Child Development and Pedagogy in Hindi

2 minute read
903 views
10 shares
Child Development & Pedagogy in Hindi

Child Development & Pedagogy in Hindi भारत में होने वाले लगभग सभी महत्वपूर्ण Teacher Eligibility Test  (जैसे CTET, UPTET, HPTET, PSTET इत्यादि) का एक महत्वपूर्ण विषय होता है| सरकारी स्कूलों में काम करने के इच्छुक उम्मीदवार अक्सर KVS, DSSSB जैसे शिक्षक भर्ती परीक्षा भी देते हैं और इस विषय की अच्छी तैयारी उम्मीदवारों को ये सभी एग्ज़ाम्स भी क्लियर करने में मददगार साबित होगी। ।Child Development and Pedagogy का उद्देश्य बालक के व्यहवार, रुचियों में हो रहे निरतर परिवर्तन का अध्ययन है|  शिक्षकों की भर्ती के लिए होने वाले अन्य भर्तियो में भी Child Development & Pedagogy से जुड़े प्रश्न पूछे जाते हैं। इस विषय की अच्छी तैयारी आपको परीक्षा को पास करने के साथ-साथ में परीक्षा में अच्छे  अंक लाने में भी बहुत मददगार साबित होंगे आज हम इस ब्लॉग में Child Development & Pedagogy in Hindi के बारे में जानकारी देंगे  आइए शुरू करते हैं  Leverage Edu के साथ ।  

Check Out: UPTET ka Syllabus

Child Development and Pedagogy in Hindi

विकास एक निरंतर प्रक्रिया हैं। बाल अवस्था से लेकर वृद्ध अवस्था तक इंसान में अलग अलग तरह के बदलवा आते है जैसे शारीरिक , मानसिक ,सामाजिक इन सभी का अध्ययन बाल विकास कहलाता हैं।बाल विकास में परिवर्तन एक क्रमबद्ध तरीकें से होते हैं विकास में व्यवस्था रहती हैं । 

Child Development की परिभाषाएं

  • मुनरो के अनुसार – एक ऐसी परिवर्तन श्रृंखला जिसमें भ्रूणावस्था से लेकर प्रौढ़ावस्था तक गुज़रता हैं उसे विकास कहा जाता हैं।
  • हरलॉक के अनुसार- विकास का मतलब बढ़ते रहने से नहीं है बल्कि इसमें प्रौढ़ावस्था के लक्ष्य कि और परिवर्तनों का प्रगतिशील क्रम रहता है। विकास के परिणाम स्वरूप इंसान में अनेक में विशेषताएं और नईम योग्यताएं स्पष्ट होती है।
  • ड्रेवर के अनुसार-विकास, प्राणी में होने वाला प्रगति शील, जो किसी लक्ष्य की और लगातार केंद्रित होता है उदाहरणार्थ – “किसी भी जाति में भ्रूण अवस्था से लेकर प्रौढ़ अवस्था तक उत्तरोत्तर परिवर्तन है।

Aims of Child Development and Pedagogy

बाल विकास की प्रक्रिया को रिसर्च का विषय बनाने से पहले मनोवैज्ञानिकों ने कई महत्वपूर्ण उद्देश्य निर्धारित किए हैं। इसका ज्ञान हर अभिभावक और शिक्षक को होना चाहिए क्योंकि इसका पूरा ज्ञान नहीं होने से शिक्षक अपने कर्तव्य को पूरा नहीं कर सकता है।

आइए देखते हैं बाल विकास के उद्देश्य क्या हैं-

  1. बाल विकास से हर शिक्षक को यह बताया जाता है कि वह संतुलित बाल विकास में किस  प्रकार अपना सहयोग दे सकता है।
  2. बाल विकास के द्वारा बच्चों के विकास में होने वाली विभिन्नताओं के बारे में शिक्षक और अभिभावकों को बताया जाता है।
  3. इसका प्रमुख उद्देश्य बच्चों के संतुलित विकास के लिए मार्ग  बनाना है जिससे वह पूरी तरह विकास को प्राप्त कर सकें।
  4. बाल विकास की ऐसी योजना तैयार की जाती है जिससे उसके व्यक्तित्व में निखार आय।
  5. बाल विकास में उन्हें बच्चों के शरीर में होने वाले परिवर्तनों और समस्याओं के बारे में जिसे दूर किया जा सके।
  6. बाल विकास का उद्देश्य बच्चों को शारीरिक मानसिक एवं सामाजिक रूप से श्रेष्ठा प्रदान करना है जिससे राष्ट्र के विकास में योगदान दे सकें। इन सब से यह पता चलता है कि बाल विकास का उद्देश्य बच्चों के लिए हर तरफ से विकास के मार्ग खोलना है साथ ही उनकी बाधाओं को दूर करना ,जिससे वह संतुलित रूप से जीवन व्यतीत कर सकें और समाज में अपना योगदान दे सकें।

 Check Out: टीचर बनने की सोच रहे हैं तो जान लीजिए Deled Syllabus

Scope

आइए देखते हैं बाल विकास के दायरे-

  1. मानसिक विकास-इसके अंदर बच्चों की क्रियाओं के आधार पर बच्चों के मानसिक विकास का अध्ययन किया जाता है। बच्चों में कई तरह के परिवर्तन आने लगते हैं जो उनके मानसिक विभाग में नजर आते हैं। जैसे-गुस्सा आना, नई चीजों का अध्ययन करना आदि।
  2. शारीरिक विकास – शारीरिक विकास में भ्रूणावस्था से लेकर प्रौढ़ावस्था तक अध्ययन करना शामिल है, और शारीरिक विकास में आ रही बाधाओं का कारण ढूॅंढ़नाऔर उसका हल निकालना ।
  3. सामाजिक विकास –बाल विकास के अन्दर बालकों के सामाजिक व्यहवार का अध्ययन किया जाता हैं । लोगों के प्रति गुस्सा, प्यार व्यक्त करना आपनी उम्र  के हिसाब से सही व्यहवार करना संतुलित विकास दिखाता हैं ।
  4. भावनात्मक विकास – अगर बालक अपनी उम्र के हिसाब से खुद को व्यक्त नहीं कर पाता तो वो संतुलत विकास नही हैं। इसमें क्रोध , प्रेम, उत्तेजना आदि का अध्ययन किया जाता हैं । 
  5. भाषा विकास –  बालक अलग अलग तरह की शब्दों का उच्चारण करता हैं जैसे 1 से 9 की उम्र तक शबदोंच्चारण 118 शब्द शब्द होने चाहिए अगर ऐसा हैं नहीं हैं तो बाल विकास ठीक से नहीं हो रहा हैं ।   

Check Out: Ancient Indian History Quiz

Syllabus 

Child Development on Intelligence Theories Concept of Development Child Development on Special Needs
Basic Concept of CDP Aspect of CDP Cognition and Emotion
Socialization processes Important theories of child development Child development on learning
Development and its relation to learning Influence of Heredity and Environment Children Thinking
Constructs and Critical perspectives Piaget, Kohlberg, and Vygotsky  Principles of Child Development Method of Teaching

Child Development and Pedagogy Reference Books

S.NO.  Child Development and Pedagogy Books  लेखक  
1. भाषा और शिक्षण शास्त्र कमल देव वर्मा
2. बाल विकास एवं शिक्षण शास्त्र पेपर 1 एंड 2 रेनू त्यागी
3. लुसेंट हिंदी

Child Development & Pedagogy in Hindi Questions 

1. इनमे से कौन सा कारक अधिगम को अभिप्रेरित करने वाला है?
A विफलता से बचने के लिए प्रेरणा
B लक्ष्यों को प्राप्त करने पर व्यक्तिगत संतुष्टि
C बाह्य कारक
D इनमे से कोई नहीं 

उत्तर – (B)लक्ष्यों को प्राप्त करने पर व्यक्तिगत संतुष्टि

2. बुद्धि-लब्धि परीक्षण में 16 साल के बच्चे के अंक 75 है, उसकी मानसिक आयु कितनी होगी?
A 12 वर्ष
B 13 वर्ष
C 15वर्ष
D 10 वर्ष

उत्तर – (A) 12 वर्ष

3.किसने सबसे पहले बुद्धि परीक्षण का निर्माण किया?
A अल्फ्रेड बिने
B रॉबर्ट स्टर्नबर्ग
C मुनरो 
D चार्ल्स डार्विन

उत्तर – (A)अल्फ्रेड बिने

4. एक प्रभावशाली अध्यापिका होने के लिए क्या महत्वपूर्ण है
A प्रत्येक बच्चे के संपर्क में रहना 
B सामूहिक गतिविधियों के बजाय व्यक्तित्व अधिगम पर ध्यान देना
C किताबी पढ़ाई पर ध्यान देना
D विद्यार्थियों के द्वारा प्रश्न पूछने के कारण उsत्पन्न माधव की अनदेखी करनाp

उत्तर – (A)-प्रत्येक बच्चे के संपर्क में रहना 

5. मनुष्य के शरीर में हड्डियों की संख्या कम से कम होती है
A किशोरावस्था के बाद
B प्रौढ़ावस्था में
C बाल अवस्था में
D शैशवावस्था में

उत्तर- (D)प्रौढ़ावस्था में

6. व्यक्ति अपनी गलतियों से सीखता है”यह कथन किस सिद्धांत पर आधारित है?
A परीक्षण और त्रुटि
B शास्त्री कंडीशनिंग
C इंस्ट्रुमेंटल कंडीशनिंग
D इनसाइट

उत्तर (A)परीक्षण और त्रुटि

7. बचपन में कौन से चरण में सबसे अच्छी दोस्त महत्वपूर्ण है?
A शिशु चरण
B प्रारंभिक बचपन
C उत्तर बालयावस्था
D किशोरावस्था

उत्तर (B)प्रारंभिक बचपन

8. बच्चों के लिए निशुल्क और अनिवार्य शिक्षा का अधिकार अधिनियम कितने वर्ष के बच्चों के लिए है।
A 6 से 14 वर्ष
B 12 से 15 वर्ष
C 8 से 10 वर्ष
D 6 से 12 वर्ष

उत्तर-(A)6 से 14 वर्ष

9. यदि एक बच्चे की मानसिक आयु 5 वर्ष है और वास्तविक आयु 4 वर्ष है तो उस बच्चे की बुद्धिलब्धि होगी।
A 125
B 150
C 85
D 70

उत्तर- (A) 125

10. मनोविज्ञान, शिक्षा का आधारभूत विज्ञान है।
A”यह किसका कथन है।मुनरो
B स्केनर
C डेविस
D गुडवर्थ

उत्तर-(B) स्केनर

CheckOut: CTET Syllabus in Hindi 

आशा है कि इस ब्लॉग ने Child Development & Pedagogy in Hindi के बारे में सभी आवश्यक जानकारी प्रदान की होगी है। यदि आप ऐसी किसी प्रतियोगिता की तैयारी कर रहे हैं और आपको सहायता की आवश्यकता है, तो  Leverage Edu के हमारे विशेषज्ञों से संपर्क करें, जो आपको इस पेपर में सफल होने के लिए टिप्स और ट्रिक्स प्रदान करेंगे! अपना 30 मिनट का निःशुल्क करियर परामर्श सत्र बुक करें और अपना करियर व्यवस्थित करें!

 

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

6 comments
  1. This is the best information because of your great writing skills and knowledge. I got to learn a lot by visiting this page.

  2. बच्चों के विकास के बारे में आप ने बहुत ही प्रशंसनीय जानकारी लिखी है। धन्यवाद !

    1. धन्यवाद बलराम, ऐसे ही आप हमारी वेबसाइट पर बने रहें।

  3. संक्षिप्त में समझाने का सबसे बेहतर तरीका। इसे पीडीएफ में बनाया मैंने धन्यवाद इस सामग्री के लिए..

    1. आपका धन्यवाद, ऐसे ही हमारी वेबसाइट पर बने रहिए।

  1. This is the best information because of your great writing skills and knowledge. I got to learn a lot by visiting this page.

  2. बच्चों के विकास के बारे में आप ने बहुत ही प्रशंसनीय जानकारी लिखी है। धन्यवाद !

    1. धन्यवाद बलराम, ऐसे ही आप हमारी वेबसाइट पर बने रहें।

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert