दार्शनिक कैसे बनें?

1 minute read
520 views
Leverage-Edu-Default-Blog

1968 में आई स्टेनली क्यूब्रिक की फिल्म 2001: A Space Odyssey फिलोसोफी का ही परिणाम थी, जिसने टेक्नोलॉजी को और पहले से एडवांस करने के बारे में बताया था। फिलोसोफी जीवन का अहम हिस्सा है। एक दार्शनिक (फिलोसोफर) भविष्य के लिए विज़न तैयार रखते हैं जिससे एडवांस में ही किसी चीज़ के लिए तैयारी की जा सके। आइए, विस्तार से जानते हैं कि Philosopher kaise bane।

दार्शनिक (फिलोसोफर) कौन होते हैं?

एक दार्शनिक (फिलोसोफर) वह होता है जो फिलोसोफी की प्रैक्टिस करता है। फिलोसोफर शब्द ग्रीक भाषा Philosophos से बना है जिसका अर्थ होता है  ‘लवर ऑफ विजडम’। मॉडर्न सेंस में कहा जाए तो फिलोसोफर एक बुद्धिजीवी (इंटेलेक्चुअल) होता है जो फिलोसोफी की एक या अधिक ब्रांचेज़ में योगदान देता है, जैसे सौंदर्यशास्त्र, नैतिकता, ज्ञानमीमांसा, विज्ञान का दर्शन, तर्कशास्त्र, तत्वमीमांसा, सामाजिक सिद्धांत, धर्म का दर्शन और राजनीतिक दर्शन आदि।

दार्शनिक (फिलोसोफर) बनने के लिए स्किल्स

दार्शनिक (फिलोसोफर) बनने के लिए ट्रांस्फ़ेरेबल स्किल्स को विकसित करना बेहद ज़रूरी है। अन्य आवश्यक स्किल्स नीचे दी गई हैं:

  • इंटेलेक्चुअल स्किल्स
    • क्रिटिकल
    • एनालिटिकल
    • सिंथेटाइज़िंग
    • प्रॉब्लम-सॉल्विंग
  • कम्युनिकेशन स्किल्स
    • रिटन
    • ओरल
  • ऑर्गनाइजेशनल स्किल्स
    • वर्किंग इंडेपेंडेंटली
    • पहल करना
    • टाइम मैनेजमेंट
  • इंटरपर्सनल स्किल्स
    • दूसरों के साथ काम करने की क्षमता
    • दूसरों को प्रेरित करने की क्षमता
    • फ्लेक्सिबिलिटी
    • एडेप्टिबिलिटी
  • रिसर्च स्किल्स

फिलोसोफी के सब फ़ील्ड्स

फिलोसोफी के व्यापक सब फ़ील्ड्स को आमतौर पर लॉजिक, एथिक्स, मेटाफिजिक्स में बांटा गया है। Philosopher kaise bane यह जानने से पहले नीचे दिए गए सब फ़ील्ड्स जानिए, जो इस प्रकार हैं:

लॉजिक

किसी भी बोली हुई या लिखी हुई चीज़ में लॉजिक का होना काफी ज़रूरी होता है। यह व्यक्ति की इंटेलिजेंस के जितना ही महत्वपूर्ण होता है। लॉजिक में, हम आमतौर पर दो वाक्यों का निर्माण करते हैं जिन्हें प्रीमाइसेस कहा जाता है और उनका इस्तेमाल निष्कर्ष निकालने के लिए किया जाता है। इस तरह के लॉजिक को सिलोजिस्म कहा जाता है, जिसकी शुरुआत लोकप्रिय यूनानी दार्शनिक Aristotle (अरस्तु) ने की थी।

एथिक्स

हर व्यक्ति अपनी रोज़ाना जीवन में कुछ स्थापित एथिकल नॉर्म्स के अनुसार कंडक्ट करने का प्रयास करता है। उदाहरण के लिए, कुछ ऐसे आर्गेनाइजेशन हैं जिनकी एथिकल कमेटियां हैं जो अपने एम्प्लोयी के लिए बर्ताव के नियम निर्धारित करती हैं। एथिक्स का संबंध सही और गलत की परिभाषा से है। हर फिलोसोफर की एथिक्स को लेकर अपनी-अपनी सब्जेक्टिव अंडरस्टैंडिंग हैं।

मेटाफिजिक्स

मेटाफिजिक्स फिलोसोफिकल डिबेट का एक प्राइमरी एरिया रहा है। यह मुख्य रूप से दुनिया के नेचर को एक्सप्लेन करने से संबंधित है। पारंपरिक रूप से, इसके दो अलग-अलग पढ़ाई के क्षेत्र हैं, जिनमें और ontology शामिल हैं। Cosmology universe की origin, evolution, और उसकी eventual fate को समझने पर केंद्रित है। दूसरी ओर, ontology विभिन्न प्रकार की चीजों की जांच करती है जो मौजूद हैं और एक दूसरे के साथ उनके संबंध हैं। Modern science की खोज से बहुत पहले, science से संबंधित सभी प्रश्न metaphysics के एक part के रूप में पूछे जाते थे।

एपिस्टेमोलॉजी

एपिस्टेमोलॉजी फिलोसोफी का एक अन्य मुख्य हिस्सा है। इस शब्द की उत्पत्ति यूनानी शब्द episteme से हुई है जिसका अर्थ है ज्ञान, और शब्द के दूसरे आधे हिस्से का अर्थ है ‘की स्टडी’। एपिस्टेमोलॉजी मूल रूप से ज्ञानकी स्टडी के बारे में है। एपिस्टेमोलॉजी से संबंधित एक फंडामेंटल प्रश्न यह है कि ज्ञान क्या होता है? यदि हम सिमुलेशन की दुनिया में जी रहे हैं, तो हम इसे कैसे जान सकते हैं? ये कुछ आवश्यक प्रश्न हैं जिनके लिए एपिस्टेमोलॉजी उत्तर ढूंढ़ना चाहती है।

फिलोसोफर बनने के लिए कोर्सेज

दार्शनिक बनने के लिए UG, PG आदि कोर्सेज के नाम, अवधि इस प्रकार हैं:

कोर्सेज अवधि
BA in Philosophy 3 वर्ष
MA in Philosophy 2 वर्ष
Master of Philosophy (MPhil) 2 वर्ष
PhD 2 वर्ष

आप AI Course Finder की मदद से अपने पसंद के कोर्सेस और यूनिवर्सिटीज का चयन कर सकते हैं।

फिलोसोफर कैसे बनें?

फिलोसोफर बनने के लिए नीचे स्टेप बाय स्टेप गाइड इस प्रकार है:

स्टेप 1: बैचलर्स डिग्री प्राप्त करें

एक फिलोसोफी प्रोफेसर के रूप में करियर शुरू करने से पहले बैचलर्स डिग्री पूरी करें। अंडरग्रेजुएट छात्र के रूप में अपने समय के दौरान से ही अच्छे ग्रेड बनाए रखें।

स्टेप 2: फिलोसोफी में डॉक्टरेट पूरी करें

आप जिस डॉक्टरेट प्रोग्राम को कर रहे हैं उसके आधार पर, मास्टर्स डिग्री स्किप कर सकते हैं। कुछ स्कूल छात्रों को बैचलर्स डिग्री पूरी करने और एक एप्लिकेशन जमा करने के बाद फिलोसोफी में PhD शुरू करने की अनुमति देते हैं। फिलोसोफी में डॉक्टरेट फिलोसोफिकल विचारों पर कोर्सेज प्रदान करता है और छात्रों को असिस्टेंट रोल्स को पढ़ाने में अनुभव प्राप्त करने में मदद कर सकता है। PhD में एक डिज़रटेशन लिखना शामिल है, जो एक विशिष्ट विषय पर एक बड़ा रिसर्च पेपर है।

स्टेप 3: स्पेशलिटी चुनें

फिलोसोफी के प्रोफेसर एक्सपर्ट्स बनने और आगे की रिसर्च के लिए एक स्पेशलिटी चुनते हैं। यह आपको अपने करियर में एक नीश बनाने में मदद करता है। फिलोसोफी के प्रोफेसर के लिए कुछ आम स्पेशलिटी नीचे दी गई हैं:

  • एथिक्स
  • एक्सपेरिमेंटल फिलोसोफी
  • एंशिएंट यूनानी फिलोसोफी
  • मॉडर्न फिलोसोफी
  • फिलोसोफी और मेडिसिन
  • मेटाफिजिक्स

स्टेप 4: लेख पब्लिश करें

फिलोसोफी कम्युनिटी में विशिष्ट होने के लिए, निरंतर रूप से सहकर्मी समीक्षा मैगजीन्स के लिए पेपर्स और आर्टिकल्स पब्लिश करें। आप ऐसा इंडेपेंडेंटली या दूसरों के साथ कलेबोरेट करके भी कर सकते हैं। लेख पब्लिश करने से आपको अपने फिलोसोफिकल विचारों को दूसरों के साथ साझा करने में मदद मिलती है। वहीं साथ में भविष्य के एम्प्लॉयर्स को दिखाने के लिए एक पोर्टफोलियो तैयार करने में मदद मिल सकती है।

स्टेप 5: नौकरी ढूंढें

पढ़ाई पूरी होने के बाद, स्थानीय कॉलेजों और यूनिवर्सिटीज में फिलोसोफी प्रोफेसर जॉब ओपनिंग्स की तलाश शुरू करें। जब रोल्स दिखाई दें कि आपकी क्वालिफकेशन मैच हो रहीं हैं, तो अपने एडवाइजर से आपको नोटिफाई करने के लिए कहें, क्योंकि उन्हें पोस्ट किए जाने से पहले उन्हें पता रहता है। पोटेंशियल एम्प्लॉयर्स पर एक अच्छा प्रभाव बनाने के लिए, अपनी स्किल्स और एक्सपर्टीज को दर्शाने के लिए अपने CV को अपडेट करें।

टॉप विदेशी यूनिवर्सिटीज

फिलोसोफी कोर्सेज प्रदान करने वाली टॉप विदेशी यूनिवर्सिटीज के नाम इस प्रकार हैं:

यूनिवर्सिटीज सालाना औसत फीस
पिट्सबर्ग विश्वविद्यालय USD 32,052 (INR 24.03 लाख)
यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, बर्केले USD 43,176 (INR 32.38 लाख)
हार्वर्ड विश्वविद्यालय USD 47,074 (INR 35.30 लाख)
कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय GBP 21,732 (INR 21.73 लाख)
अर्थशास्त्र और राजनीति विज्ञान के लंदन स्कूल (एलएसई) GBP 21,570 (INR 21.57 लाख)
येल विश्वविद्यालय USD 55,540 (INR 41.65 लाख)
नोट्रे डेम विश्वविद्यालय USD 53,391 (INR 40.04 लाख)
टोरंटो विश्वविद्यालय CAD 42,765 (INR 25.65 लाख)
प्रिंसटन विश्वविद्यालय USD 53,757 (INR 40.31 लाख)
ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय GBP 9,250 (INR 9.25 लाख)

आप UniConnect के जरिए विश्व के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन विश्वविद्यालय मेले का हिस्सा बनने का मौका पा सकते हैं, जहाँ आप अपनी पसंद के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि से सीधा संपर्क कर सकेंगे।

टॉप भारतीय यूनिवर्सिटीज

Philosopher kaise bane जानने के साथ-साथ फिलोसोफी कोर्सेज प्रदान करने वाली टॉप भारतीय यूनिवर्सिटीज के नाम इस प्रकार हैं:

यूनिवर्सिटीज औसत सालाना फीस (INR)
प्रबंधन अध्ययन संस्थान, निम्स विश्वविद्यालय 50,000
निज़ाम कॉलेज 13,800
क्राइस्ट यूनिवर्सिटी 70,000- 1.02 लाख
एमिटी विश्वविद्यालय, ग्वालियर 2,19,000 लाख
एमएलएसयू – मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय 16,390
श्री माता वैष्णो देवी विश्वविद्यालय 75,000-1.60 लाख
बैंगलोर विश्वविद्यालय 14,000

योग्यता

दार्शनिक (फिलोसोफर) बनने के लिए योग्यता इस प्रकार है:

  • बैचलर्स कोर्सेज करने के लिए कैंडिडेट्स को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं कक्षा न्यूनतम 45% अंकों के साथ उत्तीर्ण करनी ज़रूरी है।
  • मास्टर्स करने के लिए कैंडिडेट्स को किसी भी विषय में BA प्रोग्राम या BA (Hons) में न्यूनतम 55% अंकों के साथ ग्रेजुएशन करने की ज़रूरत है।
  • MPhil करने के लिए कैंडिडेट्स को किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटीज से किसी भी फील्ड से मास्टर्स में न्यूनतम 60% अंक प्राप्त करने चाहिए।
  • PhD करने के लिए कैंडिडेट्स को किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटीज से फिलोसोफी में MA या MPhil करना चाहिए।
  • फिलोसोफी विदेश से करने के लिए इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट जैसे IELTS, TOEFL के अंक अनिवार्य हैं।

क्या आपको IELTS या TOEFL की तैयारी में दिक्कत आ रही है? तो आज ही Leverage Live पर रजिस्टर करें और अच्छे अंक प्राप्त करें।

आवेदन प्रक्रिया

Philosopher kaise bane जानने के साथ-साथ फिलोसोफी कोर्स में एडमिशन लेने के लिए उसके आवेदन प्रक्रिया के बारे में जानना आवश्यक है, जो इस प्रकार है:

भारतीय विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें।
  • यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

विदेश में आवेदन प्रक्रिया

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं।
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे।
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है।
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीजा और छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे ।
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है।

आवदेन प्रक्रिया से सम्बन्धित जानकारी और मदद के लिए Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800572000 पर संपर्क करें

आवश्यक दस्तावेज

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई है–

जॉब प्रोफाइल्स और सैलरी

फिलोसोफी की डिग्री प्राप्त करने के बाद छात्र दिए गए जॉब प्रोफाइल्स और सैलरी पा सकते हैं, जो इस प्रकार हैं:

जॉब प्रोफाइल्स औसत सालाना सैलरी (INR)
लॉयर 7-9 लाख
प्रोफेसर 12-13 लाख
पब्लिक पालिसी प्रोफेशनल 10-12 लाख
मार्केटिंग प्रोफेशनल 12-14 लाख
हैल्थकेयर प्रोफेशनल 12-14 लाख
पत्रकार 5-7 लाख
फाइनेंशियल सर्विसेज प्रोफेशनल 6-8 लाख

FAQs

फिलोसोफर बनने के लिए किन-किन तत्वों की ज़रूरत होती है?

फिलोसोफर बनने के लिए एथिक्स, मेटाफिजिक्स, लॉजिक आदि जैसे तत्वों की ज़रूरत होती है।

दुनिया के सबसे पहले फिलोसोफर कौन थे?

दुनिया के सबसे पहले फिलोसोफर Aristotle, Socrates और Plato थे।

दार्शनिक (फिलोसोफर) बनने में कितने साल लगते हैं?

बैचलर्स डिग्री प्राप्त करने में 3-4 साल, मास्टर्स डिग्री में 1-2 साल, MPhil में 2-3 साल, PhD करने में 2-3 साल लगते हैं। यानि कुल मिलाकर 9 साल का समय लगता है।

आशा करते हैं कि इस ब्लॉग से आपको philosopher kaise bane के बारे में जानकारी मिली होगी। यदि आप विदेश में फिलोसोफी कोर्स करना चाहते हैं तो हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800 572 000 पर कॉल कर आज ही 30 मिनट्स का फ्री बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. How-To guides
Talk to an expert