UX/UI डिज़ाइनर कैसे बनें?

1 minute read
952 views
10 shares
UX/UI Designer कैसे बने

आज के इस आधुनिक युग में इंटरनेट और मोबाइल का उपयोग बढ़ने के कारण एक डिजिटल दुनिया का निर्माण हो रहा है,जहाँ सभी चीजें ऑनलाइन आसानी से प्राप्त हो जा रही हैं। UX/UI का मतलब यूजर एक्सपीरियंस/यूजरइंटरफ़ेस होता है जिसकी पढ़ाई डिज़ाइनर द्वारा की जाती है ताकि अपने यूजर्स को सही सलाह दे सकें। डिज़ाइनर द्वारा यूजर्स को दुनिया के सभी व्यापार, ब्रांड, नए संसाधन, आदि बड़े ही संतुलित ढंग से समझाने पड़ते हैं। UX/UI किसी भी प्रोडक्ट को योग्य, सुंदर और सरल बनाता है। वेब डेवलपमेंट के लिए रिक्रूटर्स UX/UI डिज़ाइनर को हायर करते हैं। अगर UX/UI की पढ़ाई कर आप एक UX/UI डिज़ाइनर बनना चाहते हैं तो आए इसके सभी विषयों के बारे में जान लेते हैं। आइये जान लेते है UX/UI डिज़ाइनर क्या है और UX/UI Designer कैसे बने।  

UX/UI फुल फॉर्म

UX का फुल फॉर्म है User Experience और UI का User Interface। इसकी पढ़ाई कर डिज़ाइनर वेब डेवलपमेंट के छेत्र में अपना करियर बनाते हैं। 

ज़रूर पढ़ें: Web Developer Kaise Bane

UX/UI डिज़ाइन क्या है?

जैसा कि आपको पता चल गया होगा इसके फुल फॉर्म से कि इसके अर्थ हैं-

  1. ग्राहक के अनुभव को जानना।
  2. यूजर्स के बारे में रिसर्च करना।
  3. यूजर्स को अपने प्रॉडक्ट के बारे में बताना और उसके ज़रूरतों को समझाना।
  4. अपने आईडिया को यूजर्स के मुताबिक डिज़ाइन करना।
  5. अपने डिज़ाइन मे सुधार करना और उसके प्रोटोटाइप बनाना।
  6. सभी तथ्यों का सही ज्ञान होना चाहिए जैसे ग्राफ़िक्स, फीचर्स, रंग आदि। 
  7. अपने डिज़ाइन को एक स्क्रीन पर साँझा करना और सॉफ्टवेयर का सही उपयोग करना जैसे कोई भी एक मोबाइल आवेदन बनाना।
  8. UX/UI डिज़ाइन तैयार करने के बाद इसमे मार्केट रिसर्च भी शामिल की जाती है, तब जाकर एक डिज़ाइन पूर्ण मानी जाती है।

UX/UI डिज़ाइनर का काम क्या है?

UX/UI डिज़ाइनर के ज्यादातर काम डिजाइनिंग से ही जुड़े हुए होते हैं जो कुछ यूँ हैं-

  1. डिज़ाइनर को अपने प्रोजेक्ट को सही शेप, इमेज, कलर, टेक्स्ट, आदि देना होता है। 
  2. प्रोजेक्ट का आईडिया और थीम दोनों ही डिज़ाइनर का काम है। 
  3. प्रोजेक्ट को पूरी तरह डिज़ाइन करने के बाद UI डिज़ाइनर प्रोजेक्ट को तैयार कर फाइनल करता है। 
  4. डिज़ाइनर को अपने प्रोजेक्ट का प्रचार खुद ही करना पड़ता है।

स्किल्स

UX/UI Designer कैसे बने जानने के साथ-साथ यह जानना भी आवश्यक है कि इसके लिए किन स्किल्स की ज़रूरत होती है, जो नीचे दी गई है-

  • UX रिसर्च
  • वायरफ्रेमिंग और प्रोटोटाइपिंग
  • UX लेखन कौशल
  • इंटरेक्शन डिजाइन कौशल
  • दृश्य संचार
  • कोडिंग
  • सूचना आर्किटेक्चर
  • विश्लेषणात्मक
  • एप्लीकेशन का विकास
  • उपयोगकर्ता रिसर्च और उपयोगिता परीक्षण

UX/UI डिज़ाइनर बनने के लिए स्टेप बाय स्टेप गाइड

UX/UI Designer कैसे बने जानने के साथ-साथ यह जानना भी आवश्यक है कि इसके लिए स्टेप बाय स्टेप गाइड क्या है, जो इस प्रकार है:

  • UX/UI डिज़ाइनर बनने के लिए आपको पूरे तरीके से इसके प्रोसेस का पता होना चाहिए और कोई किसी भी सॉफ्टवेयर की नॉलेज हो। वेब डेवलपमेंट के छेत्र में ये अहम किरदार निभाते हैं। 
  • सबसे पहले एक डिज़ाइनर को कोई भी वेबसाइट या ऐप बनाने के लिए उसका आर्किटेक्ट तैयार करना होगा जिसे IA कहते हैं, फिर उसका वायरफ्रेम बनाकर डिज़ाइन का कांसेप्ट बनाते हैं। 
  • वायरफ्रेम के लिए Adobe XD की सहायता ले सकते हैं। 
  • डिज़ाइन के कांसेप्ट के लिए Adobe XD, sketch, sigma, आदि सीख लें। 
  • प्रोटोटाइप बनाने के लिए Adobe XD या इसके जैसा कोई भी सॉफ्टवेयर सीख लें। 
  • अगर Photoshop या After effects पर भी अच्छी पकड़ बना लें तो भविष्य में आपकी बहुत मदद करेगा। 

UX/UI डिज़ाइनर की योग्यता और अवधि

UX/UI डिज़ाइनर बनने के लिए कोई भी विशेष रूप से डिग्री की आवश्यकता नहीं है और ना ही इसको सीखने की कोई उम्र।आप अपने interest के अनुसार ये कोर्स सीख सकते हैं।

UX/UI डिज़ाइनर बनने के लिए फीस

UX/UI डिज़ाइनर बनने के लिए फीस नीचे दी गई है-

  • UX/UI डिज़ाइनर के कोर्स आप किसी भी संस्थान से कर सकते हैं- ऑनलाइन या ऑफलाइन। सभी संस्थानों की फीस अलग अलग होती है। 
  • UX/UI डिज़ाइनर की कुल फीस लगभग INR 20,000-1 लाख तक हो सकती है। 

विदेशी यूनिवर्सिटीज

UX/UI Designer कैसे बने जानने के लिए ज़रूरी है कि इस कोर्स के लिए कौनसी विदेशी यूनिवर्सिटीज बेस्ट हैं, जिनके नाम इस प्रकार हैं:

यूनिवर्सिटीज स्थान QS रैंकिंग 2022
करनेगी मेलों विश्वविद्यालय अमेरिका 17
डिजाइन के पार्सन्स स्कूल अमेरिका 3
रॉयल कॉलेज ऑफ़ आर्ट यूके 1
RMIT विश्वविद्यालय ऑस्ट्रेलिया 11
प्रैट संस्थान अमेरिका 10
कला के कैलिफोर्निया संस्थान अमेरिका 20
एमिली कैर यूनिवर्सिटी ऑफ़ आर्ट + डिज़ाइन कनाडा 40
स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय अमेरिका 16
मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एमआईटी) अमेरिका 5
दृश्य कला विद्यालय अमेरिका 28

आप UniConnect के जरिए विश्व के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन विश्वविद्यालय मेले का हिस्सा बनने का मौका पा सकते हैं, जहाँ आप अपनी पसंद के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि से सीधा संपर्क कर सकेंगे।

टॉप भारतीय कॉलेज

UX/UI डिजाइनिंग कोर्स ऑफर करने वाले टॉप भारतीय कॉलेज के नाम नीचे दिए गए हैं-

कॉलेज स्थान
राष्ट्रीय डिजाइन संस्थान (NID) अहमदाबाद
IDC, IIT बॉम्बे मुंबई
डिजाइन विभाग, IIT गुहावटी गुहावटी
सृष्टि स्कूल ऑफ़ आर्ट, डिज़ाइन एंड टेक्नोलॉजी बैंगलोर
MAEER’S MIT डिजाइन संस्थान पुणे
इंडियन स्कूल ऑफ़ डिज़ाइन एंड इनोवेशन मुंबई
D J डिजाइन अकादमी कोयंबटूर
École intuit.lab, फ्रेंच इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन एंड कम्युनिकेशन मुंबई
NICC, डिजाइन के इंटरनेशनल कॉलेज बैंगलोर
सिम्बायोसिस इंस्टिट्यूट ऑफ़ डिज़ाइन पुणे

योग्यता और अवधि

UX/UI Designer कैसे बने जानने के साथ-साथ यह जानना भी आवश्यक है कि इसके लिए योग्यता क्या है, जो इस प्रकार है:

  • UX/UI डिजाइनिंग के कोर्स आप 10वीं/12वीं के बाद या फिर ग्रेजुएशन के बाद आसानी से कर सकते हैं। 
  • कोई भी लैंग्वेज या सॉफ्टवेयर सीखने के लिए आपकी रुचि होनी चाहिए। 
  • आप अपने ग्रेजुएशन के बाद इसकी पढ़ाई कर एक बेहतर जॉब ले सकते हैं। 
  • आपकी कम्युनिकेशन स्किल्स सरल और सुंदर होनी चाहिए। 
  • आपको हमेशा एक क्रिएटिव सोच रखनी चाहिए ताकि आपके आईडिया को मार्गदर्शन मिले।
  • विदेश में पढ़ने के लिए इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट जैसे IELTS, TOEFL के अंक अनिवार्य हैं।

क्या आप IELTS/TOEFL/SAT/GRE में अच्छे अंक प्राप्त करना चाहते हैं? आज ही इन परीक्षाओं  की बेहतरीन तैयारी के लिए Leverage Live पर रजिस्टर करें और अच्छे अंक प्राप्त करें।

आवेदन प्रक्रिया 

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसेSOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसेIELTSTOEFLSATACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTSTOEFLPTEGMATGRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Liveकक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीजाऔर छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  1. सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  2. यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  3. फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  4. अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  5. इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  6. यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवदेन प्रक्रिया से सम्बन्धित जानकारी और मदद के लिए Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800 572 000 पर संपर्क करें

आवश्यक दस्तावेज 

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

छात्र वीजा पाने के लिए भी Leverage Edu विशेषज्ञ आपकी हर सम्भव मदद करेंगे।

UX/UI डिज़ाइनर जॉब

UX/UI डिज़ाइनर जॉब के लिए जानकारी नीचे दी गई है-

  • UX/UI डिजाइनिंग के कोर्स कर आप छेत्र के किसी भी जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं। 
  • सॉफ्टवेयर और कई अन्य टूल्स इस्तेमाल कर वेब डेवलपमेंट के क्षेत्र में आप कोई भी ऐप बना सकते हैं चाहे वो एक हेल्थ ऐप हो या फिर एक गेम ऐप। 
  • आप इस क्षेत्र से फ्रीलांसिंग भी कर सकते हैं। 

UX/UI डिज़ाइनर सैलरी

विश्वभर में बढ़ते डिजिटल स्रोत से इंटरनेट और मोबाइल का इस्तेमाल बढ़ गया है। अगर आप UX/UI डिजाइनिंग का कोर्स कर लेते हैं तो इस क्षेत्र में आपको नौकरी की ज्यादा तलाश नहीं करनी पड़ेगी। अच्छे उम्मीदवार को अच्छी position और अच्छा वेतन प्राप्त होता है। UX/UI डिज़ाइनर की शुरुआती सैलरी कम से कम INR 15,000/प्रति माह हो सकती है और अगर अनुभव का सही इस्तेमाल किया तो आप एक अच्छी सैलरी पा सकते हैं। 

FAQs

UX डिज़ाइनर का क्या काम होता है? 

UX डिज़ाइनर का काम है यूजर्स के अनुभव को परखना और उसमे सुधार करना। यूजर्स के मुताबिक डिज़ाइनर रिसर्च करके अपने प्रोजेक्ट को एक सही आकार देते हैं।

10वीं/12वीं के बाद UX/UI डिज़ाइनर कैसे बने? 

किसी भी अच्छे संस्थान से इसका कोर्स करें और कोई भी एक सॉफ्टवेयर सीख लें जैसे Adobe XD आदि। यह कोर्स सीखने के लिए डिग्री की नहीं रुचि की ज़रूरत है। 

भारत में UX/UI डिज़ाइनर को सैलरी कितनी मिलती है? 

अगर आपने UX/UI डिजाइनिंग की पढ़ाई सही तरीके से की है तो आप एक अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं। शुरूआती सैलरी INR 15,000-20,000 तक हो सकती है। 

UX/UI के लिए कौन-कौन से कोर्स टाइप होते हैं? 

UX/UI डिजाइनिंग की पढ़ाई करने के बाद आप बैचलर्स की पढ़ाई और PhD भी कर सकते हैं। इसके बाद आप किसी भी उच्चतर स्तर पर UX/UI डिजाइनिंग पढ़ा सकते हैं। 

उम्मीद है UX/UI Designer कैसे बने का यह ब्लॉग आपको पसंद आया होगा, हमें ऐसी आशा है। यदि आप विदेश में UX/UI डिजाइनिंग कोर्स चाहते हैं तो हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट से 1800 572 000 पर कॉन्टेक्ट कर आज ही 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert