जानिए MBBS का सिलेबस

1 minute read
1.9K views
Leverage-Edu-Default-Blog

Bachelor of medicine, bachelor of surgery medical के क्षेत्र की ग्रेजुएशन डिग्री है। MBBS की डिग्री उन देशों की यूनिवर्सिटीज द्वारा कराया जाता है जो यूके की शिक्षा प्रणाली को फॉलो करते हैं। अगर आप भी डॉक्टर बनने का सपना देख रहे है और यह जानना चाहते हैं की MBBS के लिए आपकी योग्यता क्या होनी चाहिए? या फिर MBBS Syllabus में क्या-क्या विषय शामिल है, इसमें एडमिशन के लिए क्या प्रक्रिया है, तो हमारे इस ब्लॉग पूरा पढ़ें। इसमें आपको MBBS Syllabus in Hindi के बारे में पूरी जानकारी मिलेगी।

MBBS क्या है? 

MBBS डॉक्टर बनने का सपना देखने वालों के लिए ग्रेजुएशन की डिग्री है। MBBS की फुल फॉर्म Bachelor of Medicine, Bachelor of Surgery Medical हैं।  यह 5 साल का कोर्स है। इस डिग्री के बाद आप एलोपैथिक डॉक्टर बन सकते है। इस कोर्स में आपको अलग-अलग प्रकार की दवाओ और मानव शारीरिक स्ट्रक्चर के बारे में सिखाया जाता है, तथा कैसे आप किसी भी बीमारी की पहचान करेंगे और और उसका इलाज करेंगे। MBBS की बैचलर्स डिग्री के बाद आप इसमें मास्टर डिग्री भी कर सकते हैं। Medical Council Of India के अनुसार पूरे भारत में 542 कॉलेज हैं जो MBBS का कोर्स ऑफर कर रहे हैं जिनमें आप अपनी पसंद के अनुसार एडमिशन ले सकते हैं। 

यह भी पढ़ें: जानिए कैसे करें भारत में एमबीबीएस

MBBS के लिए योग्यता 

MBBS सिलेबस जानने से पहले आपको MBBS करने के लिए योग्यता मालूम होनी चाहिए। MBBS के लिए आपके पास निम्न योग्यताये होनी चाहिए। MBBS Syllabus in Hindi के लिए योग्यता इस प्रकार हैं:

  • किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से छात्र 10+2 पास होने चाहिए और 10+2 में उनके कम-से-कम 50% अंक होने चाहिए।
  • 10वीं के बाद साइंस होनी आवश्यक है, जैसे फिजिक्स, केमिस्ट्री और जूलॉजी या बॉटनी, बायोलॉजी साथ ही मुख्य विषय के रूप में अंग्रेजी का होना भी ज़रूरी है।
  • MBBS में एडमिशन के लिए छात्र की न्यूनतम आयु 17 वर्ष होनी चाहिए तथा अधिकतम आयु 25 वर्ष होनी चाहिए।
  • एडमिशन के लिए छात्रों का NEET प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करनी आवश्यक है।
  • आरक्षित वर्ग के विद्यार्थियों के लिए 10+2 में 40% अंक आवश्यक है।

MBBS का सिलेबस

MBBS Syllabus in Hindi में MBBS में एडमिशन लेने से पहले MBBS सिलेबस को अच्छे से जान लेना चाहिए कि इसके स्पेशलाइजेशन क्या-क्या है, आवेदन प्रक्रिया क्या है, स्ट्रीम कितनी है आदि। MBBS के 9 सेमेस्टर के सिलेबस को 3 भागों में बांटा गया है जो इस प्रकार हैं, जैसे:  प्री-क्लीनिकल विषय, पैरा-क्लीनिकल विषय, क्लीनिकल विषय- 

फेज सेमेस्टर MBBS विषय
प्री-क्लीनिकल विषय 1-2 एनाटोमी, बायोकेमिस्ट्री, फिजियोलॉजी
पैरा-क्लीनिकल विषय 3-5 फॉरेंसिक मेडिसिन, पैथोलॉजी, फार्माकोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी, क्लीनिकल पोस्टिंग इन वार्ड्स, OPDs
क्लीनिकल विषय 6-9 मेडिसिन एंड अलाइड सब्जेक्ट्स (साइकाइट्री, डर्मेटोलॉजी); ऑब्स्टेट्रिक्स, गायनी; पीडियाट्रिक्स; सर्जरी एंड अलाइड सब्जेक्ट्स (एनेस्थिसियोलॉजी, E.N.T, ऑप्थल्मोलॉजी, ऑर्थोपेडिक्स); क्लीनिकल पोस्टिंग्स
  • प्री-क्लीनिकल- इसकी पढ़ाई MBBS के पहले दो सेमेस्टर में कराई जाती है। इसमें छात्रों को ग्रॉस एनाटोमी, माइक्रोएनाटोमी, एम्ब्र्योलॉजी, जेनेटिक्स, न्युरॉनटोमी आदि पर प्रैक्टिकल करना होता है।
  • पैरा-क्लीनिकल- इसकी पढ़ाई MBBS के दूसरे साल में शुरू होती है। इसमें आपको पैथोलॉजी, फार्माकोलॉजी, फॉरेंसिक मेडिसिन एंड टॉक्सिकोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी आदि की पढ़ाई कराई जाती है। साथ ही छात्रों की ड्यूटी वार्डों में लगाई जाती है जहाँ उन्हें OPD की जिम्मेदारी दी जाती है।
  • क्लीनिकल- इसमें छात्रों को डर्मेटोलॉजी, साइकाइट्री, ऑब्स्टेट्रिक्स & गायनी के बारे में पढ़ाया जाता है। साथ ही सर्जरी, एनेस्थिसियोलॉजी, ENT, ऑप्थल्मोलॉजी, ऑर्थोपेडिक्स के बारे में प्रैक्टिकल जानकारी दी जाती है।

MBBS की फाइनल परीक्षा भी तीन चरणों में होती हैं

  • पहले चरण की परीक्षा दूसरे सेमेस्टर के बाद होंगे। 
  • दूसरे चरण की परीक्षा पांचवें सेमेस्टर के बाद होंगे। 
  • आखरी तीसरे चरण की परीक्षा सीधे नौवें सेमेस्टर के बाद होंगे।  

इंटर्नशिप

इंटर्नशिप, MBBS सिलेबस का आखरी पड़ाव है। आपको कितने-कितने समय के लिए किस-किस क्षेत्र में इंटर्नशिप करनी इसकी जानकारी नीचे दी गई है। MBBS Syllabus in Hindi में नीचे इंटर्नशिप की पोस्टिंग्स दी गई हैं-

विषय अवधि
मेडिसिन डेढ़ महीना
ऑप्थल्मोलॉजी 15 दिन
सर्जरी डेढ़ महीना
एनेस्थिसियोलॉजी 15 दिन
पीडियाट्रिक्स 1 महीना
ऑब्स्टेट्रिक्स एंड गायनी 1 महीना
रूरल 3 महीने
कैजुअल्टी 1 महीना
इलेक्टिव 2 महीने

MBBS क्लासिफिकेशन

डॉक्टर बनने का विचार मन में आया है, तो इसके साथ यह विचार भी आया होगा की आप किस-किस चीज़ के डॉक्टर बन सकते हैं। ऐसी ही MBBS के वर्गीकरण की लिस्ट नीचे दी गई है-

  • आयुर्वेद
  • होम्योपैथी
  • काइरोप्रेक्टिक
  • डेंटिस्ट्री
  • एजुकेशन
  • इंजीनियरिंग
  • एनवायर्नमेंटल हेल्थ
  • ऑक्यूपेशनल थेरेपी
  • ऑप्टोमेट्री
  • फार्मेसी
  • फिजिकल थेरेपी
  • लॉ
  • वेटरनरी मेडिसिन
  • ओस्टेओपेथी
  • फिजिशियन असिस्टेंट
  • नर्सिंग

MBBS स्पेशलाइजेशन

MBBS Syllabus In Hindi जानना चाहते हैं, तो आपको यह भी जानना चाहिए की MBBS में स्पेशलाइजेशन क्या-क्या हैं-

  • ऑप्थल्मोलॉजी
  • जनरल मेडिसिन
  • ऑर्थोपेडिक्स
  • जनरल सर्जरी
  • एनेस्थिसियोलॉजी
  • आब्सटेट्रिक्स & गायनेकोलॉजी
  • साइकाइट्री
  • पीडियाट्रिक्स
  • डर्मेटोलॉजी
  • ENT (कान, नाक और गला)

MBBS में एडमिशन प्रक्रिया

देश के टॉप MBBS कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए आपको NEET प्रवेश परीक्षा को अच्छे अंको से उत्तीर्ण करना आवश्यक है। NEET प्रवेश परीक्षा का आयोजन National Testing Agency (NTA) के द्वारा किया जाता है। NEET प्रवेश परीक्षा के द्वारा MBBS में एडमिशन लेने के लिए आपको नीचे बताई गई प्रक्रिया को फॉलो करना होगा-

स्टेप 1  आपको साइंस, फिजिक्स, केमिस्ट्री या जूलॉजी या बॉटनी या बायोलॉजी से 10+2 न्यूनतम 50% अंको के साथ उत्तीर्ण करनी होगी।
स्टेप 2 इसके बाद प्रवेश परीक्षा के लिए आपको रजिस्ट्रेशन करना है। इसके लिए आपको NEET के वेबसाइट पर जाना है और फिर लॉग इन करना है तथा अपने डिटेल भरने है जैसे की नाम, पता, उम्र, जन्म दिनांक, अपना फ़ोन नंबर और ईमेल इत्यादि।
स्टेप 3 रजिस्ट्रेशन कर लेने के बाद अब आपको ऑनलाइन फॉर्म भरना है जिसमे आपको अपने पर्सनल डिटेल और एजुकेशन डिटेल भरने हैं। फॉर्म भरने के बाद आपको जिन दस्तावेजों की मांग की गई है, उन्हें अपलोड करना है।
स्टेप 4 फॉर्म भरने के बाद आखरी पड़ाव है फीस भरने का।
स्टेप 5 स्टेप 4 पूरा हो जाने के बाद आपको कुछ दिनों बाद आपको NEET की वेबसाइट से एडमिट कार्ड डाउनलोड करना होगा। एडमिट कार्ड सिर्फ उन छात्रों का आता है जो NEET प्रवेश परीक्षा देने के लिए योग्य हैं।
स्टेप 6 NEET प्रवेश परीक्षा देना है और इसमें अच्छे से अच्छे अंक लाने का प्रयास करना है ताकि आपका नाम मेरिट लिस्ट में आ सके।
स्टेप 7 NEET Exam के आये स्कोर के अनुसार छात्रों को काउन्सलिंग के लिए बुलाया जाता है। NEET परीक्षा में उनके रैंक के हिसाब से कुछ कॉलेज की लिस्ट दी जाती है, जिनमें वो एडमिशन ले सकते हैं। अपनी पसंद का कॉलेज चुनने के बाद आपको कॉलेज में दस्तावेज जमा कराने होंगे।

भारत में टॉप MBBS कॉलेज 

भारत में MBBS Syllabus in Hindi की पढ़ाई के लिए सरकारी और प्राइवेट कॉलेज की लिस्ट इस प्रकार है:

सरकारी MBBS कॉलेज प्राइवेट MBBS कॉलेज
एम्स दिल्ली- अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान नई सीएमसी वेल्लोर- क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज
एएफएमसी पुणे- सशस्त्र बल मेडिकल कॉलेज केएमसी मैंगलोर- कस्तूरबा मेडिकल कॉलेज
मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज, नई दिल्ली सेंट जॉन्स मेडिकल कॉलेज, बैंगलोर
ग्रांट मेडिकल कॉलेज, मुंबई केएमसी मणिपाल- कस्तूरबा मेडिकल कॉलेज
आईएमएस बीएचयू- इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी एमएस रमैया मेडिकल कॉलेज, बैंगलोर
बीएमसीआरआई बैंगलोर- बैंगलोर मेडिकल कॉलेज और अनुसंधान संस्थान केपीसी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल, जादवपुर
सेठ जीएस मेडिकल कॉलेज, मुंबई एचआईएमएसआर नई दिल्ली- हमदर्द इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड रिसर्च
बीजेएमसी पुणे- बीजे गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज IIMSR लखनऊ- इंटीग्रल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड रिसर्च
बीजे मेडिकल कॉलेज, अहमदाबाद डीवाईपीएमसी पुणे- डॉ डी वाई पाटिल मेडिकल कॉलेज अस्पताल और अनुसंधान केंद्र
एम्स ऋषिकेश- अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान वैदेही इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड रिसर्च सेंटर, बैंगलोर
एसएमएस मेडिकल कॉलेज, जयपुर केम्पेगौड़ा आयुर्विज्ञान संस्थान, बैंगलोर
स्टेनली मेडिकल कॉलेज, चेन्नई डीएमसीएच लुधियाना- दयानंद मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल
जीएमसीएच चंडीगढ़- गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल एसआरएम मेडिकल कॉलेज अस्पताल और अनुसंधान केंद्र, चेन्नई
गोवा मेडिकल कॉलेज, पणजी श्री गुरु गोबिंद सिंह त्रिशताब्दी विश्वविद्यालय, गुड़गांव
एमजीएमसीसी इंदौर-महात्मा गांधी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज एसआरएमसीआरआई चेन्नई- श्री रामचंद्र मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट
मेडिकल कॉलेज, कोलकाता जेएनएमसी बेलगाम- जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज
टोपीवाला नेशनल मेडिकल कॉलेज और बीवाईएल नायर चैरिटेबल हॉस्पिटल, मुंबई एनएमसीएच सासाराम-नारायण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल
यूसीएमएस दिल्ली- यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेज दिल्ली विश्वविद्यालय अपोलो इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड रिसर्च हैदराबाद
लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज फॉर विमेन, नई दिल्ली तिलक आयुर्वेद महाविद्यालय, पुणे
लोकमान्य तिलक नगर मेडिकल कॉलेज, सायन, मुंबई एसजीटी मेडिकल कॉलेज अस्पताल और अनुसंधान संस्थान, गुड़गांव

विदेश में MBBS के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज 

विदेश में MBBS की पढ़ाई करने के लिए आप निम्नलिखित यूनिवर्सिटीज में एडमिशन लें सकते हैं-

यूनिवर्सिटीज QS वर्ल्ड रैंकिंग्स 2022
ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय 2
स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय 3
हावर्ड यूनिवर्सिटी 5
मेसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी 1
कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय 3
येल विश्वविद्यालय 14
शिकागो विश्वविद्यालय 10
इंपीरियल कॉलेज लंदन 7
जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय 25

MBBS के बाद करियर और सैलरी

आप MBBS पूरा करने के बाद निम्नलिखित रूप में काम कर सकते है। यहाँ MBBS Syllabus in Hindi में आपको सैलरी के बारे में बताया गया है-

जॉब प्रोफाइल्स औसत सालाना सैलरी (INR)
वेटेरिनारियंस 73-75 लाख
रजिस्टर्ड नर्स 55-58 लाख
डेंटिस्ट 1.21-1.23 करोड़
फिजिशियन और सर्जन  1.53-1.70 करोड़
एक्सरसाइज फिजियोलॉजिस्ट  37-38 लाख
मेडिकल प्रोफेसर और लेक्चरर  50-52 लाख
रिसर्चर 1.10-1.20 करोड़
साइंटिस्ट 1.20-1.24 करोड़
होम हेल्थ और पर्सनल केयर 20-30 लाख
काउंसलर 71-75 लाख

MBBS के बाद कहाँ काम करें?

MBBS Syllabus in Hindi में आपको बताया जा रहा है कि MBBS के बाद आप कहाँ-कहाँ काम कर सकते हैं, जो इस प्रकार है:

  • अस्पताल
  • लैब 
  • बायोमेडिकल कंपनियां 
  • नर्सिंग होम्स 
  • मेडिकल कॉलेज
  • हेल्थ सेंटर 
  • फार्मास्युटिकल एंड बायोटेक्नोलॉजी कंपनियां 

FAQs

MBBS में 19 विषय कौन से हैं?

MBBS के 9 सेमेस्टर के सिलेबस को 3 भागों में बांटा गया है जो इस प्रकार हैं, जैसे:  प्री-क्लीनिकल विषय, पैरा-क्लीनिकल विषय, क्लीनिकल विषय- । आपको इनमे जिन विषयों को पढ़ना है, वो कुछ इस प्रकार है: एनाटॉमी, बायोकेमिस्ट्री, फिजियोलॉजी, फोरेंसिक मेडिसिन एंड टॉक्सिकोलॉजी, पैथोलॉजी, ऑप्थल्मोलॉजी, सर्जरी, गायनोकोलॉजी आदि।

क्या MBBS करना कठिन है?

MBBS की पढ़ाई की समयावधि लंबी जरुर है, लेकिन इतनी मुश्किल नहीं है।  बाकि यह छात्रों पर निर्भर करता है की वह किस प्रकार अपनी पढ़ाई को व्यवस्थित तरीके से करता है।

क्या MBBS की डिग्री वाले सर्जरी कर सकते हैं?

हालांकि सर्जरी MBBS में पढ़ाई जाती है, लेकिन MBBS ग्रेजुएट्स को सर्जरी करने की अनुमति नहीं है। उन्हें सर्जरी करने के लिए MS पूरा करना होगा।

क्या MBBS में फिजिक्स है?

नहीं, फिजिक्स MBBS की पढ़ाई का हिस्सा नहीं है।

क्या MBBS छात्रों को इंटर्नशिप के समय वेतन मिलता है?

MBBS के छात्रों को आखिरी वर्ष में विभिन्न अस्पतालों में इंटर्नशिप करनी होती है जिसके लिए उन्हें वेतन दिया जाता है।

Check out: How to Get Direct Admission in MBBS

आशा है कि इस ब्लॉग ने आपको MBBS Syllabus in Hindi के बारे में सभी आवश्यक जानकारी हासिल करने में मदद की है। यदि आप MBBS की पढ़ाई विदेश में करना चाहते हैं तो एक उचित मार्गदर्शन के लिए आज ही 1800 572 000 पर कॉल करें और हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*

2 comments
15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. MBBS
Talk to an expert