियल है। इस कोर्स को करने के लिए 10वीं और 12वीं में 50% से ज्यादा नंबर से उत्तीर्ण होना आवश्यक है तथा इसके लिए एंट्रेंस एग्जाम तथा इंटरव्यू भी लिया जाता है। इस कोर्स को करने के बाद एनिमेटर, आर्ट डायरेक्टर, फिल्म और वीडियो एडिटर तथा 3D एनिमेटर की जॉब कर सकते हैं। यह जॉब आपकी प्रैक्टिस और आपकी स्किल पर डिपेंड होती है। यह ऑनलाइन भी सीखा जा सकता है।

डिप्लोमा इन आईटी एंड कंप्यूटर साइंस

डिप्लोमा इन आईटी एंड कंप्यूटर साइंस 1 अंडर ग्रेजुएट कोर्स होता है। इस कोर्स को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं तथा 12वीं के बाद किया जा सकता है। इसके साथ-साथ यदि आपने 12वीं किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से pcm (फिजिक्स, केमेस्ट्री,मैथ) से की है तो आपको सेकंड ईयर में डायरेक्ट एडमिशन भी मिल सकता है। हालांकि डिप्लोमा कोर्स करने के बाद डिग्री कोर्स कर सकते हैं जिसमें अच्छा पैकेज मिलता है परंतु डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस एंड आईटी करने के बाद भी अच्छी जॉब लग सकती है। डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस में हर वर्ष में 10-10 सब्जेक्ट होते हैं। जीने का ढंग से पढ़ लिया जाए तथा कोडिंग में अपनी पकड़ बना ली जाए तो अच्छी जॉब पा सकते हैं। डिप्लोमा इन कंप्यूटर साइंस एंड आईटी में आयु की कोई सीमा नहीं होती।आप कभी भी यह कोर्स कर सकते हैं।

12वीं के बाद ऑनलाइन कंप्यूटर कोर्सेज

12वीं के बाद ऑनलाइन कंप्यूटर कोर्सेज और कुछ प्रमुख वेबसाइटें नीचे दी गई हैं-

प्रोवाइडर अवधि
Coursera 10 माह
Udemy 12 माह
FutureLearn 10 – 12 माह
NIELIT Kolkata 8 – 10 माह
upGrad 1 साल
Google IT support 6 माह
IBM Cybersecurity analyst 6 माह
Google Cloud Architecture 4-6 माह
edX 1 साल

12वीं के बाद ऑफलाइन कंप्यूटर कोर्सेज

12वीं के बाद ऑफलाइन कंप्यूटर कोर्सेज नीचे दिए गए हैं जिन्हें आप ऑनलाइन ऑफलाइन दोनों प्रकार से कर सकते हैं-

  • Android Java Masterclass – Become an App Developer
  • Java Programming and Software Engineering Fundamentals Specialization
  • Building Modern Java Applications on AWS
  • Java Certification Training Course
  • Python Certification Course
  • Learn Python Programming Masterclass
  • Python for Everybody Specialization
  • Complete Modern C++
  • Android App Development Masterclass using Kotlin
  • Kotlin for Java Developers
  • Developing Android Apps with Kotlin
  • Advanced Programming in C++
  • Nanodegree Program Become a C++ Developer
  • Object-Oriented Data Structures in C++

12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज का सामान्य सिलेबस

कंप्यूटर कोर्सेज में सभी मुख्य विषयों को कवर करने वाले कई मुख्य और वैकल्पिक विषय शामिल हैं। चूंकि वास्तविक सिलेबस विश्वविद्यालय के अनुसार भिन्न हो सकता है, इसलिए हमने सभी प्रमुख विषयों को नीचे दिया है-

सेमस्टर- 1

कंप्यूटर विज्ञान मूल बातें एंबेडेड सिस्टम की बुनियादी बातें
डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक C प्रोग्रामिंग
कंप्यूटर विज्ञान एप्पलीकेशन मैथमेटिक्स
इंग्लिश लैंग्वेज पर्यावरण विज्ञान

सेमस्टर- 2

बुनियादी प्रोग्रामिंग अवधारणाएं एडवांस्ड मैथमेटिक्स
ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर फंडामेंटल कंप्यूटर नेटवर्क्स

सेमस्टर- 3

डेटा संरचनाओं का परिचय ऑपरेटिंग सिस्टम की मूल बातें
C++ का उपयोग करके ऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग जावा प्रोग्रामिंग

सेमस्टर- 4

सिस्टम प्रोग्रामिंग: कंप्यूटर नेटवर्क के मूल सिद्धांत डेटाबेस प्रबंधन प्रणाली का परिचय
कंप्यूटर ग्राफिक्स Oracle
विजुअल प्रोग्रामिंग और विजुअल बेसिक्स RDBMS

सेमस्टर- 5

जावा प्रोग्रामिंग अडवांस कंप्यूटर नेटवर्क
सॉफ्टवेयर टेस्टिंग ऑपरेटिंग सिस्टम

सेमस्टर- 6

सिस्टम सॉफ्टवेयर C++
विजुअल प्रोग्रामिंग 2 प्रोग्रामिंग लैब

आप AI Course Finder की मदद से अपने पसंद के कोर्सेज और उससे सम्बंधित टॉप यूनिवर्सिटी का चयन कर सकते हैं।

12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज में प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का सिलेबस

12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज में प्रोग्रामिंग का सिलेबस नीचे दिया गया है-

पायथन लैंग्वेज

पायथन एक लोकप्रिय उच्च स्तरीय सामान्य प्रयोजन प्रोग्रामिंग भाषा है। इसका उपयोग दुनिया भर के डेटा वैज्ञानिक, एआई इंजीनियर्स और मशीन लर्निंग विशेषज्ञ करते हैं।

वेब स्क्रेपिंग वस्तु उन्मुख प्रोग्रामिंग
ऑपरेटरस मेथड्स
Django इंडेक्सिंग
Sets डिक्सनरी
Conditional स्टेटमेंट्स लूप्स

जावा लैंग्वेज

जावा गेम डेवलपमेंट के लिए सबसे लोकप्रिय प्रोग्रामिंग भाषाओं में से एक है। प्रोग्रामर मोबाइल एप्लिकेशन और अन्य आवश्यकताओं के लिए जावा का उपयोग करते हैं।

इंट्रोडक्शन स्प्रिंग AOP
जावा EE जावा सर्वलेट
हाइबरनेट और स्प्रिंग फ्रेमवर्क SOA और वेब सर्विस
मल्टीथ्रेडिंग स्ट्रिंग हैंडलिंग अपवाद हैंडलिंग तकनीक J2EE HTTP protocol और HTML

12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज के लिए विदेशी विश्वविद्यालय

12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज के लिए विदेशी विश्वविद्यालय की लिस्ट नीचे दी गई है–

विदेश में रहने का खर्च अपने रहन-सहन के अनुसार जानने के लिए आप Cost of Living Calculator का उपयोग कर सकते हैं।

12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज के लिए भारतीय विश्वविद्यालय

12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज के लिए भारतीय विश्वविद्यालय की लिस्ट नीचे दी गई है–

  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय
  • इलाहाबाद विश्वविद्यालय
  • दिल्ली विश्वविद्यालय
  • गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय
  • अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय
  • अन्ना विश्वविद्यालय
  • लखनऊ विश्वविद्यालय
  • मुंबई विश्वविद्यालय
  • पुणे विश्वविद्यालय
  • लोयोला कॉलेज चेन्नई
  • मिरांडा हाउस (दिल्ली)
  • मद्रास क्रिश्चियन कॉलेज
  • हिंदू कॉलेज (दिल्ली विश्वविद्यालय)
  • श्री वेंकटेश्वर कॉलेज (दिल्ली विश्वविद्यालय)

आप UniConnect के जरिए विश्व के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन विश्वविद्यालय मेले का हिस्सा बनने का मौका पा सकते हैं, जहाँ आप अपनी पसंद के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि से सीधा संपर्क कर सकेंगे।

12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज के लिए सामान्य योग्यता

12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज के लिए कुछ सामान्य योग्यताओं के बारे में नीचे बताया गया है–

  • उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 (साइंस स्ट्रीम) की बेसिक स्कूली शिक्षा पूरी करनी चाहिए। 
  • 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज के लिए आपको कंप्यूटर साइंस या सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन करनी होती है। इसमें आप BE या B Tech कर सकते हैं। 
  • इस कोर्स के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों के लिए न्यूनतम 50% से 60% कुल अंक आवश्यक हैं।
  • C++, Java, वेब डेवलपमेंट जैसी प्रोग्रामिंग भाषाओं का ज्ञान होना चाहिए।
  • भारत में 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज के लिए कुछ कॉलेज अपनी प्रवेश परीक्षाएं आयोजित करते हैं। (जैसे JNUEE, DUET और BITSAT आदि) जिसके आधार पर छात्रों का चयन किया जाता है। विदेश के कुछ यूनिवर्सिटी के लिए ACT, SAT आदि के स्कोर जरूरी होते हैं।
  • विदेश में ऊपर दी गई आवश्यकताओं के साथ IELTS या TOEFL टेस्ट स्कोर ज़रूरी होते हैं।
  • साथ ही विदेशी यूनिवर्सिटी में आवेदन के लिए SOP, LOR और CV/Resume तथा पोर्टफोलियो की भी ज़रूरत होती है।

क्या आप IELTS/TOEFL/SAT/GRE में अच्छे अंक प्राप्त करना चाहते हैं? आज ही इन टेस्ट की बेहतरीन तैयारी के लिए Leverage Live पर रजिस्टर करें और अच्छे अंक प्राप्त करें।

भारत में आवेदन प्रक्रिया

भारतीय यूनिवर्सिटीज द्वारा आवेदन प्रक्रिया नीचे मौजूद है-

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  • यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

विदेशी विश्वविद्यालय के लिए आवेदन प्रक्रिया

कैंडिडेट को आवदेन करने के लिए नीचे दी गई प्रक्रिया को पूरा करना होगा-

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप हमारे AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • Leverage Edu एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे हमारे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप हमारी Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीजा और छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है।

आवदेन प्रक्रिया से सम्बन्धित जानकारी और मदद के लिए Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800572000 पर संपर्क करें।

आवश्यक दस्तावेज 

विदेशी विश्वविद्यालय में एडमिशन लेने के लिए नीचे दिए गए दस्तावेज होने आवश्यक हैं-

छात्र वीजा पाने के लिए भी हमारे Leverage Edu विशेषज्ञ आपकी हर सम्भव मदद करेंगे।

12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज के लिए बेस्ट बुक्स

नीचे कंप्यूटर कोर्सेज के लिए बेस्ट बुक्स के नाम दिए गए हैं-

बुक का नाम लेखक का नाम यहाँ से खरीदें
वर्किंग यूनिक्स विजय मुखी यहाँ से खरीदें
आईटी उपकरण और अनुप्रयोग लिबहर-वर्क नेन्जिंग यहाँ से खरीदें
कंप्यूटर की बुनियादी बातें पी.के सिन्हा यहाँ से खरीदें
मेगा बुक ऑफ वेब डिजाइनिंग  महीनरुप पी.एम यहाँ से खरीदें

12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज के लिए प्रवेश परीक्षा

कंप्यूटर कोर्सेज चुनने के बाद एडमिशन आमतौर पर दो तरीकों से हो सकता है – मेरिट और प्रवेश परीक्षा के आधार पर। हर यूनिवर्सिटी में प्रवेश प्रक्रिया अलग-अलग हो सकती है।

  • मेरिट के आधार पर: कुछ यूनिवर्सिटी में एडमिशन मेरिट पर आधारित होता है। इसमें यूनिवर्सिटी या कॉलेज में योग्यता और कट ऑफ को पूरा करने वाले आवेदकों को प्रोविजनल प्रवेश की पेशकश की जाती है। 
  • प्रवेश परीक्षा के आधार पर: कंप्यूटर कोर्सेज में छात्रों को प्रवेश देने के लिए कई कॉलेज और विश्विद्यालयों द्वारा प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाती हैं। प्रवेश प्रक्रिया के लिए उम्मीदवारों को शॉर्टलिस्ट किया जाता है, जिसमें इन प्रवेश परीक्षाओं को पास करने के बाद काउंसलिंग राउंड शामिल हैं। नीचे कुछ प्रसिद्ध विश्वविद्यालयों के एंट्रेंस एग्जाम के नाम दिए गए हैं :
SAT (विदेश के लिए) GRE (विदेश के लिए)
DUET JNUEE
BITSAT IPU CET
BHU PET OUCET

प्रसिद्ध कम्पनियां

आप अपना कंप्यूटर कोर्स पूरा करने के बाद इन शीर्ष कंपनियों में काम कर सकते हैं, नीचे कुछ विख्यात कंपनियों की लिस्ट दी गई है-

  • Tata Consultancy Services Limited
  • UST Global Inc
  • SAP Labs India
  • Wipro Technologies Limited
  • Nokia Inc
  • Cerner Corporation

जॉब प्रोफाइल्स व सैलरी

12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज करने के बाद छात्रों के पास रोजगार के बेहतरीन अवसर हैं। Payscale के अनुसार उनका औसत वार्षिक वेतन नीचे दिया गया हैं:

रोजगार के अवसर INR में वार्षिक वेतन
आईटी सलाहकार 8-10 लाख
वेब डिजाइनर 3-5 लाख
एप्पलीकेशन विशेषज्ञ 5-6 लाख
कंप्यूटर ऑपरेटर 2-3 लाख
टैली असिस्टेंट 6-7 लाख
आईटी प्रोफेशनल 3-4 लाख
सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट 4-5 लाख

आप Leverage Finance की मदद से विदेश में पढ़ाई करने के लिए अपने कोर्स और विश्वविद्यालय के अनुसार एजुकेशन लोन भी पा सकते हैं।

FAQs

कंप्यूटर कोर्सेज में क्या आता है?

कंप्यूटर विज्ञान और सूचना प्रौद्योगिकी के विशाल क्षेत्र की खोज में रुचि रखने वालों के लिए, कंप्यूटर कोर्सेज निश्चित रूप से एक अच्छा विकल्प है। इस कार्यक्रम में कंप्यूटर विज्ञान के तहत विभिन्न विषयों जैसे डेटाबेस प्रबंधन, कोडिंग, प्रोग्रामिंग भाषा, सूचना प्रौद्योगिकी, सांख्यिकी, नेटवर्किंग, इलेक्ट्रॉनिक्स, कंप्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर शामिल हैं।

क्या कंप्यूटर कोर्सेज की भविष्य में मांग है?

हां, वर्तमान में तकनीकी का विस्तार देखते हुए कहा जा सकता है कि यह एक अच्छा करियर विकल्प है।

कंप्यूटर कोर्सेज का स्कोप क्या है?

कंप्यूटर कोर्सेज स्टूडेंट्स सार्वजनिक और निजी दोनों क्षेत्रों में करियर के अपार अवसरों की खोज कर सकते हैं।  प्रोजेक्ट मैनेजर, क्यूए स्पेशलिस्ट, सॉफ्टवेयर डेवलपर, टेस्टिंग इंजीनियर, सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट, आईटी स्पेशलिस्ट, गेम डिजाइनर आदि कुछ प्रमुख जॉब प्रोफाइल हैं, जिन्हें आप कंप्यूटर कोर्सेज पूरा करने के बाद एक्सप्लोर कर सकते हैं।

हम आशा करते हैं कि अब आप जान गए होंगे कि 12वीं के बाद कंप्यूटर कोर्सेज क्या हैं। यदि आप विदेश में कंप्यूटर कोर्सेज करना चाहते हैं और साथ ही एक उचित मार्गदर्शन चाहते हैं तो आज ही 1800 572 000 पर कॉल करके हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. Online Courses
Talk to an expert