मेरा भारत महान पर निबंध

1 minute read
4.9K views
10 shares

भारत एक ऐसा देश हैं जो समय के साथ अपने आपको हर परिस्थिति में ढाल लेता है, भारत उन विकासशील देशों में से हैं जो सबसे ज्यादा जल्दी तरक्की की सीढियां चढ़ रहा है। हम सबको अपने भारतीय होने पर गर्व है। सबसे पुरानी सभ्यता और प्राचीन संस्कृति का धनी है, भारत का इतिहास गौरवान्वित करने वाला रहा है। भारत को ऐसे ही सोने की चिड़िया नहीं कहा जाता है, भारत हमेशा से ही शांति प्रिय देश रहा है हमेशा अपने पड़ोसी देशो के साथ मैत्रीपूर्ण सबंध बनाने में विश्वास रखता है। हम इस ब्लॉग के माध्यम से अपने भारत की कई गौरवपूर्ण बातों से रूबरू कराएंगे mera bharat mahan hindi nibandh अक्सर परीक्षाओं में इस पर निबंध लिखने को आता है चलिए और नज़दीक से जानते है मेरे देश भारत को।

Check Out: Essay on Importance of Water in Hindi (जल का महत्व पर निबंध)

कक्षा 2 और 3 के लिए मेरा भारत महान पर निबंध

मेरे भारत देश की पावन मिट्टी में कई महापुरुषों ने जन्म लिया है। जैसे-विवेकानंद, दयानंद सरस्वती, लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल, भारत को आजादी दिलाने वाले चंद्रशेखर आजाद, अशफाख उल्लाह खान, 23 वर्ष की उम्र में शहीद होने वाले भगत सिंह, राजगुरु, अंग्रेजों से अकेले लोहा लेती रानी लक्ष्मीबाई, सुभाष चंद्र बोस और ना जाने कितने वीर सपूतों ने अपने प्राण इस पावन मिट्टी को बचाने में गवा दिए। स्वामी विवेकानंद शिकागो अधिवेशन में हिंदी भाषा में भाषण दिया और भारत का सीना गर्व से चौड़ा किया। भारत सुप्रसिद्ध करने में साहित्यकारों की भी विशेष भूमिका रही है जैसे –तुलसीदास, कालिदास, रविंद्र नाथ टैगोर, सुमित्रानंदन पंत, हरिवंश राय बच्चन आदि इन सब ने भारत को स्तर पर गौरवान्वित किया है।

Check Out: निबंध लेखन

कक्षा 5-7 के लिए मेरा भारत महान पर निबंध

भारत का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा है जिसे पिंगले वैंकेया ने बनाया था। भारत के तिरंगे का अनुपात 3:2 है। तीन रंगों से मिलकर बना है ऊपर केसरी पट्टी ताकत का प्रतीक है, बीच में सफेद रंग पट्टी है जो ईमानदारी और शांति का प्रतीक है इसके साथ ही बीच में एक धर्म चक्र है। अंत में हरे रंग की पट्टी है जो हरियाली, संस्कृति का प्रतीक है। भारत में ही मोहनजोदड़ो और हड़प्पा जैसी पुरानी सभ्यता के निशान भी पाए जाते हैं। अगर हम यहां के मौसम की बात करें जितनी विविधताएं हमारी भाषा, बोली में हैं, उतनी ही विविधताएं यहां के मौसम की भी है। चाहे उत्तर में बर्फीले पहाड़ हो, दक्षिण में घने जंगल ,पठार हो प्रकृति कितना सुंदर रूप आपको सिर्फ भारत में ही मिलेगा। राष्ट्रगीत वंदे मातरम, राष्ट्रगान जन गण मन, राष्ट्रीय पक्षी मोर है। कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक भारत में काफी मशहूर चीजें पाई जाती है जैसे आगरा का ताजमहल, प्रसिद्ध खजुराहो मंदिर, नीलगिरी की पहाड़ियां, एलोरा की गुफाएं और ना जाने कितनी ही चीजें है।

Check Out: इंटरनेट आज की आवश्यकता पर निबंध

250 शब्दों में मेरा भारत महान हिंदी पर निबंध

मेरा भारत महान हैं, और हमें अपने भारतीय होने पर गर्व है। जहां अलग- अलग धर्म, जाति, भाषा, रंग, रुप के लोग बहुत प्रेम से साथ रहते है। जहां मंदिर में पूजा पाठ होती घंटी और शंख की मीठी धवनी आपको पवित्रता एहसास दिलाएगी, मस्जिदों में आजन, चर्च में गॉड की प्रेयर ये सब मेरे भारत पूरे विश्व के देशों से अलग बनाता हैं। भारत ने हमेशा हर संस्कृति का सम्मान किया है। जहा दिवाली, होली, क्रिसमस, ईद हर त्योहार को अपने से मनाया जाता हैं। भारत में मुग़ल शासकों और अग्रेजों का साशन हमारी संसकृति का हिस्सा रहा हैं भारत में हमेशा अतिथि देवो भव: की संस्कृति रही है। मुगलों और अंग्रेजो ने हमारे ऊपर कई साल शासन किया लेकिन हम भारतीयों ने उनका भी दिल खोल कर स्वागत किया उन्होंने कई बार भारत में फूट डालने की नीति अपनाई लेकिन भारत ने विविधता में एकता के रहते उन्हें यहाँ से भाग जाने के लिए मजबूर कर दिया। इतना कुछ होने के बावजूद भी हमारी संस्कृति, संस्कार और अपनेपन में कोई बदलाव नहीं आया।

भारत की संस्कृति सच में अद्भुत है लोग दूर-दूर से लोग भारत की संस्कृति और सभ्यता का अध्ययन भी करते हैं। अपने से बड़ो का आदर सत्कार करना, छोटो के साथ विनम्रता से व्यहवार करना हमें बचपन से ही परिवार का महत्त्व बताया जाता है और कैसे परिवार को प्रेम के धागे में पीरो कर रखना चाहिए साथ ही भाईचारे से सबके साथ कैसे रहना चाहिए। भारत अपनी विभिन्न नृत्य कलाओं ये लिए भी प्रसिद्ध है।

Check Out: विज्ञान के चमत्कार पर निबंध

निबंध 400 शब्दों में मेरा भारत महान हिंदी पर निबंध

भारत का नाम भारत राजा दुष्यंत के पुत्र भारत के नाम पर रखा गया है। भारत को  अलग अलग नामो से जाना जाता है जैसे हिन्दुस्तान, हिन्द, इंडिया आदि। पुरातन काल में आर्यव्रत नाम से जानना जाता था। भारत ने कई बड़े अक्रमण का सामना किया लेकिन अपनी शांत प्रिय छवि हमेशा बने रखी। भारत एक कृषि प्रधान देश है जहा अन्न का पैदावार हो सिन्धु सभ्यता घटी के समय से ही की जाती है । भारत में 70% किसान रहते हैं। किसान चाहे खुद भूखा रह जाए लेकिन वो हमारे देश के वासियों को भूखा नहीं रहने देते है, इसलिए इन्हें अन्न्देवता कहा जाता है। भारत का किसान सिर्फ भारत के निवासियों को ही नहीं बल्कि विश्व भर के लोगों को अन्न प्रदान करता है। बहुत विकसित देश भी भारत से अन्न का निर्यात करते है।

अगर हम अन्नदेवता की बात कर रहे है तो तो अपने सैनिक भाइयों को कैसे भूल सकते है जो मेरे प्यारे देश भारत की सुरक्षा दिन रात करते है और इस पावन भारत को हर बड़ी मुसीबत से बचाते है। भारत सिर्फ कृषि के क्षेत्र में ही आगे नहीं है बल्कि विज्ञान में भी अपने बहुत तरक्की की है भारत ने दुनिया भी खोज के मामले किसी विकासित देश से कम नहीं है भारत में खोज के लिए बहुत सारे वैज्ञानिकों ने योगदान दिया जैसे आर्यभट्ट, रामानुजम, अब्दुल कलाम, जगदीश चंद्र बसु और सी.वी.रमण जैसे बड़े बड़े वैज्ञानिक दिए है। इन सब ने विज्ञान के क्षेत्र में बहुत बड़ा योगदान दिया है ।

भारत की वीर भूमि ने कई शूरवीरों ने जन्म लिया है जैसे छत्रपति शिवाजी, महराणा प्रताप, भगतसिंह जैसे वीरो ने भारत  कई बार आक्रमण से बचाया। मेरे भारत ने हर धर्म को दिल से स्वीकार किया है चाहे हिन्दू, मुस्लिम, सिख, इसाई हो हर असंभव दिखने वाले काम को संभव बनाया है।

ऐसा नहीं मेरा भारत आज ही सम्पन्न हुआ है ये पूर्णकालिक समय लगभग 600 साल से सम्पन्न है, भारत कई विदेशी ताकतों के अधीन रहा था, उस समय भारत को सोने की चिड़िया कहा जाता था लेकिन भारत के सम्पन्न होने कारण जो भारत में आया वो भारत का सारा खजाना लूट कर ले गए लेकिन भारत तब भी आज एक विकासशील और सम्पन देश है।यहाँ माटी को सिर्फ माटी के रूप में नहीं बल्कि माँ के रूप में देखा जाता हैं कोई देश केवल क्षेत्र से नही बनता , बनता है उसमे रहे लोगों और उनके बीच के प्रेम से जैसी की एक घर तब बनता है जब उसमे लोग रहते है प्रेम से। मेरा भारत सच में महान हैं जो इतनी विवधताओं के बावजूद एकता की अनूठी मिसाल हैं।

निबंध 800 शब्दों में मेरा भारत महान हिंदी पर निबंध

Mera Bharat mahan Hindi nibandh पर नीचे 800 शब्दों में निबंध इस प्रकार है:

संकेत बिंदु :

  • पर्वत श्रेणी
  • कानून व्यवस्था 
  • पर्यटन 
  • महापुरुष
  • नदियाँ 

प्रस्तावना
मैं भारत का निवासी हूँ जिस पावन देश में भगवान भी अलग-अलग अलग रूप में जन्म लेते है चाहें मर्यादा पुर्शोतम  श्री राम और कृष्ण ने अवतार लिया था। यह एक प्राचीन संस्कृति और महान संस्कृति वाला देश है। भारत की 80 प्रतिशत आबादी गांँव में रहती है हमारे देश ने हमें आज़ादी का तोफा दिया है जिसे संभल कर रखना हमारा कर्तव्य है । “वसुधैव कुटुंबकम” से हमारे देश की सभ्यता के बारे में बताया जा सकता हैं ।

1947 को जब  भारत आज़ाद हुआ था तभी से भारत में लोकतंत्र की नींव पड़ी थी। भारत की आज़ादी के साथ ही संविधान की नींव पड़ी जिसमे , भारत के संविधान को श्रेष्ठ संविधान माना जाता है। जहाँ धर्म, जाति , रंग , रूप , वेशभूषा को किनारे रख कर इंसान को इंसान की तरह माना जाता है  मेरे देश भारत में समान रूप से व्यहवार के लिए कुछ नियम बनाए गए है  जिसका पालन करना देश के नागरिकों के लिए जरूरी हैं।  जो इसका पालन नहीं करता उसे न्यायपालिका दंड सुनाती है। मेरे भारत में हिमालय से सुन्दर पावन नदियाँ बहती हैं जैसे गंगा, यमुना, नर्मदा ,तापी, कृष्णा , गोदावरी  और अन्य कितनी नदियाँ है। यहाँ अनेक पर्वत श्रेणी है अरावली पर्वत श्रेणी सबसे प्रसिद्ध और पुरानी पर्वत श्रेणी हैं ये पर्वत श्रेणी राजस्थान में है। भारत की मिट्ठी में बहुत महान लोगो ने जन्म लिया जैसे चाणक्य, तुलसीदास, कबीर महावीर, महात्मा गाँधी अदि जिन्होंने भारत का सिर गर्व से उचा कर दिया।

भारत के अनेक राज्य में अलग अलग भाषाएँ ,वेशभूषा, खानपान है फिर भी लोगों साथ मिलजुल कर रहते हैं। भारत में 28 और 8 केंद्र शासित प्रदेश है विवधता होने के कारण हमारे देश कोई राष्ट्र भाषा नहीं है। भारत खूबसूरती का भंडार हैं यह पर्यटक दूर दूर से घुमने के लिए आते है पश्चिम से ले कर पूरब , उत्तर से लेकर दक्षिण हर जगह भारत की नई खूबसूरती देखने को मिलती हैं भारत में धार्मिक स्थलों की भी कोई कमी नहीं है यहाँ भी श्रद्धालु से भरा रहता हैं ।

योग और आयुर्वेद का जन्मदाता भी भारत को माना जाता हैं पतंजलि द्वारा योग को बढ़ावा दिया गया और आज भारत की ही ताकत है विश्व स्तर पर योग प्रमाणिकता हासिल हुई उत्तराखंड में बसे ऋषिकेश को योग राजधानी माना जाता है । मेरा भारत जनसंख्या  में दूसरे स्थान और क्षेत्रफल में सातवें नंबर पर आता है।भारत ने कभी भी किसी को डराने की कोशिश नहीं की अन्तराष्ट्र मुद्दों पर हमेशा गुट निरपेक्ष की भूमिका निभाई हैं और जियो और जीने दो  के नारे पर कायम है। मेरा प्यारा भारत भौगोलिक विभिन्नताओं वाला देश हैं। यहाँ ओर हरियाली, जंगल, हिमखंडित पर्वत शिखर हैं और मरुस्थल। हमारा प्यारा देश भारत अनेकता में एकता का अपूर्व उदाहरण है।

उपसंहार
Mera Bharat mahan Hindi nibandh जो सुन्दरता का प्रतीक है इस पर कितने भी शब्दों में लिखा जाए कम ही पड़ेगा  स्वतंत्रता से लेकर युद्ध तक कितने अनेकों दर्द भारत के अन्दर समाए फिर भी इसने अपनी मिठास नहीं खोई है और न ही हार मानी है हर कठिनाई का बड़े बहादुरी से सामना किया है मेरे भारत ने मुझे गर्व है मैं इस भारत का अंग हूँ।

FAQs

भारत को महान कैसे बनाएं निबंध?

मेरा भारत देश कृषि प्रधान देश:- मेरा भारत देश कृषि प्रधान देश है यहां पर हर तरह के अनाज की पैदावार होती है जैसे मक्का ,ज्वार ,गेहूं ,बाजरा ,इत्यादि ,मेरा भारत में कृषि सिंधु घाटी सभ्यता के समय से ही की जा रही है मेरा भारत में लगभग 51% भाग पर कृषि की जाती है ,कुल 52 फीसदी लोग कृषि से अपनी आजीविका चलाते हैं।

मेरा भारत महान कैसे लिखें?

मेरा भारत महान हैं, मुझे अपने भारतीय होने पर गर्व है । जहां अलग- अलग धर्म, जाति, भाषा, रंग, रुप के लोग बहुत प्रेम से साथ रहते है। जहां मंदिर में पूजा पाठ होती घंटी और शंख की मीठी ध्वनि आपको पवित्रता एहसास दिलाएगी, मस्जिदों में आजन, चर्च में गॉड की प्रेयर ये सब मेरे भारत पूरे विश्व के देशों से अलग बनाता है।

मेरा भारत महान क्यों है?

मेरा भारत महान है क्योंकि भारत में बहुत सी संस्कृति है। यहां पर एकता बहुत है यहां की संस्कृति बहुत अनोखी है। यहां भारत देश में सांस्कृतिक विरासत पूरी तरह लागू होता है। आज भी लोग हमारी संस्कृति को बढ़ावा देते हैं, हमारी संस्कृति ने बहुत से देशों को आकर्षित किया है।

भारत महान देश है वाक्य में भारत क्या है?

‘भारत महान देश है l’ इस वाक्य में जातिवाचक संज्ञा है।

आशा करते हैं कि आपको Mera Bharat Mahan Hindi Nibandh के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी मिली होगी। यदि आप विदेश में पढ़ाई करना चाहते हैं तो आज ही हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स को 1800572000 पर कॉल करें और 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert