साउथ कोरियन एजुकेशन सिस्टम कैसा है?

1 minute read
20 views
Leverage Edu Default Blog Cover

साउथ कोरिया लोकप्रिय रूप से सुबह की शांति की भूमि के रूप में जाना जाता है। प्राचीन सांस्कृतिक इतिहास से लेकर उन्नत तकनीकी केंद्रों तक, देश अंतरराष्ट्रीय छात्रों के लिए यह एक आदर्श स्थान है। मुख्य रूप से रहने और पढ़ाई की सस्ती लागत के कारण इसे पसंद किया जाता है, यह उन लोगों के लिए एक शीर्ष विकल्प बन गया है जो विदेशी शिक्षा के लिए किफायती विकल्प तलाश रहे हैं। किसी भी देश में कोर्स के लिए साइन अप करने से पहले, आपको वहां पालन किए जाने वाले एजुकेशन सिस्टम से अच्छी तरह वाकिफ होना चाहिए। इसलिए साउथ कोरियन एजुकेशन सिस्टम से संबंधित सभी जानकारी इस ब्लॉग में दी गई हैं। 

साउथ कोरियन एजुकेशन सिस्टम का वर्गीकरण

साउथ कोरियन एजुकेशन सिस्टम को इंस्टीट्यूट की 3 श्रेणियों में वर्गीकृत किया जा सकता है: 

जूनियर कॉलेज 

इन कॉलेजों को माध्यमिक शिक्षा के बाद के केंद्रों के रूप में जाना जाता है, जो हाई स्कूल पास-आउट के लिए 2 से 3 साल के कोर्स प्रदान करते हैं। जूनियर कॉलेजों में पढ़ाए जाने वाले लोकप्रिय कोर्स ह्यूमैनिटी और सोशल स्टडी, इंजीनियरिंग, आर्ट और फ़िज़िकल एजुकेशन, नर्सिंग, नेचुरोपैथी, फिजियोथैरेपी, रेडियोलॉजी, डेंटिस्ट्री और मेडिकल टेक्नोलॉजी से संबंधित हैं। इन कोर्सेज का प्राथमिक फोकस वोकेशनल ट्रेनिंग और स्किल डेवलपमेंट पर है। इन ट्रेनिंग कोर्सज को पूरा करने वाले उम्मीदवारों को या तो निजी संगठनों में नौकरी मिल जाती है या शिक्षा क्षेत्र में करियर बनाने के लिए उच्च शिक्षा के लिए आगे बढ़ने का मौका मिलता है।

कॉलेज या विश्वविद्यालय 

साउथ कोरियन एजुकेशन सिस्टम के तहत रेगुलर कॉलेज या विश्वविद्यालय ऐसे संस्थान हैं जो प्रमुख रूप से अंतरराष्ट्रीय छात्रों को अंडरग्रेजुएट जनरल और पेशेवर डिग्री कोर्स प्रदान करते हैं। इन विश्वविद्यालयों द्वारा पेश किए जाने वाले कोर्स आमतौर पर 4 साल की अवधि के लिए होते हैं। साउथ कोरिया की सरकार ने कॉलेजों को एनरोल्ड छात्रों की परफॉर्मेशन का मूल्यांकन करने के लिए क्रेडिट सिस्टम या मार्किंग स्कीम सेट करने की अनुमति दी है। संस्थानों के पास आने वाले छात्रों के लिए उनकी पसंद के अनुसार पात्रता मानदंड और आवेदन प्रक्रिया निर्धारित करने का भी अधिकार है। साउथ कोरियन एजुकेशन सिस्टम का समर्थन करने के लिए, सरकार शिक्षा की गुणवत्ता बनाए रखने के लिए विश्वविद्यालयों और कॉलेजों को पर्याप्त धन उपलब्ध कराती रहती है।

ग्रेजुएट स्कूल

साउथ कोरियन एजुकेशन सिस्टम का एक और दिलचस्प हिस्सा इसके ग्रेजुएट स्कूल हैं जो छात्रों को 2 साल की अवधि के लिए मास्टर-स्तरीय कोर्स प्रदान करते हैं। डिग्री कोर्स को पूरा करने के लिए छात्रों को 4 सेमेस्टर में 24-सेमेस्टर क्रेडिट पूरा करना होता है। डॉक्टरेट की डिग्री ग्रेजुएट स्कूलों द्वारा भी प्रदान की जाती है, जहां छात्रों को कोर्सेज को पूरा करने के लिए 3 साल की अवधि में 60 क्रेडिट कोर्सवर्क पूरा करना होता है। इसके अलावा, छात्रों को रिसर्च मिनिस्ट्री पर भी काम करना होता है और इसे संबंधित अधिकारियों को जमा करना होता है, लेकिन इससे पहले, उन्हें 2 फॉरेन लैंग्वेज टेस्ट और एक कोम्प्रीहेंसिव एग्ज़ाम पास करने की आवश्यकता होती है। 

साउथ कोरिया में शिक्षा का स्तर

साउथ कोरिया में प्राथमिक से लेकर विश्वविद्यालय तक शिक्षा के विभिन्न स्तर हैं जिनके बारे में नीचे विस्तार से गया है:

प्राथमिक स्कूल

साउथ कोरिया में प्राथमिक स्कूल स्तर पर स्कूल जाना नि:शुल्क है क्योंकि सार्वजनिक शिक्षा वहां मुफ़्त है जोकि ठीक 6 साल की उम्र से शुरू होती है। प्राथमिक स्कूल में प्रवेश करने से पहले, लगभग हर बच्चा प्रीस्कूल और किंडरगार्टन के किसी न किसी रूप में भाग लेता है। साउथ कोरिया में छात्रों को कोरियन लैंग्वेज, मैथमेटिक्स, एथिक्स, सोशल स्ट्डीज, इंग्लिश,साइंस, आर्ट्स, म्यूज़िक और फिजिकल एजुकेशन जैसे विभिन्न विषय पढ़ाए जाते हैं।

मिडिल स्कूल

साउथ कोरिया के मिडिल स्कूलों में 12 विषयों का करिक्‍यलम्‌ है, जिनमें से कुछ बेसिक और सभी के लिए अनिवार्य हैं और कई इलेक्टिव्स हैं और जिनमें से कई में एक्स्ट्रा करिकुरल एक्टिविटीज शामिल हैं। मिडिल स्कूल स्तर पर अधिकांश विषय कोरियन लैंग्वेज, मैथमेटिक्स, एथिक्स, सोशल स्ट्डीज, इंग्लिश , साइंस,आर्ट्स, म्युजिक और फिजिकल एजुकेशन जैसे प्राथमिक विद्यालय में बच्चों को पढ़ाए जाने वाले ही सब्जेक्ट हैं। 

उच्च विद्यालय

हाई स्कूल को तीन श्रेणियों में बांटा गया है जैसे:

  • लिंग के अनुसार
  • कोरिया में एकेडमिक ऐंड प्रोफेशनल।
  • हाई स्कूल
  • कोरिया में एलिट हाई स्कूल

कोरिया में हाई स्कूलों में नौ प्राथमिक विषय पढ़ाए जाते हैं। इन विषयों में कोरियन लैंग्वेज , सोशल स्ट्डीज, (इंक्लूडिंग कोरियन हिस्ट्री), मैथमेटिक्स, सांइस, फिजिकल एजुकेशन, फाइन आर्टस, अप्लाइड आर्ट्स एंड मोरल एडिक्शन शामिल हैं।

साउथ कोरियन एजुकेशन सिस्टम की मुख्य विशेषताएं

साउथ कोरियन एजुकेशन सिस्टम की संरचना को जानने के अलावा, किसी को अपना educational enterprise शुरू करने से पहले देश के बारे में कुछ महत्वपूर्ण तथ्यों को भी जानना चाहिए। नीचे सूचीबद्ध कुछ आवश्यक बिंदु हैं जिन्हें याद रखना चाहिए:

  • साउथ कोरिया में अधिकांश कोर्स अंग्रेजी में पढ़ाए जाते हैं। 
  • शैक्षणिक सत्र मार्च के महीने में शुरू होता है, इसलिए छात्रों को उसी के अनुसार विश्वविद्यालयों में आवेदन करना चाहिए। हालांकि, कुछ कॉलेजों में सितंबर के महीने में ओपनिंग होती है।
  • IELTS और TOEFL जैसी अंग्रेजी दक्षता परीक्षा उम्मीदवारों द्वारा ली जानी है।

साउथ कोरिया में टॉप विश्वविद्यालय

यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपको सही अनुभव और कौशल प्राप्त हो, प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों से कोर्स करना हमेशा एक अच्छा विकल्प होता है। उच्च शिक्षा के लिए साउथ कोरिया के कुछ प्रसिद्ध विश्वविद्यालय नीचे दिए गए हैं:

FAQs

साउथ कोरिया में अध्ययन करने के लिए छात्र वीजा प्राप्त करने में कितना समय लगता है?

साउथ कोरिया में अध्ययन करने के लिए, यह सलाह दी जाती है कि उम्मीदवार के कोर्स में शामिल होने से पहले 30 दिनों के भीतर वीजा के लिए आवेदन करें। आमतौर पर वीजा जारी होने में 10 दिन लगते हैं।

क्या साउथ कोरिया में अध्ययन करना महंगा है?

जब अन्य लोकप्रिय देशों की तुलना में विदेशों में अध्ययन करने के लिए साउथ कोरिया में अध्ययन करना सस्ता है। यहां तक ​​कि छात्र के रहने का खर्च भी अन्य देशों जितना अधिक नहीं है।

क्या अंतरराष्ट्रीय छात्रों के लिए साउथ कोरिया में पढ़ना सुरक्षित है?

सेफ सिटीज इंडेक्स के अनुसार, सियोल को दुनिया के शीर्ष 20 सबसे सुरक्षित स्थानों में स्थान दिया गया है। इसका श्रेय देश के कड़े कानूनों को दिया जा सकता है।

कोरिया में नंबर 1 विश्वविद्यालय कौन सा है?

साउथ कोरिया में नंबर 1 विश्वविद्यालय सियोल नेशनल यूनिवर्सिटी है।

क्या कोरिया में पढ़ना महंगा है?

नहीं, एक सार्वजनिक विश्वविद्यालय में एक ग्रेजुएशन कोर्स की लागत लगभग US$4,350 प्रति सेमेस्टर है। साउथ कोरियाई निजी विश्वविद्यालय में, फीस का अनुमान US$5,800 प्रति सेमेस्टर है।

क्या कोरिया विश्वविद्यालय में प्रवेश पाना कठिन है?

कोरियाई छात्रों को कोरिया विश्वविद्यालय में प्रवेश करने में मुश्किल होती है। नतीजतन, अंतरराष्ट्रीय ग्रेजुएट छात्रों के लिए कोरिया विश्वविद्यालय की स्वीकृति दर लगभग 25% होने की उम्मीद है। अनुमान के मुताबिक, लगभग आधे ग्रेजुएट छात्रों को स्वीकार किया जाता है।

उम्मीद है, साउथ कोरियन एजुकेशन सिस्टम के बारे में आपको जानकारी मिल गई होगी। यदि आप विदेश में पढ़ना चाहते हैं तो 1800 572 000 पर कॉल करके Leverage Edu एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें। 

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert