एमकॉम इकोनॉमिक्स क्या है और कैसे करें?

1 minute read
35 views
Leverage-Edu-Default-Blog

एमकॉम इकोनॉमिक्स, सोशल साइंस है जो गुड्स और सर्विसेज के प्रोडक्शन, डिस्ट्रीब्यूशन और कंसम्पशन का अध्ययन करता है। एमकॉम इकोनॉमिक्स में माल के प्रोडक्शन और कंसंप्शन के बारे में ज्ञान उपलब्ध कराया जाता है। इकोनॉमिक्स में करियर के कई अवसर उपलब्ध हैं। इसमें भोजन और कृषि से लेकर बिजनेस, इकोनॉमिक्स और बैंकिंग तक कई जॉब प्रोफ़ाइल हैं। इस ब्लॉग में एमकॉम इकोनॉमिक्स के बारे में बताया गया है इस कोर्स के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए अंत तक पढ़ें। 

कोर्स का नाम मास्टर ऑफ कॉमर्स इन इकोनॉमिक्स 
कोर्स का लेवल पोस्ट ग्रेजुएट 
अवधि 2 वर्ष
योग्यता मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 
एग्जामिनेशन टाइप  सेमेस्टर सिस्टम
एडमिशन प्रक्रिया  एंट्रेंस एग्जाम 
कोर्स की एवरेज सालाना फीस  INR 2-10 लाख
एंट्रेंस एग्जाम  JEE mains, JEE Advance, VITEEE, BIT SAT
विदेशी एंट्रेंस एग्जाम  SATACT
टॉप विदेशी यूनिवर्सिटीज  लंदन बिजनेस स्कूल-कोलंबिया बिजनेस स्कूल, कोलंबिया यूनिवर्सिटीआइई  बिजनेस स्कूल
टॉप भारतीय यूनिवर्सिटीज  कलकत्ता यूनिवर्सिटी, कलिंगा यूनिवर्सिटी रायपुर, सेंट जेवियर्स कॉलेज जयपुर
जॉब प्रोफाइल्स असिस्टेंट मैनेजर, इन्वेस्टमेंट बैंकर, ऑडिटर, रिसर्च साइंटिस्ट
टॉप रिक्रूटर्स Reserve bank of india, SEBI, State Bank of india, HDFC Bank 

एमकॉम इकोनॉमिक्स क्या होता है?

इकोनॉमिक्स में मास्टर ऑफ कॉमर्स की डिग्री एक पोस्ट ग्रेजुएट इकोनॉमिक्स कोर्स है जिसकी अवधि 2 वर्ष है। इकोनॉमिक्स एक ऐसा शब्द है जो आर्थिक थ्योरी और एनालिसिस की एप्लीकेशन को संदर्भित करता है। एमकॉम इकोनॉमिक्स कंज्यूमर साइंस है जो गुड्स और सर्विसेज के प्रोडक्शन, डिस्ट्रीब्यूशन और कंसंप्शन का अध्ययन करता है। एमकॉम इकोनॉमिक्स का कोर्स मूल रूप से एक ऐसा कोर्स है जो इकोनॉमिक्स प्रिंसिपल्स के एनालिसिस, इंटरप्रिटेशन और समझ में एडवांस लेवल पर एक छात्र की क्षमता को विकसित करता है। यह कोर्स समाज में इकोनॉमिक्स के इनफ्लुएंस का आकलन करने के लिए छात्रों को अपने स्वयं के इकोनॉमिक एप्लीकेशंस का उपयोग करने के लिए तैयार करता है। एमकॉम इकोनॉमिक्स की पढ़ते समय छात्रों को आम तौर किसी विशिष्ट शाखा में स्पेशलाइजेशन हासिल करनी होती है। इनमें से कुछ स्पेशलाइजेशन रिसर्च डिजाइन, फाइनेंशियल इकोनॉमिक्स और रिसर्च मेथोडोलोजीज आदि। 

एमकॉम इकोनॉमिक्स क्यों चुनें?

एमकॉम इकोनॉमिक्स कोर्स को क्यों चुनें इसके लिए कुछ मुख्य कारण नीचे दिए गए हैं-

  • एमकॉम इकोनॉमिक्स उन विद्यार्थियों के लिए सर्वश्रेष्ठ विकल्प है जो एक पोस्ट ग्रैजुएट डिग्री प्राप्त करना चाहते हैं और इकोनॉमिक्स के क्षेत्र में अपना ज्ञान बढ़ाने में रुचि रखते हैं। 
  • एमकॉम इकोनॉमिक्स के बाद ग्रेजुएट्स इंडिया की कुछ शीर्ष संस्थाओं जैसे की फाइनेंस मिनिस्ट्री, SEBI, RBI, IES और SBI जैसी जगहों पर कार्य कर सकते हैं। 
  • इस कोर्स के सफलतापूर्वक पूर्ण करने के बाद उम्मीदवारों के पास फाइनेंशियल और बैंकिंग फील्ड्स में संभावित जॉब के नए अवसर प्राप्त हो सकते हैं।
  • कुछ सफल पोस्ट ग्रेजुएट्स आसानी से  फाइनेंशियल कंसलटेंट, इन्वेस्टमेंट बैंकर, फाइनेंशियल एनालिस्ट, फाइनेंशियल मैनेजर, चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर (CFO), स्टॉक ब्रोकर, फाइनेंशियल कंट्रोलर्स जैसे पद पब्लिक अकाउंटिंग फॉर्म्स बैंकिंग सेक्टर आदि जैसे क्षेत्रों में प्राप्त कर सकते हैं। 
  • उम्मीदवार लेक्चरशिप के लिए तथा प्रोफेसर जैसे पदों के लिए UGC-NET या JRF एग्जाम्स के द्वारा अप्लाई कर सकते हैं। 
  • इस कोर्स को पूरा करने के बाद ग्रेजुएट्स आसानी से INR 4-20 लाख तक का एवरेज सालाना सैलरी पैकेज प्राप्त कर सकते हैं। 
  • इसके साथ साथ ग्रेजुएट्स इस क्षेत्र में आगे की रिसर्च के लिए भी अपना ध्यान लगा सकते हैं। 

स्किल्स

एमकॉम इकोनॉमिक्स कोर्स को करने के लिए विद्यार्थियों के पास जो स्किल्स होनी चाहिए वे निम्न प्रकार से हैं:

  • स्ट्रेटेजिक थिंकर
  • डिसीजन मेकिंग
  • कंप्यूटर नॉलेज
  • लीडरशिप क्वालिटीज
  • स्ट्रॉन्ग वर्बल और कम्युनिकेशन स्किल्स
  • प्रेशर में काम करने की एबिलिटी
  • फैक्ट और फिगर्स पर ध्यान देने की एबिलिटी
  • बैंकिंग और इकोनॉमिक्स सेक्टर की नॉलेज
  • स्ट्रॉन्ग मैथमेटिकल स्किल्स
  • एनालिटिकल स्किल्स
  • लॉजिकल रीजनिंग 

एमकॉम इकोनॉमिक्स कैसे करें? स्टेप बाय स्टेप गाइड

एमकॉम इकोनॉमिक्स कोर्स को करने के लिए स्टेप बाय स्टेप गाइड नीचे दी गई है जिसकी सहायता से आप अपनी प्लानिंग कर सकते हैं:

  • स्टेप 1: स्कूलिंग कंप्लीट करें: आप अपने स्कूल की पढ़ाई पूरी करें और खासकर इस चीज़ का ध्यान रखें कि आपके मुख्य विषय कॉमर्स और अकाउंटिंग होने चाहिए।
  • स्टेप 2: एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करें: आप अपनी स्कूली शिक्षा पूर्ण होने के बाद इकोनॉमिक्स में बीकॉम करने के लिए एंट्रेस एग्जाम की तैयारी कर सकते हैं इंडिया में मुख्य तौर पर CUET, DUET तथा विदेशों के एंट्रेंस एग्जाम भी हैं जैसे SATACT आदि। इन एग्जाम्स की सहायता से आप बीकॉम जैसे कोर्सेज के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • स्टेप 3: ग्रेजुएट डिग्री प्राप्त करें: आप इकोनॉमिक्स में बीकॉम डिग्री प्राप्त कर सकते हैं। ये कोर्स सामान्यत: 3 से 4 वर्ष का होता है।
  • स्टेप 4: जॉब प्राप्त करें: बीकॉम के बाद आप अपनी डिग्री और स्किल्स के आधार पर जॉब के लिए आवेदन कर सकते हैं। एक जॉब प्राप्त  करने के लिए कोशिश करें और जॉब प्राप्त करें जो आपको इस क्षेत्र में काम सीखने में अत्यधिक मदद करेगी क्योंकि जितना आप एक्सपीरियंस से सीखते हैं आप उतने ही उस क्षेत्र में एक्सपर्ट होते जाते हैं। स्टेप 5: पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री प्राप्त करें: बीकॉम के बाद आप अपनी जॉब में बेहतर अवसरों के लिए इकोनॉमिक्स में एमकॉम डिग्री भी प्राप्त कर सकते हैं। इस कोर्स की अवधि सामान्यत: 2 वर्षों की होती है। 

सिलेबस

एमकॉम इकोनॉमिक्स का सिलेबस निम्न प्रकार से है:

  • एडवांस इकोनामिक एनालिसिस 1
  • इंटरनेशनल ट्रेड
  • स्टैटिसटिकल एनालिसिस
  • अकाउंटिंग फॉर फाइनेंशियल डिसीजंस 1
  • बिजनेस एनवायरमेंट
  • इंडस्ट्रियल इकोनॉमिक्स
  • इंटरनेशनल बैंकिंग
  • एडवांस इकोनामिक एनालिसिस 2
  • अकाउंटिंग फॉर फाइनेंशियल डिसीजन 2
  • क्वांटिटेटिव टेक्निक्स फॉर इकोनामिक एनालिसिस 
  • रूरल इकोनॉमिक्स 
  • फॉरेन एक्सचेंज मैनेजमेंट 
  • बिजनेस इकोनॉमिक्स
  • इकोनामिक डेवलपमेंट एंड प्लैनिंग
  • इंडिया एंड वर्ल्ड इकोनामी इन पर्सपेक्टिव
  • फॉरेन ट्रेड पॉलिसी प्रोसीजर्स एंड डॉक्यूमेंटेशन
  • पब्लिक यूटिलिटी इकोनॉमिक्स
  • डेमोग्राफी एंड पॉपुलेशन स्टडी
  • लेबर इकोनॉमिक्स
  • मोनेटरी थ्योरी एंड प्रैक्टिस
  • एनवायरमेंट एंड रिसोर्ट इकोनॉमिक्स
  • ट्रांसपोर्ट इकोनॉमिक्स एंड लॉजिस्टिक्स
  • स्मॉल बिजनेस एंड एंटरप्रेन्योर रियल स्किल्स
  • इकोनॉमिक्स ऑफ पब्लिक इंटरप्राइजेज
  • रिसर्च मेथाडोलॉजी

टॉप विदेशी यूनिवर्सिटीज

एमकॉम इकोनॉमिक्स कोर्स को करने के लिए टॉप विदेशी यूनिवर्सिटीज के नाम नीचे दिए गए हैं जिनमें से किसी यूनिवर्सिटी को आप अपने लिए चुन सकते हैं-

आप UniConnect के जरिए विश्व के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन विश्वविद्यालय मेले का हिस्सा बनने का मौका पा सकते हैं, जहाँ आप अपनी पसंद के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि से सीधा संपर्क कर सकेंगे।

टॉप भारतीय यूनिवर्सिटीज

एमकॉम इकोनॉमिक्स के लिए टॉप भारतीय यूनिवर्सिटीज निम्न प्रकार से हैं:

  • कलकत्ता यूनिवर्सिटी
  • कलिंगा यूनिवर्सिटी रायपुर
  • सेंट जेवियर्स कॉलेज जयपुर
  • मेवाड़ यूनिवर्सिटी चित्तौड़गढ़ 
  • केबीपी हिंदूजा कॉलेज ऑफ कॉमर्स मुंबई
  • पंजाब यूनिवर्सिटी पंजाब
  • माता गुजरी कॉलेज पंजाब
  • शेषाद्रीपुरम कॉलेज बेंगलुरु
  • एनएसएस कॉलेज केरला
  • मर्सी कॉलेज पलक्कड़ 
  • सेंट जोसेफ कॉलेज केरला
  • जीवाजी यूनिवर्सिटी ग्वालियर

योग्यता

विदेश के शीर्ष विश्वविद्यालयों से इकोनॉमिक्स में एमकॉम का कोर्स करने के लिए, आपको कुछ पात्रता शर्तों को पूरा करना होगा। हालांकि योग्यता मानदंड एक विश्वविद्यालय से दूसरे विश्वविद्यालय में भिन्न हो सकते हैं, यहां कुछ सामान्य शर्तें दी हैं-

  • आवेदक के बारहवीं में अंक कम से कम 50% से अधिक होने अनिवार्य हैं।
  • आवेदक के बारहवीं कक्षा में विषय कॉमर्स और अकाउंटिंग होने चाहिए।
  • मास्टर्स डिग्री कोर्स के लिए जरूरी है कि उम्मीदवार ने किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या कॉलेज से कॉमर्स में  बैचलर्स डिग्री प्राप्त की हो।
  • मास्टर्स कोर्स में एडमिशन के लिए कुछ विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं इसके बाद ही आप इन कोर्सेजके लिए एलिजिबल हो सकते हैं। विदेश की कुछ यूनिवर्सिटीज़ में मास्टर्स के लिए GRE और GMAT स्कोर की आवश्यकता होती है।
  • किसी भी यूनिवर्सिटी में बैचलर डिग्री कोर्स के लिए SAT/ACT की मांग भी की जा सकती है।
  • साथ ही विदेश के लिए आपको ऊपर दी गई आवश्यकताओं के साथ IELTS या TOEFL स्कोर की भी आवश्यकता होती है।

क्या आप IELTS/TOEFL/SAT/GRE में अच्छे अंक प्राप्त करना चाहते हैं? आज ही इन टेस्ट की बेहतरीन तैयारी के लिए Leverage Live पर रजिस्टर करें और अच्छे अंक प्राप्त करें।

विदेशी यूनिवर्सिटी के लिए आवेदन प्रक्रिया

कैंडिडेट को आवदेन करने के लिए नीचे दी गई प्रक्रिया को पूरा करना होगा-

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप हमारे AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप हमारी Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीज़ा और छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

आवदेन प्रक्रिया से सम्बन्धित जानकारी और मदद के लिए Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800 572 000 पर संपर्क करें।

भारतीय यूनिवर्सिटी के लिए आवेदन प्रक्रिया 

भारतीय यूनिवर्सिटीज़ द्वारा आवेदन प्रक्रिया नीचे मौजूद है-

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  • यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज़

आपको निम्न आवश्यक दस्तावेज़ों की आवश्यकता होगी-

छात्र वीज़ा पाने के लिए भी हमारे Leverage Edu विशेषज्ञ आपकी हर सम्भव मदद करेंगे।

प्रवेश परीक्षा 

अलग-अलग कॉलेजों में एडमिशन प्राप्त करने के लिए प्रवेश परीक्षाएं अलग प्रकार की होती है लेकिन कुछ ऐसी सामान्य परीक्षाएं है जो अधिकतर सभी कॉलेज या यूनिवर्सिटीज़ के द्वारा मान्य होती हैं उनमें से कुछ इस प्रकार हैं:

विदेशी प्रवेश परीक्षाएं

भारतीय प्रवेश परीक्षाएं 

  • MCAER CET
  • OUAT ET
  • ICAR AIEEA (PG)
  • CUCET
  • BHU CET
  • IPU CET 
  • BU MAT
  • RUET
  • NMU UG CET
  • GSAT
  • AIMA UGAT

लैंग्वेज रिक्वायरमेंट

आवश्यक पुस्तकें 

एमकॉम इकोनॉमिक्स कोर्स के लिए नीचे कुछ आवश्यक पुस्तकें दी गई हैं-

आवश्यक पुस्तकें  लेखक का नाम यहां से खरीदें
कैपिटलिज्म एंड फ्रीडम मिल्टन फ्रीडमैन यहां से खरीदें
थिंकिंग फास्ट एंड स्लो  डेनियल कहनेमान, अमोस ट्वेर्सकी  यहां से खरीदें
फ्रीकोनॉमिक्स  स्टीवन डी लेविट्ट, स्टीफन जे डब्नर यहां से खरीदें
बेसिक इकोनॉमिक्स: ए कॉमन सेंस गाइड टू द इकोनॉमी थॉमस सॉवल  यहां से खरीदें
इकोनॉमिक्स इन वन लेसन हेनरी हैजलिट यहां से खरीदें

करियर विकल्प

एमकॉम इकोनॉमिक्स में डिग्री हांसिल करने के बाद कई टॉप इंडस्ट्रीज में काम कर सकते हैं। कुछ टॉप इंडस्ट्रीज और टॉप रिक्रूटर्स की लिस्ट नीचे दी गई है-

टॉप इंडस्ट्रीज

  • बीपीओ सेक्टर
  • बैंक्स
  • पब्लिक अकाउंटिंग फर्म्स
  • कॉलेज यूनिवर्सिटीज
  • फाइनेंशियल डिपार्टमेंट
  • मार्केटिंग कंपनीज 
  • बजट प्लानिंग सेक्टर्स
  • इंश्योरेंस कंपनीज
  • आईटी सेक्टर
  • FMCG कंपनीज 

टॉप रिक्रूटर्स

  • Reserve bank of india 
  • SEBI
  • State Bank of india
  • HDFC Bank 
  • Hindustan Unilever limited 
  • LIC
  • ITC 
  • Adani Wilmer 

जॉब प्रोफाइल और सैलरी पैकेज

कोर्स करने के बाद में जॉब प्रोफाइल तथा अनुमानित सालाना वेतन निम्न प्रकार से हो सकता है-

जॉब प्रोफाइल  एवरेज सालाना सैलरी पैकेज (INR)
असिस्टेंट मैनेजर  8-12 लाख
इन्वेस्टमेंट बैंकर  10-15 लाख
ऑडिटर 4-6 लाख
रिसर्च साइंटिस्ट 6-8 लाख 
इकोनॉमिक्स ऑफिसर 6-8 लाख
फाइनेंशियल एनालिस्ट 3.5-5.5 लाख
मार्केटिंग रिसर्च एनालिस्ट  5-7 लाख

FAQs

एमकॉम इकोनॉमिक्स कोर्स की अवधि कितनी है?

एमकॉम इकोनॉमिक्स कोर्स की अवधि 2 वर्ष है जिसमें विद्यार्थियों को 4 सेमेस्टर में पूर्ण जानकारी प्रदान की जाती है।

एमकॉम इकोनॉमिक्स कोर्स की इंडिया में फीस कितनी है?

इंडिया में एमकॉम इकोनॉमिक्स कोर्स की एवरेज फीस INR 10 हजार-1 लाख तक है।

एमकॉम इकोनॉमिक्स कोर्स को करने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए?

जो विद्यार्थी इस कोर्स में रुचि रखते हैं तथा इसमें एडमिशन लेने के इच्छुक हैं उनके पास में कॉमर्स में अकाउंट्स के साथ बैचलर्स डिग्री होनी चाहिए।

एमकॉम इकोनॉमिक्स कोर्स को करने के बाद एवरेज सैलरी पैकेज कितना है?

एमकॉम इकोनॉमिक्स कोर्स को को करने के बाद आपको आसानी से INR 3 लाख से 20 लाख तक का सैलरी पैकेज प्राप्त हो जाता है।

एमकॉम इकोनॉमिक्स कोर्स के बाद इंडिया में टॉप रिक्रूटर बैंक कौन से हैं?

एमकॉम इकोनॉमिक्स कोर्स के बाद इंडिया में टॉप रिक्रूटर बैंक हैं ICICI BANK, RBI, Citi Bank, Kotak Mahindra Bank आदि।

 उम्मीद है आपको एमकॉम इकोनॉमिक्स के संदर्भ में हमारा यह ब्लॉग पसंद आया होगा। यदि आप भी किसी विदेशी यूनिवर्सिटी से एमकॉम इकोनॉमिक्स  की पढ़ाई करना चाहते हैं तो आज ही 1800 572 000 पर कॉल करके हमारे Leverage Edu  के एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें। वे एक उचित मार्गदर्शन के साथ आवेदन प्रक्रिया में भी आपकी मदद करेंगे।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. Masters Programs
Talk to an expert