अनेकार्थी शब्द क्या होते हैं?

1 minute read
3.4K views
Anekarthi Shabd

हिंदी व्याकरण में बहुत से टॉपिक्स होते हैं जैसे संज्ञा क्या होती है, संज्ञा के भेद, कारक और उसके प्रकार, रस क्या होता, विराम चिन्ह आदि। ऐसे ही हिंदी व्याकरण में एक महत्वपूर्ण विषय है अनेकार्थी शब्द (Anekarthi Shabd)। Anekarthi Shabd एक शब्द के अनेक शब्द ज्यादातर काव्य में प्रयोग किए जाते हैं। हर भाषा की अपनी विविधता होती है जो उसे नए शब्द गढ़ने में मदद करती है। अनेकार्थी शब्द के बारे विस्तार से जानने के लिए यह ब्लॉग पूरा पढ़ें।

Check Out: Lokoktiyan in Hindi (लोकोक्तियाँ)

अनेकार्थी शब्द किसे कहते हैं?  

हर भाषा में कुछ ऐसे शब्द होते हैं जिनके एक से अधिक अर्थ निकलते हैं। ये अलग-अलग अवसरों में, वाक्यों के साथ मिलकर अलग-अलग अर्थ देते हैं। ये शब्द anekarthi shabd कहलाते हैं। जैसे-  ”रहिमन पानी राखिए, बिन पानी सब सून। ”चली चंचला, चंचला के घर से, तभी चंचला चमक पड़ी।” इन दोनों वाक्यों में पानी और चंचला का हर बार अलग अर्थ प्रयोग में लिया गया है।

अनेकार्थी शब्द की लिस्ट

Anekarthi shabd की लिस्ट नीचे दी गई है-

अनेकार्थी शब्द अर्थ
अरुण लाल, सूर्य, सूर्य का सारथी, प्रभात का सूर्य |
अपेक्षा इच्छा, आवश्यकता, आशा |
अंक भाग्य, गिनती के अंक, गोद, नाटक के अंक, चिन्ह संख्या,परिच्छेदन|
अंबर आकाश, अमृत, वस्त्र, एक सुगन्धित पदार्थ |
आम आम का फल,  साधारण, विख्यात।
अंश हिस्सा, कोण का अंश, किरण।
अज ब्रह्मा, बकरा, दशरथ का पिता,शिव ।
अब्ज चंद्रमा, कमल, शंख, कपूर।
अतिथि मेहमान, साधु, यात्री, अपरिचित व्यक्ति, यज्ञ में सोमलता लाने वाला, अग़्नि, राम का पोता या कुश का बेटा।
ईश्वर परमात्मा, स्वामी, शिव, पारा, पीतल।
इतर दूसरा, साधारण, नीच।
इंगित संकेत, अभिप्राय, हिलना-डूलना
इन्द्र देवराज, राजा, रात्रि।
ऐरावती-  इरावती नदी, बिजली, वटपत्री।
एकाक्ष-  काना, कौवा।
ओक- पक्षी, शूद्र, मतली, घर, पनाह।
औसत-  बीच का, साधारण, दरमियानी
काल समय, मृत्यु, यमराज
कर्ण कर्ण (नाम), कान
कम्बल आँसू, ऊनी वस्त्र, गाय के गले का रास
कुरंग हिरण, नीला, बदरंग
कुंभ घड़ा, एक राशि, हाथी का मस्तक
कुशल  खैरियत, चतुर 
कनक सोना, धतूरा, पलाश, गेंहूँ
गुण  विशेषता, रस्सी स्वभाव।
ग्रहण  लेना, सूर्य ग्रहण, चंद्र ग्रहण, स्वीकार करना।
गुरू  शिक्षक, श्रेष्ठ, बड़ा, भारी, दो मात्राएँ (छंद में)।
गिरा  बोलने की शक्ति, जीभ, सरस्वती, वाणी।
गौ गाय, इंद्रिय, वाणी, पृथ्वी
घन  बादल, बङा हथौङा, तीन का घात, जिसमें लम्बाई-चैङाई-ऊंचाई बराबर हो, घना
घर  कार्यालय, कुल, मकान
घोड़ा  एक प्रसिद्ध चैपाया, बंदूक का खटका, शतरंज का एक मोहरा
चक्र  अस्त्र, पहिया, गोल वस्तु, चक्कर, भँवर।
चीर रेखा, वस्त्र, चीरना, पट्टी
चपला स्त्री, बिजली, लक्ष्मी, नटखट, चंचल
जलज कमल, मोती, शंख, मछली, जोंक, चन्द्रमा
जड़ मूल, मूर्ख, सरदी से ठिठुरा, अचेतन
ज्येष्ठ (जेठ) पति का बड़ा भाई, बड़ा, हिन्दी महीना
तीर बाण, किनारा, तट
तात पूज्य, प्यारा, मित्र, पिता
तमचर उल्लू, राक्षस, चोर
तनु शरीर, पतला, कम, कोमल
दल  पत्ता, समूह, सेना, पक्ष
दक्ष कुशल, अग्नि, नदी, प्रजापति
द्विज ब्राह्मण, पक्षी, दाँत, चंद्रमा
घन बादल, अधिक, घना, गणित का घन, पिण्ड, हथौड़ा
घर  सम्पत्ति, स्त्री, भूमि, नायिका, जोड़
धर्म प्रकृति, स्वभाव, कर्तव्य, सम्प्रदाय

50 अनेकार्थी शब्द पुरे हुए  

पतंग सूर्य, पक्षी, टिड्डी, फतिंगा, गुड्डी, 
पूर्व हले, पिछला, पुराना, एक दिशा
फल लाभ, मेवा, नतीजा, भाले की नोक
फन साँप का फण, हूनर
भाग हिस्सा, विभाजन, भाग्य
मान  सम्मान, इज्जत, अभिमान, नाप-तौल, मानना
महावीर हनुमान, बहुत बलवान्, जैन तीर्थकर
योग नियम, उपाय, मिलन, जोड़
विग्रह लड़ाई, शरीर, देवता की मृर्ति
वर्ण रंग, अक्षर, ब्राह्मण आदि चार वर्ण
रुचि प्रेम, शोभा, किरण, इच्छा
रश्मि लक्ष्मी, किरण, लगाम
शिव मंगल, महादेव, भागयशाली
संज्ञा नाम, चेतना
श्रुति – वेद, कान,
श्री-  लक्ष्मी, कमला, चमक, चन्दन।
हार आभूषण, शिथिलता, पराजय

Check Out: Hindi Grammar Quiz

अन्य अनेकार्थी शब्द

अन्य Anekarthi shabd नीचे दिए गए हैं-

  • अदृष्ट – जो देखा न जाए, भाग्य, गुप्त, रहस्य।
  • अक्षर – अविनाशी, वर्ण, ईश्वर, आत्मा, आकाश, धर्म, तप।
  • अब्धि – सागर, समुद्र।
  • अंतर – हृदय, भेद, फर्क, व्यवधान, अवधि, अवसर।
  • अमर – ईश्वर, देवता, शाश्वत, आकाश और धरती के मध्य में।
  • अधर – होंठ, नीचे, पराजित।
  • अर्क – सूर्य, रस, आका का पौधा।
  • अनंत – आकाश, जिसका अंत न हो, ईश्वर, शेषनाग।
  • आली – सखी, पंक्ति।
  • उपचार – इलाज, उपाय।
  • अरूण – हल्का लाल रंग, सूर्य का सारथी, प्रभात का सूर्य।
  • अवकाश – छुट्टी, बीच के आराम का समय, मौका।
  • अपवाद – निंदा, किसी नियम का विरोधी।
  • अभिजात – पूज्य, उच्च कुल का, सुंदर।
  • और – तथा, दूसरा, अधिक, योजक शब्द।
  • कुल – वंश, सारा, सभी।
  • घट – घड़ा, हृदय, कम, देह, पिंड।
  • जवान – युवा, सैनिक, योद्धा।
  • जीवन – जिंदगी, प्राण, जल, वृत्ति।
  • तम – अँधेरा, कालिख, अज्ञान, क्रोध, राहु, पाप।
  • तप – तपस्या, साधना, अग्नि।
  • तार – धातु का तार, तारघर से संदेश भेजना, तारना।
  • तारा – आँख की पुतली, सितारा, महाराजा हरिश्चंद्र की पत्नी।
  • दक्षिण – दक्षिण दिशा, दाहिना, अनुकूल।
  • धन – पूँजी, द्रव्य।
  • धारणा – बुद्धि, विचार, विश्वास।
  • नाग – सर्प, हाथी, नागकेसर।
  • नग – नगीना, पर्वत।
  • नायक – मुख्यपात्र, नेता, मार्गदर्शक।
  • निशाचर – राक्षस, उल्लू, चोर।
  • पट – कपड़ा, दरवाज़ा, तख्ता।
  • पत्र – पत्ता, चिट्ठी, पृष्ठ, पंख।
  • पद – पैर, शब्द, छंद, पदवी, अधिकार, स्थान, भाग, गीत।
  • पय – पानी, दूध।
  • बल – शक्ति, सेना।
  • भूत – प्रेत, बीता हुआ समय, पंचभूत, प्राणी।
  • भृति – मज़दूरी, मूल्य, वेतन।
  • मधु – शहद, एक राक्षस, मधु ऋतु (वसंत)।
  • मूल – जड़, आधार, असल धन।
  • यति- योगी, जितेन्द्रिय, ब्रह्मा-पुत्र, विराम।
  • रस – जड़, निचोड़, खट्टा-मीठा आनंद।
  • वास – निवास, घर, सुगंध।
  • वंश – गन्ना, बाँस, खानदान, समूह।
  • सूर – सूर्य, सूरदास एक कवि, अंधा व्यक्ति, शूरवीर।
  • स्कंध – कंधा, पेड़ का तना, ग्रंथ का भाग।
  • हर – शिव, चुरा लेना।
  • विहंग – पक्षी, वाण, बादल, विमान, सूर्य, चन्द्रमा, देवता।
  • शर – सरकंडा, बाण, तीर, नरकट, जल, पाँच की संख्या, रूस।
  • शरभ – ऊँट, एक मृग, टिड्डी, सिंह, हाथी का बच्चा, विष्णु।
  • सरि – समता, माला, नदी, सरिता, बराबरी, सदृश।
  • सारंग – हिरन, बादल, पानी, मोर, शंख, पपीहा, हाथी, सिंह, राजहंस, भ्रमर, कपूर, कामदेव, कोयल, धनुष, मधुमक्खी , कमल, भूषण।
  • सार – रस, रक्षा, जुआ, लाभ, उत्तम, पत्नी का भाई, तलवार, तत्त्व।
  • सूर – वीर, अन्धा, एक कवि, सूर्य, अर्क, मदार, आचार्य, पण्डित।
  • सूत – बढ़ई, धागा, पौराणिक, सारथी, सूत्रकार, सूर्य, पारा।।
  • सैन – सेना, संकेत, बाज पक्षी, इंगित, लक्षण, चिन्ह।
  • हरि – विष्णु, इन्द्र, बन्दर, हवा, सर्प, सिंह, आग, कामदेव, हंस, मेंढक, चाँद, हरा रंगा
  • हीन – नीचा, तुच्छ, कम, रहित, छोड़ा हुआ, अल्प, निष्कपट, बुरा, शून्य।
  • हेम – सोना, तुषार, इज़्ज़त, पीला रंग।
  • हंस – आत्मा, योगी, श्वेत, घोड़ा, सूर्य, सरोवर का पक्षी।
  • क्षेत्र – शरीर, तीर्थ, गृह, प्रकृति, खेल, स्त्री।

10 अनेकार्थी शब्द उनके अर्थ और उदाहरण के साथ  

1. चारु-  सुंदर  
उदाहरण चारु चंद्र की चंचल किरणें, खेल रहीं हैं जल थल में

2.  चंचल- अस्थिर
उदाहरणचारु चंद्र की चंचल किरणें, खेल रहीं हैं जल थल में|

3.अवनि-पृथ्वी
 उदाहरण स्वच्छ चाँदनी बिछी हुई है अवनि और अम्बरतल में।

4.अम्बरतल- आकाश तले
उदाहरण-  स्वच्छ चाँदनी बिछी हुई है अवनि और अम्बरतल में।

5.पुलक- आनंद
उदाहरणपुलक प्रकट करती है धरती, हरित तृणों की नोकों से|

6.मन्द- हल्की 
उदाहरणमानों झीम रहे हैं तरु भी, मन्द पवन के झोंकों से

7.मनका- माला के दाने
उदाहरणकरका मनका डारि दैं मन का मनका फेर।

8 .मन – चित्त
उदाहरणकरका मनका डारि दैं मन का मनका फेर।

9.पानी- चमक (मोती के लिए)
उदाहरण  रहिमन पानी राखिए, बिन पानी सब सून

10. चंचला- लक्ष्मी, स्त्री, बिजली
उदाहरण चली चंचला, चंचला के घर से, तभी चंचला चमक पड़ी।”

Check Out: 200 Ling Badlo List in Hindi

वर्कशीट्स

Anekarthi Shabd
Source – Pinterest
 Anekarthi Shabd
Source – Liveworksheets
 Anekarthi Shabd
Source – Liveworksheets

अनेकार्थी शब्द MCQs

नाग का अनेकार्थी नहीं है?
हाथी
नागकेसर
एक जाति विशेष
पराग

उत्तर- पराग

पट का अनेकार्थी नहीं है ?
दरवाजा
पर्दा
चित्र का आधार
खेल

 उत्तर- खेल

दल का अनेकार्थी नहीं है ?
सेना
समूह
पता
अग्नी

उत्तर- अग्नी

सारंग अनेकार्थी है?
बिजली, मोर ,सर्प
राग ,बादल ,पानी
पानी, चातक ,सिंह
उपयुक्त सभी

उत्तर- उपयुक्त सभी

भक्ति अनेकार्थी नहीं है?
कविता 
पूजा
सेवा
श्रद्धा 

उत्तर- कविता

कौन सा एक मित्र का अर्थ नहीं है ?
दोस्त
सूर्य
शराब
सग

उत्तर- शराब

“टीका” का अनेकार्थी शब्द नही है?
तिलक
व्याख्या
सिंदूर
धब्बा

उत्तर- सिंदूर

सारंग’ का अनेकार्थक शब्द समूह है –
 चन्द्रमा, भौंरा, रति-क्रिड़ा, चाबुक
 चन्द्रमा, हाथि, भौंरा, कोयल
 चन्द्रमा, जत्था, असत्य, भौंरा
 हाथी, विष, चूना, चन्द्रमा

उत्तर- चन्द्रमा, हाथि, भौंरा, कोयल

घन’ का अनेकार्थक शब्द समूह है –
बादल, घटा, भारी, हथौड़ा
बादल, हाथ, बगीचा, भारी
हथौड़ा, अधिक बड़ा, बादल, घटा
अधिक बड़ा, हथौड़ा, भारी, बादल

उत्तर- हथौड़ा, अधिक बड़ा, बादल, घटा

‘पतंग’ शब्द किस अर्थ में प्रयुक्त नहीं होता है –
सूर्य
पक्षी
कनकौआ
वादक

उत्तर- सूर्य

गुरु का अनेकार्थी शब्द क्या है?

गुरु: शिक्षक, ग्रहविशेष, श्रेष्ठ, बृहस्पति, भारी, बड़ा, भार।

अनेकार्थी शब्द क्या होता है?

ऐसे शब्द, जिनके अनेक अर्थ होते है, अनेकार्थी शब्द कहलाते है। दूसरे शब्दों में- जिन शब्दों के एक से अधिक अर्थ होते हैं, उन्हें ‘अनेकार्थी शब्द’ कहते है।

एकार्थी और अनेकार्थी शब्द में क्या अंतर है?

जिस शब्द का एक ही अर्थ हो उसे एकार्थी शब्द कहते है। उदाहरण=पाप और अपराध=गुनाह। 
जिस शब्द का एक से अधिक अर्थ हो उसे अनेकार्थी शब्द कहते है।। उदाहरण= पानी,नीर,जल।

मगर शब्द का अनेकार्थी शब्द क्या क्या है?

मगर का अनेकार्थी शब्द एक जानवर और परंतु।

मुद्रा का अनेकार्थी शब्द क्या है?

मुद्रा: मुहर, आकृति, सिक्का, अँगूठी, रूप, धन।

“कौशिक” का अनेकार्थी शब्द नहीं है?

(अ) सपेरा
(ब) विश्वामित्र
(स) नेवला
(द) शिव

उत्तर: द

“छादन” का अनेकार्थी शब्द नहीं है?

(अ) आच्छादन
(ब) ढक्कन
(स) वस्त्र
(द) अपरस

उत्तर: ब

 “टीका” का अनेकार्थी शब्द नहीं है?

(अ) तिलक
(ब) व्याख्या
(स) सिंदूर
(द) धब्बा

उत्तर: स

निम्न में से ‘हंस’ का अर्थ नहीं है?

(अ) सूर्य
(ब) मराल
(स) कमल
(द) जीवात्मा

उत्तर: स

निम्न में से ‘खल’ का अर्थ नहीं है?

(अ) दुष्ट
(ब) धतूरा
(स) नीच
(द) गधा

उत्तर: द

“तारा” का अनेकार्थी शब्द नहीं है?

(अ) बाली की स्त्री
(ब) बृहस्पति की पत्नी
(स) नक्षत्र
(द) ध्रुव

उत्तर: द

“कोष” का अनेकार्थी शब्द नहीं है?

(अ) खजाना
(ब) म्यान
(स) खाली
(द) स्थान

उत्तर: स

“जर” का अनेकार्थी शब्द नहीं है?

(अ) जरा
(ब) जल
(स) जमीन
(द) जड़

उत्तर: स

‘गौरी’ शब्द का अर्थ नहीं है?

(अ) पार्वती
(ब) सरस्वती
(स) हल्दी
(द) पृथ्वी

उत्तर: ब

निम्न में से ‘अर्घ’ का अर्थ नहीं है?

(अ) श्रेष्ठ
(ब) मधु
(स) मूल्य
(द) शहद

उत्तर: अ

FAQs

घोष के अनेकार्थक शब्द कौन से हैं?

इसी तरह “स” और “श” दोनों अघोष है, जबकि “ज़” घोष है। देवनागरी के हर नियमित वर्ग में पहले दो वर्ण अघोष और उन के बाद के दो घोष होते हैं। क/ख, च/छ, त/थ, ट/ठ, प/फ अघोष हैं, जबकि ग/घ, ज/झ, द/ध, ड/ढ, ब/भ घोष हैं।

कुल का अनेकार्थी शब्द क्या होता है?

कुल के एक से अधिक अर्थ – वंश, सब।

अंबर का अनेकार्थी शब्द क्या होगा?

अंबर के एक से अधिक अर्थ – आकाश, अमृत, वस्त्र।

अनंत का अनेकार्थी शब्द क्या है?

अनंत के एक से अधिक अर्थ – आकाश, ईश्वर, विष्णु, अंतहीन, शेष नाग।

वर्ण का अनेकार्थी शब्द?

वर्ण का अनेकार्थी शब्द : रंग, अक्षर, चातुर्वर्ण्य (ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य, शूद्र), रूप, जाति आदि ये सभी वर्ण के अनेकार्थी शब्द हैं।

घर का अनेकार्थी शब्द?

घर = मकान, कुल, कार्यालय।

आशा करते हैं कि आपको Anekarthi Shabd के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी मिली होगी। यदि आप विदेश में पढ़ाई करना चाहते हैं तो आज ही हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स को 1800572000 पर कॉल करें और 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert