एमटेक सिविल इंजीनियरिंग क्या है और कैसे करें?

1 minute read
एमटेक सिविल इंजीनियरिंग

सिविल इंजीनियरिंग क्षेत्र का देश के आर्थिक विकास में बड़ा योगदान है। यहां तक कि बढ़ते शहरीकरण ने भी सिविल इंजीनियर्स की मांग को और भी बढ़ा दिया है। सिविल इंजीनियरिंग में विशेषज्ञता के लिए एमटेक एक उत्कृष्ट डिग्री है, जो छात्रों को कंस्ट्रक्शन सम्बन्धित व्यापक जानकारी प्रदान करता है। आइए इस ब्लॉग में सिविल इंजीनियरिंग कोर्स के बारे में विस्तार से जानते हैं।

कोर्स एमटेक सिविल इंजीनियरिंग 
फुल फॉर्म मास्टर ऑफ़ टेक्नोलॉजी इन सिविल इंजीनियरिंग
स्तर अंडरग्रेजुएट
अवधि 4 साल
योग्यता सम्बन्धित क्षेत्र में बैचलर्स डिग्री+ एंट्रेंस एग्ज़ाम 
परीक्षा का प्रकार वार्षिक 
प्रवेश प्रक्रिया प्रवेश परीक्षा पर आधारित
कोर्स के बाद जॉब ऑप्शन प्रोजेक्ट मैनेजर, सीपीडब्ल्यूडी में जूनियर इंजीनियर, सिविल इंजीनियर आदि।
औसत वेतन 1 से 5 लाख/वर्ष 
This Blog Includes:
  1. एमटेक सिविल इंजीनियरिंग क्या है?
  2. एमटेक सिविल इंजीनियरिंग को क्यों चुनें?
  3. एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के लिए स्किल्स
  4. एमटेक सिविल इंजीनियरिंग सिलेबस
  5. एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के लिए विश्व के शीर्ष विश्वविद्यालय
  6. एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के लिए भारत के शीर्ष विश्वविद्यालय
  7. एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के लिए योग्यता
  8. आवेदन प्रक्रिया
    1. विदेश में आवेदन प्रक्रिया
    2. आवश्यक दस्तावेज़
    3. भारतीय विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया
    4. आवश्यक दस्तावेज़
  9. प्रवेश परीक्षाएं
  10. एमटेक सिविल इंजीनियरिंग बेस्ट बुक्स
  11. एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के बाद करियर 
    1. उच्च शिक्षा
    2. नौकरी शुरू करें
    3. टॉप रिक्रूटर कंपनियां
  12. एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के बाद वेतन
  13. FAQs

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग क्या है?

मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी या एमटेक सिविल इंजीनियरिंग एक 2 साल का पोस्टग्रेजुएट कोर्स है जो सड़कों, पुलों, सुरंगों, भवनों, हवाई अड्डों, बांधों, सीवेज सिस्टम, बंदरगाहों आदि के डिजाइन, पर्यवेक्षण और कंस्ट्रक्शन से संबंधित है। इस कोर्स को आगे बढ़ाने के लिए उम्मीदवार के पास किसी भी विषय में कम से कम बीटेक की डिग्री होनी चाहिए। कुछ विश्वविद्यालयों में बीएससी वाले छात्र भी एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के लिए आवेदन कर सकते हैं। जो छात्र इस कोर्स को लेने के इच्छुक हैं, उन्हें राष्ट्रीय स्तर या राज्य स्तरीय प्रवेश परीक्षा के लिए उपस्थित होना पड़ता है।

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग को क्यों चुनें?

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग कोर्स करने के कई फायदे हैं। उनमें से कुछ प्रमुख इस प्रकार हैं:-

  • सिविल इंजीनियरिंग में एमटेक की डिग्री प्राप्त करने के बाद, छात्रों को किसी भी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट और अन्य निर्माण फर्मों में प्रोसेस इंजीनियर, स्ट्रक्चरल इंजीनियर, सिविल इंजीनियर आदि के रूप में आसानी से नौकरी मिल जाती है। 
  • जो छात्र क्रिएटिव हैं वे इस नौकरी के लिए उपयुक्त हैं क्योंकि यह कार्यक्रम छात्रों को रचनात्मकता और क्रिटिकल थिंकिंग की अपनी भावना और कौशल दिखाने में सक्षम करेगा। 
  • एमटेक सिविल इंजीनियरिंग का कोर्स छात्रों को रॉक मैकेनिक्स, सॉयल फाउंडेशन इंजीनियरिंग, फाउंडेशन सिस्टम डिजाइन आदि का विशाल ज्ञान प्रदान करता है। 
  • एमटेक सिविल इंजीनियरिंग छात्रों के बीच काफी लोकप्रिय है और इस कोर्स के बाद करियर स्कोप काफ़ी अधिक है।

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के लिए स्किल्स

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के लिए कुछ ज़रूरी स्किल्स के बारे में नीचे बताया गया है-

  • टीम वर्क: ग्रैजुएट्स को अक्सर अन्य इंजीनियर, कंस्ट्रक्शन वर्कर और प्रोजेक्ट मैनेजर्स के साथ काम करना पड़ सकता है। अतः टीम के साथ मिल जुल कर काम करने की स्किल्स होना बेहद ज़रूरी है।
  • कम्युनिकेशन स्किल्स: एक प्रभावी कम्युनिकेशन स्किल्स का होना बहुत ही ज़रूरी है।
  • एनालिटिकल स्किल्स: आपको अपने काम के दौरान आने वाली कई समस्याओं की एनालिसिस करके सही निष्कर्ष पर पहुंचना पड़ सकता है। अतः एक अच्छी एनालिटिकल स्किल्स का होना बेहद ज़रूरी है।
  • प्रॉब्लम सॉल्विंग स्किल्स: भविष्य में अपने काम में आपको को बहुत सारी प्रॉब्लम्स का सामना करना पड़ सकता है। अतः प्रॉब्लम सॉल्विंग स्किल्स का होना बेहद ज़रूरी है।

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग सिलेबस

सिविल इंजीनियरिंग में एमटेक से संबंधित इलेक्टिव विषय के लिए सिलेबस कॉलेज से कॉलेज में भिन्न होता है। एमटेक सिविल इंजीनियरिंग में शामिल विषयों की लिस्ट नीचे दी गई है-

पहला साल  दूसरा साल 
इंजीनियरिंग प्रॉपर्टी ऑफ सॉइल फाउंडेशन इंजीनियरिंग एडवांस रॉक मैकेनिक्स 
सॉइल डायनामिक्स एंड मशीन फाउंडेशन जियोटेक्निकल एक्सप्लोरेशन एंड एडवांस सॉइल टेस्टिंग 
रॉक मैकेनिक्स  न्यूरो फजी एप्लीकेशंस इन सिविल इंजीनियरिंग 
अर्थ डेम्स एंड स्लोप स्टेबिलिटी  केस हिस्ट्री इन जियोटेक्निकल इंजीनियरिंग
अर्थ प्रेशर  कंप्यूटर एडेड डिज़ाइन ऑफ फाउंडेशन
क्ले माइनरोलॉजी  फ्लो थ्रो पोरस मीडिया 
ग्राउंड इंप्रूवमेंट इंजीनियरिंग  पेवमेंट एनालिसिस एंड डिज़ाइन 
डिज़ाइन ऑफ फाउंडेशन सिस्टम  इंजीनियरिंग टेक्नोलॉजी
सॉइल स्ट्रक्चर इंटरेक्शन  मॉडलिंग एंड सिमुलेशन
एनवायरनमेंटल इंपैक्ट असेसमेंट  कंप्यूटेशनल एंड स्टेटिस्टिकल मेथड्स 

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के लिए विश्व के शीर्ष विश्वविद्यालय

यहां हमने एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के लिए विश्व के शीर्ष विश्वविद्यालयों की लिस्ट दी है-

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के लिए भारत के शीर्ष विश्वविद्यालय

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के लिए भारत के शीर्ष विश्वविद्यालयों की लिस्ट नीचे दी गई है-

  • एमिटी स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, नोएडा
  • सभी आईआईटी
  • लखनऊ इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, लखनऊ
  • इंडस इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी, ऊना
  • रूंगटा कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, भिलाई
  • मेडी-कैप्स विश्वविद्यालय, इंदौर
  • विवेकानंद ग्लोबल यूनिवर्सिटी, जयपुर
  • दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
  • नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, सुरथकाली
  • एपीजी शिमला विश्वविद्यालय, शिमला
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, भुवनेश्वर
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, निरमा यूनिवर्सिटी, अहमदाबाद

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के लिए योग्यता

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के लिए आवश्यक योग्यता इस प्रकार है-

  • उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त स्कूल या बोर्ड से 12वीं पास होना चाहिए।
  • विश्वविद्यालयों के लिए आवश्यक है कि छात्र ने विज्ञान, गणित, भौतिकी, रसायन विज्ञान सब्जेक्ट से पढ़ाई की हो।
  • उम्मीदवारों के पास किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से सिविल इंजीनियरिंग या बी प्लानिंग या किसी अन्य समकक्ष डिग्री में बीई या बीटेक डिग्री होनी चाहिए। 
  • इसमें अधिकतर विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा के माध्यम से एडमिशन देते हैं। 
  • UPSEE, TANSAT, JEE Advanced, IMU CET आदि देश की कुछ प्रमुख प्रवेश परीक्षाएं हैं।
  • विदेश की यूनिवर्सिटी में पढ़ने के लिए, उम्मीदवार से SAT या ACT स्कोर की मांग की जाती है। 
  • अंग्रेजी प्रोफिशिएंसी के प्रमाण के रूप में IELTS या TOEFL या PTE आदि के टेस्ट स्कोर जरूरी होते हैं।
  • विदेश में इन आवश्यकताओं के अलावा भी LOR, SOP, CV/Resume, पोर्टफोलियो आदि की भी आवश्यकता होती है।

आवेदन प्रक्रिया

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के लिए भारत और विदेशी विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया के बारे में नीचे बताया गया है:

विदेश में आवेदन प्रक्रिया

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है-

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स और यूनिवर्सिटी का चुनाव है। 
  • कोर्स और यूनिवर्सिटी के चुनाव के बाद उस कोर्स के लिए उस यूनिवर्सिटी की पात्रता मानदंड के बारे में रिसर्च करें। 
  • आवश्यक टेस्ट स्कोर और दस्तावेज एकत्र करें।
  • यूनिवर्सिटी की साइट पर जाकर एप्लीकेशन फॉर्म भरें या फिर आप Leverage Edu एक्सपर्ट्स की भी सहायता ले सकते हैं।
  • ऑफर की प्रतीक्षा करें और सिलेक्ट होने पर इंटरव्यू की तैयारी करें। 
  • इंटरव्यू राउंड क्लियर होने के बाद आवश्यक ट्यूशन शुल्क का भुगतान करें और स्कॉलरशिप, छात्रवीजा, एजुकेशन लोन और छात्रावास के लिए आवेदन करें।

एक आकर्षक SOP लिखने से लेकर वीजा एप्लिकेशन तक, कंप्लीट एप्लिकेशन प्रोसेस में मदद के लिए आप Leverage Edu एक्सपर्ट्स की सहायता ले सकते हैं। 

आवश्यक दस्तावेज़

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं-

क्या आप विदेश में पढ़ने के लिए एजुकेशन लोन की तलाश में हैं, तो आज ही Leverage Finance का लाभ उठाएं और अपने कोर्स और विश्वविद्यालय के आधार पर एजुकेशन लोन पाएं।

भारतीय विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  1. सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  2. यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  3. फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  4. अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  5. इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  6. यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज़

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

  • आपकी दसवीं या बारहवीं की परीक्षा की मार्कशीट और पास सर्टिफिकेट
  • जन्म तिथि का प्रूफ
  • विद्यालय छोड़ने का सर्टिफिकेट
  • ट्रांसफर सर्टिफिकेट
  • अधिवास प्रमाण पत्र/आवासीय प्रमाण या सर्टिफिकेट
  • अस्थायी सर्टिफिकेट
  • चरित्र प्रमाण पत्र
  • अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/अन्य पिछड़ी जाति प्रमाण पत्र
  • विकलांगता का प्रमाण (यदि कोई हो)
  • प्रवासन प्रमाणपत्र (माइग्रेशन)

प्रवेश परीक्षाएं

शीर्ष एमटेक सिविल इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश GATE आदि जैसे प्रवेश परीक्षाओं में उम्मीदवार के प्रदर्शन के आधार पर दिया जाता है। विदेशी यूनिवर्सिटीस में GRE और GATE के अंकों के आधार पर भी प्रवेश दिए जाते हैं, साथ ही इंग्लिश प्रोफिशिएंसी के अंकों के आधार पर प्रवेश दिया जाता है। कुछ प्रमुख प्रवेश परीक्षाएं इस प्रकार हैं-

UPSEE IPU CET 
TANSAT SRMJEEE PG 
JEE Advanced AP PGECET 
UPSEE TG PGECET
OJEE  BHU PET 
WBJEE  CUSAT CAT 

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग बेस्ट बुक्स

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग का अध्ययन करते समय जिन महत्वपूर्ण पुस्तकों का अध्ययन किया जा सकता है वे हैं-

बुक  राइटर  लिंक 
A Handbook for Civil Engineering एमई एडिटर बोर्ड Buy here 
A Textbook of Strength of Materials आर के बंसल  Buy here 
Basic Structural Analysis सीएस रेड्डी  Buy here 
RCC Design  बीसी पुनमिया, अशोक कुमार जैन, अरुण जैन  Buy here 
Soil Mechanics and Foundations बीसी पुनमिया, अशोक कुमार जैन, अरुण जैन  Buy here 

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के बाद करियर 

निजी और सार्वजनिक दोनों क्षेत्रों में ऐसे कई क्षेत्र हैं जहां सिविल इंजीनियरिंग में एमटेक डिग्री होल्डर को काम मिल सकता है। छात्र अपने कौशल और रुचि के अनुसार कोई भी करियर चुन सकते हैं। 

उच्च शिक्षा

सिविल इंजीनियरिंग में एमटेक पूरा करने के बाद, आप सिविल इंजीनियरिंग में पीएचडी का विकल्प भी चुन सकते हैं। पीएचडी की डिग्री सर्वोच्च मानद उपाधि है, इसलिए यह निश्चित रूप से आपको कुछ टॉप फर्मों में उच्चतम भुगतान वाली नौकरियां दिला सकता है। पीएचडी सिविल इंजीनियरिंग आमतौर पर 4 से 5 साल लंबी डॉक्टरेट स्तर की डिग्री होती है। यह अध्ययन का एक कोर्स है जो सड़क, बांध, पुल, नहरें, और रेलवे, सीवेज सिस्टम आदि की डिजाइनिंग और कंस्ट्रक्शन से सम्बन्धित हैं।

नौकरी शुरू करें

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के बाद छात्रों के पास कई नौकरी के विकल्प मौजूद हैं। इनमें सबसे प्रमुख सिविल इंजीनियर की नौकरी है। इसके अलावा आप प्रोजेक्ट मैनेजर, सीपीडब्ल्यूडी में जूनियर इंजीनियर आदि के रूप में अपना करियर बनाने में सक्षम होंगे।

टॉप रिक्रूटर कंपनियां

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग ग्रेजुएट्स को नौकरी प्रदान करने वाली कुछ प्रमुख रिक्रूटर कंपनियां हैं-

  • Aditya Birla Group
  • Bharat Earth Movers Limited
  • Jaypee Group National Thermal Power Corporation
  • Gammon India
  • Power Grid Corporation Of India Limited
  • HCC
  • Bharat Heavy Electricals Limited
  • NCC
  • MMTC Limited
  • Simplex Infra
  • National Fertilizers Limited
  • Unitech
  • Hindustan Zinc Limited
  • IVRCL National Buildings Construction Corporation Ltd.

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के बाद वेतन

सिविल इंजीनियरिंग में पोस्टग्रेजुएट डिग्री होल्डर के लिए नौकरियों की कोई कमी नहीं है। हर साल, बड़ी कंपनियों द्वारा सामूहिक रूप से छात्रों को हायर करने के उद्देश्य से बड़े कैंपस भर्ती अभियान आयोजित किए जाते हैं। एमटेक सिविल इंजीनियरिंग डिग्री धारकों के लिए उपलब्ध कुछ लोकप्रिय नौकरियों के साथ-साथ संबंधित वार्षिक वेतन नीचे दी गई तालिका में दिया गया है-

जॉब प्रोफाइल वार्षिक वेतन (INR में)
सिविल इंजीनियर 2 से 5 लाख 
कंस्ट्रक्शन प्लांट इंजीनियर  2 से 5 लाख
प्लानिंग इंजिनियर  2 से 7 लाख 
प्रोजेक्ट कोऑर्डिनेटर  1 से 6.58 लाख 
सीनियर सिविल इंजीनियर  2 से 8 लाख 

FAQs

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग क्या है?

मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी या एमटेक सिविल इंजीनियरिंग एक 2 साल का पोस्टग्रेजुएट कार्यक्रम है जो सड़कों, पुलों, सुरंगों, भवनों, हवाई अड्डों, बांधों, सीवेज सिस्टम, बंदरगाहों आदि के डिजाइन, पर्यवेक्षण और कंस्ट्रक्शन से संबंधित है।

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के बाद करियर के क्या स्कोप हैं?

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के बाद छात्रों के पास कई नौकरी के विकल्प मौजूद हैं। इनमें सबसे प्रमुख सिविल इंजीनियर की नौकरी है। इसके अलावा आप प्रोजेक्ट मैनेजर, सीपीडब्ल्यूडी में जूनियर इंजीनियर आदि के रूप में अपना करियर बनाने में सक्षम होंगे। 

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग के बाद क्या करें?

सिविल इंजीनियरिंग में एमटेक पूरा करने के बाद, आप सिविल इंजीनियरिंग में पीएचडी का विकल्प भी चुन सकते हैं। पीएचडी की डिग्री सर्वोच्च मानद उपाधि है, इसलिए यह निश्चित रूप से आपको कुछ टॉप फर्मों में उच्चतम भुगतान वाली नौकरियां दिला सकता है। हर साल, बड़ी कंपनियों द्वारा सामूहिक रूप से छात्रों को हायर करने के उद्देश्य से बड़े कैंपस भर्ती अभियान आयोजित किए जाते हैं। आप अपनी रुचि के आधार पर नौकरी के लिए भी आवेदन कर सकते हैं।

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग कितने वर्ष का कोर्स है?

एमटेक सिविल इंजीनियरिंग 2 वर्ष का कोर्स है।

हम आशा करते हैं कि इस ब्लॉग ने आपको एमटेक सिविल इंजीनियरिंग से जुड़ी सारी जानकारी दी होगी। यदि आप एमटेक सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई विदेश से करने की इच्छा रखते हैं, तो बेहतरीन मार्गदर्शन के लिए आज ही 1800 572 000 पर कॉल करें और Leverage Edu एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*