बीएससी इकोलॉजी कैसे करें?

1 minute read

बीएससी इकोलॉजी धरती पर मौजूद सभी जीवों के बारे में और पर्यावरण में उनके योगदान को लेकर जागरुकता के बारे में है। इकोलॉजी मूलतः बायोलॉजी की ब्रांच है, जिसके भीतर अन्य विशेषताओं का समावेश भी है। इकोलॉजी को कुछ भागों में डिवाइड किया गया है जिससे इकोलॉजी को स्टडी करना और जीवों के बारे में गहन प्रशिक्षण करना आसान हो जाता है। इसमें मरीन, वेजिटेशन और स्टैटिस्टिकल इकोलॉजी शामिल है। यह श्रेणियाँ वातावरण में मौजूद सभी जीवों को बेहतर जान्ने और उन्हें सुधारने में सेहजता लाती हैं।  साथ ही नेचुरल रिसोर्सेस को कैसे मैनेज किया जाए जिससे सम्पूर्ण मानवजाति का भी विकास हो सके यह भी इकोलॉजी के अंतर्गत आता है।  इस ब्लॉग के ज़रिए आप बीएससी इकोलॉजी कराने वाली टॉप यूनिवर्सिटीज, उनकी योग्यताएं और आपकी बीएससी इकोलॉजी की डिग्री के बाद मिलने वाले करियर स्कोप के बारे में जानेंगे।

बीएससी इकोलॉजी फुल फॉर्म  बैचलर ऑफ़ साइंस इन इकोलॉजी 
अवधि  तीन वर्ष 
योग्यता  बारहवीं (साइंस स्ट्रीम से )
स्कोप  एमएससी इकोलॉजी, पीएचडी 
जॉब रोल्स  ऑटोमोबाइल इंजीनियर, कंट्रोल सिस्टम इंजीनियर, सॉफ्टवेयर इंजीनियर, रोबोटिक्स इंजीनियर, एयरोस्पेस इंजीनियर, मैकेनिकल डिज़ाइन इंजीनियर आदि 
भारत में एवरेज सैलरी  INR 4-12 लाख / सालाना 

बीएससी इकोलॉजी क्या है?

बैचलर ऑफ़ साइंस इन इकोलॉजी एक तीन साल का अंडरग्रेजुएट प्रोग्राम है जो इंसानो, जानवरों और पौधों के मेल जोल से होने वाले प्रकृति पर बदलाव की स्टडी पर आधारित है। इसमें पर्यावरण में आए बदलाव और नैचरल रिसोर्सेज को मैनेज करने की प्रक्रिया को भी ध्यान में रखा जाता है। साथ ही साथ यह डिग्री छात्रों को अतीत, वर्तमान और भविष्य में होने वाले जीवन के बारे में भी ज्ञान प्रदान करती है। इसके अलावा इस डिग्री में कुछ बायोसाइंस के टॉपिक्स जैसे प्लांट साइंस, बायोटेक्नोलॉजी एंड ज़ूलॉजी, न्यूरोसाइंस, जेनेटिक्स और फिजियोलॉजी आदि की के बारे में जानकारी भी शामिल है। छात्र जो पर्यावरण और धरती पर मौजूद होने वाले जीवाणुओं के बारे में ज्ञान अर्जित करना चाहते हैं और उसके प्रति ज़िम्मेदारी समझते हैं वे इस कोर्स को करने का निर्णय ले सकते हैं। 

बीएससी इकोलॉजी क्यों करें?

यूनिवर्सिटीज और इंस्टिट्यूट में मौजूद सभी कोर्सेज की तरह इस कोर्स को करने के भी अनेकों फायदे है। आइए जानते हैं विस्तार से :-

  • जैसा कि इस कोर्स का मूल उद्देश्य पर्यावरण का और पर्यावरण में मौजूद जीवों का विकास है, यह आपको अपने वातावरण में मौजूद चीज़ों का बेहतर ज्ञान प्रदान करता है और उनमें सुधार के तरीको से वाक़िफ कराता है। 
  • यह प्रोग्राम टॉपिक्स जैसे बायोडायवर्सिटी कंपोनेंट्स, इकोसिस्टम के डायनामिक्स, फारेस्ट मैनेजमेंट, एनवायर्नमेंटल टेक्निक्स और उनपर इम्पैक्ट की असेस्मेंट्स के बारे में भी नॉलेज देता है जिसका उपयोग आप अपने आस पास के जीवन के सुधार के लिए इस्तमाल भी कर सकते हैं। 
  • यह कोर्स मूलतः आपको अपने इर्द गिर्द मौजूद जीवन से और उनके कार्यों से वाकिफ करता है।  जिसको बारीकी से जान्ने के बाद आप उनकी ग्रोथ और धरती पर रहने वाले हर जीवन की ग्रोथ के बारे में समझ सकते है और अपना योगदान दे सकते हैं। 
  • बढ़ती टेक्नोलॉजी और जागरुकता के चलते इस फील्ड की डिमांड देखते ही बनती है। आप अपनी ग्रेजुएशन इस कोर्स से पूरी कर भविष्य के कई द्वार खोलने के काबिल होते हैं। आप किसी फर्म के अंडर भी काम कर सकते हैं और अपने ज्ञान के ज़रिए अपनी खुद की राह भी बना सकते हैं। 

बीएससी इकोलॉजी में पढ़ाए जाने वाले सब्जेक्ट्स 

हालांकि यह विषय आपकी चुनी गई यूनिवर्सिटी, स्पेशलाइजेशन जैसे फैक्टर के अनुसार बदल भी सकते हैं। यहाँ कुछ कॉमन विषय दिए गए हैं जो आप बीएससी इकोलॉजी में पढ़ें :-

  • क्लाइमेट चेंज एंड सस्टेनेबिलिटी 
  • प्रिंसिपल्स ऑफ़ इकोलॉजी एंड कंज़र्वेशन 
  • स्किल्स इन बायोलॉजी 
  • इकोलॉजी आइडेंटिफिकेशन स्किल्स 
  • एनिमल्स एंड प्लांट साइंस टुटोरिअल्स 
  • कंज़र्वेशन प्रिंसिपल्स 
  • प्लांट हैबिटैट एंड डिस्ट्रीब्यूशंस 
  • पॉपुलेशन एंड कम्युनिटी इकोलॉजी 
  • कंज़र्वेशन इश्यूज एंड मैनेजमेंट 
  • टॉपिक्स इन मॉडर्न इकोलॉजी 
  • एनिमल एंड प्लांट बायोलॉजी 
  • बायोकेमिस्ट्री 
  • बायोटेक्नोलॉजी 
  • सेल बायोलॉजी 
  • डेवलपमेंट, रीजनरेशन एंड स्टेम सैल्स 
  • इकोलॉजी 
  • इवोल्यूशनरी बायोलॉजी 
  • जेनेटिक्स 
  • इम्यूनोलॉजी 
  • मॉलिक्यूलर बायोलॉजी 
  • मॉलिक्यूलर जेनेटिक्स 
  • प्लांट साइंस 
  • ज़ूलॉजी 

आप AI Course Finder की मदद से अपने पसंद के कोर्सेज और उससे सम्बंधित टॉप यूनिवर्सिटी का चयन कर सकते हैं।

विदेश में बीएससी इकोलॉजी कोर्स के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज़

विदेश में बीएससी इकोलॉजी कोर्स के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज़ की लिस्ट नीचे दी गई है :-

यूनिवर्सिटीज स्थान 
हार्वर्ड यूनिवर्सिटी  कैंब्रिज, यूनाइटेड स्टेट्स 
मैसाचुसेट्स इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी (MIT) कैंब्रिज, यूनाइटेड स्टेट्स 
यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैंब्रिज  कैंब्रिज, यूनाइटेड स्टेट्स 
स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी  स्टैनफोर्ड, यूनाइटेड स्टेट्स 
यूनिवर्सिटी ऑफ़ ऑक्सफ़ोर्ड  ऑक्सफ़ोर्ड, यूनाइटेड किंगडम 
द यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैलिफ़ोर्निया, बर्कली(UCB) बर्कली, यूनाइटेड स्टेट्स 
ETH ज़ुरिक- स्विस फेड्रल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी  ज़ुरिक, स्विट्ज़रलैंड 
येल यूनिवर्सिटी  न्यू हैवन, यूनाइटेड स्टेट्स 
द यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैलिफ़ोर्निया, लॉस ऐंजल्स(UCLA) लॉस एंजेल्स, यूनाइटेड स्टेट्स 
द यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैलिफ़ोर्निया, सैन डिआगो(UCSD) सैन डिआगो, यूनाइटेड स्टेट्स 
कैलिफ़ोर्निया इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी (कैलटेक) पासाडेना, यूनाइटेड स्टेट्स 
कॉर्नेल यूनिवर्सिटी  इथाका, यूनाइटेड स्टेट्स 
इम्पीरियल कॉलेज लंदन  लंदन, यूनाइटेड किंगडम 
यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैलिफ़ोर्निया  सैन फ्रांसिस्को, यूनाइटेड स्टेट्स 
UCL  लंदन, यूनाइटेड किंगडम 
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टोरंटो  टोरंटो, कनाडा 
नैशनल यूनिवर्सिटी ऑफ़ सिंगापुर (NUS) सिंगापुर 
यूनिवर्सिटी ऑफ़ टोक्यो  टोक्यो, जापान 
कोलंबिया यूनिवर्सिटी  न्यू यॉर्क सिटी, यूनाइटेड स्टेट्स 
द यूनिवर्सिटी ऑफ़ एडिनबर एडिनबरः, यूनाइटेड किंगडम 

आप UniConnect के जरिए विश्व के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन विश्वविद्यालय मेले का हिस्सा बनने का मौका पा सकते हैं, जहाँ आप अपनी पसंद के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि से सीधा संपर्क कर सकेंगे।

भारत में बीएससी इकोलॉजी कोर्स के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज़

भारत में बीएससी इकोलॉजी कोर्स के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज़ निम्नलिखित हैं :-

  • फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टिट्यूट 
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस 
  • यूनिवर्सिटी ऑफ़ एग्रीकल्चरल साइंसेज, धारवाड़ 
  • बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी 
  • यूनिवर्सिटी ऑफ़ दिल्ली 
  • अन्नामलाई यूनिवर्सिटी 
  • यूनिवर्सिटी ऑफ़ कलकत्ता 
  • नार्थ-ईस्टर्न हिल यूनिवर्सिटी 
  • अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी 
  • पांडिचेरी यूनिवर्सिटी 

बीएससी इकोलॉजी के लिए योग्यताएं 

यदि आप बीएससी इकोलॉजी के क्षेत्र में डिग्री प्राप्त करने के इच्छुक हैं, तो आपको अपने चुने हुए विश्वविद्यालय द्वारा निर्धारित योग्यताओं को पूरा करना होगा। ये आवश्यकताएं कोर्सेज के स्तर के अनुसार भिन्न होती हैं, जैसे बैचलर, मास्टर या डिप्लोमा। बीएससी इकोलॉजी कोर्स के लिए कुछ सामान्य योग्यताएं इस प्रकार हैं–

  • बैचलर्स डिग्री प्रोग्राम के लिए ज़रुरी है कि उम्मीदवारों ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से PCB (फिज़िक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी) से 10+2 कम से कम 50 % से पास किया हो।
  • कुछ यूनिवर्सिटीज प्रवेश परीक्षा के आधार पर भी एडमिशन स्वीकार करतीं हैं।
  • विदेश की अधिकतर यूनिवर्सिटीज मास्टर्स कोर्सेज के लिए GRE स्कोर की मांग करते हैं।
  • विदेश की यूनिवर्सिटीज में एडमिशन के लिए IELTS या TOEFL टेस्ट स्कोर, अंग्रेजी प्रोफिशिएंसी के प्रमाण के रूप में ज़रूरी होते हैं।
  • विदेश यूनिवर्सिटीज में पढ़ने के लिए SOP, LOR, सीवी/रिज्यूमे और पोर्टफोलियो भी जमा करने की ज़रूरत होती है।

क्या आप IELTS/TOEFL/SAT/GRE में अच्छे अंक प्राप्त करना चाहते हैं? आज ही इन एक्साम्स की बेहतरीन तैयारी के लिए Leverage Live पर रजिस्टर करें और अच्छे अंक प्राप्त करें।

आवेदन प्रक्रिया

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेज़ों जैसे SOP, निबंध, सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टैस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज़ जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीज़ा और छात्रवृत्ति/छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लैटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूज़र नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  • यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवदेन प्रक्रिया से सम्बन्धित जानकारी और मदद के लिए Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800572000 पर संपर्क करें

आवश्यक दस्तावेज़  

कुछ ज़रूरी दस्तावेज़ों की लिस्ट नीचे दी गई है–

छात्र वीजा पाने के लिए भी Leverage Edu विशेषज्ञ आपकी हर सम्भव मदद करेंगे।

प्रवेश परीक्षाएं

बीएससी इकोलॉजी कोर्स में एडमिशन के लिए अलग-अलग संस्थानों द्वारा अलग-अलग प्रवेश परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं, जिनमें से कुछ यहां दी गई हैं-

करियर स्कोप

इकोलॉजी में ग्रेजुएशन के बाद आप रिसर्च एंड कंसल्टेंसी, बायोटेक्नोलॉजी एंड हैल्थ, या किसी भी पब्लिक या चैरिटी फर्म के लिए काम आकर सकते हैं। इसके अलावा आप रिसर्च एंड डेवलपमेंट की फील्ड में भी अपना करियर ढूंढ सकते हैं। आइए बीएससी इकोलॉजी के बाद करने वाली जॉब्स स्कोप की लिस्ट पर नज़र डालते हैं-

  • फील्ड इकोलॉजिस्ट
  • रेस्टोरेशन इकोलॉजिस्ट 
  • पार्क नैचरलिस्ट 
  • मरीन बायोलॉजिस्ट 
  • एनवायर्नमेंटल कंसलटेंट 
  • एनवायर्नमेंटल प्रोटेक्शन स्पेशलिस्ट 
  • नैचरल रिसोर्स मैनेजर  

जॉब प्रोफाइल और सैलरी

भारत में एक इकोलॉजिस्ट की सालाना सैलरी लगभग INR 3 लाख से 7 लाख मानी गई है। वहीं यूनाइटेड स्टेट्स में ये संख्या सालाना $ 70K यानी INR 52 लाख तक देखने को मिलती है। जॉब प्रोफाइल के अनुसार सैलरी नीचे दी गई है-

जॉब प्रोफाइल  एवरेज सैलरी (सालाना) (INR)
एनवायर्नमेंटल स्पेशलिस्ट  INR 4-5 लाख
एनवायर्नमेंटल कंसलटेंट  INR 4-5 लाख
रिसर्च असिस्टेंट  INR 3-4 लाख
वाइल्डलाइफ फिल्म मेकर  INR 12-13 लाख
एनवायर्नमेंटल जर्नलिस्ट  INR 3-4 लाख

FAQs 

बीएससी इकोलॉजी में जॉब प्रोफाइल्स क्या रहेंगी?

बीएससी इकोलॉजी में कुछ फेमस जॉब प्रोफाइल्स इस प्रकार हैं:
1. फील्ड इकोलॉजिस्ट
2. रेस्टोरेशन इकोलॉजिस्ट 
3. पार्क नैचरलिस्ट 
4. मरीन बायोलॉजिस्ट 
5. एनवायर्नमेंटल कंसलटेंट 
6. एनवायर्नमेंटल प्रोटेक्शन स्पेशलिस्ट 
7. नैचरल रिसोर्स मैनेजर

भारत में बीएससी इकोलॉजी कहाँ से करें?

भारत की कुछ टॉप यूनिवर्सिटीज जो बीएससी इकोलॉजी में  कोर्स उपलब्ध कराती हैं निम्नलिखित हैं-
1. फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टिट्यूट 
2. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस 
3. यूनिवर्सिटी ऑफ़ एग्रीकल्चरल साइंसेज, धारवाड़ 
4. बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी 
5. यूनिवर्सिटी ऑफ़ दिल्ली 
6. अन्नामलाई यूनिवर्सिटी 
7. यूनिवर्सिटी ऑफ़ कलकत्ता 
8. नार्थ-ईस्टर्न हिल यूनिवर्सिटी 
9. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी 
10. पांडिचेरी यूनिवर्सिटी

बीएससी इकोलॉजी में कौनसे विषय शामिल हैं?

बीएससी इकोलॉजी के कुछ मुख्य विषय इस प्रकार हैं:
1. क्लाइमेट चेंज एंड सस्टेनेबिलिटी 
2. प्रिंसिपल्स ऑफ़ इकोलॉजी एंड कंज़र्वेशन 
3. स्किल्स इन बायोलॉजी 
4. इकोलॉजी आइडेंटिफिकेशन स्किल्स 
5. एनिमल्स एंड प्लांट साइंस टुटोरिअल्स 
6. कंज़र्वेशन प्रिंसिपल्स 
7. प्लांट हैबिटैट एंड डिस्ट्रीब्यूशंस 
8. पॉपुलेशन एंड कम्युनिटी इकोलॉजी 
9. कंज़र्वेशन इश्यूज एंड मैनेजमेंट 
10. टॉपिक्स इन मॉडर्न इकोलॉजी 
11. एनिमल एंड प्लांट बायोलॉजी 
12. बायोकेमिस्ट्री 
13. बायोटेक्नोलॉजी 
14. सेल बायोलॉजी 
15. डेवलपमेंट, रीजनरेशन एंड स्टेम सैल्स 
16. इकोलॉजी 
17. इवोल्यूशनरी बायोलॉजी 
18. जेनेटिक्स 
19. इम्यूनोलॉजी 
20. मॉलिक्यूलर बायोलॉजी

उम्मीद है कि हमारे आज के ब्लॉग से आपको बीएससी इकोलॉजी कोर्स के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी मिल गई होगी। यदि आप भी विदेश में बीएससी इकोलॉजी की पढ़ाई करना चाहते हैं, तो आज ही 1800 572 000 पर कॉल करके हमारे Leverage Edu के विशेषज्ञों के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें। वे आपको उचित मार्गदर्शन के साथ ऊपर दी गई सभी सुविधाएं प्रदान करने में मदद करेंगे।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*