Tokyo Olympic रहा भारत के लिए ख़ास, आया गोल्ड मेडल

Rating:
4.5
(6)
Tokyo Olympic in Hindi

बड़े इंतज़ार के बाद टोक्यो ओलंपिक शुरू होने जा रहा है। खिलाड़ियों के अंदर उत्साह देखा जा सकता है, और देखा भी क्यों न जाए आखिर यह है खेलों का महाकुंभ। कोरोना महामारी के चलते यह थमा ज़रूर लेकिन रुका नहीं। 23 जुलाई से शुरू होकर यह 8 अगस्त तक चलेगा। 339 मेडल के लिए खिलाड़ी अपना बेस्ट देंगे। तो आइए, आपको विस्तार से जानकारी देते हैं Tokyo Olympic in Hindi के बारे में ।

Credits – Leverage Edu

Tokyo Olympic में भारत ने जीते 7 मेडल

भारत ने टोक्यो ओलंपिक में 7 मेडल अपने नाम कर लिए हैं। नीरज चोपड़ा ने जैवलीन थ्रो में गोल्ड जीता है, मीराबाई चानू ने वेटलिफ्टिंग और रवि दहिया ने रेसलिंग में सिल्वर मेडल जीता, उसके बाद पीवी सिंधु ने बैडमिंटन, बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन, रेसलर बजरंग पूनिया और भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने ब्रॉन्ज मेडल जीते।

Tokyo Olympic में कॉलिफाई करने वाले भारतीय खिलाड़ी

भारत के अबतक 100 से ज़्यादा खिलाड़ियों ने ओलंपिक के लिए क्वॉलीफ़ाई कर लिया है। आइए, जानते हैं Tokyo Olympic in Hindi में भारत की ओर से भाग लेने वाले खिलाड़ियों के नाम और उनके खेल की लिस्ट – 

वेटलिफ़्टिंग

मीराबाई चानू ने वेटलिफ्टिंग में सिल्वर मेडल जीता

Credits :  Olympics

Check Out: मिल्खा सिंह: The Flying Sikh of India

बैडमिंटन

पीवी सिंधु ने बैडमिंटन में ब्रॉन्ज मेडल जीता। पीवी सिंधु ने महिला एकल वर्ग में क्वालीफाई किया है जबकि पुरुष एकल में साई प्रणीत ने क्वालीफाई कर लिया है। वहीं पुरुष जोड़ी सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी पहली बार ओलंपिक में खेलेंगे।

बॉक्सिंग

1. मैरी कॉम (महिला 51 kg)
2. विकास किशन (पुरुष, 69 kg)
3. लवलीना बोरगोहेन (महिला, 69 kg)
4. आशीष कुमार (पुरुष, 75 kg)
5. पूजा रानी, (महिला, 75 kg)
6. सिमरनजीत कौर (महिला, 60 kg)
7. सतीश कुमार (पुरुष, 91 kg)
8. अमित पंघल (पुरुष, 52 kg)
9. मनीष कौशिक, (पुरुष, 63 kg)

तीरंदाज़ी

1. तरुणदीप राय, पुरुष रिकर्व एकल (सिंगल्स) तीरंदाज़ी
2. अतनु दास, पुरुष रिकर्व एकल तीरंदाज़ी
3. प्रवीण जाधव, पुरुष रिकर्व एकल तीरंदाज़ी
4. दीपिका कुमारी, महिला रिकर्व एकल तीरंदाज़ी

एथलेटिक्स

1. के.टी इरफान, 20 मी. पुरुष एकल रेस वॉक
2. संदीप कुमार, 20 मी. पुरुष एकल रेस वॉक
3. राहुल रोहिल्ला, 20 मी. पुरुष एकल रेस वॉक
4. अविनाश साबले, 3000 मी. पुरुष एकल स्टीपलचेज़
5. मुरली श्री शंकर, पुरुष एकल लॉन्ग जंप
6. नीरज चोपड़ा, पुरुष एकल जेवलिन थ्रो
7. शिवपाल सिंह, पुरुष एकल जेवलिन थ्रो
8. कमलप्रीत कौर, महिला एकल डिस्कस थ्रो
9. भावना जट, महिला एकल 20 किमी. रेस वॉक
10. प्रियंका गोस्वामी, महिला एकल 20 किमी. रेस वॉक
11. 4×400 मिक्स्ड रिले

फ़ेंसिंग

भारत की तरफ़ से पहली बार भवानी देवी ने फ़ेंसिंग इवेंट के लिए कॉलिफाई किया है। मार्च में हंग्री में हुए बुडापेस्ट सबरे विश्व कप में उन्होंने टोक्यो का टिकट पाया। भवानी देवी तलवारबाजी करती हैं।

हॉकी

भारतीय महिला और पुरुष दोनों हॉकी टीमों ने ओलंपिक के लिए कॉलिफाई किया। भारतीय पुरुष हॉकी टीम इस वक़्त विश्व रैंकिंग में चौथे नंबर पर है और इसकी कप्तानी मनप्रीत सिंह कर रहे हैं, वहीं भारतीय महिला हॉकी टीम तीसरी बार ओलंपिक खेलने गई है।

Credits: sportzworkz

शूटिंग

1. अंजुम मुगदिल, 10मी. महिला एकल एयर राइफ़ल
2. अपूर्वी चंदेला, 10मी. महिला एकल एयर राइफ़ल
3. दिव्यांश सिंह पनवर, 10मी. पुरुष एकल एयर राइफ़ल
4. दीपक कुमार, 10मी. पुरुष एकल एयर राइफ़ल
5. तेजस्विनी सावंत, 50मी. महिला एकल 3 पोजीशन राइफल
6. संजीव राजपूत, 50मी. पुरुष एकल 3 पोजीशन राइफ़ल
7. ऐश्वर्या प्रताप सिंह तोमर, 50मी. पुरुष एकल पोजीशन राइफ़ल
8. मनु भाकर, 10मी. महिला एकल एयर पिस्टल
9. यशस्विनी सिंह देसवाल, 10मी. महिला एकल एयर पिस्टल
10. सौरभ चौधरी, 10मी. पुरुष एकल एयर पिस्टल
11. अभिषेक वर्मा, 10मी. पुरुष एकल एयर पिस्टल
12. राही सरनोबत, 25मी महिला एकल पिस्टल
13. चिंकी यादव, 25मी. महिला एकल पिस्टल
14. अंगद वीर सिंह बाजवा, पुरुष एकल स्कीट
15. मैराज अहमद ख़ान, पुरुष एकल स्कीट

टेबल टेनिस

1. शरत कमल (चौथी बार ओलंपिक के लिए कॉलिफाई किया)
2. जी. साथियान
3. सुतीर्थ मुखर्जी
4. मानिका बत्रा

कुश्ती

  1. सीमा बिस्ला, विमेंस फ्रीस्टाइल, 50 किलोग्राम
  2. विनेश फोगाट, विमेंस फ्रीस्टाइल, 53 किलोग्राम
  3. अंशु मालिक, विमेंस फ्रीस्टाइल, 57 किलोग्राम
  4. सोनम मालिक, विमेंस फ्रीस्टाइल, 62 किलोग्राम
  5. रवि दहिया, मेंस फ्रीस्टाइल, 57 किलोग्राम
  6. बजरंग पुनिया, मेंस फ्रीस्टाइल, 65 किलोग्राम
  7. दीपक पुनिया, मेंस फ्रीस्टाइल, 86 किलोग्राम

गोल्फ

1. अनिर्बान लहरी
2. उद्यन मने
3. अदित्ति अशोक

नौकाचालन (Sailing)

1. नेत्रा कुमानन (क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय महिला)
2. विष्णु सरवनन
3. केसी गणपित और वरुण 

घुड़सवारी

एशियन गेम्स के सिल्वर मेडलिस्ट फवाद मिर्ज़ा ने टोक्यो ओलंपिक-2021 के लिए क्वालीफ़ाई किया। 20 वर्ष बाद ऐसा पहली बार होगा जब ओलंपिक खेलों में इक्वेस्टेरियन में कोई खिलाड़ी भारत का प्रतिनिधित्व करेगा। उन्होंने इससे पहले एशियन गेम्स में 36 साल से चला आ रहा पदकों का सूखा खत्म किया था।

जुडो

सुशीला देवी भारत की ओर से जुडो में हिस्सा लेने वाली अकेली खिलाड़ी हैं। सुशीला देवी ने 48 किलोग्राम कैटेगरी में जगह बनाई है.।

जिम्नास्टिक्स

प्रणति नायक भारत की ओर से ओलंपिक खेलों में क्वालिफाई करने वाली सिर्फ दूसरी जिमनास्ट हैं।

स्विमिंग

सजन प्रकाश भारत की ओर से स्विमिंग में हिस्सा लेने वाले पहले खिलाड़ी बनने का गौरव हासिल करेंगे। सजन कुमार ने 200 मीटर बटरफलाई इवेंट के लिए क्वालिफाई किया है।

टेनिस

1992 के बाद यह पहला मौका होने वाला है जब टेनिस के पुरुष इवेंट में भारत की ओर से कोई खिलाड़ी हिस्सा नहीं लेगा। सनिया मिर्जा और अंकिता रैना की जोड़ी भारत के लिए टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा लेगी।

Check out: जानिए साइना नेहवाल की सफलता के पीछे का संघर्ष

कोविड-19 के कारण नियमों में बदलाव

कोरोना के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए 33 पेज की एक रूलबुक जारी कर कुछ बातें साफ की गई हैं, जिससे ओलंपिक के संचालन में कोई दुविधा न खड़ी हो। आइए, जानिए Tokyo Olympic in Hindi में नियम – 

  • अंतराष्ट्रीय प्रशंसकों के लिए टोक्यो ओलंपिक केवल टीवी तक सीमित रहेगा। टोक्यो ओलंपिक के खेल केवल स्थानीय लोगों के लिए खुले रहेंगे। लेकिन उनको भी कोरोना प्रोटोक़ॉल्स को गंभीरता से लेना होगा।
  • प्रशंसकों को गाना या नाचकर जश्न मनाने के लिए सख्त मना किया गया है।
  • अंतराष्ट्रीय वॉलंटियर भी नहीं आ सकेंगे। ऐसे भारत जैसे देशों को अपने ओलंपिक स्टाफ में कटौती करनी पड़ सकती है।
  • खिलाड़ियों को जापान पहुंचते ही 14 दिन क्वारंटीन नहीं होना पड़ेगा और सीधा ट्रेनिंग कैंप में जाने की अनुमति होगी, हालांकि उनके पास कोरोना निगेटिव की रिपोर्ट होनी बेहद ज़रूरी है।
  • खिलाड़ियों को हर चौथे दिन कोरोना टेस्ट लेना होगा। अगर कोई पॉजिटिव पाया जाएगा तो उसे प्रतिस्पर्धा में हिस्सा नहीं लेने दिया जाएगा। टेस्ट कितनी बार होंगे, यह नियम बदले भी जा सकते हैं।
  • खिलाड़ियों के लिए कोरोना वैक्सीन लेना ज़रूरी नहीं होगा।
  • खिलाड़ियों का टूरिस्ट वाली जगहें, रेस्टोरेंट जाना वर्जित होगा।

Check out: Virat Kohli Biography in Hindi

टोक्यो में ओलंपिक से पहले लगा आपातकाल

जापान सरकार ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए टोक्यो में आपातकाल लगाने की घोषणा की है जो पूरे ओलंपिक खेलों के दौरान जारी रहेगा। ओलंपिक के शरू होने में अब कुछ समय बचा है जिसके मद्देनज़र यह आपातकाल ओलंपिक के बाद 26 अगस्त तक रहेगा। जापान में बीते अप्रैल में कोरोना की एक नई लहर शुरू हुई है लेकिन संक्रमित लोगों की संख्या कम है। Tokyo Olympic in Hindi में स्थिति के अनुकूल ही इस बार ओलंपिक का आयोजन किया गया है।

Check out: क्रिकेटर कैसे बने? (Cricketer Kaise Bane?)

भारत ने अब तक जीते हैं 28 पदक 

1900 से 2016 तक भारत ने ओलंपिक में कुल 28 मेडल अपने नाम किए हैं। इनमें नौ गोल्‍ड, सात सिल्‍वर और 12 कांस्‍य (ब्रॉन्‍ज) मेडल शामिल हैं। ओलंपिक इतिहास में भारत ने हॉकी में सबसे ज्‍यादा 11 मेडल जीते हैं। हॉकी में भारत ने आठ गोल्‍ड, एक सिल्‍वर और एक ब्रॉन्‍ज मेडल अपने नाम किया है। जबकि निशानेबाजी में चार पदक जीते हैं। इसके अलावा भारत ने कुश्ती में पांच, बैडमिंटन और मुक्केबाजी में दो-दो तथा टेनिस और वेटलिफ़्टिंग में एक-एक पदक अपने नाम किया है।

2008 के बीजिंग ओलंपिक की निशानेबाजी स्पर्धा में अभिनव बिंद्रा ने भारत के लिए पहला और अब तक का एकमात्र व्यक्तिगत स्पर्धा का गोल्ड मेडल जीता। Tokyo Olympic in Hindi में 2012 का लंदन ओलंपिक भारत के लिए सबसे सफल ओलंपिक रहा था जिसमें भारत ने 2 सिल्वर और 4 ब्रॉन्‍ज मेडल जीते थे।

Check Out: 10 डिप्लोमा कोर्स लिस्ट

टोक्यो ओलंपिक का मैस्कट (शुभंकर) क्या है?

टोक्यो में होने वाले ओलंपिक खेलों के शुभंकर को ‘मिराइतोवा’ और ‘सोमाइटी’ नाम दिया गया है। इसे ख़ास जापानी इंडिगो ब्लू रंग का पैटर्न दिया गया है। इससे जापान की सांस्कृतिक परंपरा और आधुनिकता दोनों झलकती है। ‘मिराइतोवा’ जापानी कहावत से प्रेरित है. जापानी शब्द मिराइतोवा में ‘मिराइ’ का अर्थ ‘भविष्य’ और तोवा का ‘अनंत काल’ होता है। Tokyo Olympic in Hindi में इस बार का मैस्क्ट अपने आप में खास है।

कैसे बनाए गए हैं टोक्यो ओलंपिक के पदक?

Tokyo Olympic in Hindi में खिलाड़ियों को दिए जाने वाले मेडल पुराने इलेक्ट्रॉनिक सामानों और फ़ोन से बनाए हैं। इसके लिए आयोजकों ने फ़रवरी 2017 में जापान के लोगों से इलेक्ट्रॉनिक सामानों और फ़ोन दान करने की अपील की थी। मेडल के पीछे के हिस्से में टोक्यो ओलंपिक का लोगो लगा है, आगे स्टेडियम की तस्वीर के सामने विजय का प्रतीक माने जाने वाली ग्रीक देवी ‘नाइक’ को दर्शाया गया है।

ओलंपिक मशाल रिले

टोक्यो ओलंपिक की मशाल रिले जापान में 25 मार्च से जली हुई है और 23 जुलाई को खेलों के महाकुंभ के आगाज के साथ ख़त्म होगी। यह 2011 में सुनामी की मार झेल चुके फुकुशिमा राज्य के जे विलेज नेशनल ट्रेनिंग सेंटर से शुरू हुई थी और यह इस दौरान जापान के 47 प्रांतों से गुज़रेगी। Tokyo Olympic in Hindi में इस बार कोरोना के चलते इसका टोक्यो ओलंपिक की मुख्य वेबसाइट पर इसका सीधा प्रसारण होगा। हालांकि, स्थानीय लोग सड़क के किनारे खड़े होकर समारोह को देख सकते हैं, बशर्ते सब मास्क पहनें और एक-दूसरे से उचित दूरी बनाए रखें।

Tokyo Olympic in Hindi में क्यों जलाई जाती है मशाल?

शीशे की मदद से सूर्य की किरणों की तेज़ से जलने वाली यह मशाल ओलंपिक खेलों के आगाज़ से महीनों पहले दुनिया भर की अपनी यात्रा ख़त्म कर मेजबान देश में पहुँचती है। ग्रीस में प्राचीन ओलंपिया के पवित्र स्थल पर स्थित हेरा के मंदिर में मशाल जलाई जाती है जिसे वहाँ से कई खिलाड़ी मेज़बान देश तक पहुँचाते हैं। फिर मेजबान देश में मशाल रिले का आयोजन होता है। इसके बाद मेजबान देश का एक जाना माना एथलीट उद्घाटन समारोह के दिन इससे स्टेडियम में लगाए गए मशाल को प्रज्जवलित करता है और इसके साथ ही ओलंपिक खेलों की शुरुआत हो जाती है। ओलंपिक मशाल रिले कि शुरुआत 1936 के बर्लिन गेम्स से हुई थी।

Check Out : ये हैं दिग्गज़ क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी का सफरनामा

इस बार के टोक्यो ओलंपिक में क्या है ख़ास?

इस बार 5 नए खेल ओलंपिक में जोड़े गए हैं- सर्फ़िंग, स्केटबोर्डिंग, स्पोर्ट्स क्लाइंबिंग, कराटे और बेसबॉल। बेसबॉल (पुरुष) और सॉफ्टबॉल (महिला) की भी ओलंपिक में वापसी हो रही है। हालाँकि ‘सॉफ़्टबॉल’ खेल प्रतियोगिता उद्घाटन समारोह से दो दिन पहले यानी 21 जुलाई को ही फु़कुशिमा में शुरू हो जाएगी। ओलंपिक में इस बार 33 खेलों में 339 मेडल के लिए मुक़ाबले होंगे। पहला पदक समारोह 24 जुलाई को होगा। जापान पहले भी तीन बार ओलंपिक का आयोजिन कर चुका है – 1964, 1972 और 1988 में. तो आइए Tokyo Olympic in Hindi में विस्तार से जानते क्या क्या जोड़ा और हटाया गया – 

  • टेबल टेनिस: 2020 टोक्यो ओलंपिक में मिक्स्ड डबल्स को जोड़ा गया है।
  • जूडो: यह खेल 1964 से ओलंपिक में है, लेकिन इस बार मिक्स्ड टीम इवेंट है।
  • स्वीमिंग: इस बार स्वीमिंग में एक नया बदलाव हुआ है. 800 मीटर की रेस को पुरुषों के इवेंट में शामिल किया गया है। जबकि 1,500 फ्रीस्टाइल इवेंट महिला प्रतियोगिता में शामिल हुई है।
  • वॉटर पोलो: इस बार महिलाओं की दो नई टीम जोड़ी गई हैं जिससे कुल 10 टीमें हो गई हैं।
  • कयाक: 2020 टोक्यो ओलंपिक में कयाक खेल में भी महिलाओं के 3 इवेंट बढ़ाकर पुरुष खेलों से 3 इवेंट कम कर दिए गए है। महिलाओं के इवेंट में कयाक सिंगल 200 मीटर, डबल्स 500 मीटर इवेंट को जोड़ा गया है।
  • रोइंग: इस बार पुरुषों के हल्के चार इवेंट को 2020 ओलंपिक से हटा दिया गया है जबकि महिलाओं के चार इवेंट्स जोड़े गए हैं। 1966 के बाद ओलंपिक रोइंग कार्यक्रम में यह पहला बदलाव है।
  • आर्चरी: 1972 से शामिल इस खेल में इस बार मिक्स्ड टीम इवेंट भी शामिल किया गया है।
  • बॉक्सिंग: महिला खिलाड़ियों की संख्या को तीन से बढ़ाकर पाँच कर दिया है जबकि पुरुष खिलाड़ियों की संख्या दस से आठ कर दी गई है। यह फ़ैसला लैंगिक समानता को ध्यान में रखते हुए किया गया है।

उम्मीद है, Tokyo Olympic in Hindi ब्लॉग आपको पसंद आया होगा। यदि आप भी इन खिलाड़ियों की तरह अपने करियर से सम्बंधित सपनों को पूरा करना चाहते है या विदेश में पढ़ना चाहते है तो आज ही Leverage Edu से संपर्क करें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like

Motivational Quotes in Hindi (1)
Read More

200+ Motivational Quotes in Hindi

हिंदी मोटिवेशनल कोट्स (Motivational quotes in Hindi)  आपको अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए मजबूत करते हैं,…