प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए हिंदी विषयों की लिस्ट

1 minute read
1.2K views
10 shares
Leverage Edu Default Blog Cover

जनरल हिंदी के प्रश्न कई सारी प्रतियोगी परीक्षा में पूछे जाते हैं, चाहे वह दसवीं के बाद देने वाली प्रतियोगी परीक्षा हो चाहे यूपीएससी की परीक्षा। सभी में जनरल हिंदी के प्रश्न पूछे जाते हैं, इसी को ध्यान में रखते हुए प्रश्नों के साथ नीचे पीडीएफ लिंक भी दिए गए हैं। इसकी सहायता से आप नोट्स डाउनलोड कर के बाद में भी पढ़ सकते हैं। यह नोट्स सभी महत्वपूर्ण प्रश्नों तथा पिछली परीक्षाओं को ध्यान में रखकर बनाई गई पीडीएफ है। आइए इस ब्लॉग में विस्तार से जानते हैं Hindi for Competitive Exams के बारे में।

महत्वपूर्ण प्रश्न

1.संज्ञा के कितने भेद होते हैं? 
उत्तर- 5

2.संज्ञा और सर्वनाम की विशेषता बताने वाले शब्द को क्या कहते है? 
उत्तर- विशेषण

3. सत्य बोलो परंतु कटु सत्य मत बोलो किस प्रकार का वाक्य है? 
उत्तर-संयुक्त वाक्य

4. मयंक सुंदर है वह सुख भी है इस वाक्य का सरल वाक्य में रूपांतरण क्या होगा? 
उत्तर- मयंक सुंदर और हंसमुख है

5. वह आदमी पागल हो गया इस वाक्य में पागल क्या है? 
उत्तर- विधेयपूरक

6. भूतकाल में कितने भेद होते हैं? 
उत्तर- 6

7. क्या किधर गया ? इस वाक्य में ‘किधर’ शब्द क्या है? 
उत्तर- स्थानवाचक क्रिया विशेषण

8. “वाह! वाह फिर चलाइए” इस वाक्य में ‘वाह! वाह! शब्द क्या है? 
उत्तर- विस्मयादिबोधक अव्यय

9. काम का नाम बताने वाले शब्द को कहते हैं? 
उत्तर- क्रिया

10. क्रिया के मूल रूप को क्या कहते हैं? 
उत्तर- धातु

11. वाक्य में जिस शब्द का क्रिया से सीधा संबंध होता है उसे क्या कहते हैं? 
उत्तर- कारक

12. हिंदी में कारक कितने होते हैं? 
उत्तर- आठ

13. करण कारक का विभक्तिबोधक का क्या चिन्ह होता है? 
उत्तर- से, के द्वारा

14. संबंध कारक का विभक्ति चिन्ह क्या होता है? 
उत्तर – का, की, के, रा, री, रे

15. हिंदी में सर्वनाम की संख्या कितनी है? 
उत्तर – नौ

16. बदन-वदन का अर्थ क्या होता है? 
उत्तर-शरीर-मुंह

17. अभिराम-अविराम युग्म का अर्थ क्या होता है? 
उत्तर- सुंदर-लगातार

18. मेरा वह पेन खो गया जो तुमने मुझे दिया था यह किस प्रकार का वाक्य है? 
उत्तर-मिश्रित वाक्य

19. अत्याधिक शब्द में अशुद्धि का कारण है-
उत्तर स्वर आगम

20. दर्जी की सुई कविता स्ट में कभी टाट में लोकोक्ति का अर्थ क्या है? 
उत्तर खाली ना होना

Source – gkforexam

क्विज

Hindi for Competitive Exams

PDF 

Hindi PDF नोट्स

Hindi PDF नोट्स

प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए बेस्ट हिंदी बुक्स

ल्यूसेंट की संपूर्ण हिंदी व्याकरण और रचना यहां से खरीदें
सामान्य हिंदी यहां से खरीदें
Samanya Hindi यहां से खरीदें
आधुनिक हिंदी व्याकरण और रचना यहां से खरीदें
Educart Hindi Vyakaran for Class 3 यहां से खरीदें

विराम चिंह

विराम का अर्थ, ठहराव या रुकना जिस तरह हम काम करते समय बीच–बीच में रुकते और फिर आगे बढ़ते हैं, वैसे ही लेखक में भी विराम की आवश्यकता होती है, अत: पाठक के मनोविज्ञान को ध्यान में रखते हुए भाषा में विरामो का उपयोग आवश्यक है। श्री कामता प्रसाद गुरु जी ने विराम चिन्हों को अंग्रेजी से लिया हुआ मानते हैं। वे पूर्ण विराम को छोड़ शेष सभी विराम चिन्हों को अंग्रेजी से सम्बृद करते हैं।

विराम चिन्हों के भेद

विराम चिन्हों के भेद इस प्रकार हैं:

  • अल्प विराम
  • अर्द विराम
  • पूर्ण विराम
  • प्र्शन चिंह
  • आशचर्य चिंह (I) विस्मयादि चिंह ।
  • निर्देशक चिंह (डेश) सयोंजक चिंह |सामासिक चिंह ।
  • कोष्टक
  • अवतरण चिंह () उदरन चिंह
  • उप विराम (अपूर्ण विराम) इसे श्री गुरु विसर्ग के समकक्ष बताकर मान्यता देने की भी बात करते है ।
  • विवरण चिंह
  • लाघव चिंह
  • पुनर्क्तिसूचक चिंह
  • लोप चिंह
  • पाद चिंह
  • दीर्घ उपच्चारण चिंह
  • पाद बिंदु
  • हंसपद
  • टिका सूचक
  • तुल्य्ता सूचक
  • समाप्ति सूचक

हिंदी टॉपिक्स और विषय

उम्मीद है कि इस ब्लॉग से आपको Hindi for Competitive Exams के बारे में जानकारी मिली होगी। अगर आप विदेश में पढ़ाई करना चाहते है तो आज ही हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800 572 000 पर कॉल करके 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert