MS क्या है?

1 minute read
347 views
10 shares
MS kya hai

12वीं की पढ़ाई विज्ञान में बायोलॉजी विषय से पूरी होते ही बहुत से बच्चे डॉक्टर बनने का ख्वाब देखते हैं। डॉक्टर कई तरह के होते हैं। जो डॉक्टर मरीजों की सर्जरी करता है उसे सर्जन कहते हैं। ज्यादातर बच्चे जो मेडिकल की पढ़ाई करते हैं उनका ख्वाब एक सर्जन बनना ही होता है। ऐसे में बहुत से बच्चों के मन में ऐसा प्रश्न उत्पन्न होता होगा कि MS kya hai है। पहले तो आप जान लीजिए कि MS का फुल फॉर्म Master of Surgery है। हिंदी में एमएस का फुल फॉर्म शल्यविज्ञान निष्णात होता है। एमएस एक पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स है जो सर्जरी के क्षेत्र में प्रदान किया जाता है। जिन लोगों ने चिकित्सा में ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी कर ली है, वे एमएस कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं। MS kya hai के बारे में विस्तार से जानने के लिए यह ब्लॉग पूरा पढ़ें।

MS क्या होता है?

एम.एस की पढ़ाई एम.बी.बी.एस. करने के बाद ही कर सकते हैं। कोई भी डॉक्टर बनने में कम से कम 5 से 6 साल का वक्त लगता है। एम.बी बी.एस करने के बाद मास्टर ऑफ सर्जरी का कोर्स किया जाता है। एमएस 3 साल का पोस्ट ग्रेजुएशन का कोर्स है, जिसमें विद्यार्थी सर्जिकल ट्रेनिंग की स्किल और नॉलेज प्राप्त करते हैं। इस कोर्स के माध्यम से डॉक्टरों को किसी भी बीमारी का सटीक इलाज करना बताया जाता है। उन्हें इस कोर्स के तहत हर बात को बहुत ही गहराई से बताई जाती है। मास्टर ऑफ सर्जरी कोर्स में आपको रिसर्च और सर्जरी के विषयों के बारे में पढ़ाया जाता है इसमें आपको स्वास्थ्य विभाग के अलग-अलग विषयों, बिमारियों और अलग-अलग भागो के बारे में पढ़ाया जाता है। इस कोर्स के पूरा होने पर ही डॉक्टर सर्जन बनते हैं। इस कोर्स में आपको विभिन्न क्षेत्र में स्पेशलाइजेशन करने का मौका मिलता है जैसे कि:-

  • कार्डियोलॉजी
  • पैथोलॉजी
  • एनाटॉमी
  • ऑर्थोपेडिक्स
  • ओटोरहिनोलारिंजोलॉजी
  • नेत्र विज्ञान
  • प्रसूति
  • स्त्री रोग

एम.एस कोर्स के लिए स्किल्स

MS kya hai जानने के साथ-साथ स्किल्स को जानना आवश्यक है, जो इस प्रकार है:

  • संबंधित विषय का पूर्ण ज्ञान 
  • स्वास्थ्य के सामाजिक, आर्थिक, पर्यावरणीय, जैविक और भावनात्मक निर्धारकों की पहचान
  • मरीजों के प्रति सहानुभूति और मानवीय दृष्टिकोण
  • मैनेजरियल स्किल
  • एनालिटिकल एबिलिटी
  • तुरंत सोच और समस्या निवारण की क्षमता
  • अनुसंधान पद्धति और महामारी विज्ञान की समझ

एम.एस के अंतर्गत कोर्सेज

एम.एस के अंतर्गत कोर्सेज के नाम इस प्रकार हैं:

  • MS in General Surgery
  • MS in ENT
  • MS in Orthopaedics
  • MS in Ophthalmology
  • MS in Obstetrics & Gynaecology
  • MS in Anatomy
  • MS in Anaesthesia
  • MS in Neurosurgery
  • MS in Traumatology and Surgery

आप AI Course Finder की मदद से अपनी प्रोफाइल के अनुसार सही यूनिवर्सिटी और अपनी पसंद का कोर्स चुन सकते हैं।

एमएस कोर्स सिलेबस

सामान्य एमएस कोर्स सिलेबस की सूची नीचे दी गई है:

वर्ष 1 वर्ष 2 वर्ष 3
जनरल सर्जरी
रेडियोलॉजी और रेडियोथेरेपी
एनेस्थीसिया
ऑर्थोपेडिक्स
ट्रूमैटोलॉजी
सामान्य सर्जरी
न्यूरोसर्जरी
प्लास्टिक सर्जरी
कार्डियो थेरेपी
यूरोलॉजी
बाल चिकित्सा सर्जरी
सामान्य सर्जरी
इंटेंसिव कोचिंग

आप Leverage Finance की मदद से विदेश में पढ़ाई करने के लिए अपने कोर्स और विश्वविद्यालय के अनुसार एजुकेशन लोन भी पा सकते हैं।

एम.एस  के लिए विश्वविद्यालय, शुल्क व प्रवेश स्कोर

विदेश में

विश्वविद्यालय देश सालाना ट्यूशन फीस
फ्लिंडर्स विश्वविद्यालय ऑस्ट्रेलिया AUD 64,517 (INR 36.13 लाख)
मेलबर्न विश्वविद्यालय ऑस्ट्रेलिया AUD 50,928 (INR 28.52 लाख)
न्यूकैसल विश्वविद्यालय ऑस्ट्रेलिया AUD 75,678 (INR 42.38 लाख)
एडिनबर्ग विश्वविद्यालय यूके AUD 81,160 (INR 45.45 लाख)
रॉयल कॉलेज आयरलैंड आयरलैंड EURO 5,720 (INR 4.92 लाख)
एरिजोना राज्य विश्वविद्यालय अमेरिका USD 25,733 (INR 19.3 लाख)
टोरंटो विश्वविद्यालय कनाडा CAD 40,500 (INR 24.3 लाख)
अल्बर्टा विश्वविद्यालय कनाडा CAD 25,000 (INR 14.9 लाख)
हावर्ड यूनिवर्सिटी अमेरिका USD 75,073 (INR 59.3 लाख)
वाटरलू विश्वविद्यालय कनाडा CAD 45,666 (INR 27.4 लाख)

भारत में

कॉलेज / विश्वविद्यालय फीस विवरण (प्रथम वर्ष/INR)
बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी 22,860
बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज 57,300
एलएन मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च सेंटर 14.08 लाख
ऐम्स 2,027
केएमसी मणिपाल 24.10

एम.एस कोर्स के लिए आवश्यक योग्यता

एम.एस क्या है यह जाने के बाद अब आप यह जरूर जानना चाहेंगे कि यह कोर्स करने के लिए आवश्यक योग्यता क्या है-

  • मास्टर्स ऑफ सर्जरी का कोर्स एमबीबीएस के बाद किया जाता है। 
  • एमबीबीएस के बाद एक एंट्रेंस एग्जाम होता है जिसको क्वालीफाई करने के बाद ही स्टूडेंट मास्टर्स ऑफ सर्जरी का कोर्स कर सकता है। 
  • एंट्रेंस एग्जाम में जनरल कैटेगरी के विद्यार्थी को कम से कम 50% और एसटी, एससी, ओबीसी को 40% अंक प्राप्त होने चाहिए। 
  • विदेश में पढ़ने के लिए इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट जैसे IELTS,TOEFL, PTE के अंक। 
  • GMAT/GRE के अंक
  • SOP और LOR

आकर्षक SOP और LOR में मदद के लिए Leverage Edu एक्सपर्ट्स से संपर्क करें, ताकि आपकी एप्लीकेशन बिना किसी परेशानी के जल्दी सेलेक्ट कर ली जाए।

एम.एस के लिए होने वाली प्रवेश परीक्षा

एम.एस के लिए होने वाली कुछ प्रमुख प्रवेश परीक्षाएं –

  • GRE ( विदेश में )
  • NEET- PG
  • AIIMS PG
  • JIPMER PG 
  • PGIMER 

आवेदन प्रक्रिया

किसी भी कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको उसकी प्रक्रिया पता होनी चाहिए। भारत और विदेश में एमएस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको नीचे बतायी गई प्रक्रिया को चरण दर चरण फॉलो करना होगा:

भारत और विदेश में एमएस कोर्स के लिए आवेदन प्रक्रिया 

  • विश्वविद्यालय की ऑफिसियल वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करें। यूके में एडमिशन के लिए आप यूसीएएस वेबसाइट (UCAS) पर जाकर रजिस्ट्रेशन करें। यहाँ से आपको यूजर आईडी और पासवर्ड प्राप्त होंगे।
  • यूजर आईडी से साइन इन करें और कोर्स चुनें जिसे आप चुनना चाहते हैं। 
  • अगली स्टेप में अपनी शैक्षणिक जानकारी भरें।  
  • शैक्षणिक योग्यता के साथ  IELTS, TOEFL, प्रवेश परीक्षा स्कोर, SOP, LOR की जानकारी भरें। 
  • पिछले सालों की नौकरी की जानकरी भरें। 
  • रजिस्ट्रेशन फीस का भुगतान करें।
  • अंत में आवेदन पत्र जमा करें।
  • कुछ यूनिवर्सिटीज, सिलेक्शन के बाद वर्चुअल इंटरव्यू के लिए इन्वाइट करती हैं।

हम आपकी आकर्षक SOP और LOR बनाने में भी मदद करते हैं, ताकि आपकी एप्लीकेशन बिना किसी परेशानी के जल्दी सेलेक्ट कर ली जाए।

आवश्यक दस्तावेज

उत्तरी ब्रिटिश कोलंबिया विश्वविद्यालय में एडमिशन लेने के लिए नीचे दिए गए डॉक्यूमेंट होने आवश्यक है:

एम.एस के बाद करियर

एम.एस के विद्यार्थी एमएस का कोर्स करने के बाद किसी भी

  • हॉस्पिटल
  • रिसर्च सेंटर
  • मेडिकल फाउंडेशन
  • हेल्थ केयर सेंटर
  • मेडिकल कॉलेज 
  • स्वास्थ्य केंद्र
  • प्रयोगशालाएं
  • नर्सिंग होम
  • पालीक्लिनिक
  • गैर सरकारी संगठन

एमएस के विद्यार्थी के लिए बहुत सारे जॉब प्रोफाइल्स है जिसके जरिए वे अपने करियर को ऊंचाई तक पहुंचा सकते हैं जैसे कि शोधकर्ता, प्लास्टिक सर्जन, नवजात सर्जन, संवहनी सर्जन, आदि।

  • नेत्र रोग विशेषज्ञ
  • लैब टेक्निशियन
  • बाल रोग सर्जन
  • नवजात सर्जन
  • आर्थोपेडिक सर्जन
  • वस्कुलर सर्जन
  • यूरोलॉजिकल सर्जन
  • रिसर्चर
  • प्लास्टिक सर्जन
  • उप्पी गैस्ट्रो-आंत्र सर्जन
  • रिकंस्ट्रक्टिव सर्जन
  • लेक्चरर

एम.एस के बाद मिलने वाला वेतन

MS kya hai जानने के बाद विद्यार्थी जब इस कोर्स को पूरा कर लेते हैं तो उनका वेतन 4 लाख से 35 लाख तक सालाना होता है। वहीं यूके में MS करने के बाद सालाना सैलरी GBP 51,494 (INR 51.49 लाख) होती है। सैलरी डॉक्टर्स के स्किल और एक्सपीरियंस के आधार पर बढ़ती जाती है।

FAQs

एम.एस कौन सा कोर्स है?

एम.एस का अर्थ है मास्टर्स ऑफ सर्जरी। यह मेडिकल के फील्ड में मास्टर्स कोर्स होता है।

एम.एस डॉक्टर कौन होता है?

एम.एस डॉक्टर वह होता है जो सर्जरी के फील्ड में मास्टर्स की डिग्री प्राप्त करता है और किसी विषय में स्पेशलाइजेशन करता है।

एम.एस कोर्स कितने साल का होता है?

एम.एस का कोर्स 3 साल का होता है।

आशा करते हैं कि MS kya hai के इस ब्लॉग से आपको जानकारी प्राप्त हुई होगी। यदि आप विदेश में MS करना चाहते हैं तो आज ही 1800 572 000 पर कॉल करके Leverage Edu के विशेषज्ञों के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें। 

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert