क्रिकेटर कैसे बने?

Rating:
4.7
(6)
क्रिकेटर कैसे बने

Cricket भारत में एक धर्म की तरह है। यहां cricket मैच के पीछे भीड़ भरी सड़के सुनसान हो जाती हैं। कई खिलाड़ियों को भारत की ओर से खेलने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। वहीं बात जब क्रिकेटर बनने की आती है तो देश में न जानें कितने युवा इसके पीछे जान लगा देते हैं। इस ब्लॉग में विस्तार से जानिए कि क्रिकेटर कैसे बने।

आप भीड़ के लिए नहीं बल्कि अपने देश के लिए खेलते हैंमहेंद्र सिंह धोनी

क्रिकेटर कैसे बने? पहली आवश्यकताएं

एक पेशेवर क्रिकेट खिलाड़ी बनना कोई आसान काम नहीं है। क्रिकेट में करियर बनाने के लिए आपके अंदर कुछ जरूरी ख़ूबियाँ होनी चाहिए। नीचे कुछ skills की जानकारी दी गई है कि क्रिकेटर कैसे बने?

  • अभ्यास : आपको खेल में महारत हासिल करने के लिए खूब अभ्यास करने की जरूरत है। अभ्यास से आप खेल में अपनी capabilities को निखार सकते हैं और अपने खेल को professional level पर ले जा सकते हैं।
  • खेल की बुनियादी जानकारी : सिर्फ बल्ले या गेंद के इस्तेमाल को समझना ही काफी नहीं है। खेल को समझने के लिए आपको खेल में इस्तेमाल होने वाली vocabulary, kit, rules & regulations की जानकारी होनी चाहिए।
  • अपने मजबूत हिस्से को पहचानें : इस खेल में आप को यह समझना होगा कि खेल के किस हिस्से में आपकी पकड़ मजबूत है। आपको निरंतर अभ्यास करके यह जानना होगा कि आप एक अच्छे गेंदबाज़ हैं या बल्लेबाज़। साथ ही आपको यह भी सीखना होगा कि अपने कमजोर भाग पर कैसे काम करें और अपनी ताकत को कैसे बढ़ाएं।

Cricketer बनने के लिए Guide

एक पेशेवर क्रिकेटर बनने के क्रम में कुछ ऐसी चीजें है, जो आपको हमेशा अपने दिमाग में रखनी होंगी और अपना एक लक्ष्य निश्चित करके उसकी ओर काम करना होगा। नीचे क्रिकेटर बनने के हर कदम की कुंजी साझा की गई है।

Cricket Academy से जुड़ें

अगर आप खुद को देश के लिए उस नीली जर्सी में खेलते देखने का ख़्वाब देख रहे हैं, तो उस ख़्वाब को हकीक़त में बदलने का सबसे पहला कदम है एक क्रिकेट एकेडमी से जुड़ना। एक professional coach के माध्यम से खेल की बारिकियां सीखने से आपकी खेल में पकड़ मजबूत होगी। इसके साथ ही आपके रोज़ के अभ्यास का एक हिस्सा कारगर सलाह व तरीके सीखने में जाएगा, जिसके लिए आपको अलग से समय नहीं निकालना होगा। एक अच्छी क्रिकेट एकेडमी से जुड़ने से आपको आपकी ताकत और कमज़ोरी का पता चलेगा व आपको सुधार करने के तरीके भी पता चलेंगे।Cricket academy में जुड़ने से आपका सामना प्रतिस्पर्धा खिलाड़ियों से होगा, जो आपको खेल सुधारने के लिए उत्साहित करेंगे। 

अच्छा Coach खोजें

क्रिकेट खिलाड़ियों का सबसे मजबूत संबंध अपने कोच के साथ होता है, क्या आपने कभी सोचा है, ऐसा क्यों? कोच से खिलाड़ियों का लगाव इसलिए ज्यादा होता है, क्योंकि कोच न सिर्फ आपको खेल से अवगत कराता है बल्कि आपको खुद की बनाई सीमा से आगे लाकर दुनिया को आपका हुनर दिखाता है, जो शुरूआती दौर में सिर्फ कोच की अनुभवी आंखों को दिख रहा होता है। अपना कोच चुनने से पहले अच्छे से research और background check कर खुद को संतुष्ट करें, फिर कोच चुने। कई retired खिलाड़ी कोच बनकर विभिन्न academies से जुड़ जाते है या खुद की एकेडमी शुरू कर लेते हैं।

Professional Team से जुड़ें

खुद के खेल को पेशेवर स्तर पर ले जाने की एक कड़ी है कि आप professional level पर खेलना शुरू करें। इसके लिए आपको एक पेशेवर टीम से जुड़ने की जरूरत है। आप अपनी शुरुआत अपनी स्कूल या कॉलेज की क्रिकेट टीम से कर सकते हैं, जहां खेलने से आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा। फिर आप एक ऐसी टीम से जुड़ कर उसके लिए खेलना शुरु कर सकते है, जो विभिन्न private cricket tournament खेलती हों। आप किसी club के साथ भी जुड़ सकते हैं, जहां खेलने से किसी प्रसिद्ध क्लब द्वारा आपके चुने जाने की संभावना बढ़ जाती है। बस आप क्लब से जुड़ने की सभी शर्तों पर खरे उतरने चाहिए।

Tournaments खेलना शुरू करें

आपको अपनी शुरुआत छोटे स्तर से करनी है, लेकिन लक्ष्य बड़ा रखना है। एक बार जब आप किसी टीम या क्लब के लिए खेलना शुरू करेंगे, तब आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आप देश के विभिन्न हिस्सों में होने वाले टूर्नामेंट खेलने जाएं। यहां से आपके पेशेवर खिलाड़ी बनने का रास्ता एक प्रतिस्पर्धी टीम से जुड़ने व उसके बाद राज्य की टीम में दाखिल होने का है। अगर आप रणजी ट्रॉफी जैसे बड़े टूर्नामेंट खेलते हैं और अच्छा प्रदर्शन करते हैं, तो इस क्षेत्र में अच्छा करियर बनाने की संभावना आपके लिए बढ़ जाती है। 

क्रिकेटर बनने के लिए Fitness पर दें ध्यान

Cricketer की फिटनेस ही उसका सबसे बड़ा हथियार है, इसलिए अधिकतर क्रिकेटर रोज़ work out करते हैं और एक balanced diet का सेवन करते हैं। एक अच्छी फिटनेस पाने के लिए रोज़ gym जाना जरूरी है और basic cardio से लेकर high intensity work out को अपने gym routine में शामिल करना जरूरी है।

आपको अपनी diet से गैर-जरूरी carbohydrate व sugar वाले पदार्थों को हटाने और protein के सेवन पर ध्यान देने की जरूरत है। यह क्रिकेटर कैसे बने? इस सफर का सबसे जरूरी मोड़ है और इसका पालन आपको अपने पूरे कैरियर में करना है। खेल में entry लेने का प्रयास करने वाले खिलाड़ी से लेकर पेशेवर खिलाड़ी तक सभी को शारीरिक चुस्ती को बरकरार रखने की जरूरत होती है।

National Team के लिए Selection Process

क्रिकेट में भाग लेने वाले सभी देशों की national team के अलावा A-team भी होती है। National team में अपनी जगह बनाने के लिए पहले A-team में जगह बनानी पड़ेगी। हालांकि, यह कोई जरूरी नहीं है कि सिर्फ A-team में खेलने वाले खिलाड़ियों को ही national team में खेलने का मौका मिले। National level पर अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को A-team का हिस्सा बनने का मौका दिया जाता है। सभी देशों की A-team एक दूसरे के साथ मुकाबला करती हैं, ताकि A-team के खिलाड़ियों को विदेशी पिच में खेलने का अनुभव मिल सके। National team में खुद की जगह बनाने के लिए किसी भी शख्स को बहुत मेहनत करनी पड़ती है। 

National team का हिस्सा बनने के अलावा आप विभिन्न देशों में आयोजित होने वाली league या franchise का भी हिस्सा बन सकते हैं। IPL (India), county cricket (England), BBL (Australia) आदि कुछ प्रसिद्ध leagues के उदाहरण हैं। लेकिन इन league का हिस्सा बनने से पहले BCCI द्वारा जारी guidelines को ज़रुर देख लें, अगर आप एक भारतीय हैं तो।

Also Read: क्रिकेट के महाराजा – सौरव गांगुली

विराट कोहली क्रिकेटर कैसे बने?

5 नवंबर 1988 में दिल्ली में जन्मे विराट कोहली आज दुनिया के सबसे talented cricketers में जाने जाते है। विराट कोहली के पिता criminal lawyer थे और उनकी माता एक housewife हैं। वो अपने भाई बहनो में सबसे छोटे है और उनके बड़े भाई का नाम विकास कोहली और बड़ी बहन का नाम भावना है। जब कोहली 3 साल के थे तब से ही उन्होंने क्रिकेट खेलने के लिए bat को हाथ में थाम लिया था और हमेशा अपने पिता को बॉलिंग करने के लिए कहा करते थे।

खुद पर विश्वास रखें

क्रिकेटर बनने की आखिरी व सबसे अहम कड़ी खुद के सपने और खुद पर भरोसा रखना है। भरोसे के साथ संयम रखकर निरंतर प्रयास करने से परिणाम ज़रुर मिलते हैं। भारतीय क्रिकेट के इतिहास में कई खिलाड़ियों ने विपरीत परिस्थितियों में अपने खेल पर भरोसा रखा और खेल के सितारे बनकर उभरे। नीचे ऐसे ही कुछ खिलाड़ियों के उदाहरण का जिक्र है:

  • Umesh Yadab : कोयले की खदान में काम करने वाले शख्स का बेटा
  • Ravindra Jadeja : चौकीदार का बेटा
  • Mohammed Shami : किसान का बेटा
  • Munaf Patel : एक भूमिहीन व फैट्री मज़दूर का बेटा जिसके पिता रोज़ाना के 35 रुपए कमाते थे
  • MS Dhoni: टिकट कलेक्टर के रूप में काम किया
  • Wasim Jaffer : बस ड्राइवर का बेटा
  • Virender Sehwag : आटा चक्की चलाने वाले का बेटा

क्रिकेटर बनने के लिए कितना पैसा लगता है?

अगर सही मायनों में देखा जाए तो क्रिकेटर बनने के लिए कोई भी पैसे नहीं लगते हैं लेकिन हां क्रिकेट को सीखने के लिए जरूर पैसे लगते हैं जो कि आपको क्रिकेट अकादमी में ज्वाइन करने के लिए और वहां सीखने के लिए देने पड़ते हैं अगर आप अच्छे से क्रिकेट सीख जाते हैं। इसके साथ ही आप बिना पैसों के एक सफल क्रिकेटर बन सकते हैं।

Cricket Academy में Admission कैसे लें?

आज के समय में आपको cricket academy खोजने के लिए internet पर सर्च करना होगा आप अपने शहर की बेस्ट cricket academy में वहाँ जाकर एडमिशन ले सकते हैं और इसके अलावा अकादमी में एडमिशन लेने से पहले आप वहां के कोच की पूरी जानकारी जरूर लें। पता करें कि जहाँ आप प्रवेश ले रहें हैं वहां कौन मुख्य कोच हैं एवं उन्होंने किन किन खिलाडियों को ट्रेनिंग दी हैं और वे खिलाड़ी कहाँ तक पहुँच पाए हैं। साथ ही यह भी ध्यान रखें जहाँ आप प्रवेश ले रहें हैं उस अकादमी का cricket club जो कि DDCA (Delhi & District Cricket Association) से जुड़ा है या नहीं।

क्रिकेट भर्ती फॉर्म

National cricket academy समय-समय पर seminar के जरिए सीनियर खिलाड़ियों के साथ मिलकर युवा खिलाड़ियों के सामने अपने टैलेंट देखते हैं और उनको मौका देते हैं। National cricket academy के फॉर्म और उनके एडमिशन के लिए trial भी चलते रहते हैं जिनके अंदर खिलाड़ी trial दे सकते हैं। National cricket academy में जगह बनाने के लिए national cricket academy के अंदर जो भी सेमिनार होते हैं उनमें हिस्सा लेकर ट्रायल देते रहे।

रेलवे से क्रिकेटर कैसे बनें?

रेलवे की टीम में join करने के लिए trial देना होता है जिसमें केवल railway के ही लोग trial को दे सकते हैं। जिसमें आप भी हिस्सा ले सकते हैं अगर आप trial में select हो जाते हैं तो आप रेलवे की ओर से रणजी ट्रॉफी खेल सकते हैं। अगर आप एक बार रणजी ट्रॉफी खेल लेते हैं और उसमें अच्छा प्रदर्शन करते हैं तो आपका सिलेक्शन Indian team में भी हो सकता है। इसलिए आपको किसी भी तरह मेहनत करके सबसे पहले रणजी ट्रॉफी के ट्रायल को निकालना होता है उसके बाद अगर आप उसमें एक बार सिलेक्ट हो जाते हैं तो आपको क्रिकेट में आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता।

Also Read: ये हैं दिग्गज़ क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी का सफरनामा

क्रिकेटर बनने के कुछ आसान Tips

Cricketer बनने के लिए useful tips इस प्रकार हैं।

  • बेहतर क्रिकेट खेलने के लिए बहुत ज्यादा अभ्यास की जरूरत होती है। इसलिए अगर आपको सफल क्रिकेटर बनना है तो आपको रोजाना करीब 8-10 घंटे क्रिकेट का अभ्यास करना चाहिए। इस खेल के लिए फुर्ती का होना जरूरी है और फुर्ती आपके अंदर तभी आएगी जब आप कड़ा अभ्यास करते हों।
  • रोजाना कोशिश करें कि आप कल से कुछ ज्यादा आज अच्छा प्रदर्शन करेंगे यानि कि अपने skills को सुधारने की कोशिश करेंगे और ऐसा करें जो आपके कल के प्रदर्शन से ज्यादा बेहतर हो। आप रोजाना अपने प्रदर्शन को बीते कल के अभ्यास से बेहतर करते हैं तो आपके खेलने का तरीका भी काफी लोगों से अलग होता रहेगा।
  • अगर आप एक स्टूडेंट हैं और पढ़ाई के साथ क्रिकेट को भी जारी रखना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपना समय अच्छे से मैनेज करना होगा तभी आप एक साथ दोनों चीजो को साथ में ले कर चल सकते हो। एक time table बनायें और उसी के अनुसार चलें। Time table बनाने के लिए पहले अपने पूरे दिन के कामों को समझें और उसी हिसाब से समय निकालें।
  • अगर आप अभी क्रिकेट में नए हैं या आपने अभी-अभी ही खेलना शुरू किया है तो सुधार आपके अंदर जरुर होगा, लेकिन सुधार की गति धीमी होगी जब तक आप क्रिकेट के हर पहलू को अच्छे से समझ नही जाते। इसमें कोई घबराने वाली बात नही है क्योंकि सचिन, विराट, धोनी, कपिल जैसे खिलाड़ी भी शुरू में अच्छा नही खेलते होंगे सभी मेहनत और परिश्रम करके ही इस मुकाम तक पहुंचे हैं।

FAQs

मुझे क्रिकेटर बनना है क्या करूं?

करियर ऑप्शन के तौर पर क्रिकेटर बनने के लिए काफी टेलेंट, कठिन परिश्रम और किस्मत की जरूरत होती है। इसके लिए कोई college/university नहीं है, जो इस प्रोफेशन के लिए डिग्री प्रदान करती हो। यद्यपि इसके लिए देश भर में अनेक ट्रेनिंग संस्थान हैं, जहां आप अपनी स्किल को बढ़ा सकते हैं।

क्रिकेट एकेडमी में फीस कितनी लगती है?

आम तौर पर सेशन और सालान फीस 1,000 रुपये से 35 हजार के बीच है। फीस को लेकर ज्यादा जानकारी के लिए आप एकेडमी से संपर्क कर सकते हैं। आप किसी भी महीने में इस एकेडमी से संपर्क कर सकते हैं।

क्रिकेट एकेडमी में एडमिशन कैसे लें?

नेशनल क्रिकेट अकादमी के लिए आपको एक-एक कदम करके आगे बढ़ना होगा, ऐसा बहुत कम खिलाड़ियों के साथ होता है जो किसी दिन नेशनल क्रिकेट अकादमी में पहुंच जाएं। सबसे पहले आपको स्कूल लेवल पर बेहतर प्रदर्शन होगा या फिर आप जिस अकादमी में खेल रहे हैं वहां पर अपने टैलेंट को निकालना होगा।

क्रिकेट के बारे में सब जानते हैं? इस क्विज़ में भाग लेकर साबित करें।

आशा करते हैं कि आपको इस ब्लॉग से क्रिकेटर कैसे बने यह पता चल गया होगा। यदि आप विदेश में पढाई करना चाहते हैं तो हमारे Leverage Edu के experts से 1800 572 000 पर contact कर आज ही free session बुक कीजिए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

6 comments

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like

Virat Kohli Biography in Hindi
Read More

Virat Kohli Biography in Hindi

5 नवंबर 1988 में दिल्ली में जन्मे विराट कोहली आज दुनिया के सबसे टैलेंटेड क्रिकेटर्स में जाने जाते…
Mirabai Chanu Biography in Hindi
Read More

मीराबाई चानू ने जीता टोक्यो ओलंपिक में सिल्वर मेडल, जानें इनकी कहानी

मशहूर भारतीय वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने टोक्यो ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीत लिया है. मीराबाई चानू वेटलिफ्टिंग में…