म्यूज़िक में MA कैसे करें?

1 minute read
585 views
10 shares
Leverage Edu Default Blog Cover

हम चाहे खुश हों या दु:खी हों हर भावना में हम म्यूजिक सुनते हैं। आज के समय में हर दिन कई नए गानें आते हैं। सिंगर बनना आपकी आवाज, मेहनत और रियाज पर निर्भर करता है। गानों के बढ़ते क्रेज को देखते हुए म्यूजिक में भी करियर बनाना एक बेहतर विकल्प हो सकता है। म्यूज़िक में MA आपको अच्छी नौकरी के अवसर प्रदान करता है। इस ब्लॉग में आप जानेंगे Music में MA kaise karen विस्तार से। 

कोर्स MA Music
कोर्स स्तर पोस्ट ग्रेजुएट
अवधि 2 साल
योग्यता म्यूज़िक में बैचलर डिग्री
एडमिशन प्रवेश परीक्षा/मेरिट आधारित Merit-Based or Entrance Exam
सालाना औसत फीस INR 1,100 – 1,00,000
करियर विकल्प म्यूजिशियन, परफ़ॉर्मर, रडिओ जॉकी, म्यूज़िक कंपोजर, सिंगर आदि
औसत सैलरी INR 34 लाख- 69 लाख

म्यूज़िक में MA के बारे में

म्यूज़िक में MA यह एक दो साल का मास्टर डिग्री कोर्स है जो संगीत की पढ़ाई से संबंधित है। यह कोर्स संगीत के थ्योरेटिकल और प्रैक्टिकल दोनों पहलुओं को प्रदान करता है। छात्र संगीत की जड़ों की खोज करना सीखते हैं और उन्हें संगीत अभ्यास के कई रूपों के अवसर प्रदान किए जाते हैं। छात्र वोकल और इंस्ट्रुमेंटल कोर्सेज के बीच चयन कर सकते हैं और आगे म्यूज़िक में PhD और M.Phil भी कर सकते हैं । 

म्यूज़िक में MA के लिए सिलेबस  

इंस्ट्रुमेंटल कोर्सेज में छात्रों को सितार, वीणा, गिटार, तबला आदि की बारीकियां सिखाई जाती है, जबकि वोकल कोर्सेज में ताल, राग, संगीत के प्रकार, रचना आदि की बारीकियां शामिल हैं। MA म्यूज़िक का सेमेस्टर के अनुसार सिलेबस नीचे दिया गया है:

सेमेस्टर I थ्योरी – हिस्ट्री एंड एस्थेटिक्स इन म्यूज़िक प्रैक्टिकल
पेपर I – स्टेज परफॉरमेंस  
सेमेस्टर II थ्योरी– जनरल एंड एप्लाइड थ्योरी प्रैक्टिकल
पेपर II– वायवा-वॉइस प्रैक्टिकल
पेपर III– रिवीजन ऑफ़ राग एंड सेशनल  
सेमेस्टर III थ्योरी– हिस्ट्री ऑफ़ इंडियन म्यूज़िक प्रैक्टिकल
पेपर IV– स्टेज परफॉरमेंस
सेमेस्टर IV थ्योरी– एप्लाइड थ्योरी एंड म्यूज़िकल कम्पोजीशन प्रैक्टिकल
पेपर V – वायवा-वॉइस प्रैक्टिकल
पेपर VI – रिवीजन ऑफ़ राग एंड सेशनल

विश्व की टॉप यूनिवर्सिटीज़

दुनिया भर में कई विश्वविद्यालय हैं, जो म्यूज़िक में डिप्लोमा से लेकर मास्टर डिग्री तक कोर्सेज प्रदान करते हैं। आइए म्यूज़िक में MA के लिए दुनिया के शीर्ष विश्वविद्यालयों पर एक नज़र डालें:

भारत में टॉप कॉलेज

भारत में Music में MA Kaise Karen के लिए टॉप कॉलेज की सूची नीचे दी गई है:

  • बनारस विश्वविद्यालय
  • दिल्ली विश्वविद्यालय
  • क्वींस मैरी कॉलेज
  • बनस्थली विश्वविद्यालय
  • बैंगलोर विश्वविद्यालय
  • कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय
  • श्रीपत सिंह कॉलेज 
  • मिरांडा हाउस 
  • एमिटी विश्वविद्यालय 
  • नेहरू ग्राम भारती विश्वविद्यालय 

म्यूज़िक में MA के लिए योग्यता

म्यूज़िक में MA के लिए आवेदन फॉर्म भरते समय छात्रों को आवश्यक शैक्षणिक योग्यता और ऑडिशन योग्यता की आवश्यकताओं को उम्मीदवारों को पूरा करना होगा, जो नीचे दी गयी है:

शैक्षिक योग्यता

Music में MA Kaise Karen के लिए शेक्षिणक योग्यता इस प्रकार है:

  • MA म्यूज़िक की डिग्री प्राप्त करने के लिए बेसिक योग्यता, म्यूज़िक में बैचलर्स डिग्री है। इसके लिए आप म्यूज़िक में में BA या सम्बंधित कोर्स कर सकते हैं। 
  • इसके अलावा, कुछ टॉप विश्वविद्यालयों और संस्थानों को प्रवेश योग्यता के रूप में कम से कम 50% अंतिम ग्रेड की आवश्यकता होती है। 
  • उम्मीदवारों को प्रवेश परीक्षा के साथ-साथ एक व्यक्तिगत साक्षात्कार के साथ-साथ संस्थान की आवश्यकताओं को पूरा करना होगा।
  • भारत में बीए संगीत के लिए कुछ कॉलेज अपनी प्रवेश परीक्षाएं आयोजित करते हैं। ( जैसे BHU UETJNUEE और DUET आदि ) जिसके आधार पर छात्रों का चयन किया जाता है। विदेश के कुछ यूनिवर्सिटी के लिए ACTSAT आदि के स्कोर जरूरी होते हैं।
  • विदेश में ऊपर दी गई रिक्वायरमेंट्स के साथ IELTS या TOEFL टेस्ट स्कोर ज़रूरी होते हैं।
  • साथ ही विदेशी यूनिवर्सिटीों में आवेदन के लिए SOPLOR और CV/Resume तथा Portfolio की भी ज़रूरत होती है।

ऑडिशन के लिए योग्यता

Music में MA Kaise Karen के लिए ऑडिशन योग्यता इस प्रकार है

अंतर्राष्ट्रीय छात्रों को रजिस्ट्रेशन के समय कुछ अनिवार्य योग्यता और दस्तावेज अपलोड करने होते हैं। यहां उन दस्तावेजों की सूची दी गई है जिनकी आपको MA म्यूज़िक में ऑडिशन के समय आवश्यकता होगी:

  • संगीत प्रदर्शन का वीडियो या लाइव रिकॉर्डिंग।
  • म्यूज़िकल इंस्ट्रूमेंट के बारें में समझ।
  • कुछ विश्वविद्यालयों को संगीत कम्पोजीशन के पोर्टफोलियो की आवश्यकता हो सकती है।

आवेदन प्रक्रिया 

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेज़ों जैसे SOP, निबंध, सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टैस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज़ जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीज़ा और छात्रवृत्ति/छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लैटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूज़र नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  • यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज़  

कुछ ज़रूरी दस्तावेज़ों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

क्या आप जानते हैं? अरिजीत सिंह प्रसिद्ध भारतीय गायकों में से एक हैं, जिन्होंने श्रीपत सिंह कॉलेज, पश्चिम बंगाल से अपने संगीत के सपने पूरे किए थे। 

म्यूज़िक में MA के लिए एंट्रेंस एग्ज़ाम

आवेदन प्रक्रिया के लिए छात्रों को संगीत उद्योग में बैचलर्स डिग्री और प्रोफेशनल अनुभव की आवश्यकता होती है। इसमें एडमिशन लेने के लिए आपको एंट्रेंस एग्ज़ाम पास करने की आवश्यकता हो सकती है, जिनके बारे में नीचे बताया गया है:

  • TISS National Entrance Test (TISSNET)
  • Patna Women’s College BA/BSc Entrance Exam
  • Regional Institute of Education (RIE) Common Entrance Exam (CEE)
  • North Maharashtra University MA Entrance Exam

जॉब प्रोफाइल और सैलरी

औसत सैलरी के साथ म्यूज़िक में MA पोस्ट ग्रेजुएट के लिए नौकरी की भूमिका नीचे दी गई है: 

जॉब प्रोफ़ाइल औसत वेतन सीमा (INR में)
फिल्म में गायक/कलाकार INR 27 लाख – 1.46 करोड़
म्यूज़िक प्रोफेसर INR 50 लाख – 58 लाख
रेडियो जॉकी INR 36 लाख – 52 लाख
बैंड लीडर INR 21 लाख – 73 लाख
म्यूज़िक थेरेपिस्ट INR 30 लाख – 67 लाख
स्टेज तकनीशियन INR 40 लाख – 44 लाख
स्टूडियो म्यूजिशियन INR 35 लाख – 59 लाख
म्यूज़िक कंसलटेंट INR 26 लाख – 47 लाख

MA म्यूज़िक में करियर के क्षेत्र

MA म्यूज़िक के लिए मुख्य करियर क्षेत्र नीचे दिए गए है:

  • फिल्म इंडस्ट्री
  • मीडिया कम्पनीज
  • स्कूल
  • कॉलेज
  • टूरिंग कम्पनीज
  • ऑर्केस्ट्रा  
  • पर्सनल स्टूडियो  
  • थिएटर इंडस्ट्री

FAQs

क्या MA म्यूज़िक के लिए डिस्टेंस लर्निग उपलब्ध है?

हां, कुछ प्रसिद्ध विश्वविद्यालय या कॉलेज MA म्यूज़िक में डिस्टेंस लर्निंग प्रदान करते हैं। 

क्या MA म्यूज़िक में कोई स्पेशलाइजेशन है?

इंस्ट्रुमेंटल, वोकल, क्लासिकल हिंदुस्तानी आदि स्पेशलाइजेशन MA म्यूज़िक में हैं। 

MA म्यूज़िक के बाद कौन कौन सी नौकरी मिलती है?

MA म्यूज़िक करने के बाद आपको म्यूजिक डायरेक्टर, ऑडियो तकनीशियन, म्यूजिक एडिटर, म्यूजिक क्रिटिक, कम्पोज़र आदि नौकरियां उपलब्ध होती हैं, जिनमें आप एक शानदार करियर बना सकते हैं।

उम्मीद है की Music में MA Kaise Karen इससे संबंधित जानकारी मिल गई होगी। यदि आप MA Music विदेश में करना चाहते हैं तो आज ही Leverage Edu experts को 1800 572 000 पर कॉल करके 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert