दिग्गज़ क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी का सफरनामा

1 minute read
1.3K views
Dhoni ki Kahani

भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी, यह नाम कोई आम नाम नहीं है। हेलीकाप्टर शॉट के जनक ‘कैप्टन कूल’ धोनी ने अपने अंदाज़ से करोड़ों का दिल जीता है। धोनी ‘माही’ के नाम से भी मशहूर हैं। धोनी ने अपना रुतबा बहुत ही कम समय में कायम कर लिया था। भारतीय टीम यदि किसी मैच में फंस जाती थी तो धोनी ही टीम के लिए संकटमोचक साबित होते थे। दवाब से टीम को उबारने और मैच जिताने के कारण ही उन्हें मैच फिनिशर का तमगा भी मिला हुआ था। विपक्षी खेमा भी उनकी इसी शक्शियत का कायल था। धोनी ने अपने करोड़ों फैन्स का दिल 15 अगस्त 2020 को संन्यास लेने की बात कहकर तोड़ा था। धोनी की कहानी वाकई में काफी रोमांचक भरी है कि यह आपको प्रेरणा से भर देगी, तो आइए जानते हैं Dhoni ki Kahani के बारे में इस ब्लॉग से

यह भी पढ़ें: क्रिकेटर कैसे बने?

प्रारंभिक जीवन

महेंद्र सिंह धोनी का जन्म एक मध्यमवर्गी परिवार में रांची, झारखण्ड में 7 जुलाई 1981 को हुआ था। धोनी के पिता का नाम पान सिंह धोनी और उनकी माँ का नाम देवकी धोनी है। धोनी के एक बड़े भाई जिनका नाम नरेन्द्र सिंह धोनी और एक बहन जिनका नाम जयंती है। धोनी ने अपनी शुरुआती शिक्षा रांची के जवाहर विद्या मंदिर स्कूल से पूरी की। धोनी के पिता रांची में एक स्टील बनाने वाली कंपनी में काम करते थे।

Dhoni ki Kahani
Source – Rediff

करियर (घरेलू व अंतरराष्ट्रीय)

धोनी ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत से ही यह बता दिया कि यह कोई आम खिलाड़ी तो नहीं होने वाला है। 2005 में धोनी की पाकिस्तान के विरुद्ध वनडे में खेली गई 148 रनों की पारी ने धोनी के आक्रामक खेल का परिचय दे दिया था। तो आइए जानते हैं Dhoni ki Kahani में कैसा रहा उनका करियर – 

घरेलू क्रिकेट

1995-98 के दौरान धोनी ने कमांडो क्रिकेट क्लब में अपनी विकेट कीपिंग का कौशल दिखाया और उन्हें 1997-98 सत्र के लिए वीनू मांकड़ ट्रॉफी अंडर -16 चैम्पियनशिप के लिए चुना गया जहां उन्होंने उम्दा प्रदर्शन किया। धोनी ने अपने प्रोफेशनल क्रिकेट करियर की शुरुआत सन 1998 में बिहार अंडर-19 टीम से की। 1999-2000 में धोनी ने बिहार रणजी टीम में खेलकर अपना पदार्पण किया। देवधर ट्रॉफी, दिलीप ट्रॉफी और इंडिया “ए” में केन्या टूर में किए गए प्रदर्शन की बदौलत ही राष्ट्रीय टीम चयन समीति का ध्यान धोनी पर गया।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट

धोनी की कहानी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भी काफी रोमांचक रही है, नीचे उनके अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के बारे में बताया गया है-

  • धोनी ने अपना डेब्यू टेस्ट मैच 2 दिसंबर 2004 को श्रीलंका के विरुद्ध खेला था और आखिरी मैच 26 दिसंबर 2014 को ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध
  • धोनी ने अपना डेब्यू वनडे मैच 23 दिसंबर 2004 को बांग्लादेश के विरुद्ध खेला था और आखिरी मैच 10 जुलाई 2019 को न्यूज़ीलैंड के विरुद्ध
  • धोनी ने अपना डेब्यू टी20 मैच 1 दिसंबर 2006 को दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध खेला था और आखिरी मैच 22 दिसंबर 2017 में श्रीलंका के विरुद्ध
Dhoni ki Kahani
Source – Pinterest

टेस्ट

धोनी ने 90 टेस्ट मैच खेलें हैं जिसमें 144 पारियां हैं और उसमें उन्होंने 38.09 की औसत से 4876 रन बनाएं हैं। टेस्ट में उन्होंने 6 शतक और 33 अर्धशतक लगाएं हैं। धोनी ने 256 कैच और 38 स्टंपिंग की हैं। उनका एक पारी का सर्वाधिक स्कोर 224 है।

वनडे

धोनी ने वनडे में 350 मैच खेले हैं जिसमें 297 पारियां शामिल हैं। उन्होंने 50.57 की औसत से 10,773 रन बनाए हैं। धोनी ने 321 कैच और 123 स्टंपिंग की हैं। धोनी के नाम वनडे में 10 शतक और 73 अर्धशतक हैं और 1 विकेट भी उनके नाम है। उनका सर्वाधिक स्कोर 183 नॉटआउट है जो उन्होंने श्रीलंका के विरुद्ध 2005 में बनाया था। 

टी20

धोनी ने टी20 में 98 मैच खेलें हैं जिसमें 85 पारियां हैं। 37.60 की औसत से धोनी ने 1,617 रन बनाए हैं। उन्होंने 57 कैच और 34 स्टंपिंग की हैं। धोनी का सर्वाधिक स्कोर 56 है।

Check out: नौकरी की खोज कैसे करें

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 

Dhoni ki Kahani
Source – Zee

धोनी की कहानी आईपीएल में भी काफी सफल रही है। धोनी की कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स ने 3 बार आईपीएल जीता है (2010,2011 और 2018)। धोनी ने 211 आईपीएल मैचों में 40 की औसत से 4,669 रन बनाएं हैं। उन्होंने अब तक 118 कैच और 39 स्टंपिंग की हैं। उन्होंने 23 अर्धशतक भी जड़े हैं। उनका आईपीएल में सर्वाधिक स्कोर 84 नॉटआउट है।

आईपीएल 2022

धोनी को आईपीएल 2022 के लिए चेन्नई सुपरकिंग्स में INR 12 करोड़ में बतौर कप्तान के रूप में रिटेन किया था। आईपीएल शुरू होने से पहले धोनी ने चेन्नई सुपरकिंग्स की कप्तानी से इस्तीफ़ा दे दिया था और अब इस टीम की बागडोर रविंद्र जडेजा के हाथों में है। धोनी ने इस साल के आईपीएल में अपने पहले ही मैच में 50 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली थी। धोनी ने इसी आईपीएल में अपने 7 हज़ार रन भी पूरे कर लिए हैं, ऐसे करने वाले वे छटे भारतीय भी बन गए हैं।

यह भी पढ़ें: Virat Kohli Biography in Hindi

कीर्तिमान व उपलब्धियां

Dhoni ki Kahani में बहुत से दिलचस्प कीर्तिमान व उपलब्धियां हैं। 2007 में धोनी को प्रथम टी20 विश्वकप की कप्तानी सौंपी गई थी। Dhoni ki Kahani क्या हैं उनके द्वारा स्थापित कीर्तिमान व उनकी उपलब्धियां – 

  • आईसीसी की सभी तीन ट्रॉफी जीतने वाले एकमात्र कप्तान – एमएस धोनी ने अपनी कप्तानी में भारत को वनडे विश्व कप (2011), वर्ल्ड टी20 (2007) और चैंपियंस ट्रॉफी (2013) में जीत दिलाई
  • सबसे ज्यादा अंतरराष्ट्रीय मैचों में कप्तानी का रिकॉर्ड – 332
  • भारत की ओर से सबसे ज्यादा टेस्ट (60), वनडे (200) और टी20 अंतरराष्ट्रीय (72) में कप्तानी का रिकॉर्ड, साथ ही भारत की तरफ से सबसे ज्यादा टेस्ट (27), वनडे (110) और टी20 अंतरराष्ट्रीय (41) जीतने वाले कप्तान
  • सबसे ज्यादा टी20 अंतरराष्ट्रीय (98) खेलने वाले भारतीय खिलाड़ी
  • वनडे में किसी भी विकेटकीपर बल्लेबाज के सर्वाधिक स्कोर का विश्व रिकॉर्ड – 183* vs श्रीलंका, जयपुर, 2005
  • वनडे में सबसे ज्यादा स्टंपिंग का रिकॉर्ड – 123
  • अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा स्टंपिंग का रिकॉर्ड – 195, इसके अलावा उनके नाम टी20 अंतरराष्ट्रीय में भी सबसे ज्यादा स्टंपिंग (34) का रिकॉर्ड है
  • टी20 अंतरराष्ट्रीय में विकेटकीपर के सबसे ज्यादा शिकार का विश्व रिकॉर्ड – 91 (57 कैच एवं 34 स्टंपिंग)
  • वनडे में सबसे ज्यादा बार नॉट आउट रहने का विश्व रिकॉर्ड – 84
  • अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में किसी भी कप्तान द्वारा सबसे ज्यादा छक्के लगाने का विश्व रिकॉर्ड – 204
  • सबसे ज्यादा 255 टी20 मैचों में कप्तानी का रिकॉर्ड और 150 टी20 मैच जीतने का रिकॉर्ड बनाने वाले विश्व के एकमात्र कप्तान
  • भारत ने उनकी कप्तानी में 2010 और 2016 का एशिया कप भी जीता था.
  • महेंद्र सिंह धोनी को वर्ष 2007 के सर्वोच्च खेल सम्मान ‘राजीव गांधी खेल-रत्न पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया है

निजी जीवन

धोनी की कहानी का नया अध्याय उनकी शादी से शुरू हुआ। धोनी 4 जुलाई 2010 को अपनी अपने स्कूल की सहपाठी साक्षी सिंह रावत से शादी के बंधन में बंध गए थे। साक्षी देहरादून से ताल्लुक रखती हैं। 6 फ़रवरी 2015 को इन दोनों के यहाँ एक बच्ची ने जन्म लिया। धोनी की बेटी का नाम जीवा है।

धोनी द अनटोल्ड स्टोरी

धोनी ने कई एड में काम किया है। कई रियलिटी शोज़ में भी गए हैं। Dhoni ki kahani असली तौर पर 2016 में उनकी बायोपिक “धोनी द अनटोल्ड स्टोरी” के रूप में लोगों के सामने आई। इस फिल्म में धोनी का किरदार दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने निभाया था।

रोचक तथ्य

धोनी की कहानी में कई रोचक तथ्य हैं, जिनके बारे में नीचे बताया गया है-

  • धोनी का पहला प्यार फुटबॉल रहा है। वे अपने स्कूल की टीम में गोलकीपर थे। इंडियन सुपर लीग में धोनी चेन्यैन एफ़सी टीम के मालिक भी हैं।
  • इन खेलों के अलावा धोनी को मोटर रेसिंग से भी ख़ासा लगाव रहा है। उन्होंने मोटररेसिंग में माही रेसिंग टीम के नाम से एक टीम भी खरीदी हुई है।
  • महेंद्र सिंह धोनी अपने लंबे बालों के लिए भी मशहूर रहे हैं। पूर्व पाकिस्तानी राष्ट्रपति परवेज़ मुशर्रफ़ उनके लंबे बालों के कायल थे।
  • महेंद्र सिंह धोनी 2011 में भारतीय सेना में मानद लेफ्टिनेंट कर्नल बनाए गए। 
  • महेंद्र सिंह धोनी मोटरबाइक्स के ख़ासे दीवाने हैं। उनके पास दो दर्जन आधुनिकतम मोटर बाइक मौजूद हैं और उनके पास हमर जैसी कई महंगी गाड़ियां हैं।
Dhoni ki Kahani
Source – Sportskeeda

यह भी पढ़ें: Rohit Sharma Ki Safalta Ki Kahani

FAQs

महेंद्र सिंह धोनी ने कब संन्यास लिया?

महेंद्र सिंह धोनी ने 15 अगस्त 2020 को क्रिकेट से संन्यास लिया था।

धोनी ने अपने पहले वनडे मैच में कितने रन बनाए थे?

धोनी ने अपने पहले वनडे मैच में 0 रन बनाए थे।

महेंद्र सिंह धोनी की पत्नी का क्या नाम है?

महेंद्र सिंह धोनी की पत्नी का नाम साक्षी धोनी है।

धोनी के माता-पिता का क्या नाम है?

धोनी के माता-पिता का नाम पान सिंह और देवकी देवी है।

धोनी किस टीम से आईपीएल खेलते हैं?

धोनी चेन्नई सुपर किंग्स से टीम आईपीएल खेलते हैं।

उम्मीद हैं कि Dhoni ki Kahani के इस ब्लॉग से आपको इस महान क्रिकेटर के बारे जानकारी मिल गई होगी। अगर आप विदेश में पढ़ाई करना चाहते है तो आज ही हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800 572 000 पर कॉल करके 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert