IELTS के बिना यूएसए में पढ़ाई

2 minute read
445 views
IELTS ke bina USA me Padhai

दुनिया भर के स्टूड़ेट्स का सपना होता है कि वे यूएसए से पढ़ाई कर अपना बेहतर करियर बनाएं। यही कारण है कि अमेरिका में विश्व के 30 प्रतिशत स्टूड़ेट्स पढ़ते हैं। अमेरिका से पढ़ाई करने के बाद स्टूड़ेट्स को एक बेहतरीन अनुभव के साथ काफी कुछ नया सीखने को मिलता है। लेकिन अमेरिका में पढ़ने के लिए कई यूनिवर्सिटीज स्टूड़ेट्स से IELTS टेस्ट में बेहतर स्कोर के बिना एडमिशन नहीं देती है। आज के इस ब्लॉग में हम आपको बताएंगे कि IELTS ke bina USA me Padhai कैसे कर सकते हैं।

IELTS क्या होता है?

IELTS विदेश जाने के लिए अंग्रेजी भाषा टेस्ट है। अगर कोई उन देशों में जाकर काम करना चाहता या फिर पढ़ना चाहता है, जहां इंग्लिश कम्युनिकेशन की मुख्य भाषा है तो यह टेस्ट देना पड़ता है। IELTS का फुल फॉर्म International English Language Testing System हैं। जिन देशों की यूनिवर्सिटीज में दाखिले के लिए IELTS को स्वीकार किया जाता है, इन देशों में यूके, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, यूएसए और कनाडा अहम हैं। IELTS टेस्ट के दौरान कैंडिडेट की इंग्लिश पढ़ने की रीडिंग, स्पीकिंग, लिसनिंग, राइटिंग स्किल परखी जाती है।

IELTS के बिना यूएसए में पढ़ाई

दुनिया में ऐसे कई देश है जहाँ इंग्लिश ज्यादा नहीं बोली जाती है। इसी कारण गैर-देशी अंग्रेजी बोलने वाले स्टूड़ेट्स के लिए IELTS टेस्ट क्रैक करना मुश्किल हो जाता है। कई लोगों को इस टेस्ट को बार-बार देना काफी महंगा साबित होता है। अगर आप भी IELTS के बिना यूएसए में पढ़ाई करने की प्लान कर रहे हैं, तो नीचे दिए गए निर्देशों को देखिए।

  • पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्सेज के लिए आवेदन करते समय, आपको अपने पिछले विश्वविद्यालय से एक पत्र की आवश्यकता होगी जिसमें कहा गया हो कि आपने जिस ग्रेजुएट कोर्स की पढ़ाई किया था वह अंग्रेजी में होना जरूरी है।
  • अंडर ग्रेजुएट कोर्सेज के लिए, आपको अपनी हाई स्कूल शिक्षा में अंग्रेजी को अपने मुख्य विषयों में से एक के रूप में रखना होगा।
  • यदि आपने ऐसे देश से ग्रेजुएशन किया है जहां अंग्रेजी आधिकारिक भाषा है, तो IELTS की आवश्यकता नहीं होती है।
  • यदि आप IELTS स्कोर प्रदान करने में सक्षम नहीं हैं, तो विश्वविद्यालय को आपको अंग्रेजी भाषा के लिए अपना प्रारंभिक कार्यक्रम शुरू करने की आवश्यकता हो सकती है जिसे गहन अंग्रेजी भाषा कार्यक्रम ((IELP) के रूप में जाना जाता है, जिसके माध्यम से आपको इस भाषा के आवश्यक ज्ञान के साथ प्रशिक्षित किया जाएगा।

कुछ अन्य अंग्रेजी प्रवीणता परीक्षा

विदेशों की कुछ टॉप यूनिवर्सिटीज में एडमिशन पाने के लिए इंग्लिश परखने के लिए कई टेस्ट लिए जाते हैं। इनमें से कुछ टेस्ट की लिस्ट नीचे दी गई है।

अंग्रेजी प्रवीणता परीक्षा कंडक्टिंग बॉडी
IELTS कैम्ब्रिज असेसमेंट इंग्लिश और ब्रिटिश काउंसिल द्वारा संयुक्त रूप से
TOEFL शैक्षिक परीक्षण सेवा [ईटीएस]
PTE पियर्सन पीएलसी
TOEIC शैक्षिक परीक्षण सेवा [ईटीएस]
Cambridge Exams
[PET, FCE, CAE, CPE]
कैम्ब्रिज असेसमेंट इंग्लिश

IELTS के बिना यूएसए से पढाई: सर्वश्रेष्ठ विकल्प

उन लोगों के लिए विभिन्न विकल्प उपलब्ध हैं जो यूएसए के विश्वविद्यालयों में एडमिशन के लिए आवेदन करते समय IELTS स्कोर प्रदान नहीं कर सकते हैं। IELTS ke bina USA se Padhai करने की योजना बनाने वालों के लिए विश्वविद्यालयों द्वारा निर्धारित सर्वश्रेष्ठ विकल्प यहां दिए गए हैं।

  • आप TOEFL, Duolingo English Test और PTE जैसे अंग्रेजी भाषा दक्षता एग्जाम के स्कोर दे सकते हैं।
  • आप अंग्रेजी भाषा दक्षता एग्जाम के स्कोर के स्थान पर इस बात का प्रमाण जमा कर सकते हैं कि आपने इंग्लिश मीडियम स्कूल में कम से कम 4 वर्षों तक पढ़ाई की है।
  • आप उन लोगों के लिए विश्वविद्यालय द्वारा प्रस्तावित अंग्रेजी भाषा कोर्स का विकल्प भी चुन सकते हैं जो अंग्रेजी भाषा दक्षता स्कोर प्रदान करने में असमर्थ हैं।

IELTS के बिना एडमिशन देने वाली यूएसए की टॉप यूनिवर्सिटीज

क्या आप सोच रहे हैं IELTS ke bina USA me Padhai किस यूनिवर्सिटी में करें। यहां कुछ टॉप यूनिवर्सिटीज दी गयीं हैं:

विश्वविद्यालय IELTS के लिए वैकल्पिक एग्जाम
यूनिवर्सिटी ऑफ़ डेलावेयर English Language for Internationals(ELI)
नॉर्थवुड यूनिवर्सिटी EIKEN/ IB/ Cambridge English Test/ ELS/ PTE
राइज़ यूनिवर्सिटी Duolingo
यूनिवर्सिटी ऑफ़ डेटन PTE/ Duolingo
स्टेट यूनिवर्सिटी ऑफ़ न्यू यॉर्क PTE/ Duolingo/ Cambridge English Scale
यूनिवर्सिटी ऑफ़ न्यू ऑरलियन्स (यूएनओ) English Language for Internationals(ELI)
कैलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी PTE
यूनिवर्सिटी ऑफ़ कोलोराडो Duolingo
यूनिवर्सिटी ऑफ़ अर्कांसस PTE/ iTEP/ Cambridge Assessment English/ Duolingo
नेशनल लुइस यूनिवर्सिटी PTE 
यूनिवर्सिटी ऑफ़ नॉर्थ अलाबामा TOEIC

यूनिवर्सिटी ऑफ़ न्यूऑरलींस

University of Orleans

USA की यूनिवर्सिटी ऑफ़ न्यू ऑरलींस में भी IELTS के बिना कोई भी स्टूड़ेट्स एडमिशन के लिए आवेदन कर सकता है। इस यूनिवर्सिटी में LGVR में 63+ और लेखन में 70+ के साथ UNO Intensive English Language Program (IELP) को पूरा करके ग्रेजुएट्स प्रोग्राम कर सकते हैं। यूनिवर्सिटी ऑफ़ न्यू ऑरलींस यह एक सार्वजनिक यूनिवर्सिटी है, जिसे UNO के नाम से भी जाना जाता है। इसके अलावा इस यूनिवर्सिटी में 15 से अधिक बिरादरी के साथ कई सक्रिय संगठन और क्लब हैं। इस यूनिवर्सिटी के स्टूड़ेट्स एथलेटिक्स में काफी एक्टिव है, इसी के कारण यहाँ के स्टूड़ेट्स 15 से भी ज्यादा खेलों के हिस्सा भी है।

राइस यूनिवर्सिटी

Rice University

IELTS के बिना USA में पढ़ाई के लिए काफी ज्यादा चर्चित यूनिर्सिटीज में से एक है USA की राइस यूनिवर्सिटी। यहाँ से किसी भी कोर्स में ग्रेजुऐशन करने के लिए आपको IELTS देने की जरूरत नहीं होती है, लेकिन यहाँ की एडमिशन समिति आपकी इंग्लिश भाषा में पकड़ और कौशल के आधार पर ही आपको एडमिशन देगी। राइस यूनिवर्सिटी को मुख्य रूप से रिसर्च की बेस्ट यूनिवर्सिटीज के लिए जाना जाता है, जो कई कोर्स में स्टूड़ेट्स को अंडर ग्रेजुएट और पोस्टग्रेजुएट में कई सारे विकल्प प्रदान करती है।

यूनिवर्सिटी ऑफ़ डेटन

University of Dayton

डेटन विश्वविद्यालय को ओहियो में दूसरी सबसे बड़ी यूनिवर्सिटी कहा जाता है। इस यूनिवर्सिटी में एडमिशन पाने के लिए आपको IELP टेस्ट देना होगा। यह टेस्ट पास करने के बाद ही आपको एडमिशन दिया जाएगा। डेटन विश्वविद्यालय क्षेत्रफल की नजर से काफी बड़ी यूनिवर्सिटी है यह डेटन शहर में 338 एकड़ के एरिए में फैली हुई है। जिसमें इस यूनिवर्सिटी को 4 मुख्य भागों में और 18 स्टूड़ेट्स के अपार्टमेंट में बांटा गया है। डेटन विश्वविद्यालय में साइंस, आर्ट्स और कॉमर्स से जुड़े कोर्स की पढ़ाई करवाई जाती है।

ड्रेक्सेल विश्वविद्यालय

IELTS के बिना USA में पढ़ाई के लिए ड्रेक्सेल विश्वविद्यालय भी स्टूड़ेट्स के लिए एक बेहतर विकल्प हो सकती है। इस यूनिर्वर्सिटी में स्टूड़ेट्स दो तरीके से एडमिशन ले सकते हैं। पहला यूनिवर्सिटी प्रेपरेशन समर प्रोग्राम (UPREP) में हिस्सा लेकर जबकि दूसरा ब्रिज प्रोग्राम के द्वारा जो फॉरेन स्टूडेंट के लिए डिज़ाइन किया गया है। ड्रेक्सेल विश्वविद्यालय एक प्राइवेट यूनिवर्सिटी है जिसमें 26000 से भी ज्यादा स्टूड़ेट्स 150+ कोर्स में पढ़ते है। यह यूनिवर्सिटी अपने तमाम स्टूड़ेट्स को 18 महीने काम करने के साथ फुल टाइम सैलरी भी देती है।

कैलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी, लॉस एंजलस

अमेरिका की कैलिफ़ोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी में पढ़ाई करने के लिए स्टूड़ेट्स को IELTS टेस्ट के स्कोर की जरूरत नहीं होती है। इस यूनिवर्सिटी में एडमिशन पाने के लिए स्टूड़ेट्स को अपने प्रमाण देने होगे कि उसकी माध्यमिक शिक्षा और ग्रेजुऐशन की पढ़ाई अंग्रेजी मीडियम में पूरी हुई है। कैलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी के बारे में बात करें तो इसमें कुल 23 कैंपस है जिसमें अंडर ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट, और डाक्टरल प्रोग्राम के लिए 225 से ज्यादा कोर्स करवाए जाते हैं। इसके अलावा इस यूनिवर्सिटी में स्टूड़ेट्स के द्वारा चलाए जाने वाला समाचार पत्र यूनिवर्सिटी टाइम्स भी मौजूद है जिसमें यूनिवर्सिटी के बीच की जानकारी साझा की जाती है।

यूनिवर्सिटी ऑफ़ नार्थ अलाबामा

University of North Alabama

उत्तरी अलबामा विश्वविद्यालय में किसी भी स्टूड़ेट्स को एडमिश देने के लिए IELTS टेस्ट की डिमांड नहीं करता है। इसके अलावा यह यूनिवर्सिटी में कुछ ऐसे भी कोर्स है जो गैर अंग्रेजी भाषी स्टूड़ेट्स के लिए डिजाइन किए गए है। उत्तरी अलबामा विश्वविद्यालय की स्थापना सन 1830 में की गई थी। इस यूनिवर्सिटी में 80 प्रतिशत स्टूड़ेट्स 4 साल के ग्रेजुऐशन कोर्स में पढ़ते है जबकि 5 प्रतिशन स्टूड़ेट्स यहाँ अन्य देशों से पढ़ाई करने आए हुए हैं। इस यूनिवर्सिटी में 75 प्रतिशत से भी ज्यादा स्टूड़ेट्स अलबामा से ही है।

नॉर्थवुड यूनिवर्सिटी

Northwood University

नॉर्थवुड यूनिवर्सिटी को सन 1959 में बनाया गया था। इस यूनिवर्सिटी के स्टूड़ेट् कैंडिस मिलर जो U.S. हाउस ऑफ़ रिप्रेजेन्टेटिव भी रह चुके हैं। इस यूनिवर्सिटी की सबसे चर्चित डिग्री मास्टर ऑफ़ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन की डिग्री है जिसमें स्टूड़ेट्स को मुख्य रूप से केस स्टडी के आधार पर प्रैटिक्स करवाई जाती है।

इस यूनिवर्सिटी में भी एडमिशन पाने के लिए स्टूड़ेट्स को IELTS की जरूरत नहीं होती है। यहाँ आपको अपने सीनियर सेकेंडरी एजुकेशन और बैचलर्स डिग्री इंग्लिश मीडियम में करने के सेटिफिकेट दिखा कर एडमिशन मिल जाता है।

नेशनल लुइस यूनिवर्सिटी

National Louis University

IELTS के बिना USA में पढ़ाई करने के लिए नेशनल लुइस यूनिवर्सिटी भी स्टूड़ेट्स को एडमिशन देती है। लेकिन यूनिवर्सिटी को सीनियर सेकेंडरी एजुकेशन में इंग्लिश मीडियम से पढ़ाई के सेटिफिकेट दिखाने होगें। इस यूनिवर्सिटी की स्थापना सबसे पहले 1886 में एक प्राइवेट यूनिवर्सिटी के रूप में की गई थी। नेशनल लुइस यूनिवर्सिटी को यहाँ की पढ़ाई के लिए अमेरिका की टॉप यूनिवर्सिटी का दर्जां दिया गया है।

यूनिवर्सिटी ऑफ़ कोलोराडो बोल्डर

University of Colorado Boulder

कोलोराडो विश्वविद्यालय बोल्डर भी स्टूड़ेट्स को IELTS के बिना एडमिशन देने के लिए बेस्ट यूनिवर्सिटीज में से एक माना जाता है। इस यूनिवर्सिटी में एडमिशन पाने के लिए स्टूड़ेट्स को अपने एक हाई स्कूल या यूके, ऑस्ट्रेलिया जैसे किसी अन्य अंग्रेजी बोलने वाले देश में दो साल का फुल टाइम अकादमिक स्टडी करनी अनिवार्य है। इसके अलावा USA में या फिर आपने अंग्रेजी भाषी देश के किसी कॉलेज में एक वर्ष के लिए पढ़ाई की है तो आप कोलोराडो विश्वविद्यालय बोल्डर में दाखिले के लिए आवेदन कर सकते हैं। 15 जुलाई, 2021 से यूनिवर्सिटी प्रवेश के लिए डुओलिंगो अंग्रेजी टेस्ट स्कोर भी स्वीकार कर रहा है।

यूनिवर्सिटी ऑफ़ अर्कांसस

University of Arkansas

अर्कांसासी विश्वविद्यालय में स्टूड़ेट्स को एडमिशन के लिए IELTS/TOEFL की जरूरत नहीं होती है लेकिन स्टूड़ेट्स की इंग्लिश स्किल्स को देखते हुए स्टूड़ेट्स को कंडीशनल एडमिशन दिया जाएगा जिसमें उनको 1-6 के बीच बेस्ट स्कोर लाने के बाद ही एडमिशन दिया जाएगा। इसके अलावा यूनिवर्सिटी IELP भी उन स्टूड़ेट्स को देती है जो इंग्लिश लैंग्वेज प्रोफिसिएंसी में अच्छा स्कोर नहीं कर पाते हैं।

IELTS के बिना यूएसए में स्टूडेंट वीजा

जो छात्र IELTS ke bina USA me Padhai करना चाहते हैं, वे USA के विश्वविद्यालयों में आवेदन कर सकते हैं। IELTS के बिना USA के विश्वविद्यालयों में आवेदन करने वाले लोग Duolingo/PTE/IKEN/ IB/ Cambridge English Test/ ELS/ या अन्य टेस्ट के स्कोर जमा करके स्टूडेंट वीजा प्राप्त कर सकते हैं।

योग्यता

यदि आप इस क्षेत्र में डिग्री प्राप्त करने के इच्छुक हैं, तो आपको अपने चुने हुए विश्वविद्यालय द्वारा निर्धारित पात्रता मानदंडों को पूरा करना होगा। ये आवश्यकताएं कोर्सेज के स्तर के अनुसार भिन्न होती हैं, जैसे बैचलर, मास्टर या डिप्लोमा।

  • बैचलर्स डिग्री प्रोग्राम के लिए ज़रुरी है कि उम्मीदवारों ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 प्रथम श्रेणी से पास किया हो।
  • मास्टर डिग्री प्रोग्राम के लिए संबंधित क्षेत्र में प्रथम श्रेणी के साथ बैचलर्स डिग्री होना आवाश्यक है। साथ ही कुछ यूनिवर्सिटीज प्रवेश परीक्षा के आधार पर भी एडमिशन स्वीकार करतीं हैं।
  • PhD कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको संबंधित विषय में मास्टर डिग्री अच्छे नंबर के साथ पास करनी होगी।
  • विदेश की अधिकतर यूनिवर्सिटीज बैचलर्स के लिए SAT और मास्टर्स कोर्सेज के लिए GRE स्कोर की मांग करते हैं।
  • विदेश की यूनिवर्सिटीज में एडमिशन के लिए IELTS या TOEFL के स्थान पर Duolingo/PTE/IKEN/ IB/ Cambridge English Test/ ELS/ या अन्य टेस्ट स्कोर, अंग्रेजी प्रोफिशिएंसी के प्रमाण के रूप में देने ज़रूरी होते हैं। जिसमे IELTS स्कोर 7 या उससे अधिक और TOEFL स्कोर 100 या उससे अधिक होना चाहिए।
  • विदेश यूनिवर्सिटीज में पढ़ने के लिए SOPLORसीवी/रिज्यूमे और पोर्टफोलियोभी जमा करने की जरूरत होती है।

आवेदन प्रक्रिया 

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीजा और छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  1. सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  2. यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  3. फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  4. अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  5. इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  6. यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज़

कुछ जरूरी दस्तावेज़ों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

FAQs

IELTS के बिना अध्ययन के लिए कौन सा देश सबसे अच्छा है?

ऐसे कई देश हैं जहां आप IELTS के बिना विदेश में अध्ययन कर सकते हैं और उनमें से कुछ प्रमुख हैं:
यूके
सिंगापुर
जर्मनी
यूएसए
यूरोप
कनाडा

आईलेट्स कितने साल की होती है?

IELTS बैंड स्कोर को 140 देशों के 10,000 कॉलेज ,विश्वविद्यालय,शिक्षण संस्थान मंजूर करते हैं। IELTS के 140 देशों में 12,000 टेस्ट सेंटर हैं। हर साल 3 मिलियन से ज्यादा लोग IELTS टेस्ट देते हैं। IELTS TRF की वैधता 2 साल तक होती है।


आईईएलटीएस कोर्स कितने महीने का होता है?

IELTS अपने सभी सेंटर पर हर महीने में 4 बार परीक्षाएं लेती है और IELTS द्वारा सभी टेस्ट में भाग लेने वाले लोगो को एक सर्टिफिकेट दिया जाता है, जो 2 वर्ष तक वैध होता है, अगर आप इससे पहले पुनपरीक्षा नहीं देते है तो। IELTS परीक्षा में प्रतिभागी के अंग्रेजी लिखने, पढ़ने ,सुनने और बोलने की क्षमता को परखा जाता है।

आशा करते हैं कि IELTS ke bina USA se Padhai का ब्लॉग आपको अच्छा लगा होगा। यदि आप भी USA में पढ़ाई करना चाहते हैं, तो हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन 1800 572 000 पर कॉल कर बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert