कैसे बनें फाइनेंशियल एनालिस्ट?

1 minute read
545 views
Financial Analyst kaise bane

बिज़नेस हमेशा किसी न किसी रूप में संकट से घिरा रहता है। एक फाइनेंशियल एनालिस्ट का काम हैं बिज़नेस से जुड़े उतार-चढ़ावों को कम करना या टालना। फाइनेंशियल एनालिस्ट एक अच्छा करियर विकल्प है जहां आप ज्यादा कमाने की प्रतिभा रखते हैं। फाइनेंस इंडस्ट्री में सबसे अधिक मांग वाली नौकरियों में से एक फाइनेंशियल एनालिस्ट की है। आपको इस क्षेत्र में ढेरों अवसर मिलते हैं जहां कंपनियां आपके कौशल से अपने बिज़नेस को सुधारने के लिए अवसर प्रदान करती हैं। आइए जानते कि एक अच्छा और कामयाब Financial Analyst kaise bane।

फाइनेंशियल एनालिस्ट कौन होते हैं?

फाइनेंशियल एनालिस्ट एक बिज़नेस इंडस्ट्री में फाइनेंस क्षेत्र के रिसर्च विशेषज्ञ होते हैं। फाइनेंशियल एनालिस्ट बिज़नेस से जुड़े फाइनेंस डेटा की जानकारी का संग्रह कर उन्हें ऑर्गनाइज़ करता हैं। सभी जानकारी, रिजल्ट का विश्लेषण करना, प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करना और भविष्य में होने वाली गतिविधियों का पूर्वानुमान लगाकर बिजनेसमैन/इंडस्ट्री एक्सपर्ट्स के साथ साझा करता है।

फाइनेंशियल एनालिस्ट बिज़नेस में वित्तीय संकट को कम करने या उसे टालने में सहयोग करता हैं। यह किसी संगठन के लिए बाजार के ट्रेंड या किसी कंपनी की मार्केट में क्या स्थिति है, इसके बारे में संपूर्ण रिपोर्ट तैयार करता हैं। इन रिपोर्टों के माध्यम से कंपनी की वित्तीय स्थिति में सुधार कर अपने बिज़नेस को कैसे ग्रो करें, सेवाओं को संभावित ग्राहकों तक कैसे पहुँचाए। 

फाइनेंशियल एनालिस्ट की भूमिका

फाइनेंशियल एनालिस्ट का पद किसी भी इंडस्ट्री के लिए एक अहम और अभिन्न हिस्सा हिस्सा होता है। क्योंकि कोई भी क्षेत्र फाइनेंशियल एनालिस्ट के सहयोग बिना आगे नहीं बढ़ सकता। फाइनेंशियल एनालिस्ट एक मार्गदर्शक के रूप में अपना योगदान देता है। चाहे वह बिज़नेस हो, सेवा इंडस्ट्री हो, शिक्षा इंडस्ट्री हो, या फिर कोई भी सरकारी विभाग हो जहां फाइनेंशियल गतिविधि होती है। चलिए आगे जानते है कि financial analyst kaise bane और एक फाइनेंशियल एनालिस्ट बनने के बाद किसी भी इंडस्ट्री में आपकी क्या भूमिका होगी। 

  1. एक फाइनेंशियल एनालिस्ट आगामी प्रोजेक्ट्स के लिए बजट निर्धारित करने में मदद करता है। 
  2. भविष्य में होने वाले खर्च और आय का अनुमान लगाकर सलाह देता है। 
  3. फाइनेंशियल एनालिस्ट मार्केट में कहां निवेश करना चाहिए इसकी जानकारी साझा करता। 
  4. बिज़नेस की फाइनेंशियल स्थिति कैसे सुधारे और नुकसान को कम करें। 
  5. भविष्य निधि के लिए एक लॉन्ग टर्म प्लान कैसे बनाएं। 
  6. फाइनेंशियल एनालिस्ट बिज़नेस से जुड़े निर्णय लेने के लिए वह जानकारी प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
  7. लाभ और नुकसान से जुड़ी योजनाओं का मूल्यांकन करना। 

फाइनेंशियल एनालिस्ट बनने के लिए जरूरी स्किल्स

एक फाइनेंशियल एनालिस्ट की जिम्मेदारी होती है बिज़नेस को सही दिशा की ओर मार्गदर्शन करना, सही निर्णयों से उसे ग्रोथ करने में मदद करना। Financial analyst kaise bane को और अच्छे से जानने के लिए नीचे दी गई स्किल्स का होना आवश्यक है-

  • डाटा एनालिसिस
  • फाइनेंशियल एनालिसिस
  • फाइनेंशियल मॉडलिंग
  • स्ट्रेटेजिक सोच
  • निर्णय लेना
  • मार्केटिंग स्किल्स
  • मैथ्स स्किल्स
  • कम्युनिकेशन और कॉम्प्रिहेंशन 
  • ERP सॉफ्टवेयर का ज्ञान 
  • प्रेजेंटेशन स्किल्स 
  • समय मैनेजमेंट 
  • प्रेशर वाले माहौल में काम करना 
  • मल्टीटास्किंग

फाइनेंशियल एनालिस्ट कैसे बनें? 

एक अच्छा फाइनेंशियल एनालिस्ट बनने के लिए पाँच जरूरी स्टेप्स होते हैं। चलिए जानते है, निम्नलिखित स्टेप्स की सहायता से छात्र जान सकते हैं कि financial analyst kaise bane-

  • बैचलर्स डिग्री: सबसे पहले आपको 10+2 के बाद आपको मैथ्स, फाइनेंस, स्टेटिस्टिक्स, इकोनॉमिक्स या एकाउंटिंग से जुड़े विषयों में बैचलर्स डिग्री BBA या B Com में हासिल करनी होगी। आपके पास इन विषयों के साथ-साथ कम्युनिकेशन और कंप्यूटर स्किल्स होनी अनिवार्य है। आप अपनी डिग्री साइंस से भी कर सकते हैं। 
  • मास्टर्स डिग्री: एक बार बैचलर्स डिग्री पूरी होने के बाद आपको अपनी पोस्टग्रेजुएट डिग्री करनी होगी जो कि MBA in finance होनी चाहिए। हालांकि यह जरूरी नहीं है कि आपको पोस्टग्रेडुएशन करनी ही होगी, आप सीधे किसी भी फाइनेंस से जुड़ी कंपनी में बैचलर्स के बाद काम कर सकते हैं। 
  • नौकरी: आपको एक अच्छा फाइनेंशियल एनालिस्ट बनने के लिए अपनी बैचलर्स या मास्टर्स की डिग्री के बाद 4 वर्ष तक फाइनेंस के क्षेत्र में जूनियर स्तर पर काम करना होगा। आम भाषा में इस स्टेज को वर्क एक्सपीरियंस और फाइनेंशियल टर्म्स से अवगत कराने के कहा जाता है। वर्क एक्सपीरियंस प्राप्त करने से आपको फाइनेंस से जुड़े फैक्टर्स, मार्केट्स की अच्छी तरह से जानकारी प्राप्त करने में मदद मिलती हैं। 
  • इंडस्ट्री लाइसेंस: एक बार किसी कंपनी में जूनियर स्तर का वर्क एक्सपीरियंस हासिल करने के बाद आपको Financial Industry Regulatory Authority (FINRA) द्वारा लाइसेंस प्राप्त करना होगा। आजकल ज्यादातर कंपनियां FINRA लाइसेंस के बिना भी आपको भर्ती करती है क्योंकि आपने वर्क एक्सपीरियंस हासिल कर लिया और आपको थोड़ी और एडवांस ट्रेनिंग की जरूरत होती है। इसके लिए आपको सर्टिफिकेशन प्रोग्राम करना होता है। 
  • सर्टिफिकेशन:  इस स्टेज को हम सर्टिफिकेशन प्रोग्राम बोलते हैं। यह Chartered Financial Analyst credential (CFA) के नाम से जाना जाता है। यह सर्टिफिकेट आपको CFA इंस्टिट्यूट के द्वारा दिया जाता है । इस सर्टिफिकेट को प्राप्त करने के लिए आपके पास 4 साल का जूनियर स्तर पर वर्क एक्सपीरियंस होना आवश्यक हैं साथ ही आपको CFA एग्जाम के 3 लेवल उत्तीर्ण करने होंगे।

फाइनेंशियल एनालिस्ट बनने के लिए कोर्सेज

फाइनेंशियल एनालिस्ट बनने के लिए आपको कुछ कोर्सेज है जिन्हें करना आवश्यक है। जो आपकी पात्रता को पूर्ण करने में सहायक है। यह कोर्स एक इंडिविजुअल में फाइनेंस क्षेत्र से जुड़े हुए आवश्यक तत्वो को डेवलप करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। नीचे दिए गए कोर्सेज आपको Financial analyst kaise bane जानने में मदद करेंगे।

सर्टिफिकेशन कोर्सेज

  • Chartered Financial Analyst (CFA)
  • Certified Public Accountant (CPA)
  • Certified Financial Planner (CFP)
  • Financial Risk Manager (FRM)
  • Financial Modeling & Valuation Analyst (FMVA)

मास्टर्स डिग्री कोर्सेज

  1. BSc Quantitative Finance
  2. MSc Advanced Financial Analysis
  3. PGDM in Financial Analysis
  4. Postgraduate program in Banking and Wealth Management
  5. MSc in Finance

आप AI Course Finder के ज़रिए भी कोर्सेज़ और यूनिवर्सिटीज का चुनाव कर सकते हैं। 

विदेशों की टॉप यूनिवर्सिटीज

Financial analyst kaise bane जानने के साथ-साथ विदेशों की टॉप यूनिवर्सिटीज के बारे में जानना भी आवश्यक है, जो कि इस प्रकार है:

  1. लंदन बिजनेस स्कूल
  2. एचईसी पेरिस
  3. मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी)
  4. लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स यूनाइटेड किंगडम
  5. ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय
  6. यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, बर्केले
  7. कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय
  8. ESSEC बिजनेस स्कूल
  9. कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, लॉस एंजिल्स

आप UniConnect के जरिए विश्व के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन विश्वविद्यालय मेले का हिस्सा बनने का मौका पा सकते हैं, जहाँ आप अपनी पसंद के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि से सीधा संपर्क कर सकेंगे।

भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज

एक सफल फाइनेंशियल एनालिस्ट बनने के लिए आपकी प्रतिभा और कौशल के साथ-साथ अच्छी शिक्षा नीति और एक अच्छी यूनिवर्सिटी का बहुत बड़ा समर्थन होता है। नीचे भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज के नाम इस प्रकार हैं:

भारतीय प्रबंधन संस्थान अहमदाबाद एमिटी विश्वविद्यालय
भारतीय प्रबंधन संस्थान चेन्नई जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय
भारतीय प्रबंधन संस्थान बैंगलोर दिल्ली विश्वविद्यालय
भारतीय प्रबंधन संस्थान कलकत्ता बनारस हिंदू विश्वविद्यालय
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली सरदार वल्लभभाई राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान
प्रबंधन विकास संस्थान राष्ट्रीय औद्योगिक इंजीनियरिंग संस्थान, मुंबई
जेवियर विश्वविद्यालय चंडीगढ़ विश्वविद्यालय
एसवीकेएम के नरसी मोंजी इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज उच्च शिक्षा के लिए आईसीएफएआई फाउंडेशन
अटल बिहारी वाजपेयी भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी और प्रबंधन संस्थान एस. पी. जैन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड रिसर्च

योग्यता

Financial Analyst Kaise Bane जानने के साथ-साथ यह जानना भी ज़रूरी है कि इस प्रोफेशन के लिए योग्यता क्या है, जो नीचे दी गई है-

  1. बैचलर्स करने के लिए कैंडिडेट का 12वीं में कॉमर्स, साइंस विषय से उत्तीर्ण होना अनिवार्य है।
  2. मास्टर्स के लिए कैंडिडेट का किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से एकाउंटिंग, फाइनेंस और इकोनॉमिक्स में बैचलर्स किया होना अनिवार्य है।
  3. पीएचडी के लिए कैंडिडेट का किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से मास्टर्स किया होना ज़रूरी है।
  4. विदेश में पढ़ने के लिए इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट जैसे IELTS, TOEFL के अंक ज़रूरी हैं।
  5. GRE के अंक भी अनिवार्य हैं।

आप Leverage Live की मदद से IELTS/ TOEFLGMAT/ GRESATACT जैसे एग्जाम की तैयारी कर सकते हैं। लाइव डेमो के लिए अभी Leverage Live पर अपना फ्री डेमो बुक करें। 

आवेदन प्रक्रिया

भारतीय यूनिवर्सिटीज द्वारा आवेदन प्रक्रिया नीचे मौजूद है-

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजरनेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  • यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

विदेशी विश्वविद्यालय के लिए आवेदन प्रक्रिया

कैंडिडेट को आवेदन करने के लिए नीचे दी गई प्रक्रिया को पूरा करना होगा:

  • इसके लिए आप यूसीएएस वेबसाइट (UCAS) पर जाकर रजिस्ट्रेशन करें। यहाँ से आपको यूजर आईडी और पासवर्ड प्राप्त होंगे। आवेदन प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800 572 000 पर संपर्क करें।
  • यूजर आईडी से साइन इन करें और कोर्स चुनें जिसे आप चुनना चाहते हैं। 
  • अगली स्टेप में अपनी शैक्षणिक जानकारी भरें।  
  • शैक्षणिक योग्यता के साथ IELTS, TOEFL, प्रवेश परीक्षा स्कोर, SOP, LOR की जानकारी भरें। 
  • अंग्रेजी दक्षता और GRE या समकक्ष जैसे आवश्यक परीक्षा स्कोर प्रदान करें।
  • पिछले सालों की नौकरी की जानकरी भरें। 
  • रजिस्ट्रेशन फीस का भुगतान करें।
  • अंत में आवेदन पत्र जमा करें।
  • कुछ यूनिवर्सिटीज, सिलेक्शन के बाद वर्चुअल इंटरव्यू के लिए आमंत्रित करती हैं।
  • उम्मीदवार विश्वविद्यालय में कई कार्यक्रमों में भाग ले सकते हैं, हालांकि, प्रत्येक कार्यक्रम के लिए आवेदन पत्र और कार्यक्रम शुल्क अलग-अलग होंगे।

आवदेन प्रक्रिया से सम्बन्धित जानकारी और मदद के लिए Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800 572 000 पर संपर्क करें।

आवश्यक दस्तावेज

विदेशी विश्वविद्यालय में एडमिशन लेने के लिए नीचे दिए गए डॉक्यूमेंट होने आवश्यक हैं-

  • सभी आधिकारिक शैक्षणिक ट्रांसक्रिप्टस और ग्रेड कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • पासपोर्ट फोटो कॉपी
  • वीजा 
  • अपडेट किया गया प्रोफेशनल रिज्यूमे
  • अंग्रेजी भाषा कुशलता परीक्षा के अंक
  • LOR और SOP

छात्र वीजा पाने के लिए भी Leverage Edu विशेषज्ञ आपकी हर सम्भव मदद करेंगे।

जॉब प्रोफाइल्स और सैलरी

निम्नलिखित आपको जॉब प्रोफाइल्स और सैलरी के बारे में जानकारी दी गई है-

जॉब प्रोफाइल्स सालाना सैलरी (INR)
रिस्क मैनेजर 10-11 लाख 
इन्वेस्टमेंट मैनेजर 7-8 लाख 
चार्टर्ड फाइनेंशियल एनालिस्ट  9.50-11 लाख 
CEO 15-40 लाख 
प्राइवेट बैंकर  9-12 लाख 

FAQs 

CFA कोर्स करने में कितना खर्च आता है? 

CFA कोर्स करने का खर्च अलग अलग यूनिवर्सिटीज में अलग अलग खर्च होता है। आमतौर पर आपको CFA करने के लिए INR 50,000-1.50 लाख का खर्च उठाना होता है। जिसमें आपके रजिस्ट्रेशन फीस भी शामिल होती है। 

CFA करने में कितना समय लगता है? 

यह कोर्स करने के लिए आपको 1.5-4 साल तक लग सकता है। यह आप पर निर्भर करता है कि आप कितनी जल्दी परिक्षा पास करते हैं। 

CFA में कितने लेवल्स होते हैं? 

CFA क्लियर करने के लिए आपको 3 लेवल्स से गुजरना होगा-
लेवल- 1
लेवल- 2
लेवल- 3

फाइनेंशियल एनालिस्ट में कौन कौनसी कंप्यूटर स्किल्स ज़रूरी हैं। 

फाइनेंशियल एनालिस्ट का काम होता है डेटा के साथ काम करना, आपको CFA के साथ कंप्यूटर स्किल्स भी होनी चाहिए, जैसे-
1. SQL
2. Ms Excel 
3. SAS
4. MS Data Base 
5. Power Point 
6. ERP Softwares

हमें उम्मीद है कि आपको financial analyst kaise bane का यह ब्लॉग पसंद आया होगा। अगर आप विदेश में पढ़ाई करना चाहते हैं! तुरंत हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स से 1800 57 2000 पर कॉल करके 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. Study Abroad
Talk to an expert