सॉन्ग राइटर कैसे बनें?

1 minute read
20 views
10 shares
Leverage Edu Default Blog Cover

संगीत हमारी ज़िंदगी का एक महत्त्वपूर्ण हिस्सा है। हम चाहे खुश रहें या तनाव में, संगीत हमें हील करने की ताकत रखता हैं। हम गाने सुनते हैं और खुद को आनंदित पाते हैं। किसी भी गाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है एक गीतकार। सॉन्ग राइटर  के लिरिक और म्यूजिक गाने में जान डाल देती हैं। बहुत से लोग गाने के शौकीन होते हैं और सॉन्ग राइटर बनना चाहते हैं लेकिन सही गाइडेंस और कम नॉलेज के अभाव में, वे गीतकार बनने का अपना सपना पूरा नहीं कर पाते। यदि आप भी गीतकार बनना चाहते हैं तो इस ब्लॉग में विस्तार से जानते हैं Song Writer kaise bane ।

सॉन्ग राइटर कौन होते हैं?

एक सॉन्ग राइटर फिल्म, टेलीविजन, विज्ञापन, वीडियो गेम, नाटकों, आदि सहित विभिन्न प्रकार के उपयोगों के लिए संगीत बनाने के लिए जिम्मेदार होता है। वे अपने निजी उपयोग और प्रदर्शन के लिए भी संगीत लिखते हैं। सॉन्ग राइटर अक्सर किसी एक विशेष म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट या किसी गीत के भाग के लिए संगीत लिखने और बनाने में माहिर होते हैं। हालांकि अगर देखा जाये तो गाने कोई भी लिख सकता है, पर एक अच्छा गीत लिखना सबके बस की बात नहीं है और जो अच्छा गीत लिखे उसे ही गीतकार कहते हैं। सॉन्ग राइटर का काम सॉन्ग लिखना होता है। 

सॉन्ग राइटर बनने के लिए स्किल्स

सॉन्ग राइटर बनने के लिए आपके पास कुछ आवश्यक स्किल होनी आवश्यक है, जिनके बारे में नीचे बताया गया है:

  • आपको म्यूज़िक की अच्छी समझ होनी चाहिए। 
  • आपकी भाषा पर अच्छी पकड़ होनी चाहिए। 
  • आपको गाना लिखने के साथ-साथ उसका म्यूज़िक भी बनाना आना चाहिए। 
  • आपकी शब्दावली मजबूत होनी चाहिए। 
  • आपको कोई भी इंस्ट्रूमेंट बजाना आना चाहिए, ताकि आप धुन पर काम कर सकें। 

सॉन्ग राइटर कैसे बनें? 

Song Writer kaise bane इसके लिए चरण दर चरण प्रकिया नीचे दी गई है:

  • स्टेप 1: गाने सुनने का मतलब केवल सुन लेना नहीं है आपको गाने में प्रयोग किए जाने वाले शब्दों का अर्थ भी समझना है। 
  • स्टेप 2: आप जिस तरह के या जिस भाषा में गाने लिखना चाहते हैं आपको उस भाषा का ज्ञान सही से होना चाहिए। 
  • स्टेप 3: संगीत की शब्दावली लिखना सीखें- यह बहुत ही महत्वपूर्ण चरण है जहां से आप संगीत को समझना चालू करते हैं। आपको इन चीजों का ज्ञान होना चाहिए जैसे कि: गीत में मात्राएँ क्या होती है, मुखड़ा क्या होता है, अंतरा क्या होता है इत्यादि। इन सभी चीजों के साथ आप गाने का मुखड़ा लिखना सीखें।  
  • स्टेप 4: ग़ज़ल, कविता और शायरी सुनें और पढ़ें इससे आपको बहुत से ऐसे शब्द मिलेंगे जिसे आप अपने गाने में इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर आप इन्हें सीखना चाहते हैं तो जरूर सीखें यह आपकी एक अच्छा Song Writer kaise bane यह जानने में मदद करेगा। ग़ज़ल, कविता और शायरी सिखने से आपको नए-नए शब्द मिलेंगे जिससे की आपके गाने के शब्दों की शब्दावली बढ़ेगी और जिससे की आप अपने गानों में अच्छे शब्द डाल पाएंगे और आपके गाने बेहतर होते चले जायेंगे। 
  • स्टेप 5: कवि सम्मेलन/ मुशायरे में जाएँ- लोगो के सामने जाएं केवल रजिस्टर में अपने संगीतों को लिखकर न रखें दूसरों को भी सुनाएं तभी तो आपको अपनी खामियां जानने को मिलेंगी जिसे आप समय के साथ सुधारते चले जायेंगे। 
  • स्टेप 6: धुनों पर गाने लिखना सीखें- आप सोच रहे होंगे की पहले गाने लिखे जाते हैं उसके बाद धुन बनायी जाती है। पर बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में ऐसा नहीं होता है। आज के समय में पहले गाने की धुन बनाई जाती है और उसके बाद सॉन्ग राइटर को बोला जाता है कि आप इस धुन पर कोई गाना लिखें जो इस धुन पर फिट बैठता हो। 
  • स्टेप 7: मार्ग दर्शक चुने- किसी भी चीज को जल्द से जल्द कम समय में सिखने और जल्दी कामयाबी पाने के लिए एक अच्छे गुरु का होना बहुत जरुरी है, जो आपको एक सही मार्ग दर्शन दे सके। 

सॉन्ग राइटर और लिरिसिस्ट में क्या अंतर है?

म्यूज़िक इंडस्ट्री से बाहर के बहुत से लोग सॉन्ग राइटर और लिरिसिस्ट को एक ही समझते हैं लेकिन इन दोनों के बीच एक महत्वपूर्ण अंतर है। जिनके बारे में नीचे बताया गया है:

  • अगर आप ऐसे व्यक्ति हैं, जो गीत लिखते हैं, लेकिन साथ में संगीत नहीं लिखते हैं। तो आप एक लिरिसिस्ट कहलायेंगे। जबकि सॉन्ग राइटर गीत लिखने के साथ म्यूज़िक भी बनाते हैं। 
  • यदि आप गीत और गीत का मुख्य राग लिखते हैं। मतलब आप गीत और संगीत दोनों लिखते हैं इससे आप सॉन्ग राइटर कहलायेंगे। जबकि लिरिसिस्ट राग नहीं बनाते हैं। 
  • आप यह भी कह सकते हैं की हर एक सॉन्ग राइटर एक लिरिसिस्ट होता है, लेकिन एक लिरिसिस्ट सॉन्ग राइटर नहीं होता है। 

गीतकार बनने के लिए कोर्सेज 

गीतकार बनने के लिए कुछ जरुरी कोर्सेज नीचे दिए गए हैं: 

  • Certificate in Music
  • Diploma in Music
  • Certificate in Musical Instruments
  • Bachelor of Music
  • BA in Music
  • BA Hons Music
  • BA Hons Classical Music
  • Master of Music
  • MA in Music
  • Mphil in Music
  • PhD in Music
  • B.A. (Honors) Creative Music Production,
  • B.A. (Honors) Music Production,
  • B.Sc. Sound Engineering and Music Production,
  • Bachelor of Songwriting and Music Production,
  • B.A. (Honors) Music, Performance and Production,
  • Bachelor of Fine Arts (BFA) in Sound Design 

विदेश की टॉप यूनिवर्सिटीज़ 

म्यूज़िक कोर्सेज़ के लिए दुनिया के बेहतरीन म्यूज़िक स्कूल्ज़ की लिस्ट नीचे दी गई है:

  • द जुलिआर्ड स्कूल
  • बर्कली कॉलेज ऑफ़ म्यूज़िक
  • येल स्कूल ऑफ़ म्यूज़िक 
  • न्यू इंग्लैंड कंज़र्वेट्री ऑफ़ म्यूज़िक 
  • यूनिवर्सिटी ऑफ़ सॉउथर्न कैलिफोर्निया थोरंटन स्कूल ऑफ़ म्यूज़िक 
  • कर्टिस इंस्टीट्यूट ऑफ़ म्यूज़िक 
  • द रॉयल अकादमी ऑफ़ म्यूज़िक 
  • रॉयल कॉलेज ऑफ़ म्यूज़िक 
  • इंडियाना यूनिवर्सिटी – द जैकब्स स्कूल ऑफ़ म्यूज़िक 
  • मैंनेस स्कूल ऑफ़ म्यूज़िक 

भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज

भारत के टॉप म्यूज़िक कॉलेज की लिस्ट नीचे दी गई है:

  • KM म्यूज़िक कंज़र्वेट्री (KMMC)
  • कलकत्ता स्कूल ऑफ़ म्यूज़िक
  • एमिटी यूनिवर्सिटी
  • क्राइस्ट यूनिवर्सिटी
  • मिरांडा हॉउस
  • हिंदू कॉलेज
  • रामजस कॉलेज
  • खैरागढ़ यूनिवर्सिटी
  • रांची यूनिवर्सिटी
  • यूनिवर्सिटी ऑफ़ लखनऊ

म्यूज़िक स्कूल में एडमिशन लेने के लिए योग्यता

म्यूज़िक स्कूल में एडमिशन लेने के लिए हर स्कूल की अलग-अलग योग्यताएं होती है, लेकिन कुछ समान्य योग्यता हर स्कूल के लिए समान है, जिनके बारे में नीचे बताया गया है:

  • छात्रों को 10+2 किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से किसी भी स्ट्रीम के साथ पास करनी होगी । 
  • एक अच्छा IELTS/ TOEFL/PTE/Duolingo English test स्कोर अंग्रेज़ी भाषा में कुशलता के रुप में होना आवश्यक है। 
  • SOP, LOR दस्तावेज़। 
  • विदेश की अधिकतर यूनिवर्सिटीज बैचलर्स के लिए SAT और मास्टर्स कोर्सेज के लिए GRE स्कोर की मांग करते हैं।

आवेदन प्रक्रिया

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीज़ा और छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  1. सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  2. यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  3. फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  4. अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  5. इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  6. यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज़  

कुछ जरूरी दस्तावेज़ों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

गीतकार की सैलरी

यह एक ऐसा प्रोफेशन है, जिसमें यह बताना की आप कितने पैसे कमा सकते हैं थोड़ा मुश्किल है। हो सकता है कि आप शुरुआत में कुछ भी न कमाएं और बाद में लोकप्रिय होने पर करोड़ों कमा सकते हैं। इस प्रोफेशन में यह सबसे अच्छी बात है कि अगर आपने गाना अच्छा लिखा है और वह गाना हिट हो गया तो आपको उसकी रॉयल्टी जिंदगी भर मिलती रहेगी जब तक वह गाना बजता रहेगा। 

FAQ

फिल्मी गाने कैसे लिखे जाते हैं?

एक गाना तभी बनता है जब उसके बोल सही हो। जब तक बोल सही नहीं लिखे जाते गाना नहीं बन सकता। एक गाने में सबसे ज्यादा रोल लिखने के बाद धुन का होता है और वो भी तभी सही सेट हो पाती है जब आप गाना सही से लिखते हैं। 

गीतकार गीत कैसे लिखते हैं?

गीतकार अपने गीत को किसी विशिष्ट परिस्थिति या घटना को आधार मानकर लिखते हैं। फिल्मों के लिए लिखे जाने वाले गीत अक्सर उस फिल्म की कहानी पर आधारित होते हैं। कुछ सॉन्ग राइटर ऐसे भी होते हैं, जो केवल किसी विशिष्ट कलाकार या कंपनी के लिए ही गाने लिखते हैं। जबकि कुछ स्वतंत्र रूप से काम करके लगभग सभी के लिए गाने लिखते हैं।

सॉन्ग राइटर कौन होते हैं?

सॉन्ग राइटर वह व्यक्ति होता है, जो गाने लिखने के साथ उसकी धुन पर भी काम करते हैं। 

Song Writer kaise bane?

स्टेप 1: गाने सुनने का मतलब केवल सुन लेना नहीं है आपको गाने में प्रयोग किए जाने वाले शब्दों का अर्थ भी समझना है। 
स्टेप 2: आप जिस तरह के या जिस भाषा में गाने लिखना चाहते हैं आपको उस भाषा का ज्ञान सही से होना चाहिए। 
स्टेप 3: संगीत की शब्दावली लिखना सीखें- यह बहुत ही महत्वपूर्ण चरण है जहां से आप संगीत को समझना चालू करते हैं। आपको इन चीजों का ज्ञान होना चाहिए जैसे कि: गीत में मात्राएँ क्या होती है, मुखड़ा क्या होता है, अंतरा क्या होता है इत्यादि। इन सभी चीजों के साथ आप गाने का मुखड़ा लिखना सीखें।  
स्टेप 4: ग़ज़ल, कविता और शायरी सुनें और पढ़ें इससे आपको बहुत से ऐसे शब्द मिलेंगे जिसे आप अपने गाने में इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर आप इन्हें सीखना चाहते हैं तो जरूर सीखें यह आपकी एक अच्छा Song Writer kaise bane यह जानने में मदद करेगा। ग़ज़ल, कविता और शायरी सिखने से आपको नए-नए शब्द मिलेंगे जिससे की आपके गाने के शब्दों की शब्दावली बढ़ेगी और जिससे की आप अपने गानों में अच्छे शब्द डाल पाएंगे और आपके गाने बेहतर होते चले जायेंगे। 
स्टेप 5: कवि सम्मेलन/ मुशायरे में जाएँ- लोगो के सामने जाएं केवल रजिस्टर में अपने संगीतों को लिखकर न रखें दूसरों को भी सुनाएं तभी तो आपको अपनी खामियां जानने को मिलेंगी जिसे आप समय के साथ सुधारते चले जायेंगे। 
स्टेप 6: धुनों पर गाने लिखना सीखें- आप सोच रहे होंगे की पहले गाने लिखे जाते हैं उसके बाद धुन बनायी जाती है। पर बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में ऐसा नहीं होता है। आज के समय में पहले गाने की धुन बनाई जाती है और उसके बाद सॉन्ग राइटर को बोला जाता है कि आप इस धुन पर कोई गाना लिखें जो इस धुन पर फिट बैठता हो। 
स्टेप 7: मार्ग दर्शक चुने- किसी भी चीज को जल्द से जल्द कम समय में सिखने और जल्दी कामयाबी पाने के लिए एक अच्छे गुरु का होना बहुत जरुरी है, जो आपको एक सही मार्ग दर्शन दे सके। 

उम्मीद है, कि इस ब्लॉग में आपको Song Writer kaise bane के बारे में सभी जानकारी मिल गई होगी। यदि आप विदेश में पढ़ाई करना चाहते हैं, तो हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन 1800 572 000 पर कॉल कर बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert