पशु चिकित्सक कैसे बनें?

2 minute read
2.5K views
10 shares
पशु चिकित्सक कैसे बने

आज कल पालतू जानवरों को परिवार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा माना जाता है और लोग अपने परिवार के पालतू जानवरों की अच्छी खासी देखभाल करते हैं। क्या आपको पता है कि आपके पालतू जानवरों के लिए भी डॉक्टर होते हैं, उन्हें पशु चिकित्सक कहते हैं। यदि आप यह सोच रहे हैं कि पशु चिकित्सक कैसे बनें (Veterinary Doctor Kaise Bane), तो यह ब्लॉग आपकी यह जानने में सहायता करेगा।

पशु चिकित्सा क्या है?

पशु चिकित्सा विज्ञान की एक विशेष शाखा है जिसमें जानवरों और पक्षियों में विभिन्न प्रकार के रोगों का उपचार होता है। यह मानव चिकित्सा विज्ञान के समान है क्योंकि उनका प्राथमिक उद्देश्य भी बीमारियों की रोकथाम, उन्मूलन और जैविक जीवों को स्वस्थ जीवन देना है। 

पशु चिकित्सक बनने के लिए क्या करें?

पशु चिकित्सक कैसे बने, इसके लिए आपको पशु चिकित्सा विज्ञान में बैचलर डिग्री के बाद पशु चिकित्सा विज्ञान में DM या कोई विशेष पशु चिकित्सक बनने के लिए स्पेशलाइजेशन भी हासिल करनी होगी।

पशु चिकित्सकों या पशु चिकित्सा डॉक्टरों को आमतौर पर ‘पशु चिकित्सक’ कहा जाता है क्योंकि वे उन पालतू जानवरों, पशुओं और अन्य जानवरों का निदान और इलाज करने में माहिर होते हैं, जो बीमारियों का सामना कर रहे हैं। पशु चिकित्सक कैसे बने के तरीके को समझने के लिए जरूरी है अपने प्रमुख कर्तव्यों और जिम्मेदारियों से खुद को परिचित करना

  • वक्सीनेशन और चेक अप कर के इम्युनिटी के लिए देखभाल प्रदान करना।
  • जानवरों की जांच करना, घावो का इलाज करना और सर्जरी करना।
  • जानवरों की आपातकालीन देखभाल और इच्छा मृत्यु प्रदान करना।
  • जानवरों के मालिकों को देखभाल और दवाएँ देने के बारे में सलाह देना।

पशु चिकित्सक शहरी क्षेत्रों में काम करना चुन सकते हैं जहां वे घरेलू पालतू जानवरों या सरकारी सहायता प्राप्त पशु देखभाल केंद्रों और पशु पालन विभागों को संभालने की ज़िम्मेदारी उठा सकें। इसके अलावा, वे खेतो में काम करने वाले पशुओं के रोगों के उपचार और निदान की सुविधा के लिए भी जाते हैं। 

स्किल

यदि आप जानवरों के प्रति आत्मीय है और इसमें करियर बनाना चाहते हैं, तो सही शिक्षा और प्रशिक्षण आपकी मदद कर सकते हैं । जानवरों की देखभाल के विभिन्न पहलुओं में संयम, आहार , शल्य चिकित्सा, चिकित्सा स्थिति, टीके, परजीवी और बहुत कुछ शामिल हैं। इसके अलावा, इसके लिए जानवरों, पालतू जानवरों और उनके मालिकों की मदद के लिए धैर्य और कमिटमेंट भी जरूरी है। कुछ आवश्यक स्किल के बारे में नीचे बताया गया है:

  • पालतू जानवरों के मालिकों के साथ उपयोगी बातचीत, अच्छा रवैया और अच्छी कम्युनिकेशन स्किल अपना कर उनका इलाज करना चाहिए।
  • पालतू जानवरों के मालिकों को आश्वासन और समर्थन देने के प्रति एक संवेदनशील और वास्तविक दृष्टिकोण रखें ।
  • एफ्फिसिएंट टाइम मैनेजमेंट और एक ओर्गनइजेशनल व्यक्तित्व होना चाहिए।
  • घायल और बीमार जानवरों के सटीक इलाज के लिए टेक्निकल मशीनरी और लैब इक्विपमेंट को संभालने की क्षमता।
  • पशु कल्याण और भलाई के लिए एक जुनून होना चाहिए।

पशु चिकित्सकों के प्रकार

पशु चिकित्सक के प्रकार नीचे दिए गए हैं:

  1. पालतू जानवरों के पशु चिकित्सक आमतौर पर निजी अस्पतालों में पाए जाते हैं और बिल्लियों, कुत्तों, पक्षियों आदि को उपचार प्रदान करते हैं।
  2. कैटल एनिमल के पशु चिकित्सक भेड़ , बकरी जैसे जानवरो की बीमारी और चोटों से निपटने के लिए पशुपालकों को पशुओं के भोजन और अन्य स्वास्थ्य पद्धतियों के बारे में जागरूक करते है।
  3. फ़ूड सिक्योरिटी और इंस्पेक्शन पशु चिकित्सक आम तौर पर जानवरों और मनुष्यों के बीच संचारित होने वाले पशु रोगों की रोकथाम खोजने के लिए शोध करते हैं।
  4. घोड़े के पशुचिकित्सक घोड़ों के उपचार की सुविधा प्रदान करते है।
  5. अनुसंधान पशु चिकित्सक नए निदान और शल्य चिकित्सा तकनीक के अनुसंधान में शामिल होते हैं।

वेटरनरी कोर्सेज

वेटरनरी कोर्सेज की सूची कोर्स के स्तर के अनुसार नीचे दी गयी है

अंडर ग्रेजुएट कोर्सेज

  • Bachelor of Veterinary Science
  • Bachelor in Veterinary Medicine
  • Bachelors of Sciences in Bioveterinary Science
  • Veterinary Nursing
  • Bachelor of Science in Animal Health
  • Bachelor in Bio-Veterinary Science (Hons)
  • Bachelor of Science in Pre-Veterinary Medicine

पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्सेज

  • Masters in Veterinary Studies and Research in Food Science and Technology
  • Masters in Veterinary Science (Research)
  • Masters of Veterinary Studies in Conservation Medicine
  • Masters in Veterinary Diagnostic Pathology
  • Veterinary Doctor

अन्य प्रोग्राम

  • Diploma in Technology (Veterinary Technology)
  • Diploma in Veterinary Technician
  • Associate of Arts in Veterinary Medicine
  • Certificate in Veterinary Aid
  • Certificate in Veterinary Technology

कैसे बने भारत में पशु चिकित्सक?

हर देश में चिकित्सकों के लिए उनका अपना चिकित्सा मान्यता बोर्ड होता हैं, इसलिए भारत में एक पशु चिकित्सक कैसे बनें, इसकी प्रक्रिया से खुद को परिचित करना आवश्यक है। भारत में पशु चिकित्सक बनने के लिए आपको यह करना होगा :

  • भारत के प्रमुख विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में पशु चिकित्सा विज्ञान में बैचलर्स डिग्री में प्रवेश के लिए अखिल All India Pre Veterinary Test (AIPVT) परीक्षा पास करनी होगी।
  • भारत में वेटरनरी डॉक्टर के रूप में करियर बनाने के लिए Bachelor of Veterinary Science (BV Sc) डिग्री जरूरी है।
  • प्रमाणिक पशु चिकित्सक बनने के लिए पशु चिकित्सा विज्ञान में बैचलर डिग्री होने होने के बाद, आपको आगे पशु चिकित्सा विज्ञान में MD या कोई स्पेशलाइजेशन का अध्ययन करना होगा।
  • इसके अलावा, आप टीचिंग सर्विस क्लीनिकल काम्प्लेक्स (TSCC) में तीन महीने का क्लीनिकल ट्रेनिंग कर सकते हैं और फिर आप भारत में वेटरनरी डॉक्टर की नौकरी पाने के पात्र होंगे।
Source: Epashupalan

क्या NEET पशु चिकित्सक के लिए आवश्यक है?

हां,पशु चिकित्सक का करियर बनाने के लिए NEET पशु चिकित्सा विज्ञान में बैचलर डिग्री हासिल करने के लिए आवश्यक है। पशु चिकित्सक बनने के रिसर्च में आपकी मदद के लिए हमने पशु चिकित्सा विज्ञान में डिग्री प्राप्त करने की प्रक्रिया को चार भागों में बाँटा है:

10वीं के बाद

यदि आप 10वीं के बाद पशु चिकित्सक बनने की योजना बना रहे हैं, तो आप पशु चिकित्सा में डिप्लोमा पाठ्यक्रम चुन सकते हैं। 10वीं के बाद पशु चिकित्सक बनने के लिए शीर्ष डिप्लोमा पाठ्यक्रम निम्न हैं:

  • Diploma in Veterinary Pharmacy
  • Diploma in Veterinary Lab Technician
  • Diploma in Animal Husbandry and Dairying
  • Diploma in Veterinary Assistant

ये कोर्सेज भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान बरेली, श्री वेंकटेश्वर पशु चिकित्सा विश्वविद्यालय, तिरुपति, पशु चिकित्सा महाविद्यालय, बैंगलोर और तमिलनाडु पशु चिकित्सा और पशु विज्ञान विश्वविद्यालय में कराए जाते हैं। पशु चिकित्सा में डिप्लोमा पूरा करने के बाद आप All India Pre Veterinary Test (AIPVT) परीक्षा में शामिल होकर पशु चिकित्सा में बैचलर डिग्री हासिल कर सकते हैं।

12 वीं के बाद BV Sc को लक्ष्य बनाए

यदि आप एक पशु चिकित्सक बनने के इच्छुक हैं, तो पशु चिकित्सा महाविद्यालय में प्रवेश के लिए 12वीं अच्छे अंकों के साथ पास होनी आवश्यक है। आपके पास बायोलॉजी, केमिस्ट्री और फिजिक्स जैसे प्रमुख विषयों होने आवश्यक है। इसके अलावा, कुछ महाविद्यालय छात्रों से मानविकी, सोशल साइंस या मैथ्स भी मांगते है। 12वीं के बाद कुछ प्रमुख कोर्सेज नीचे दिए गए हैं:

  • Bachelor of Veterinary Science [BV Sc]
  • Bachelor of Veterinary Science [BV Sc] (Veterinary Pathology)
  • Bachelor of Veterinary Science [BV Sc] (Animal Nutrition)
  • Bachelor of Veterinary Science [BV Sc] (Animal Genetics and Breeding)
  • Bachelor of Veterinary Science [BV Sc] (Veterinary Microbiology)

पशु चिकित्सा के बुनियादी ज्ञान को प्राप्त करने में पूर्व-पशु चिकित्सा क्लबों जैसी अतिरिक्त गतिविधियाँ भी आपकी सहायता कर सकती हैं। अपना DVM (Doctor of Veterinary Medicine) कार्यक्रम शुरू करने से पहले आप इस क्षेत्र में लाइसेंस प्राप्त पशु चिकित्सक या वालंटियर के तहत काम करने का अवसर भी प्राप्त कर सकते हैं।

विदेश में पशु चिकित्सक कैसे बने?

विदेश में पशु चिकित्सक कैसे बने इसकी विस्तृत जानकारी नीचे दी गई है:

GRE पास करें

विदेश में DVM प्रोग्राम में प्रवेश पाने के लिए, आपको GRE एग्जाम पास करने और प्रवेश के लिए अच्छा स्कोर करने की आवश्यकता होती है। GRE टेस्ट मूल रूप से आपके मौखिक, मात्रात्मक और विश्लेषणात्मक कौशल का मूल्यांकन करता है और यह सुनिश्चित करता है कि आप न्यूनतम आवश्यक स्कोर प्राप्त कर सकते हैं।

इसके अलावा, आप एक Educational Testing Service (ETS) के लिए जा सकते हैं जो GRE विकसित करता है और सहायक तैयारी सामग्री और अभ्यास परीक्षणों की एक विस्तृत श्रृंखला पेश करता है। हालाँकि, Medical College Admission Test (MCAT) या Veterinary College Admission Test (CAT) एक विकल्प है जो कुछ कॉलेज और विश्वविद्यालय GRE के बदले स्वीकार कर सकते हैं।

DVM प्रोग्राम को पूरा करें

एक DVM प्रोग्राम विभिन्न विषयों जैसे कि एनिमल एनाटोमी और फिजियोलॉजी, वेटरनरी न्यूरोबायोलॉजी और जेनेटिक इम्मुनोलॉजी, जूलॉजी, रेडियोलोजी आदि से संबंधित है। यह कोर्स आम तौर पर 4 साल का होता है जिसमें 3 साल का प्री क्लीनिकल इंस्ट्रक्शन शामिल होता है और अंतिम वर्ष में क्लीनिकल ट्रेनिंग शामिल होती है। अपने अंतिम वर्ष के दौरान, आपको जानवरों के साथ काम करने और एनेस्थिसियोलॉजी, कार्डियोलॉजी, डर्मेटोलॉजी, डेंटिस्ट्री और सर्जरी से जुड़े कई प्रकार के काम करने में मदद मिलती है। इसके अलावा, एक DVM प्रोग्राम में निम्नलिखित विषय शामिल हैं: 

  • ग्रॉस एनाटॉमी
  • पैरासिटोलॉजी
  • रेडियोलोजी
  • फार्माकोलॉजी
  • ऑप्थल्मोलॉजी
  • पशु चिकित्सा फिजियोलॉजी
  • पशु व्यवहार
  • पशु स्वास्थ्य और रोग
  • खाद्य पशु चिकित्सा
  • पशु चिकित्सा अभ्यास

पशु चिकित्सा में लाइसेंस प्राप्त करें

पशु चिकित्सक कैसे बने की प्रक्रिया के अंत में लाइसेंस प्राप्त करने का समय है। एक बार जब आप DVM डिग्री पा लेते हैं तो, आप परीक्षा लाइसेंसिंग के लिए आवेदन और आवश्यक शुल्क जमा कर इंटरनेशनल काउंसिल फॉर वेटरनरी असेसमेंट द्वारा आयोजित परीक्षा जैसे NAVLE (North American Veterinary Licensing Examination) दे सकते हैं जिसमें राज्य क़ानूनों और नियमों संबंधी परीक्षा को भी शामिल किया गया है। लाइसेंस प्राप्त करने के बाद यह सुनिश्चित करे कि आपको उन राज्य से लाइसेंस प्राप्त हो जिसमें आप कार्यरत हैं क्योंकि लाइसेंस आमतौर पर अन्य राज्यों में स्थानांतरित नहीं होता है।

अतिरिक्त योग्यता भी हासिल करें 

एक पशु चिकित्सक के रूप में, आप सर्जरी, आंतरिक चिकित्सा, दंत चिकित्सा, रेडियोलॉजी, व्यवहार, प्रयोगशाला पशु चिकित्सा, पोषण, आपातकालीन और महत्वपूर्ण देखभाल जैसी अतिरिक्त योग्यता प्राप्त करने पर विचार कर सकते हैं। आपके पास अतिरिक्त योग्यता के प्रमाण पत्र के लिए पात्र होने के लिए 3-4 साल का अनुभव या अतिरिक्त प्रशिक्षण होना चाहिए।

दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज

पशु चिकित्सक बनने व वेटरनरी साइंस में करियर बनाने के इच्छुक लोगों के लिए यहां शीर्ष क्रम के विश्वविद्यालय और कॉलेज हैं, जिनमें आप पशु चिकित्सा पद्धति और साइंस का अध्ययन कर सकते हैं:

नीचे QS वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग के आधार पर 2021 के top पशु चिकित्सा स्कूलों की table मौजूद है।

विश्वविद्यालय / कॉलेज कोर्सेज 
रॉयल वेटरनरी कॉलेज, लंदन विश्वविद्यालय 1. B Sc in Veterinary Medicine, Veterinary Nursing and Bio Science
2. Clinical Programs, Minor, Equine and Farm Veterinary Medicine
3. Diploma in Veterinary Nursing
कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, डेविस 1. Graduate Clinical Residency Program
2. Master of Preventive Veterinary Medicine
3. Graduate Academic MS and PhD Programs
4. Doctor of Animal Science, Animal Biology, Veterinary Programs
यूट्रेक्ट विश्वविद्यालय 1.  Bachelor’s Degree in Veterinary Medicine
2. Master’s Degree in Pet Health, Horse Health & Farm Animal Health, Veterinary Public Health
एडिनबर्ग विश्वविद्यालय 1. Bachelor of Veterinary Medicine and Surgery 
2. B Sc (Hons) Agricultural Science(Animal Science)
कर्नेल विश्वविद्यालय 1. DVM, MS and PhD Degree Programs
2. Research Center for Canine and Equine Research
3. Food Veterinary
गुएल्फ़ी विश्वविद्यालय 1. DVM, Bachelor’s degree in Biomedical Science 
2. DVSc, MSc, MPH, PhD and Diploma Programs at Graduate Level
ओहियो स्टेट यूनिवर्सिटी 1. DVM, MS and PhD degree programs
2. Veterinary Public Health Program
3. Graduate Certificate in Global One Health
कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय 1. Bachelor in Veterinary Medicine
2. MPhil in Veterinary Science
सिडनी विश्वविद्यालय 1. Bachelor of Veterinary Biology
2. Veterinary Doctor
लिवरपूल विश्वविद्यालय 1. B.Sc Courses, B.Sc Degree Courses
2. Master’s Degree in Veterinary Paralogy, Veterinary Infection and Disease Control and Animal Reproduction

भारत के टॉप कॉलेज

नीचे पशु चिकित्सक बनने के लिए भारत के टॉप कॉलेजों के नाम इस प्रकार हैं।

  • भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान (आईवीआरआई), बरेली
  • राष्ट्रीय डेयरी अनुसंधान संस्थान (एनडीआरआई), कर्नल।
  • गोविंद बल्लभपंत कृषि और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, पंत नगर
  • पशु चिकित्सा महाविद्यालय और अनुसंधान संस्थान (वीसीआरआई), चेन्नई
  • पशु चिकित्सा और पशु विज्ञान कॉलेज (सीवीएएस), बीकानेर
  • मुंबई विश्वविद्यालय (एमयू)
  • अन्नामलाई विश्वविद्यालय (एयू), चिदंबरम
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू)
  • जूनागढ़ कृषि विश्वविद्यालय, जूनागढ़ी
  • सरदार वल्लभभाई पटेल कृषि और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय
  • चौधरी सरवन कुमार हिमाचल प्रदेश कृषि विश्वविद्यालय

एक पशु चिकित्सक का काम चोट और संक्रमण के संभावित जोखिम के साथ शारीरिक रूप से शोर भरा और तनावपूर्ण हो सकता है। इसके साथ साथ निजी प्रैक्टिस में प्रशंसा और सम्मान के साथ उच्च आय भी तय है।

योग्यता 

पशु चिकित्सक बनने के लिए आवश्यक योग्यता नीचे दी गई है:

  • छात्र ने अपनी 12वीं की पढ़ाई PCB (भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान) से पूरी की हो।
  • छात्र ने 12वीं कक्षा अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी या कॉलेज द्वारा प्रवेश के लिए निर्धारित न्यूनतम 50% अंक के साथ उत्तीर्ण की हो।
  • भारत में पशु चिकित्सक बनने के इच्छुक छात्रों को NEET UG या AIPVT की परीक्षा क्लियर करने की ज़रूरत होती है। कई विश्वविद्यालय या कॉलेज अपनी स्वयं की प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं।
  • विदेश में पशु चिकित्सक बनने के लिए GRE, Educational Testing Service (ETS), Medical College Admission Test (MCAT) या Veterinary College Admission Test (CAT) पास करना होगा।
  • विदेश के विश्वविद्यालयों में एडमिशन के लिए भाषा प्रवीणता के रूप में IELTSTOEFLPTE टेस्ट अंक ज़रूरी होते हैं। 
  • विदेश विश्वविद्यालयों में एडमिशन के लिए SOPLOR और CV/Resume जैसे दस्तावेजों की भी आवश्यकता होती है।
  • उम्मीदवारों की एडमिशन पाने के लिए न्यूनतम आयु 17 वर्ष और अधिकतम आयु सीमा 25 वर्ष है।

आवेदन प्रक्रिया 

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finderकी सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसेSOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसेIELTSTOEFLSATACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTSTOEFLPTEGMATGRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Liveकक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीजाऔर छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  1. सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  2. यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  3. फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  4. अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  5. इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  6. यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज 

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

सैलरी

Glassdoor के आंकड़ों के अनुसार, भारत में एक पशु चिकित्सक का वेतन 6 लाख से 10 लाख रूपए प्रति वर्ष तक होता है।

FAQ

पशु चिकित्सक बनने के लिए क्या करें?

भारत में आप NEET परीक्षा दे सकते हैं और पशु पालन या पशु चिकित्सा कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं। जबकि, विदेश से इस कोर्स को करने के लिए, आपको bachelor’s की पढ़ाई पूरी करनी होगी, फिर GRE exam देकर पशु चिकित्सा विद्यालय में आवेदन कर पढ़ाई पूर्ण करनी होगी। कोर्स पूरा होने के बाद लाइसेंस के लिए आवेदन करने पश्चात आप एक पशु चिकित्सक बन जाएंगे।

क्या NEET पशु चिकित्सा के लिए आवश्यक है?

हां, NEET पशु चिकित्सा में अपना करियर बनाने के इच्छुक सभी भारतीय छात्रों के लिए अनिवार्य है। विश्वविद्यालयों में आवेदन हेतु अनिवार्य स्कोर आप उन विश्वविद्यालयों से प्राप्त कर सकते हैं।

पशु चिकित्सा पाठ्यक्रम कितने वर्षों का होता है?

एक पशु चिकित्सा पाठ्यक्रम की अवधि देश और विदेश में भिन्न होती है। औसतन, कोर्स की अवधि 3 से 5 साल के बीच होती है।

क्या वेटरनरी एक अच्छा करियर है?

पशु चिकित्सक एक करियर के रूप में एक चुनौती पूर्ण करियर साबित हो सकता है क्योंकि आपको बिना शर्त घंटों काम करना पड़ सकता है। हालांकि यह नौकरी आपको जानवरों से घेरे रखेगी इसलिए यह पशु प्रेमियों के लिए सबसे अच्छा काम माना जाता है।

वेटरनरी कोर्स की फीस कितनी है?

डिप्लोमा कोर्स को करने के लिए छात्रों को पचास हजार रुपए से लेकर एक लाख रुपए सालाना तक की फीस का भुगतान करना पड़ सकता है।

आशा करते हैं कि इस ब्लॉग ने आपको पशु चिकित्सक कैसे बनें के बारे में जानकारी दी होगी। अगर आप विदेश में पढ़ना चाहते हैं तो हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट से दिए गए नंबर 1800 572 000 पर कॉन्टेक्ट कर आज ही फ्री सेशन बुक कीजिए।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

7 comments
    1. जी आप इस कोर्स में आगे पढ़ाई भी कर सकते हैं और चाहे तो जॉब भी।

    1. प्रेरणा जी, उसके लिए आपको Bachelor of Veterinary Science [BVSc] कोर्स करने की आवश्यकता है।

    1. जी आप इस कोर्स में आगे पढ़ाई भी कर सकते हैं और चाहे तो जॉब भी।

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert