जानिए बॉटनी क्या है: What is Botany

Rating:
4.6
(14)
Botany in hindi

आप सब जानते ही हैं कि हमारा जीवन विज्ञान के बिना अधूरा सा हो गया है आजकल हर चीज में साइंस का प्रयोग हो रहा है। विज्ञान एक ऐसा विषय है जिसमें कई सारे सब्जेक्ट शामिल है। विज्ञान एक बहुत बड़ा सब्जेक्ट है जो हमारी डेली लाइफ में भी काम में आता है पर क्या आप जानते हैं विज्ञान के कितने भाग होते हैं वनस्पति विज्ञान किसे कहते हैं?बॉटनी क्या होती है? आज का हमारा आर्टिकल इसी टॉपिक Botany in Hindi? बॉटनी क्या होती है हिंदी में जाने पर आधारित है। 

Informal Letter in Hindi [अनौपचारिक पत्र ]

बॉटनी क्या है? इसके जनक कौन हैं?

 जीव विज्ञान एक ऐसा विषय है जिसमें जीवित व मृत वस्तुओं का अध्ययन करते हैं,जीव विज्ञान (बायोलॉजी) को मुख्यतः दो भागों में बांटा गया है- 1.बॉटनी और 2.जूलॉजी

जीव धारियों को दो प्रमुख वर्गों पादपों और प्राणियों में बांटा गया है दोनों में कई समानताएं होती है दोनों के जीवन में भी समानता होती है और इनकी श्वसन क्रिया भी लगभग एक जैसी होती है|

हमारे आज के इस ब्लॉग में हम बॉटनी क्या है के बारे में चर्चा करेंगे अगर आपको  नही पता कि बॉटनी क्या है इसके बारे में पूरी जानकारी चाहिए तो हमारे ब्लॉक को आखिरी तक पढ़े|

Botany शब्द की उत्पत्ति ग्रीक भाषा से हुई है| इसमें जीवित व मृत्यु सभी प्रकार के पेड़ पौधों का अध्ययन किया जाता है|

Botany in Hindi में वनस्पति विज्ञान कहा जाता है।botany शब्द की उत्पत्ति ग्रीक भाषा से हुई हैं|जिसका अर्थ होता है घास| यह शब्द Boston से लिया गया है जिसका अर्थ होता हैं ‘चरना या खिलाना’|संसार में मिलने वाले सभी प्रकार के पेड़ – पौधों का अध्ययन वनस्पति विज्ञान(बॉटनी) के अंतर्गत किया जाता है ।

वनस्पति विज्ञान में पौधों के विभिन्न भागों जैसे संरचना, वृद्धि एवं विकास, प्रजनन, बीमारियों, रासायनिक गुणों, आंतरिक व बाह्य संरचना, श्वसन क्रिया ,प्रकाश संश्लेषण द्वारा भोजन का निर्माण,प्रजनन,जीवन चक्र और उनके विकास आदि क्रियाओं का अध्ययन करना  वनस्पति विज्ञान (botany) कहलाता है| botany के जनक थिओफ्रेस्टस है। इनके द्वारा ही सबसे पहले पादपों का अध्ययन किया गया था इसलिए थिओफ्रेस्टस को वनस्पति विज्ञान(Botany)के जनक के रूप में भी जाना जाता है ।

डिजिटल इंडिया पर निबंध (Essay on Digital India)

Botany की विभिन्न शाखाओ के नाम ?Botany in Hindi

Botany मे कई सारी शाखाएं होती हैं जिनमे से कुछ प्रमुख शाखाओं के नाम उनके विवरण के साथ हमारे इस ब्लॉग में बताया जा रहा है| Botany में मुख्य रूप से दो शाखाएं होती हैं- जिसके अंतर्गत विभिन्न विषय आते हैं-

  1. व्यावहारिक या अनुप्रयुक्त वनस्पति विज्ञान –
  • पादप रोग विज्ञान (plant pathology)- पादप के रोगों, रोगों के लक्षण,उनके कारण व निदान का अध्ययन किया जाता है|
  • वन विद्या या वनवर्धन (forestry or silviculture)- जंगल के पेडों व उनके उत्पादों का अध्ययन|
  • जैव रसायन विज्ञान (biochemistry )-जीवो में उपस्थित रासायनिक क्रिया व घटकों का अध्ययन करना|
  • उद्यान(बागवानी)विज्ञान (horticulture)- फल, सब्जियों व बगीचों मे पौधों को उगाने का अध्ययन किया जाता है|
  • पादप प्रजनन विज्ञान (plant Breeding)- उपयोगी पादपो की नस्ल सुधारने का अध्ययन|
  • सिल्वीकल्चर -इसमें वनों के विकास का अध्ययन होता है|
  • डेंड्रोलॉजी- इसमें झाड़ियों का अध्ययन किया जाता है|
  • फ्लोरीकल्चर-इसमें फूलों के विकास का अध्ययन किया जाता है|
  • एग्रीकल्चर बॉटनी- इसमें कृषि की फसलों को उगाने का अध्ययन किया जाता है|
  • फार्माकोग्नोसी(pharmacognosy) – औषधीय पौधों की पहचान, उनका पृथक्करण, उपयोगिता संबंधी अध्ययन करना|
  • मृदा विज्ञान(Pedology) – वन मृदा का अध्ययन विज्ञान के अंतर्गत किया जाता है|
  • पादप आनुवंशिकी (plant genetics)-  पादपो की  आनुवांशिकता का वंशानुगत अध्ययन करना|
  1. शुद्ध या मौलिक वनस्पति विज्ञान-
  • पादप भूगोल (plant geography)-  पादपों की भौगोलिक स्थिति जैसे पौधों का वितरण,उगाने के लिए जो कारक उत्तरदायी होते हैं उनका अध्ययन करना|
  • शरीर – क्रियाविज्ञान (physiology) – पौधों तथा उनके विभिन्न भागों की शारीरिक बनावट का अध्ययन करना| जैसे स्वशन,वृद्धि,पोषण,जनन आदि|
  •  पारिस्थितिकी (Ecology)- पौधों तथा उनकेवातावरण के साथ जीवो का अध्ययन करना|
  • भ्रौणिकी (embryology)-पादपो के निर्माण,भ्रूण निषेचन, परिवर्धन आदि का अध्ययन करना|
  • वर्गिकी या वर्गीकरण वनस्पति विज्ञान (taxonomy or systematic botany) – इसमें पौधों को समान लक्षणों व विभिन्नताओं के आधार पर  वर्गीकृत कर क्रमानुसार अध्ययन किया जाता है| पौधों का नामकरण इसी में किया जाता है|
  • आकारिकी (morphology)- पौधों तथा उनके विभिन्न भागों की   आंतरिक तथा बाहरी संरचना  का अध्ययन करना|
  • पादप जीवाश्म(Palaeobotany)- प्राचीन काल के पौधे जो अब विलुप्त हो गए हैं उनके अवशेषों का अध्ययन किया जाता है|

इनके अलावा भी बॉटनी में कई सारे विषय होते हैं जैसे-जीवाणु विज्ञान,कवक विज्ञान, शैवाल विज्ञान,सरोवर विज्ञान, शैवाल विज्ञान, मृदा विज्ञान, विषाणु विज्ञान, विकिरण जीव विज्ञान,उत्तक संवर्धन आदि कई और विषय botany में होते हैं|

Sarvanam in Hindi (सर्वनाम)

Botany in Hindi Botany करने के फायदे?

  • अगर आप जॉब करने में इंटरेस्टेड नहीं है तो आप अपनी खुद की नर्सरी भी खोल सकते हैं|
  • अगर आपकी रुचि खेती में है तो आप बॉटनी में बीएससी कर सकते हैं जिसमें आप अलग-अलग तरह के पेड़-पौधों पर रिसर्च कर सकते हैं और उनकी पैदावार को बढ़ाने के नए-नए तरीके खोज सकते हैं|
  •  बॉटनी में बीएससी करने के बाद आप MSc कर सकते हैं जिसके बाद आप वनस्पति विज्ञान में scientist भी बन सकते हैं|
  • Botany  में स्नातक करने के बाद आप कृषि वैज्ञानिक, माइकोलॉजिस्ट,बायो फिजिसिस्ट,विज्ञान शास्त्री आदि ऑप्शन सुनकर अपना करियर बना सकते हैं|
  • इनके अलावा आप रिसर्च और टीचिंग में भी अपना करियर बना सकते हैं|
  • पर्यावरण में होने वाले परिवर्तनों को समझने में भी आसानी रहती है|

वनस्पति विज्ञान का महत्व एवं उद्देश्य लिखिए?

वनस्पति विज्ञान(Botany) के अध्ययन का मुख्य उद्देश्य पौधों के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करना हैं क्योंकि पौधे हमारे लिए अत्यधिक महत्वपूर्ण,लाभदायक व हितकारी होते है ।असल में पौधों के बिना तो जीवन की कल्पना कर पाना भी संभव ही नही है।जैसा कि आप लोग जानते हैं,पौधे सूर्य के प्रकाश से प्रकाश संश्लेषण की क्रिया द्वारा अपना भोजन बनाते हैं और  मनुष्यों के लिए जीवनदायिनी ऑक्सीजन का निर्माण करते है। 

कहानी लेखन

 बॉटनी और जूलॉजी में क्या अंतर है?

Botany और Zoology दोनों ही बायोलॉजी की प्रमुख शाखाएं है जिसमें बॉटनी में पेड़ पौधों आदि का अध्ययन किया जाता है और जूलॉजी में जीव जंतुओं मनुष्य आदि का अध्ययन किया जाता है, यह दोनों शाखाएं एक दूसरे से पूरी तरह भिन्न है|हमारे आज के इस ब्लॉग में हम देखेंगे कि बॉटनी और जूलॉजी में क्या अंतर होता है-

  1. जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है Botany में पादप जीवन का अध्ययन होता है Botany को प्लांट्स साइंस के रूप में भी जाना जाता है वहीं Zoology/Animal बायोलॉजी में जानवरों के जीवन का अध्ययन किया जाता है|
  2. Botany में पेड़ पौधों के ऊपर रिसर्च की जाती है जबकि जूलॉजी में पशुओं के ऊपर रिसर्च की जाती है|
  3. Botany में पौधों के विकास,संरचना,प्रजनन,रोग, रासायनिक उत्पादों, प्रजनन आदि के ऊपर अध्ययन किया जाता है वहीं जूलॉजी में पशु संरचना,नैतिकता, शारीरिक गठन आदि का अध्ययन किया जाता है|
  4. Botany की पढ़ाई करके प्लांट साइंटिस्ट बनते हैं जबकि जूलॉजी की पढ़ाई करके एनिमल साइंटिस्ट बनते  हैं|

खेल का महत्व

हमारे आज के इस ब्लॉग Botany in Hindi,botany क्या है? के बारे में बताया है|उम्मीद है हमारे इस ब्लॉग Botany in Hindi को पढ़कर आपको botany क्या है इसकी जानकारी मिल गई होगी अगर फिर भी आपके  मन में कोई सवाल हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं| इसी तरह के और जानकारी के लिए हमारी साइट Leverage Edu पर बने रहे|

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

4 comments

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE