बीएससी पर्यावरण विज्ञान में कैसे करें?

1 minute read
51 views
10 shares
Leverage Edu Default Blog Cover

पिछले कुछ दशकों में, ग्लोबल वार्मिंग, इकोलॉजिकल डैमेज, ग्लेशियर के पिघलने और बहुत कुछ के रूप में पर्यावरण के लिए खतरे में वृद्धि देखी गई है। इसने ठोस सुधार के प्रयास करने के लिए युवाओं को मजबूर किया है। इन सुधारों में कंपनियां पर्यावरण के अनुकूल समाधानों की दिशा में काम कर रही हैं, सरकारें स्थायी ऊर्जा में निवेश कर रही हैं, उद्योग व्यापक नीतियां बना रहे हैं, आदि। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि पर्यावरण विज्ञान कोर्सेज में पहले की तुलना में बहुत अधिक भीड़ देखी जा रही है। व्यक्ति अब पर्यावरण कानून, पर्यावरण लेखांकन जैसे अन्य विकल्पों की भी तलाश कर रहे हैं। मुख्य रूप से नवोदित युवाओं के लिए पर्यावरण के प्रति एक ठोस समझ विकसित करने के लिए बीएससी पर्यावरण विज्ञान कोर्स गहन सीखने और व्यापक विषय समझ का एक दिलचस्प मिश्रण प्रदान करता है। इस ब्लॉग में हम बीएससी पर्यावरण विज्ञान के बारे में विस्तार से जानेंगे।

कोर्स बीएससी पर्यावरण विज्ञान
फुल फॉर्म Bachelor of Science in Environmental Science
स्तर अंडरग्रेजुएट
अवधि 3 से 4 साल
योग्यता 10+2 साइंस स्ट्रीम के साथ (पीसीबी या पीसीएम)
परीक्षा का प्रकार सेमेस्टर
प्रवेश प्रक्रिया मेरिट और प्रवेश परीक्षा दोनों पर आधारित
कोर्स के बाद जॉब ऑप्शन एनवायरनमेंटल जर्नलिस्ट, एनवायरनमेंटल फोटोग्राफर, कंजर्वेशन हाइड्रोलॉजिस्ट, वेस्ट मैनेजमेंट एसोसिएट, एनवायरनमेंटल केमिस्ट, कैटास्ट्रोफ मॉडलर
औसत वेतन 2 से 5 लाख INR/वर्ष
This Blog Includes:
  1. बीएससी पर्यावरण विज्ञान क्या है?
  2. बीएससी पर्यावरण विज्ञान का अध्ययन क्यों करें?
  3. बीएससी पर्यावरण विज्ञान के लिए स्किल्स
  4. बीएससी पर्यावरण विज्ञान के विषय और सिलेबस
  5. बीएससी पर्यावरण विज्ञान के लिए विश्व के टॉप विश्वविद्यालय
  6. बीएससी पर्यावरण विज्ञान के लिए भारत के टॉप विश्वविद्यालय
  7. बीएससी पर्यावरण विज्ञान कोर्सेज के लिए पात्रता मानदंड
  8. आवेदन प्रक्रिया
    1. विदेश में आवेदन प्रक्रिया
    2. आवश्यक दस्तावेज़
    3. भारतीय विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया
    4. आवश्यक दस्तावेज़
  9. बीएससी पर्यावरण विज्ञान के लिए प्रवेश परीक्षा 
  10. बीएससी पर्यावरण विज्ञान बेस्ट बुक्स
  11. बीएससी पर्यावरण विज्ञान के बाद करियर स्कोप
  12. नौकरियां
  13. बीएससी पर्यावरण विज्ञान के बाद वेतन
  14. FAQs 

बीएससी पर्यावरण विज्ञान क्या है?

बीएससी पर्यावरण विज्ञान आमतौर पर 3-4 साल के डिग्री कार्यक्रम के रूप में पेश किया जाता है। यह एक अंडरग्रेजुएट स्तर का कोर्स है, यह न केवल मुख्य पर्यावरण से संबंधित विषयों पर बल्कि बुनियादी भूगोल, भौतिक  और अर्थ साइंस आदि पर भी केंद्रित है। इसके अंतर्गत छात्रों को पर्यावरण से संबंधित जानकारी का विश्लेषण और काम करने, अनुसंधान गतिविधियों का संचालन करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। शोध परियोजनाएं, शोध प्रबंध और फील्डवर्क भी इस कोर्स के मुख्य घटक हैं। अपनी कक्षा 12वीं में PCM विषयों का अध्ययन करने वाले छात्र पर्यावरण इंजीनियरिंग में बीटेक करने का विकल्प चुन सकते हैं ।

बीएससी पर्यावरण विज्ञान का अध्ययन क्यों करें?

बीएससी पर्यावरण विज्ञान को अपनी शिक्षा के लिए चुने जाने के कुछ कारणों को नीचे स्पष्ट किया गया है –

  • छात्र पर्यावरण की पेचीदगियों का अध्ययन करने और विविध पर्यावरणीय समस्याओं के समाधान करने में सक्षम हो सकेंगे।
  • छात्र, प्रकृति की अपनी समझ को बेहतर बनाने के उद्देश्य से विभिन्न रिसर्च प्रोजेक्ट्स में भाग लेने के पात्र हो सकेंगे। यह उन्हें विभिन्न वैश्विक पर्यावरणीय चिंताओं से निपटने में सक्षम बनाएगा।
  • यह विषय समाज के सभी पहलुओं में अविश्वसनीय रूप से प्रासंगिक है। ऐसा इसलिए है क्योंकि किसी भी उद्योग में स्वच्छ वातावरण बनाए रखना एक महत्वपूर्ण आवश्यकता है।
  • छात्रों के लिए प्लेसमेंट की अच्छी संभावनाएं है। वे विभिन्न सरकारी एजेंसियों में पर्यावरणविद् के रूप में काम कर सकते हैं। वे विभिन्न पर्यावरणीय चुनौतियों के बारे में लोगों को हल करने और शिक्षित करने के लिए गैर-सरकारी संगठनों (एनजीओ) में भी काम कर सकते हैं।
  • छात्र पर्यावरणीय नुकसान की मात्रा को कम करने के लिए उचित कचरा निपटान के समाधान खोजने के लिए निजी फर्मों के लिए भी काम कर सकते हैं। 

बीएससी पर्यावरण विज्ञान के लिए स्किल्स

बीएससी पर्यावरण विज्ञान के लिए स्किल्सेट इस प्रकार हैं-

तकनीकी ज्ञान इनोवेशन
कम्युनिकेशन जिज्ञासा
लीडरशिप इंटरपर्सनल
क्रिटिकल थिंकिंग प्रॉब्लम सॉल्विंग
अंडर प्रेशर में काम की क्षमता मैनेजमेंट स्किल्स

बीएससी पर्यावरण विज्ञान के विषय और सिलेबस

डिग्री प्रोग्राम के दौरान आपके सामने आने वाले विषयों का संक्षिप्त विवरण देने के लिए, यहां उन विषयों की सूची दी गई है जिन्हें आप बीएससी पर्यावरण विज्ञान में अध्ययन करने की उम्मीद कर सकते हैं-

कोर मॉड्यूल ऑप्शनल/इलेक्टिव्स
डाटा एनालिसिस फॉर एन्वायरमेंटल रिसर्च कंट्री साइड एंड द एनवायरनमेंट
पर्यावरण, विकास और समाज इंट्रोडक्शन टू एग्रीकल्चर एंड फूड सिस्टम
इकोलॉजी एंड एनवायरनमेंट क्लिमेटोलॉजी
डायनेमिक अर्थ प्रैक्टिसिंग आर्कियोलॉजी: मेथड्स एंड एप्रोचेज
सस्टेनेबल डेवलपमेंट इवोल्यूशनरी बायलॉजी
इंट्रोडक्शन टू ग्लोबल डेवलपमेंट स्पिशियल डाटा इन द डिजिटल एज
एनवायरनमेंट: साइंस ऐंड सोसाइटी सस्टेनेबल रिसोर्स मैनेजमेंट
ट्रांसपोर्ट प्रोसेस इन एनवायरनमेंट वाटर, एग्रीकल्चर एंड इरिगेशन
इकोसिस्टम प्रोसेस कार्बन एंड ग्लोबल चेंज
एटमॉस्फियर एंड ओसिन साइंस कंस्टिमेटेड लैंड मैनेजमेंट
पॉल्यूशन मॉनिटरिंग, असेसमेंट एंड कंट्रोल अर्बन बायोडायवर्सिटी
एक्सेल डाटा मैनेजमेंट ऐंड एनालिसिस एनवायरनमेंटल लॉ 
एनवायरनमेंटल मैनेजमेंट

बीएससी पर्यावरण विज्ञान के लिए विश्व के टॉप विश्वविद्यालय

आइवी लीग कॉलेज पर्यावरण विज्ञान में बीएससी सहित पर्यावरण और स्थिरता से संबंधित अध्ययनों के लिए प्रसिद्ध हैं, वहीं दुनिया भर में कई संस्थान समान डिग्री विकल्प प्रदान करते हैं। हमने कुछ बेहतरीन विश्वविद्यालयों की सूची तैयार की है-

विश्वविद्यालय जगह टाइम्स हायर एजुकेशन युनिवर्सिटी रैंकिंग 2022
शिकागो विश्वविद्यालय अमेरिका #9
जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय अमेरिका #12
टोरंटो विश्वविद्यालय कनाडा #18
कॉर्नेल विश्वविद्यालय अमेरिका #19
नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर सिंगापुर #25
मेलबर्न विश्वविद्यालय ऑस्ट्रेलिया #32
हांगकांग विश्वविद्यालय हांगकांग #35
मैकगिल विश्वविद्यालय कनाडा #42
वैगनिंगन यूनिवर्सिटी एंड रिसर्च सेंटर नीदरलैंड #59
उप्साला विश्वविद्यालय स्वीडन #102

बीएससी पर्यावरण विज्ञान के लिए भारत के टॉप विश्वविद्यालय

यहां भारत में बीएससी पर्यावरण विज्ञान कॉलेजों की पेशकश करने वाले शीर्ष कॉलेज हैं-

  • दिल्ली विश्वविद्यालय, दिल्ली
  • फर्ग्यूसन कॉलेज, पुणे
  • माउंट कार्मेल कॉलेज, बैंगलोर
  • एमिटी यूनिवर्सिटी, नोएडा
  • सेंट जेवियर्स कॉलेज, अहमदाबाद
  • निम्स विश्वविद्यालय, जयपुर
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, वाराणसी
  • गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ कॉलेज, दिल्ली
  • आईआईटी बॉम्बे

बीएससी पर्यावरण विज्ञान कोर्सेज के लिए पात्रता मानदंड

किसी भी यूनिवर्सिटी में आवदेन के समय, कुछ आवश्यकताएं होती हैं, जिन्हें छात्रों को उस विशिष्ट कोर्स में पात्र होने के लिए पूरी करनी जरूरी है। बीएससी पर्यावरण विज्ञान के लिए पात्रता मानदंड इस प्रकार है:

  • उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त संस्थान या बोर्ड से अच्छे अंकों के साथ 10+2 उत्तीर्ण होना चाहिए।
  • अधिकतर विश्वविद्यालय मेरिट के आधार पर प्रवेश देते हैं।
  • विदेशी विश्वविद्यालयों के मामले में, अंग्रेजी प्रोफिशिएंसी के प्रमाण के रूप में IELTS या TOEFL या PTE आदि के टेस्ट स्कोर जरूरी होते हैं।
  • विदेश में इन आवश्यकताओं के अलावा LOR, SOP, सीवी/रिज्यूमे, पोर्टफोलियो आदि की भी आवश्यकता होती है।

आवेदन प्रक्रिया

बीएससी पर्यावरण विज्ञान के लिए भारत और विदेशी विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया के बारे में नीचे बताया गया है:

विदेश में आवेदन प्रक्रिया

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स और यूनिवर्सिटी का चुनाव है। 
  • कोर्स और यूनिवर्सिटी के चुनाव के बाद उस कोर्स के लिए उस यूनिवर्सिटी की पात्रता मानदंड के बारे में रिसर्च करें। 
  • आवश्यक टेस्ट स्कोर और दस्तावेज एकत्र करें।
  • यूनिवर्सिटी की साइट पर जाकर एप्लीकेशन फॉर्म भरें या फिर आप Leverage Edu एक्सपर्ट्स की भी सहायता ले सकते हैं।
  • ऑफर की प्रतीक्षा करें और सिलेक्ट होने पर इंटरव्यू की तैयारी करें। 
  • इंटरव्यू राउंड क्लियर होने के बाद आवश्यक ट्यूशन शुल्क का भुगतान करें और स्कॉलरशिप, छात्रवीजा, एजुकेशन लोन और छात्रावास के लिए आवेदन करें।

एक आकर्षक SOP लिखने से लेकर वीजा एप्लिकेशन तक, कंप्लीट एप्लिकेशन प्रोसेस में मदद के लिए आप Leverage Edu एक्सपर्ट्स की सहायता ले सकते हैं। 

आवश्यक दस्तावेज़

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

क्या आप विदेश में पढ़ने के लिए एजुकेशन लोन की तलाश में हैं, तो आज ही Leverage Finance का लाभ उठाएं और अपने कोर्स और विश्वविद्यालय के आधार पर एजुकेशन लोन पाएं।

भारतीय विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  1. सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  2. यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  3. फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  4. अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  5. इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  6. यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज़

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

  • आपकी दसवीं या बारहवीं की परीक्षा की मार्कशीट और पास सर्टिफिकेट
  • जन्म तिथि का प्रमाण
  • विद्यालय छोड़ने का प्रमाणपत्र
  • स्थानांतरण प्रमाणपत्र
  • अधिवास प्रमाण पत्र/आवासीय प्रमाण या प्रमाण पत्र
  • अस्थायी प्रमाण-पत्र
  • चरित्र प्रमाण पत्र
  • अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/अन्य पिछड़ी जाति प्रमाण पत्र
  • विकलांगता का प्रमाण (यदि कोई हो)
  • प्रवासन प्रमाणपत्र (माइग्रेशन)

बीएससी पर्यावरण विज्ञान के लिए प्रवेश परीक्षा 

बीएससी पर्यावरण विज्ञान से सम्बन्धित प्रवेश परीक्षाएं इस प्रकार हैं-

परीक्षा का नाम पंजीकरण की तारीख परीक्षा की तारीख
BHU UET मई 2022 के पहले सप्ताह से जून 2022 के पहले सप्ताह तक जून/जुलाई 2022
PUB DET मार्च 2022 के चौथे सप्ताह से अप्रैल 2022 के दूसरे सप्ताह तक अगस्त 2022 का दूसरा सप्ताह
APU UG NET
UPSEE अप्रैल 2022 के पहले सप्ताह से मई 2022 के अंतिम सप्ताह तक जून 2022 का अंतिम सप्ताह
TS EAMCET मार्च 2022 के चौथे सप्ताह से मई 2022 के तीसरे सप्ताह तक जुलाई 2022 के पहले से दूसरे सप्ताह तक

बीएससी पर्यावरण विज्ञान बेस्ट बुक्स

बीएससी पर्यावरण विज्ञान का अध्ययन करते समय जिन महत्वपूर्ण पुस्तकों का अध्ययन किया जा सकता है वे हैं- 

बुक्स ऑथर लिंक
Dinesh Environment Science (English Medium) (AECC) Buy Here
Environmental Studies एसआईए प्रकाशक Buy Here
CSAT Environmental Ecology Biodiversity & Climate Change संजीव रॉय Buy Here
Environmental Science: Toward A Sustainable Future डोरोथी एफ. बोर्स और रिचर्ड टी. राइट Buy Here
Social Learning in Environmental Management: Towards a Sustainable Future मेग कीन, वैलेरी ए ब्राउन, रॉब डायबॉल Buy Here
Principles of Environmental Science विलियम पी. कनिंघम और मैरी एन कनिंघम Buy Here
Visualizing Environmental Science लिंडा आर. बर्ग, मैरी कैथरीन हैगर और डेविड एम. हसनज़ाहली Buy Here
Environmental Studies From Crisis to Cure आर राजगोपालन Buy Here
Environmental Science: Systems and Solutions माइकल एल. मैककिनी, रॉबर्ट एम. शॉच, लोगान योनवजैक और ग्रांट ए. मिन्सी Buy Here
Environmental Science: A Global Concern विलियम पी. कनिंघम और मैरी एन कनिंघम Buy Here

बीएससी पर्यावरण विज्ञान के बाद करियर स्कोप

बीएससी पर्यावरण विज्ञान ग्रेजुएट्स के लिए सरकारी और निजी दोनों क्षेत्रों में करियर की अपार संभावनाएं हैं। पर्यावरण विज्ञान में बीएससी पूरा करने के बाद आप रोजगार के प्रमुख क्षेत्रों का पता लगा सकते हैं-

  • अर्बन प्लानिंग
  • पॉल्यूशन कंट्रोल
  • वेस्ट मैनेजमेंट
  • सस्टेनेबल आर्किटेक्चर
  • फॉरेस्ट्री
  • फूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री 
  • फूड टेक्नोलॉजी
  • मीडिया
  • डिस्टिलरीज
  • फिल्ममेकिंग
  • एनवायरनमेंटल एनजीओ 

नौकरियां

बीएससी के बाद एमएससी पर्यावरण विज्ञान छात्रों के लिए एक दिलचस्प विकल्प है, बीएससी पर्यावरण विज्ञान डिग्री कार्यक्रम को पूरा करने पर विविध कैरियर विकल्प तलाश सकते हैं। इन विकल्पों का संक्षिप्त विवरण नीचे दिया गया है: 

  • एनवायरनमेंटल जर्नलिस्ट
  • कंजर्वेशन हाइड्रोलॉजिस्ट
  • एनवायरनमेंटल मैनेजर
  • नेचर कंजर्वेशन ऑफिसर
  • वेस्ट मैनेजमेंट एसोसिएट
  • रीसाइक्लिंग ऑफिसर
  • एनवायरनमेंटल कंसल्टेंट
  • कैटास्ट्रोफ मॉडलर
  • एनवायरनमेंटल फोटोग्राफर
  • कमर्शियल हार्टिकल्चरिस्ट
  • एनवायरनमेंटल केमिस्ट
  • हॉर्टिकल्चर थेरेपिस्ट
  • मरीन बायोलॉजिस्ट
  • लैंडस्केप आर्किटेक्ट

बीएससी पर्यावरण विज्ञान के बाद वेतन

बीएससी पर्यावरण विज्ञान ग्रेजुएट्स का औसत वेतन 3 लाख से 5 लाख प्रति वर्ष है जो आपके द्वारा चुने गए क्षेत्र या प्रोफ़ाइल के अनुसार भिन्न होता है। बीएससी पर्यावरण विज्ञान के बाद कुछ प्रमुख करियर विकल्प का औसत वेतन यहां दिया गया है-

जॉब प्रोफाइल वार्षिक वेतन (INR में)
एनवायरनमेंटल जर्नलिस्ट 3 से 4 लाख
एनवायरनमेंटल फोटोग्राफर 3 से 4 लाख
कंजर्वेशन हाइड्रोलॉजिस्ट 4 से 6 लाख
वेस्ट मैनेजमेंट एसोसिएट 5 से 6 लाख
एनवायरनमेंटल केमिस्ट 7 से 8 लाख
कैटास्ट्रोफ मॉडलर 5 से 6 लाख

FAQs 

बीएससी पर्यावरण विज्ञान क्या है?

बीएससी पर्यावरण विज्ञान आमतौर पर 3-4 साल के डिग्री कार्यक्रम के रूप में पेश किया जाता है। यह एक अंडरग्रेजुएट स्तर का कोर्स है, यह न केवल मुख्य पर्यावरण से संबंधित विषयों पर बल्कि बुनियादी भूगोल, भौतिक  और अर्थ साइंस आदि पर भी केंद्रित है। इसके अंतर्गत छात्रों को पर्यावरण से संबंधित जानकारी का विश्लेषण और काम करने, अनुसंधान गतिविधियों का संचालन करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। शोध परियोजनाएं, शोध प्रबंध और फील्डवर्क भी इस कोर्स के मुख्य घटक हैं।

बीएससी पर्यावरण विज्ञान में करियर स्कोप क्या है?

बीएससी पर्यावरण विज्ञान ग्रेजुएट्स के लिए सरकारी और निजी दोनों क्षेत्रों में करियर की अपार संभावनाएं हैं। बीएससी पर्यावरण विज्ञान ग्रेजुएट्स का औसत वेतन 3 लाख से 5 लाख प्रति वर्ष है जो आपके द्वारा चुने गए क्षेत्र या प्रोफ़ाइल के अनुसार भिन्न होता है।

बीएससी पर्यावरण विज्ञान का अध्ययन क्यों करें?

इस कोर्स के जरिए आप पर्यावरण की पेचीदगियों का अध्ययन करने और विविध पर्यावरणीय समस्याओं के समाधान करने में सक्षम हो सकेंगे। इसके अलावा आप प्रकृति की अपनी समझ को बेहतर बनाने के उद्देश्य से विभिन्न रिसर्च प्रोजेक्ट्स में भाग लेने के पात्र हो सकेंगे और यह आपको विभिन्न वैश्विक पर्यावरणीय चिंताओं से निपटने में सक्षम बनाएगा।

बीएससी पर्यावरण विज्ञान कोर्स की अवधि क्या है?

बीएससी पर्यावरण विज्ञान आमतौर पर 3-4 साल के डिग्री कार्यक्रम के रूप में पेश किया जाता है।

हम आशा करते हैं कि इस ब्लॉग ने आपको बीएससी पर्यावरण विज्ञान से जुड़ी सारी जानकारी दी होगी। यदि आप बीएससी पर्यावरण विज्ञान की पढ़ाई विदेश से करने की इच्छा रखते हैं, तो बेहतरीन मार्गदर्शन के लिए आज ही 1800 572 000 पर कॉल करें और Leverage Edu एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert