नीदरलैंड में एमबीबीएस कैसे करें?

2 minute read
27 views
Leverage Edu Default Blog Cover

दुनिया भर के शीर्ष मेडिकल कॉलेजों से एमबीबीएस की डिग्री आपको ग्रेजुएशन के बाद आकर्षक करियर विकल्पों के लिए तैयार करती है। आप पेशेवर डॉक्टरों और सर्जनों से लेकर रिसर्च के क्षेत्र में करियर बना सकते हैं। नीदरलैंड यूरोप में मेडिकल एजुकेशन और रिसर्च के लिए एक लोकप्रिय गंतव्य बन गया है। मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालयों के साथ-साथ फार्मास्युटिकल उद्योगों की उपस्थिति ने इसकी मांग बढ़ा दी है। नीदरलैंड में एमबीबीएस कैसे करें के बारे में विस्तार से जानने के लिए यह ब्लॉग पूरा पढ़ें। 

कोर्स  एमबीबीएस 
एग्जाम  NEET 
IELTS/TOEFL 
ट्यूशन फीस लगभग €5500- 6600 (₹4.09- 5 लाख) सालाना 
यूरोप में रहने की लागत लगभग €2000-3000 (₹1 लाख से 3 लाख) 
अवधि  5.8 साल 
माध्यम  अंग्रेजी 

नीदरलैंड में एमबीबीएस की पढ़ाई क्यों करें?

नीदरलैंड से एमबीबीएस करना आपके लिए एक आदर्श विकल्प हो सकता है। विश्वविद्यालयों में रिसर्च, नवीन कोर्स और अकादमिक रूप से उत्कृष्ट प्रोफेसरों पर जोर देने के साथ एक ऐसा वातावरण तैयार किया जाता है, जो सैद्धांतिक नॉलेज के साथ-साथ व्यावहारिक नॉलेज को बढ़ावा देते हैं। नीचे कुछ अन्य कारण दिए गए हैं, जो आपकी यह जानने में मदद करेंगे की नीदरलैंड से एमबीबीएस की पढ़ाई क्यों करें:

  • नीदरलैंड से एमबीबीएस करने से आपको वैश्विक नेटवर्क का हिस्सा बनने का अवसर प्राप्त होगा।
  • कोर्स को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि वे अंतरराष्ट्रीय पहलुओं का पालन करते हैं और उच्चतम गुणवत्ता शिक्षा प्रदान करते हैं। 
  • नीदरलैंड में पढ़ाए जाने वाले चिकित्सा कोर्स सभी अंग्रेजी में आधारित हैं।
  • आप तुलनात्मक रूप से किफायती शिक्षण शुल्क पर गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं।
  • MCI (मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया) ने नीदरलैंड की मेडिकल यूनिवर्सिटी/कॉलेजों को मंजूरी दी है।
  • नीदरलैंड में एमबीबीएस में प्रवेश लेने की प्रक्रिया बहुत ही सरल और सुगम है।
  • नीदरलैंड की यात्रा अन्य देशों की यात्रा की तुलना में बहुत आसान है।
  • नीदरलैंड में एमबीबीएस करने वाले भारतीय छात्रों के लिए अंग्रेजी में अलग से कक्षाएं हैं ।
  • 1500 से अधिक भारतीय छात्र पहले से ही नीदरलैंड के टॉप विश्वविद्यालयों में पढ़ रहे हैं।
  • नीदरलैंड में एमबीबीएस का अध्ययन करने के लिए डोनेशन या कैपिटेशन फीस की कोई आवश्यकता नहीं है। 

नीदरलैंड में एमबीबीएस में पेश किए जाने वाले कोर्स 

नीदरलैंड में एमबीबीएस विश्वविद्यालयों द्वारा पेश किए जाने वाले प्रमुख कोर्स उच्च गुणवत्ता वाले हैं। ये कोर्सेस निम्न तालिका में मौजूद हैं:

कोर्स  अवधि 
सामान्य चिकित्सा 5.8 साल 
दंत चिकित्सा 5 – 6 साल 
फार्मेसी 5 – 6 साल 
नर्सिंग 3 – 4 साल 
फिजियोथेरेपी  3 – 4 साल 

एमबीबीएस सिलेबस

एमबीबीएस सिलेबस एक देश से दूसरे देश और एक कॉलेज से दूसरे कॉलेज में भिन्न हो सकता है। नीचे एक सामान्य एमबीबीएस सिलेबस दिया गया है, जिसके जरिए आप एमबीबीएस सिलेबस का एक आउटलुक पा सकते हैं–

वर्ष 1

सेमेस्टर-I सेमेस्टर-II
फंडामेंटल्स ऑफ डिजीज एंड ट्रीटमेंट हेल्थ एंड एनवायरमेंट
इंट्रोडक्शन ऑफ मेडिसिन बेसिक हेमेटोलॉजी 
सेल बायोलॉजी हेल्थकेयर कॉन्सेप्ट्स
आईकोमोटर सिस्टम न्यूरोसाइंस 1 (पेरिफेरल सिस्टम)
इंट्रोडक्शन ऑफ मॉलिक्युलर मेडिसिन रेस्पिरेटरी सिस्टम 
इंट्रोडक्शन ऑफ एंब्रियोलॉजी एंड हिस्टोलॉजी 

वर्ष 2

सेमेस्टर- III सेमेस्टर- IV
जनरल डिफॉर्मिटी  सिस्टमिक पैथोलॉजी 
नियोप्लाज्म ब्लड
हेरेडिटरी डिसऑर्डर  कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम 
एनवायरमेंटल डिग्रेडेशन  डाइट सिस्टम
न्यूट्रिशन डिसऑर्डर इम्यूनिटी कॉमन सिम्पटम्स एंड साइन

वर्ष 3

सेमेस्टर-V सेमेस्टर-VI
स्पेशल पैथोलॉजी  एपिडेमियोलॉजी ऑफ कम्युनिकेबल डिजीज 
क्लिनिकल पैथोलॉजी एपिडेमियोलॉजी ऑफ नॉन – कम्युनिकेबल डिजीज 
जनरल डिफॉर्मिटी  रिप्रोडक्टिव एंड चाइल्ड हेल्थ 
ग्रोथ डिस्टरबेंस एंड नियोप्लाजिया 
इम्युनो पैथोलॉजी
इन्फेक्शियस डिसीज  

वर्ष 4

सेमेस्टर-VII सेमेस्टर-VIII
टैकटाइल कम्युनिकेबल डिजीज  एंडोक्राइन डिजीज
न्यूट्रिशन डिजीज  मेटाबॉलिज्म एंड बोन डिजीज 
जिरियाट्रिक डिजीज   द नर्वस सिस्टम 
डिजीज ऑफ द इम्यून सिस्टम, कनेक्टिव टिशू एंड ज्वाइंट्स  इमरजेंसी मेडिसिन एंड क्रिटिकल केयर 
हेमेटोलॉजी एंड ऑन्कोलॉजी  ब्रेन डेड, ऑर्गन डोनेशन, ऑर्गन प्रिजर्वेशन 

वर्ष 5

सेमेस्टर- IX सेमेस्टर-X
द नर्वस सिस्टम  इंटर्नशिप 
किडनी डिजीज
एनवायरमेंट डिसऑर्डर, पॉइजनिंग एंड स्नेक बाइट्स 
इमरजेंसी मेडिसिन एंड क्रिटिकल केयर 

नीदरलैंड में एमबीबीएस के टॉप विश्वविद्यालय 

नीदरलैंड में एमबीबीएस की पढ़ाई करने के लिए बहुत सारे शीर्ष विकल्प हैं। टाइम्स हायर एजुकेशन और क्यूएस रैंकिंग दोनों द्वारा मान्यता प्राप्त कुछ शीर्ष विश्वविद्यालय की सूची नीचे दी गई है, जिनमें आप आवेदन कर सकते हैं:

यूनिवर्सिटी  कोर्स 
यूनिवर्सिटी ऑफ़ एम्स्टर्डम  -MSc Biomedical Sciences
-Medical Biology
लीडेन यूनिवर्सिटी  -BSc Medicine [Dutch]-MSc Medicine [Dutch]
इरास्मस यूनिवर्सिटी रॉटरडैम  -MSc Clinical Research
-MSc in Health Sciences
-MSc in Infection and Immunity
-Research Master [MSc] in Health Sciences
यूनिवर्सिटी ऑफ़ ग्रोनिंगन  -BSc in Medicine 
-MSc in Clinical & Psychosocial Epidemiology
-MSc in Molecular Medicine & Innovative Treatment 
यूट्रेक्ट यूनिवर्सिटी  -MSc in Biology of Disease
मास्ट्रिच यूनिवर्सिटी  -Bachelor’s in Medicine-International Track
-Master’s in Medicine
-MSc in Health Sciences [Research]
रेडबड यूनिवर्सिटी  -MSc in Medical Biology
-Spec in Human Biology
-MSc in Molecular Mechanisms of Disease [Research]
ट्वेंटी विश्वविद्यालय -MSc in Health Sciences

ग्रोनिंगन विश्वविद्यालय

ग्रोनिंगन विश्वविद्यालय में चिकित्सा विज्ञान विभाग न केवल नीदरलैंड में बल्कि पूरे यूरोप में औषधीय विकास पर जोर देने का एक ऐतिहासिक प्रमाण है। यह देश का दूसरा सबसे पुराना डिवीजन है। इसका बीएससी मेडिसिन कोर्स दो स्पेशलाइजेशन ट्रैक, मॉलिक्यूलर मेडिसिन और ग्लोबल हेल्थ में पेश किया जाता है। इसके अलावा, यह उन छात्रों के लिए एक आसान मार्ग प्रदान करता है जो बाद में मास्टर डिग्री करना चाहते हैं। अगर आप नीदरलैंड में एमबीबीएस की पढ़ाई करना चाहते हैं, तो यह एक आदर्श विश्वविद्यालय हो सकता है। 

लीडेन विश्वविद्यालय

लीडेन यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर वर्तमान में बैचलर ऑफ साइंस और एमएससी मेडिसिन डिग्री प्रोग्राम प्रदान करता है। विश्वविद्यालय डायग्नोस्टिक टेक्नोलॉजी, वाइटालिटी, एजिंग आदि में कई अन्य कोर्स भी प्रदान करता है। मास्टर डिग्री के बाद आप PhD करने का विकल्प भी चुन सकते हैं । इसमें LUMC फैलोशिप और LUMC गिसेला थिअर फैलोशिप के साथ-साथ कई अन्य स्कॉलरशिप भी उपलब्ध है। यह उन लोगों के लिए एक आदर्श विकल्प है जो नीदरलैंड में एमबीबीएस का अध्ययन करना चाहते हैं।

एम्स्टर्डम विश्वविद्यालय

यदि आप बायोकैमिकल और मॉलिक्यूलर बायोलॉजी दोनों को एक साथ सीखने में रुचि रखते हैं, तो एम्सटर्डम विश्वविद्यालय का MSc बायोमेडिकल साइंसेज-मेडिकल बायोलॉजी कोर्स आपके लिए बेस्ट है। यह कोर्स छह विशेषज्ञता ट्रैक प्रदान करता है, जिसका उद्देश्य आपको चिकित्सा बायोकेमिस्ट्री और बायोटेक्नोलॉजी, सेल बायोलॉजी और एडवांस्ड माइक्रोस्कोपी, इन्फेक्शन और इम्युनिटी, डेवलपमेंटल और थेराप्यूटिक बायोलॉजी, ऑन्कोलॉजी और एक्सपेरिमेंटल इंटरनल मेडिसिन जैसे विषयों पर गहन नॉलेज प्रदान करना है। एम्स्टर्डम विश्वविद्यालय के मेडिकल सेंटर से संबद्ध होने के अलावा, नीदरलैंड कैंसर संस्थान, स्वामरडैम इंस्टीट्यूट फॉर लाइफ साइंसेज और सैनक्विन ब्लड सप्लाई फाउंडेशन के साथ सम्बंधित है।

इरास्मस विश्वविद्यालय रॉटरडैम

इरास्मस विश्वविद्यालय रॉटरडैम नीदरलैंड में एमबीबीएस की पेशकश नहीं करता है, यह कई अन्य कोर्स प्रदान करता है जो विभिन्न चिकित्सकीय विषयों से संबंधित हैं। कार्यक्रम विशेष रूप से नीदरलैंड इंस्टीट्यूट फॉर हेल्थ साइंसेज के माध्यम से पेश किए जाते हैं, जो अपने मल्टीडायमेंशनल एप्रोच के लिए जाना जाता है। इसमें क्लिनिकल रिसर्च, हेल्थ साइंस, इन्फेक्शन, इम्युनिटी में मास्टर ऑफ साइंस की डिग्री शामिल है। यह नीदरलैंड के साथ-साथ दुनिया भर में अत्यधिक प्रसिद्ध संस्थानों में से एक है, जो इस तथ्य में भी दिखाई देता है कि विश्वविद्यालय को विश्व रैंकिंग 2022 में टॉप 10 रैंक में रखा गया है। 

नीदरलैंड में एमबीबीएस के लिए योग्यता

नीदरलैंड में एमबीबीएस की पढ़ाई के लिए विश्वविद्यालय के अनुसार अलग-अलग योग्यता की मांग की जाती है, लेकिन कुछ सामान्य योग्यता के बारे में नीचे बताया गया है, जिनकी मांग हर विश्वविद्यालय द्वारा की जाती है:

  • किसी मान्यता प्राप्त स्कूल या बोर्ड से भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान में न्यूनतम 50% अंक होने आवश्यक हैं। 
  • नीदरलैंड में किसी भी मेडिकल कॉलेज में प्रवेश के लिए  NEET प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करनी आवश्यक है।
  • नीदरलैंड में मेडिकल के MD कोर्स में एडमिशन लेने के लिए NEET-PG प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करनी आवश्यक है। 
  • छात्रों के अपने उच्च माध्यमिक में अंग्रेजी विषय होना चाहिए।
  • एक अच्छा IELTS/ TOEFL/PTE स्कोर अंग्रेज़ी भाषा में कुशलता के रूप में होना आवश्यक है।
  • विदेशी विश्वविद्यालयों में एडमिशन के लिए SOP, LOR और CV/Resume जैसे दस्तावेज़ों की भी आवश्यकता होती है।
आयु सीमा  एडमिशन के लिए न्यूनतम आयु 17 वर्ष और अधिकत्तम 25 वर्ष आयु होनी चाहिए। 
एंट्रेंस एग्जाम  NEET
विषय  फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी साइंस
अन्य दस्तावेज  आवेदक को सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ क्लीयरेंस सर्टिफिकेट जमा करना होगा। 

नोट: भारत में चिकित्सा अभ्यास शुरू करने के लिए विदेशी शिक्षा ग्रेजुएट्स के लिए Foreign Medical Graduate Examination (FMGE) अनिवार्य है। 

आवेदन प्रक्रिया 

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीज़ा और छात्रवृत्ति/छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

आवश्यक दस्तावेज 

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं:

एमबीबीएस की पढ़ाई के बाद करियर और सैलरी 

एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी करने के बाद आप निम्नलिखित रूप में काम कर सकते है। यहाँ एमबीबीएस के बाद लोकप्रिय जॉब प्रोफाइल और उनकी सैलरी glassdoor.in के अनुसार बतायी गई है:

जॉब प्रोफाइल  सालाना सैलरी 
पशु चिकित्सक £ 73000- 75000 (₹73.25-75  लाख)
रजिस्टर्ड नर्स  £ 55000- 60000 (₹55.60-60 लाख) 
दंत चिकित्सक  £ 1- 1.5 लाख (₹1.10-1.20 करोड़) 
चिकित्सक और सर्जन  £ 1- 1.5 लाख (₹1.10-1.20 करोड़)
फिजियोलॉजिस्ट  £ 37000- 40000 (₹37.11-40 लाख )
मेडिकल प्रोफेसर या व्याख्याता £ 50,000- 55,000 (₹50.00- 55 लाख)
रिसर्चर  £ 1- 1.5 लाख (₹1.10-1.20 करोड़)
होम स्वास्थ्य और व्यक्तिगत देखभाल £ 19,000- 20,000 (₹19.98- 20 लाख)
काउंसलर  £ 70,000- 75,000 (₹70.50- 75 लाख)

FAQs

भारतीय छात्रों के लिए नीदरलैंड में एमबीबीएस का अध्ययन करने के लिए कौन सा विश्वविद्यालय सबसे अच्छा विकल्प है?

अधिकांश नीदरलैंड मेडिकल कॉलेज शिक्षा की सर्वोत्तम गुणवत्ता प्रदान करता है। भारतीय छात्रों के लिए सर्वश्रेष्ठ नीदरलैंड मेडिकल कॉलेज इस प्रकार है:
-एम्स्टर्डम विश्वविद्यालय
-उट्रेच विश्वविद्यालय
-वैगनिंगन विश्वविद्यालय और अनुसंधान
-इरास्मस विश्वविद्यालय रॉटरडैम
-ग्रोनिंगन विश्वविद्यालय

क्या नीदरलैंड में एमबीबीएस एक अच्छा विकल्प है?

एमबीबीएस की पढ़ाई के लिए नीदरलैंड सबसे अच्छे विकल्पों में से एक है। नीदरलैंड में एमबीबीएस की एक किफायती शुल्क संरचना है। नीदरलैंड में एमबीबीएस की फीस भारतीय छात्रों के लिए अन्य देशों की तुलना में बहुत कम है।

नीदरलैंड में एमबीबीएस की पढ़ाई भारतीय छात्रों के लिए कैसे फायदेमंद है?

नीदरलैंड में एमबीबीएस करने के लिए भारत से आने वाले मेडिकल छात्र छात्रावास में आसानी से भारतीय भोजन प्राप्त कर सकते हैं। नीदरलैंड में एमबीबीएस को दुनिया भर में मान्यता प्राप्त है क्योंकि कॉलेजों और विश्वविद्यालयों को MCI द्वारा मान्यता प्राप्त है।

उम्मीद है, कि इस ब्लॉग में आपको नीदरलैंड में एमबीबीएस कैसे करें के बारे में सभी जानकारी मिल गई होगी। यदि आप विदेश में एमबीबीएस की पढ़ाई करना चाहते हैं, तो हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन 1800 572 000 पर कॉल कर बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert