यूके में केमिकल इंजीनियरिंग कैसे करें?

1 minute read
162 views
10 shares
यूके में केमिकल इंजीनियरिंग कैसे करें

Universitiesuk.ac.uk की अक्टूबर 2021 की एक रिपोर्ट के अनुसार हर साल यूके में 666,815 अंतरराष्ट्रीय छात्र पढ़ने जाते हैं। केमिकल इंजीनियरिंग की फील्ड में हुए डेवलपमेंट्स के कारण इसमें कुछ नई फील्ड जैसे नैनोटेक्नोलॉजी, बायो-इंजीनियरिंग, बायो-मॉलिक्यूलर इंजीनियरिंग, मेटीरियल प्रोसेसिंग का विकास हुआ है। इस फील्ड के बढ़ते महत्व को देखते हुए छात्रों द्वारा केमिकल इंजीनियरिंग का कोर्स काफी पसंद किया जा रहा है। आइए विस्तार से जानते हैं कि UK में chemical engineering कैसे करें।

कोर्सेज -बैचलर्स: BEng (Hons) Chemical Engineering
-मास्टर्स:
MSc in Chemical Eng, Advanced Chemical Eng, MRes in Chemical Eng Science, MSc in Chemical Process Eng
अवधि -बैचलर्स: 3 वर्ष
-मास्टर्स: 1 वर्ष (फुल टाइम), 2-3 वर्ष (पार्ट टाइम)
इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट IELTS/TOEFL/PTE 

केमिकल इंजीनियरिंग क्या होती है?

केमिकल इंजीनियरिंग में केमिस्ट्री और फिजिक्स के ऍप्लिकेशन्स को मैथमेटिक्स के साथ जोड़ कर, रॉ मटेरियल्स और केमिकल से उपयोगी और मूल्यवान रूप बनाई जाती हैं। केमिकल इंजीनियर का काम केमिकल प्लांट्स के अदंर आने वाले सभी डिज़ाइन और उनके रख रखाव की निगरानी करना है। इसके अलावा रॉ मटेरियल्स या केमिकल्स को डिफरेंट वैलुएबल फॉर्म्स में बदलकर केमिकल प्रोसेस करना भी इनकी जिम्मेदारी होती है। आसान भाषा में कहे तो केमिकल इंजीनियर किसी भी प्रोडक्ट्स मैनुफैक्चर करने के सबसे आसान तरीके को ढूंढने के लिए बेस्ट रिसोर्सेज का इस्तेमाल करते हैं।

यूके में केमिकल इंजीनियरिंग के विषय

UK में chemical engineering कैसे करें जानने के लिए ज़रूरी है कि इसमें आने वाले विषयों के बारे में जानना, जो इस प्रकार हैं:

  • जैव ईंधन का कटैलिसीस और प्रतिक्रियाएं
  • बायोमोलेक्यूलर और बायोमेडिकल इंजीनियरिंग
  • बायोकेमिकल इंजीनियरिंग
  • सेलुलर इंजीनियरिंग
  • कंप्यूटिंग और सिमुलेशन
  • इलेक्ट्रोकेमिकल इंजीनियरिंग
  • नैनोटेक्नोलॉजी
  • थर्मोडायनामिक्स
  • मैटेरियल्स
  • पॉलिमर और जटिल तरल पदार्थ
  • पेट्रोकेमिकल इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी
  • सतत पर्यावरण इंजीनियरिंग
  • माइक्रोफैब्रिकेटेड सिस्टम

यूके में केमिकल इंजीनियरिंग के कोर्सेज

यूके में केमिकल इंजीनियरिंग के लिए लेवल वाइज कोर्सेज नीचे दिए गए हैं-

लेवल कोर्सेज
अंडरग्रेजुएट Bachelors/BE in Chemical Engineering
Bachelors in Chem. Technology Engineering
BSc Chem. Eng. (Environment and Energy)
BSc Chem. Eng. (Chemical and Biomolecular)
Bachelors in Industrial Chemical Engineering
Bachelor of Chem. Eng./Bachelor of Mathematics
Bachelor of Engineering Honours (Chem. and Biomolecular)
पोस्टग्रेजुएट Masters in Chem. Eng.
MSc in Petroleum Engineering
MSc in Chem. Eng. and Business
MSc in Chem. Eng. and Materials Science
Masters in Nanoscience, Materials and Processes
Masters in Chem. Eng. for Energy and Environment
MSc in Chem. and Materials Engineering
डॉक्टरेट Doctor of Philosophy (Chem. and Material Engineering)
PhD in Chemistry and Technology of Foodstuff
PhD Research in Chem. Eng.
PhD in Chem. Eng. and Analytical Science

टॉप यूनिवर्सिटीज

क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2021 के अनुसार UK में chemical engineering की टॉप यूनिवर्सिटीज और कॉलेज की लिस्ट नीचे दी गई है-

टॉप यूनिवर्सिटीज क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2021
कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय 5
ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय 8
इंपीरियल कॉलेज लंदन 10
यूसीएल =24
मैनचेस्टर विश्वविद्यालय 28
एडिनबर्ग विश्वविद्यालय 58
बर्मिंघम विश्वविद्यालय 93
लीड्स विश्वविद्यालय =95
बाथ विश्वविद्यालय 99
नॉटिंघम विश्वविद्यालय  101-150

भारत में केमिकल इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा

कई यूनिवर्सिटीज छात्रों को एडमिशन देने के लिए प्रवेश परीक्षाओं का आयोजन करती हैं। नीचे कुछ टॉप प्रवेश परीक्षाओं की लिस्ट दी गई है-

एलिजिबिलिटी

यूनिवर्सिटीज और कोर्स के अनुसार एलिजिबिलिटी अलग हो सकती है। यहां कुछ मुख्य एलिजिबिलिटी दी गई हैं-

  • बैचलर्स करने के लिए कैंडिडेट ने अपनी 12वीं (साइंस पीसीएम) किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से उत्तीण की हो। 
  • मास्टर्स के लिए कैंडिडेट का किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से बैचलर्स (संबंधित फील्ड) उत्तीण करना ज़रूरी है।
  • पीएचडी के लिए कैंडिडेट का किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से मास्टर्स उत्तीण करना ज़रूरी है।
  • विदेश में पढ़ने के लिए अंग्रेजी भाषा टेस्ट जैसे IELTS/TOEFL/PTE के अंक।
  • बैचलर्स के लिए SAT या ACT जबकि मास्टर्स और पीएचडी प्रोग्राम्स के लिए GRE अंकों की जरूरत होगी।
  • SOP और LOR

आवेदन प्रक्रिया

UK में chemical engineering के लिए स्टूडेंट्स को UCAS पोर्टल द्वारा आवेदन करना ज़रूरी होता है। मास्टर्स के लिए स्टूडेंट्स सीधा यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। नीचे आपको स्टेप बाय स्टेप बताया गया है-

  • UCAS पोर्टल को विजिट करें।
  • कोर्स करिकुलम और एलिजिबिलिटी दस्तावेजों को चेक कर लें।
  • अपनी यूनिवर्सिटी के एप्लीकेशन फॉर्म पर क्लिक करें।
  • सबसे पहले आपको ईमेल या फ़ोन नंबर के द्वारा न्यू रजिस्ट्रेशन करना होगा।
  • अकाउंट वेरिफिकेशन के बाद अकाउंट लोग-इन करके पर्सनल डिटेल्स (नाम, जेंडर, पिता का नाम, माता का नाम, जन्म की तिथि) भरें।
  • अकादमिक डिटेल्स भरें और आवश्यक डाक्यूमेंट्स को अपलोड करें।
  • अंत में एप्लीकेशन फीस का भुगतान करें।
  • फिर अपना एप्लीकेशन फॉर्म जमा करें।
  • कुछ यूनिवर्सिटीज, सिलेक्शन के बाद वर्चुअल इंटरव्यू के लिए आमंत्रित करतीं हैं।

मास्टर्स के लिए एप्लीकेशन प्रक्रिया

मास्टर्स के लिए यूके में एप्लीकेशन प्रक्रिया इस प्रकार है:

  • यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करें। यहाँ से आपको यूजर आईडी और पासवर्ड प्राप्त होंगे।
  • यूजर आईडी से अकाउंट साइन-इन करें और डिटेल्स भरें।
  • अपना कोर्स सेलेक्ट करें।
  • अकादमिक क्वॉलिफिकेशन्स भरें।
  • एम्प्लॉयमेंट हिस्ट्री भरें।
  • रजिस्ट्रेशन फीस भरें।
  • अंत में एप्लीकेशन फॉर्म जमा करें।

यदि आपको आसान आवेदन प्रक्रिया जानना है तो आप Leverage Edu एक्सपर्ट्स से इस पर गाइडेंस पा सकते हैं।

आवश्यक दस्तावेज

अपना आवेदन जमा करने के समय आवश्यक दस्तावेजों की एक लिस्ट यहां दी गई है-

यूके में केमिकल इंजीनियरिंग के लिए खर्च

UK में chemical engineering कैसे करें जानने के लिए यूके में होने वाले खर्चों के बारे में स्टूडेंट्स को पता होना चाहिए, जो इस प्रकार हैं: 

यूके में पढ़ने की कॉस्ट राशि (जीबीपी)
ट्यूशन फीस अंडरग्रेजुएट: 8,000 – 30,000 (₹8 लाख-₹30 लाख)
पोस्टग्रेजुएट: 12,000 -35,000 (₹12 लाख-₹35 लाख)
टियर 4 वीजा 1,015 (₹1,00, 000) प्रति माह पर्याप्त धन के प्रमाण के रूप में
निवास स्थान £350 to £550 (₹35,000 – ₹55,500) प्रति माह
यात्रा £40 (₹4,000) महीना
अन्य £500 (₹50,000) महीना

छात्रों की विदेश में पढ़ाई करने में मदद के लिए Leverage Finance उनकी हर संभव मदद करता है। आज ही गाइडेंस पाएं।

जॉब प्रोफाइल्स और सैलरी

UK में chemical engineering कैसे करें जानने के बाद अब मिलने वाली जॉब प्रोफाइल्स और सैलरी इस प्रकार हैं: (डाटा glassdoor.co.in के अनुसार)

जॉब प्रोफाइल्स एवरेज सालाना सैलरी (जीबीपी)
एनालिटिकल केमिस्ट 28,974 (INR 28.97 लाख)
एनर्जी मैनेजर 43,307 (INR 43.30 लाख)
एनवायर्नमेंटल इंजीनियर 33,370 (INR 33.37 लाख)
मैन्युफैक्चरिंग इंजीनियर 35,644 (INR 35.64 लाख)
मैटेरियल्स इंजीनियर 36,955 (INR 36.95 लाख)
माइनिंग इंजीनियर 35,496 (INR 35,496 लाख)
लेक्चरर 32,587 (INR 32.58 लाख)
प्रोजेक्ट मैनेजर  49,109 (INR 49.10 लाख)
एग्रोकेमिस्ट 28,635 (INR 28,635 लाख)
आयल रिफाइनर 26,500 (INR 26.50 लाख)

FAQs

केमिकल इंजीनियर क्या काम करते हैं?

केमिकल इंजीनियर का काम कैमिकल निर्माण प्रक्रियाओं का डिजाइन करना होता हैं। रासायनिक इंजीनियर रसायनों, ईंधन, दवाओं, भोजन और कई अन्य उत्पादों के उपयोग की समस्याओं को हल करने के लिए रसायन विज्ञान, भौतिकी, जीव विज्ञान और गणित के सिद्धांतों को लागू करते हैं।

क्या यूके में केमिकल इंजीनियर को अच्छा वेतन मिलता है?

यूके में केमिकल इंजीनियरों को सैलरी पैकेज अच्छा मिलता है। एक अनुमान से केमिकल इंजीनियरों को करीब जीबीपी 35,000-40,000 (INR 35-40 लाख) प्रति वर्ष तक सैलरी मिलती है।

केमिकल इंजीनियर के लिए सबसे अच्छी नौकरी कौन सी होती है?

एनालिटिकल केमिस्ट
एनर्जी मैनेजर
एनवायर्नमेंटल इंजीनियर
मैन्युफैक्चरिंग इंजीनियर
मैटेरियल्स इंजीनियर

आशा करते हैं इस ब्लॉग से आपको पता चला होगा कि UK में chemical engineering कैसे करें। यदि आप भी यूके में केमिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करना चाहते हैं तो हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स से 1800 572 000 पर कॉल कर आज ही 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert