फार्मासिस्ट कैसे बनें?

1 minute read
281 views
personality development tips in hindi

यदि आप मेडिकल के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो डॉक्टर बनने के अलावा भी आपके पास ढेरों विकल्प मौजूद हैं। इस क्षेत्र में अधिकत्तर मांग वाले करियर विकल्प में से एक है फार्मासिस्ट। इस कोरोना काल में हम फार्मासिस्ट की अहमियत जान ही चुके हैं। फार्मासिस्ट बनना एक अच्छा करियर विकल्प है यदि आप भी सेल्फलैस्सली लोगों की मदद करना चाहते हैं और जानना चाहते हैं कि pharmacist kaise bane, तो आइए इससे जुड़ी सारी जानकारी ब्लॉग में विस्तार से जानते हैं।

फार्मासिस्ट कौन होते हैं?

फार्मासिस्ट, हेल्थ केयर प्रोफेशनल्स हैं, जो रोगियों या कस्टमर को डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के द्वारा मेडिसिन्स उपलब्ध कराते हैं और सलाह देते हैं। फार्मासिस्ट की भूमिका केवल दवा खरीदने और बेचने तक ही सीमित नहीं है। वे क्लीनिकल और फार्मास्यूटिकल रिसर्च में भी शामिल होते हैं।

फार्मासिस्ट के काम

Pharmacist kaise bane जानने से पहले आपको उनके रोल्स के बारे में भी अच्छी तरह से जानना ज़रुरी है। वे फिजिशियन द्वारा जारी किए गए प्रिस्क्रिप्शन के जरिए मेडिसिन्स प्रोवाइड करते हैं और कस्टमर्स को सुरक्षित रूप से दवाएं लेने के तरीके के बारे में शिक्षित करते हैं। साथ ही बेसिक हेल्थ केयर सर्विसेज और शिक्षा भी प्रदान करते हैं। फार्मासिस्ट के कुछ कर्तव्यों में आम तौर पर शामिल हैं-

  • कस्टमर को बताना कि कैसे और कब दवाएं लेनी हैं और रिटन इंस्ट्रक्शन प्रदान करना। वहीं दवाओं के कारण होने वाले पॉसिबल साइड इफ़ेक्ट पर चर्चा करना।
  • कस्टमर को बेहतर ढंग से समझने में मदद करने के लिए जानकारी प्रदान करना जैसे कि उनकी प्रेसक्राइब्ड मेडिसिन क्या करती हैं।
  • डाइट, एक्सरसाइज, स्ट्रेस मैनेजमेंट और अन्य हेल्थ और लाइफस्टाइल के इशू पर कस्टमर के साथ चर्चा करना।
  • पॉसिबल कम्पेटिबिलिटी या इनकम्पेटिबिलिटी पर चर्चा करने के लिए डॉक्टर के साथ कार्य करना।
  • फार्मेसी की दवाओं की सूची का मैनेजमेंट और मेंटेनेंस करना। 
  • फार्मास्यूटिकल चैलेंज जैसे डैमेज लेबल वाली दवाओं की पहचान करना आदि का समाधान करने में रोगियों की सहायता करना।
  • माइनर हेल्थ प्रॉब्लम के लिए डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के बिना मिलने वाले ट्रीटमेंट रेकमेंड करना।

फार्मासिस्ट बनने के लिए स्किल्स

Pharmacist kaise bane के साथ ही फार्मासिस्ट बनने के लिए ज़रुरी स्किल को भी जानना महत्त्वपूर्ण है। फार्मासिस्ट के रूप में महारथ प्राप्त करने के लिए, आपको नीचे दी गई स्किल की आवश्यकता है-

  • फार्मासिस्ट को कस्टमर के लिए सेफ, इफेक्टिव मेडिसिन प्रदान करने के लिए सावधानी से प्रिस्क्रिप्शन को पढ़ना और उनका पालन करना चाहिए। इसके लिए आपका डिटेल-ओरिएंटेड होना जरूरी है।
  • आपको अपने कस्टमर की ज़रूरतों और पोटेंशियल कॉन्फ्लिक्ट के एनालिसिस करने में सक्षम होना चाहिए।
  • चाहे आप किसी कस्टमर को दवाओं के उपयोग के बारे में शिक्षित कर रहे हों, किसी प्रोवाइडर के साथ इंस्युरेन्स स्टेटमेंट की कन्फर्मेशन कर रहे हों या किसी डॉक्टर से जानकारी ले रहे हों, आपको अच्छी कम्युनिकेशन स्किल की आवश्यकता है। फार्मासिस्ट को क्लियर और इफेक्टिव ढंग से बोलने और लिखने में सक्षम होना चाहिए।
  • जब आप किसी फार्मेसी में काम करते हैं, तो आपको डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन की जानकारी प्राप्त करने, इंस्युरेन्स स्टेटमेंट की कन्फर्मेशन करने और क्लाइंट रिकॉर्ड अपडेट करने के लिए कंप्यूटर का उपयोग करना पड़ सकता है। आपको अपनी फार्मेसी के सॉफ्टवेयर सिस्टम का उपयोग करने, बेसिक सर्च और डाटा एंट्री करने का तरीका जानने की आवश्यकता है।

फार्मासिस्ट बनने के लिए स्टेप बाय स्टेप गाइड

Pharmacist kaise bane, समझाने के लिए हमने नीचे कुछ स्टेप दिए हैं, इन स्टेप्स को फॉलो करके आप फार्मासिस्ट बनने के अपने सपने को पूरा कर सकते हैं-

स्टेप 1- 12वीं तक की पढ़ाई पूरी करें

फार्मासिस्ट बनने के लिए तैयारी आपको अपने स्कूल के दिनों से ही करनी होगी। 10वीं के बाद साइंस PCB का चयन करें और अच्छे अंकों से 12वीं पास कीजिए।  

स्टेप 2- डिग्री प्राप्त करें?

अब अगला कदम है सही शिक्षा प्राप्त करना। भारत में बी फार्मा के बाद छात्र खुद का मेडिकल खोलने और प्रिस्क्रिप्शन के आधार पर दवाई देने के लिए योग्य होते हैं। वहीं विदेशों में फार्मासिस्ट बनने की अलग अलग रिक्वायरमेंट्स होती हैं। यूएसए, कनाडा जैसे देशों में फार्मासिस्ट बनने के लिए फार्मा डी की डिग्री जरूरी है वहीं यूके में एम फार्मा डिग्री।  

स्टेप 3- स्किल्स विकसित करें

एक फार्मासिस्ट के रूप में सफल करियर बनाने के लिए, आपको मजबूत एनालिटिकल थिंकिंग स्किल, बेसिक कंप्यूटर स्किल की आवश्यकता है। आपको रोगियों और चिकित्सकों के साथ प्रभावी तरिके से बात करने के लिए अच्छी कम्युनिकेशन स्किल की भी आवश्यकता है। अतः अपनी स्किल्स में सुधार करें।

स्टेप 4- ट्रेनिंग और इंटर्नशिप  

स्वतंत्र रूप से काम करने के लिए, आपको फार्मासिस्ट के रूप में ट्रेनिंग प्रोग्राम या इंटर्नशिप करना जरूरी है क्योंकि कार्य अनुभव के आधार पर ही फार्मासिस्ट को लाइसेंस प्रदान किया जाता है। अतः अपनी पढ़ाई के साथ ही या फिर अलग से ही किसी इंटर्नशिप प्रोग्राम का हिस्सा बनें। अधिकांश फार्मासिस्ट किसी रेजीडेंसी प्रोग्राम और ऑन द जॉब ट्रेनिंग प्रोग्राम के बीच चयन कर सकते हैं।

स्टेप 5- रजिस्टर करवाएं

इससे पहले कि आप फार्मासिस्ट के रूप में काम कर सकें, आपको लाइसेंस की आवश्यकता होती है। भारत में बी फार्मा के बाद आपको अपने स्टेट के फार्मेसी कॉउन्सिल ऑफ़ इंडिया में रजिस्ट्रेशन करने की ज़रूरत है। यूके में GPC में रजिस्ट्रेशन कराना होगा। USA में नाप्लेक्स एग्ज़ाम पास करके आप लाइसेंस प्राप्त कर सकेंगे। ऐसे ही अलग अलग देशों में काम करने के लिए आपको वहां के लाइसेंस की ज़रूरत होगी। लाइसेंस पाने के बाद आप एक फार्मासिस्ट कहलाएंगे और आप अब नौकरी की तलाश कर सकते हैं या फिर खुद की मेडिकल शॉप भी ओपन कर सकते हैं।

फार्मासिस्ट बनने के लिए टॉप फार्मेसी कोर्सेज

फार्मासिस्ट बनने के लिए कुछ प्रमुख कोर्सेज के बारे में नीचे बताया गया है। Pharmacist kaise bane जानने के बाद आइए कुछ प्रमुख फार्मेसी कोर्सेज के बारे में जानते हैं-

कोर्स अवधि
Diploma in Pharmacy (D Pharma) 1-2 साल
Bachelor of Pharmacy (B Pharma) 3-4 साल
Master of Pharmacy 2 साल
MBA in Pharmacy 2 साल
Doctor of Pharmacy (Pharma D) 4-5 साल

आप AI Course Finder की मदद से भी अपने इंटरेस्ट के अनुसार अपनी पसंद के कोर्सेज का चयन कर सकते हैं।

दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज़

फार्मेसी के क्षेत्र में एक बेहतरीन करियर बनाने के लिए अपनी रूचि के अनुसार सही यूनिवर्सिटी चुनना महत्वपूर्ण है। फार्मेसी के लिए दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज़ की लिस्ट नीचे दी गई है–

विश्वविद्यालय देश
ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय यूके
मोनाश विश्वविद्यालय  ऑस्ट्रेलिया
हार्वर्ड महाविद्यालय अमेरिका
कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय यूके
नॉटिंघम विश्वविद्यालय यूके
उत्तरी कैरोलिना विश्वविद्यालय   अमेरिका
यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन यूके
कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय अमेरिका
जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय अमेरिका
टोरोन्टो विश्वविद्यालय कनाडा

आप UniConnect के जरिए विश्व के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन विश्वविद्यालय मेले का हिस्सा बनने का मौका पा सकते हैं, जहाँ आप अपनी पसंद के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि से सीधा संपर्क कर सकेंगे।

भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज़

फार्मेसी कोर्सेज के लिए भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज़ की लिस्ट नीचे दी गई है–

  • जामिया हमदर्द विश्वविद्यालय (दिल्ली)
  • बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी (झाँसी, उत्तर प्रदेश)
  • दिल्ली इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मास्युटिकल साइंसेज एंड रिसर्च (दिल्ली)
  • महात्मा ज्योतिबा फुले रोहिलखंड विश्वविद्यालय (उत्तर प्रदेश)
  • बिरला प्रौद्योगिकी संस्थान (मेसरा, रांची)
  • जादवपुर विश्वविद्यालय (कोलकाता)
  • मणिपाल कॉलेज ऑफ फार्मास्युटिकल साइंसेज (मणिपाल)
  • ऑक्सफोर्ड कॉलेज ऑफ फार्मेसी (बैंगलोर)
  • पीएसजी कॉलेज ऑफ फार्मेसी (कोयंबटूर)
  • दिल्ली विश्वविद्यालय (दिल्ली)

योग्यता

फार्मेसी कोर्सेज के लिए आवश्यक योग्यता के बारे में नीचे बताया गया है–

  • फार्मेसी में बैचलर्स डिग्री कोर्सेज के लिए जरूरी है कि कैंडिडेट ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड द्वारा कक्षा 12वीं विज्ञान स्ट्रीम से उत्तीर्ण की हो। इस प्रोग्राम में प्रवेश के लिए कई एंट्रेंस एग्ज़ाम आयोजित किए जाते हैं। 
  • मास्टर डिग्री के लिए ज़रूरी है कि कैंडिडेट ने किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी या कॉलेज से फार्मेसी में बैचलर्स डिग्री प्राप्त की हो। 
  • मास्टर्स प्रोग्राम में एडमिशन के लिए यूनिवर्सिटीज़ प्रवेश परीक्षा आयोजित करतीं हैं इसके बाद ही आप इन कोर्सेज के लिए योग्य हो सकते हैं। भारत में हर यूनिवर्सिटी की अपनी अपनी प्रवेश परीक्षाएं होती हैं। 
  • ऑस्ट्रेलिया और कनाडा में फार्मा डी के बाद ही छात्र फार्मासिस्ट के रूप में काम करने के लिए योग्य होते हैं। इस कोर्स में एडमिशन के लिए वहां PCAT परीक्षा में अच्छे अंक लाने की ज़रूरत होती है। 
  • साथ ही विदेश में पढ़ने के लिए आपको ऊपर दी गई आवश्यकता के साथ IELTS या TOEFL स्कोर की भी आवश्यकता होती है।
  • विदेशी यूनिवर्सिटी में एडमिशन के लिए SOP, LOR, CV/Resume और Portfolio भी जमा करने होंगे।

क्या आपको IELTS या TOEFL की तैयारी में दिक्कत आ रही है? तो आज ही Leverage Live पर रजिस्टर करें और अच्छे स्कोर प्राप्त करें।

आवेदन प्रक्रिया 

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेज़ों जैसे SOP, निबंध, सर्टिफिकेट्स औरLORऔर आवश्यक टैस्ट स्कोर जैसे IELTSTOEFLSATACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTSTOEFLPTEGMATGRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज़ जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीज़ा और छात्रवृत्ति/छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लैटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

आवदेन प्रक्रिया से सम्बन्धित जानकारी और मदद के लिए Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800572000 पर संपर्क करें

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूज़र नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  • यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज़

विदेश में पढ़ने के लिए लगने वाले कुछ ज़रूरी दस्तावेज़ों की लिस्ट नीचे दी गई है–

छात्र वीजा पाने के लिए भी Leverage Edu विशेषज्ञ आपकी हर सम्भव मदद करेंगे।

मुख्य पुस्तकें

इस क्षेत्र के लिए कुछ महत्वपूर्ण पुस्तकें इस प्रकार हैं-

  • थ्योरी एंड प्रैक्टिस ऑफ़ इंडस्ट्रियल फार्मेसी बाय लिबरमैन और लछमन
  • एडवांस्ड एंट्रेंस गाइड फॉर फार्मासिस्ट एग्ज़ाम बाय बिरला
  • फिजिकल फार्मसूटिक्स बाय CVS सुब्रह्मण्यम
  • पियूष गाइड फॉर ड्रग इंस्पेक्टर एंड फार्मासिस्ट एग्ज़ाम
  • फार्मास्यूटिकल इंजीनियरिंग बाय CVS सुब्रह्मण्यम
  • ए टेक्स्टबुक ऑफ़ फॉरेंसिक फार्मेसी बाय बी एम मिथल

शीर्ष भर्ती कंपनियां 

कुछ भर्ती कंपनियाँ मुख्य रूप से इस क्षेत्र के ग्रेजुएट्स को नियुक्त करती हैं-

  • Glenmark
  • Sun Pharma
  • Cadila Health
  • Torrent Pharma
  • Abbott India
  • Cipla
  • Lupin
  • Aurobindo Pharma
  • Dr. Reddy’s Laboratories
  • Alkem Lab
  • Piramal Enterprises

फार्मासिस्ट की सैलरी

फार्मासिस्ट के लिए एक अच्छी सैलरी पैकेज वाली जॉब के सुनहरे अवसर हैं। कार्य अनुभव, आपके पद, राज्य, देश आदि के आधार पर फार्मासिस्ट की सैलरी भिन्न हो सकती है। नीचे टेबल में pharmacist kaise bane के साथ ही उनकी औसत अनुमानित सालाना सैलरी के बारे में जानते हैं–

न्यूनतम INR 2-3 लाख
औसत INR 5-7 लाख
अधिकत्तम INR 15-20 लाख

FAQs

फार्मासिस्ट कैसे बनें?

फार्मासिस्ट बनने के लिए इस क्षेत्र में आपका एजुकेशनल बैकग्राउंड ज़रूरी है। फार्मेसी में डिग्री कोर्सेज पूरा करने के बाद आपको अपनी स्टेट फार्मेसी कॉउन्सिल (भारत में), GPC( यूके में) आदि में रजिस्ट्रेशन कराने की ज़रूरत होती है। इसके बाद ही आप फार्मासिस्ट के रूप में कार्य कर सकते हैं।

फार्मासिस्ट किसे कहते हैं?

फार्मासिस्ट, हेल्थ केयर प्रोफेशनल्स हैं, जो रोगियों या कस्टमर्स को डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के द्वारा मेडिसिन्स उपलब्ध कराते हैं और सलाह देते हैं।

फार्मासिस्ट बनने के लिए कौन सा कोर्स करें?

फार्मासिस्ट बनने के लिए फार्मेसी की डिग्री ज़रुरी है। आमतौर पर भारत में बी फार्मा करने के बाद लाइसेंस प्राप्त कर आप फार्मासिस्ट बन सकते हैं। वहीं अमेरिका और कनाडा में फार्मा डी कोर्स करना जरूरी है।

फार्मेसी के लिए दुनिया की बेस्ट यूनिवर्सिटीज़ कौन सी है?

फार्मेसी के लिए दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज़-
1 ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय
2 मोनाश विश्वविद्यालय 
3 हार्वर्ड विश्वविद्यालय
4 कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय
5 नॉटिंघम विश्वविद्यालय
6 उत्तरी कैरोलिना विश्वविद्यालय

बी फार्मा कितने वर्ष का कोर्स है?

बी फार्मा 3–4 वर्ष का कोर्स है।

एम फार्मा में किन क्षेत्रों के अंतर्गत स्पेशलाइजेशन कर सकते हैं?

एम फार्मेसी के अंतर्गत कुछ लोकप्रिय स्पेशलाइजेशन-
1. फार्मेसी प्रैक्टिस
2. फार्माकोग्नॉसी
3. फार्माकोलॉजी
4. फार्मास्युटिकल बायोटेक्नोलॉजी
5. फार्मास्यूटिक्स
6. ड्रग डिजाइन और विकास
7. नियामक मामले
8. फार्मास्युटिकल एनालिस्ट

हम आशा करते हैं कि इस ब्लॉग में आपको pharmacist kaise bane के बारे में सभी जानकारी मिल गई होगी। यदि आप फार्मेसी कोर्स विदेश में करना चाहते हैं तो आज ही 1800572000 पर कॉल करके हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए और उचित मार्गदर्शन पाइए।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert