सिरेमिक इंजीनियरिंग कैसे करें?

1 minute read
530 views
Leverage Edu Default Blog Cover

12वीं नॉन मेडिकल साइंस से करने के बाद छात्रों की ज्यादातर पसंद इंजीनियरिंग रहती है। एडवांस्ड टेक्नोलॉजीज और अकादमिक करिकुलम के इंटीग्रेशन से नई इंजीनियरिंग ब्रांचेज को नई राह मिलती है, ऐसे में छात्रों के लिए इंजीनियरिंग एक अच्छी चॉइस होती है। इंजीनियरिंग में एक लोकप्रिय ब्रांच है सिरेमिक इंजीनियरिंग, जिसे युवा आजकल करना पसंद करते हैं। आइए, फिर बताते हैं आपको ceramic engineering in Hindi के बारे में विस्तार से। 

कोर्स सिरेमिक इंजीनियरिंग
कोर्स लेवल BTech या MTech
फीस 10 लाख – 20 लाख
अवधि BTech – 4 वर्ष
MTech – 2 वर्ष
एग्ज़ामिनेशन टाइप सेमेस्टर
योग्यता -BTech के लिए 10 + 2 न्यूनतम 50%
-MTech के लिए BTech की डिग्री होनी आवश्यक है
टॉप रिक्रूटर्स -रिसर्च इंस्टीट्यूट
-सिरेमिक मैन्युफैक्चरिंग कम्पनीज
-आर्ट्स एंड डिज़ाइन कम्पनीज
करियर -सिरेमिक इंजीनियर, टेक्नोलॉजिस्ट, डिज़ाइनर, टेक्निशियन, प्रोफेसर आदि।

Check out: मैकेनिकल इंजीनियरिंग का क्या होता है काम

सिरेमिक इंजीनियरिंग क्या होती है?

Ceramic engineering in Hindi में सिरेमिक शब्द सुनते ही मन में ज्यादातर केवल बर्तनों और मूर्तियों की ही छवि आती है। सिरेमिक इंजीनियरिंग एक प्रोफेशनल कोर्स है, जो प्रेसिपीटशन और हीटिंग जैसी विभिन्न तकनीकों का उपयोग करके क्रिस्टलीय संरचनाओं के साथ इनऑर्गेनिक और नॉन मैटेलिक को बनाने से संबंधित है। इन वस्तुओं का उपयोग मिसाइल नोज कोन्स, गैस बर्नर नोज़ल्स, बैलिस्टिक प्रोटेक्शन, न्यूक्लियर फ्यूल यूरेनियम ऑक्साइड पेलेट्स, बायोमेडिकल इम्प्लांट्स और जेट इंजन टरबाइन ब्लेड्स बनाने में किया जाता है। सामान्य भाषा में सिरेमिक इंजीनियरिंग मटीरियल इंजीनियरिंग की ब्रांच है, जिसके अंतर्गत सिरेमिक मैटेरियल की मैन्युफैक्चरिंग, डिजाइनिंग, गुणों और इसके उपयोगों का अध्ययन किया जाता है। इसमें इनऑर्गेनिक या गैर धातु पदार्थों से विभिन्न प्रक्रियाओं का उपयोग कर कई वस्तुएं तैयार की जाती हैं।

यह भी पढ़ें: सिविल इंजीनियर कैसे बने?

सिरेमिक इंजीनियरिंग कोर्सेज

पिछले कुछ वर्षों में, छात्रों का अचानक से इस क्षेत्र की ओर झुकाव देखा जा सकता है। इस क्षेत्र में कई डिप्लोमा, ग्रेजुएट और मास्टर्स कोर्सेज उपलब्ध हैं, जिन्हें चुनकर छात्र अपने सपनों के करियर की शुरुआत कर सकते हैं। Ceramic engineering in Hindi में प्रमुख कोर्सेज नीचे लिस्ट में मौजूद हैं।

स्टडी लेवल कोर्सेज
डिप्लोमा Diploma in Ceramic Engineering
अंडरग्रेजुएट Bachelor in Chemical Technology and Engineering
Bachelor of Engineering (Material Science) Material Science and Engineering
पोस्टग्रेजुएट MSc Material Engineering
Masters of Materials Engineering
PhD PhD in Engineering Materials
PhD in Technologies and Materials

यह भी पढ़ें: जानें इंजीनियरिंग के सभी एंट्रेंस एग्जाम के बारे में

सिरेमिक इंजीनियरिंग सब्जेक्ट्स

ceramic engineering in Hindi में चुने गए कोर्स के दौरान मुख्य ध्यान नॉन-मैटेलिक या इनऑर्गेनिक मैटेरियल्स के निर्माण पर रहता है। यहां कुछ महत्वपूर्ण विषय दिए गए हैं, जिनका अध्ययन आप इस कोर्स में कर सकते हैं।

मटेरियल साइंस हीट एंड मास ट्रांसफर सिरेमिक वाइट वेयर स्ट्रक्चर एंड प्रॉपर्टीज ऑफ़ सिरेमिक मैटेरियल्स
गिलास टेक्नोलॉजी एंड एप्लीकेशन नैनोमैटेरियल्स   इलेक्ट्रोसिरेमिक्स लेबोरेटरी सिरेमिक कोटिंग एंड हाई-टेम्परेचर सिरेमिक प्रोसेस
एडवांस्ड इलेक्ट्रो-सिरेमिक बायो-सिरेमिक फ्यूल फर्नेस एंड पैरोमेट्री फिजिकल टेस्टिंग ऑफ़ रॉ मैटेरियल्स
गिलासग्लास इंजीनियरिंग एडवांस्ड सिरेमिक पार्टिकल मैकेनिक्स एंड फ्लूइड प्रोसेस फंडामेंटल्स ऑफ़ मैकेनिकल इंजीनियरिंग

बैचलर्स डिग्री के लिए सिलेबस

बैचलर्स डिग्री के लिए सिलेबस साल के अनुसार नीचे दिया गया है:

प्रथम वर्ष प्रोफेशनल कम्युनिकेशन
एनवायर्नमेंटल स्टडीज
फंडामेंटल्स ऑफ़ मैकेनिकल इंजीनियरिंग
इंजीनियरिंग मैथेमेटिक्स – 1
इंजीनियरिंग फिजिक्स
इंजीनियरिंग मैथेमेटिक्स – 2
इंजीनियरिंग केमिस्ट्री
फंडामेंटल्स ऑफ़ इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग
टेक्निकल कम्युनिकेशन
फंडामेंटल्स ऑफ़ इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग
इंजीनियरिंग ड्राइंग
फंडामेंटल्स ऑफ़ कंप्यूटर
द्वितीय वर्ष मैटेरियल्स साइंस
मैन्युफैक्चरिंग प्रैक्टिस
स्ट्रक्चर एंड प्रॉपर्टीज ऑफ़ सिरेमिक मैटेरियल्स
मैथेमैटिकल मेथड्स
सिरेमिक रॉ मैटेरियल्स
सिरेमिक फेज डायग्राम एंड फेज ट्रांसफॉर्मेशन
बेसिक सिरेमिक प्रैक्टिसेज
हीट एंड मास ट्रांसफर
थर्मोडायनामिक एंड फेज इक्विलिब्रिया इन सिरेमिक
सिस्टम्स
पार्टिकल मैकेनिक्स एंड फ्ल्यूइड फ्लो प्रोसेस
ह्यूमैटीज़
यूनिवर्सल ह्यूमन वैल्यूज़
तृतीय वर्ष टेक्निक्स फॉर मैटेरियल्स कैरेक्टराइजेशन
प्रोसेस कैलकुलेशन
HU/ LM
गिलास एंड गिलास सिरेमिक
सिरेमिक वाइट वेयर
एडवांस्ड सिरेमिक
इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग– 1
रीफ्रैक्टरीज
गिलास इंजीनियरिंग
डिपार्टमेंट इलेक्टिव
नैनोटेक्नोलाजी
चतुर्थ वर्ष फ्यूल, फर्नेस एंड पैरोमेट्री
स्टील प्लांट रीफ्रैक्टरीज
सिरेमिक कंपोजिट्स
सीमेंट एंड कंक्रीट
सिरेमिक कोटिंग एंड हाई टेम्परेचर सिरेमिक प्रोसेसेज
इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग– 2
गिलास टेक्नोलॉजी एंड एप्लीकेशन
इंडस्ट्रियल वाइट वेयर
एडवांस्ड इलेक्ट्रो-सिरेमिक्स
बायो-सिरेमिक्स
प्रोजेक्ट

मास्टर डिग्री के लिए सिलेबस

मास्टर डिग्री के लिए सिलेबस सेमेस्टर के अनुसार नीचे दिया गया है:

सेमेस्टर I स्ट्रक्चर एंड प्रॉपर्टीज ऑफ़ इंजीनियरिंग सिरेमिक्स
प्रिंसिपल्स ऑफ़ सिरेमिक्स प्रोसेसिंग एंड फेब्रिकेशन
इंस्ट्रुमेंटल एनालिसिस लेबोरेटरी
कैरेक्टराइजेशन ऑफ़ सिरेमिक प्रोडक्ट लेबोरेटरी
इलेक्टिव
सेमिनार एंड टेक्निकल राइटिंग-I
सेमेस्टर II एडवांसेज इन फेज डायग्रामस
नैनोमैटेरियल्स
इलेक्ट्रोसिरेमिक लेबोरेटरी
प्रोसेस सिरेमिक लेबोरेटरी
सेमिनार एंड टेक्निकल राइटिंग-II
इलेक्टिव
सेमेस्टर III सेमिनार एंड टेक्निकल राइटिंग-III
समर रिसर्च/इंडस्ट्रियल प्रोजेक्ट
रिसर्च प्रोजेक्ट वर्क-I
रिसर्च प्रोजेक्ट रिव्यु-I
सेमेस्टर IV सेमिनार एंड टेक्निकल राइटिंग-IV
कम्प्रेहैन्सिव वाइवा
रिसर्च प्रोजेक्ट वर्क-II
रिसर्च प्रोजेक्ट रिव्यु-II
डेज़र्टेशन
इलेक्टिव शेप्ड एंड अनशेप्ड रीफ्रैक्टरीज
रीफ्रैक्टरीज फॉर मेटलर्जिकल एंड अलाइड प्रोसेस
एडवांस्ड स्ट्रक्चरल सिरेमिक
नॉन-ऑक्साइड सिरेमिक
एडवांस्ड इन बायोसिरेमिक्स
एनर्जेटिक
एडवांस्ड गिलास एंड गिलास सिरेमिक
एडवांस्ड कम्पोजिट
कंप्यूटर-ऐडेड डिजाइनिंग इन मॉडलिंग ऑफ़ सिरेमिक सिस्टम
फ्रिक्शन एंड वियर ऑफ़ मैटेरियल्स
एडवांस्ड इलेक्ट्रोसिरेमिक्स
हाई टेम्परेचर सिरेमिक प्रोसेसिंग
साइंस ऑफ़ सोल-जेल प्रोसेसिंग
मैग्नेटिक सिरेमिक्स
टेक्निक्स ऑफ़ मैटेरियल्स कैरेक्टराइजेशन
सिरेमिक इन हाई टेक एप्लीकेशन
स्पेशल टॉपिक इन सिरेमिक इंजीनियरिंग-I
स्पेशल टॉपिक इन सिरेमिक इंजीनियरिंग-II
स्पेशल लेबोरेटरी इन सिरेमिक इंजीनियरिंग-I
स्पेशल लेबोरेटरी इन सिरेमिक इंजीनियरिंग-II

यह भी पढ़ें: इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग कैसे करें

विदेश में टॉप यूनिवर्सिटीज़

दुनिया भर में कई संस्थान सिरेमिक इंजीनियरिंग में डिग्री प्रदान कर रहे हैं। इसलिए आपको यह पता लगाना चाहिए कि कौन सा एडिशन आपके करियर लक्ष्यों के साथ सबसे अच्छा मेल खाता है और फिर दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज़ में से एक का चयन करें। इस क्षेत्र की टॉप यूनिवर्सिटीज़ की नीचे लिस्ट दी गई है:

यह भी पढ़ें: 2021 के इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम

भारत के टॉप कॉलेज

ceramic engineering in Hindi में डिग्री हासिल करने के लिए भारत के टॉप कॉलेजों की नीचे लिस्ट दी गई है:

  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, राउरकेला
  • IIT बीएचयू (बनारस हिंदू विश्वविद्यालय), वाराणसी
  • कलकत्ता विश्वविद्यालय
  • आंध्र विश्वविद्यालय
  • सिरेमिक गिलास और सिरेमिक रिसर्च इंस्टीट्यूट, कोलकाता
  • अन्ना विश्वविद्यालय, चेन्नई
  • राजस्थान टेक्निकल यूनिवर्सिटी  

योग्यता

इंजीनियरिंग के क्षेत्र में एक नया कोर्स होने के नाते, दुनिया भर के विभिन्न संस्थानों द्वारा सिरेमिक इंजीनियरिंग की पेशकश की जाती है। ऐसे सभी संस्थानों ने इस क्षेत्र में कोर्स के लिए प्रवेश की आवश्यकताएं निर्धारित की हैं। आइए सिरेमिक इंजीनियरिंग के लिए कुछ सामान्य योग्यता पर एक नजर डालते हैं।

  • बैचलर्स कोर्सेज: आपके विश्वविद्यालय द्वारा मांगे गए न्यूनतम अंकों के साथ एक मान्यता प्राप्त इंस्टीट्यूट से 10+2 स्कूली शिक्षा पूरी की होगी।
  • मास्टर्स कोर्सेज: फील्ड में कुछ वर्क एक्सपीरियंस के साथ औसत अंकों के साथ समान या प्रासंगिक क्षेत्र में अंडरग्रेजुएट डिग्री। हालांकि कार्य अनुभव अनिवार्य नहीं है।
  • इस क्षेत्र में UG और PG कोर्सेज करने में एडमिशन लेने के लिए छात्र को एंट्रेंस एग्ज़ाम के लिए क्वालीफाई करने की आवश्यकता हो सकती है।
  • इंग्लिश लैंग्वेज प्रोफिसिएंसी टेस्ट जैसे-IELTS, TOEFL आदि में एक अच्छा स्कोर अनिवार्य है।
  • विदेशी यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेने के लिए आपको LOR और SOP की भी आवश्यकता होती है।

आवेदन प्रक्रिया 

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेज़ों जैसे SOP, निबंध, सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टैस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज़ जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीज़ा और छात्रवृत्ति/छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लैटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूज़र नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  • यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज़  

कुछ ज़रूरी दस्तावेज़ों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

सिरेमिक इंजीनियरिंग के लिए एंट्रेंस एग्ज़ाम

सिरेमिक इंजीनियरिंग के टॉप एंट्रेंस एग्ज़ाम की लिस्ट नीचे दी गई है:

  • NERIST Entrance Examination
  • NIT Entrance Exam
  • GATE
  • IIT-JEE
  • Annamalai University Engineering Entrance Exam
  • Manipal Institute of Technology Engineering Entrance Examination
  • Birla Institute of Science & Technology Entrance
  • Guru Gobind Singh Indraprastha University Common Entrance Test

सिरेमिक इंजीनियरिंग के लिए बुक्स

सिरेमिक इंजीनियरिंग के लिए बुक्स की लिस्ट आपको दी जा रही है, यह किताबें आपको इस विषय को समझनें में आपकी मदद करेंगी।

किताब Buy Here
Introduction to Ceramics by William David Kingery Buy Here
Phase Diagrams and transformations by Floyd A. Hummel Buy Here
Fundamentals of Ceramics by M W Barsoum Buy Here
Fundamentals of Materials Science by William Callister  Buy Here
Modern ceramic engineering by David W Richerson Buy Here

यह भी पढ़ें: सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग इन हिंदी

जॉब प्रोफाइल

सिरेमिक इंजीनियरिंग में अपनी डिग्री पूरी करने के बाद, विभिन्न सिरेमिक मैन्युफैक्चरिंग कम्पनीज या रिसर्च सेंटर्स आदि में नौकरी के अवसर मिल सकते हैं।

  • सिरेमिक इंजीनियर
  • सिरेमिक टेक्नोलॉजिस्ट
  • सिरेमिक डिज़ाइनर
  • टेक्निशियन
  • कंस्ट्रक्शन मैनेजर
  • प्रोडक्शन वर्कर
  • प्रोफेसर
  • पॉलीमर केमिस्ट

टॉप रिक्रूटर्स

सिरेमिक इंजीनियरिंग के बाद नौकरी के लिए टॉप रिक्रूटर्स की लिस्ट नीचे दी गई है

  • Bhabha Atomic Research Centre
  • Institute for Plasma Research
  • Indian Space Research Organization
  • Defense Metallurgical Research Laboratory
  • BOEING
  • Siemens Limited
  • Institute of Seismological Research
  • Institute of Advanced Research, Gandhinagar
  • Manufacturing Units of Companies
  • Technical Universities

सिरेमिक इंजीनियरिंग PPT

Source : SlideShare

FAQs

प्रश्न 1: सिरेमिक इंजीनियर क्या करते हैं?

उत्तर: वे सिरेमिक मैटेरियल्स के प्रोसेसिंग के लिए नए सिरेमिक प्रोडक्ट के साथ-साथ विधियों और उपकरणों का विकास करते हैं। वे कांच के बने पदार्थ और इलेक्ट्रॉनिक कम्पोनेनेट्स से लेकर न्यूक्लियर रिएक्टेंट्स तक विभिन्न प्रकार के उत्पादों के साथ अनुसंधान केंद्रों में भी काम करते हैं।

प्रश्न 2: सिरेमिक इंजीनियर का औसत वेतन क्या है?

उत्तर: सिरेमिक इंजीनियर का औसत वेतन लगभग 4 लाख से 7 लाख के बीच होता है।

प्रश्न 3: सिरेमिक इंजीनियरिंग के लिए दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज़ कौनसी है?

उत्तर: सिरेमिक इंजीनियरिंग के लिए दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज़:
1. सरे विश्वविद्यालय, इंग्लैंड
2. पैनोनिया विश्वविद्यालय, हंगरी 
3. आल्टो विश्वविद्यालय, फिनलैंड
4. केयू ल्यूवेन, बेल्जियम

उम्मीद है, ceramic engineering in Hindi के बारे में आपको सभी जानकारी मिल गई होगी। यदि आप विदेश में सिरेमिक इंजीनियरिंग की पढ़ाई करना चाहते हैं तो आज ही Leverage Edu एक्सपर्ट्स को 1800 572 000 पर कॉल करके 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert