फिटनेस ट्रेनर के रूप में बनाएं एक सुनहरा करियर

2 minute read
491 views
10 shares
Leverage Edu Default Blog Cover

स्वस्थ शरीर और दिमाग दोनों ही फिटनेस को डिफाइन करते हैं। अगर हर दिन आप कसरत करते हैं तो कोई बीमारी आपको छू नहीं सकती है। कसरत कौन सी करें और कैसे करें इसके बारे में आपको फिटनेस ट्रेनर अच्छी तरह बता सकते हैं। आज के इस ब्लॉग के जरिए हम आपको बताएंगे कि फिटनेस ट्रेनर कौन होते हैं और फिटनेस ट्रेनर बनने के लिए क्या करना पड़ता है। चलिए विस्तार से जानते हैं कि फिटनेस ट्रेनर के रूप में करियर कैसे बनाएं।

कौन होता है फिटनेस ट्रेनर?

फिटनेस ट्रेनर
Source – Unsplash

जैसे-जैसे लोग ठीक से व्यायाम करने लगते हैं, फिटनेस ट्रेनर उन्हें अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए निर्देश देते हैं और उन्हें जमकर प्रेरित भी करते हैं। एक फिटनेस ट्रेनर एक या एक से अधिक क्षेत्रों में एक्सपर्ट हो सकते हैं और इस प्रकार, लोगों को उनके गाइडेंस में शारीरिक कसरत को करने में सहायता कर सकते हैं।

वे लोगों के एक ग्रुप को तैयार कर सकते हैं, या विशिष्ट क्लाइंट्स के साथ एक-के-बाद-एक सेशंस ले सकते हैं। यदि वे फिजिकल ट्रेनर बनने की इच्छा रखते हैं तो उनके पास संबंधित स्किल्स होना आवश्यक है क्योंकि नौकरी के लिए रोज़ाना के आधार पर क्लाइंट डीलिंग की आवश्यकता होती है।

फिटनेस ट्रेनर के कार्य

फिटनेस ट्रेनर के कार्य नीचे दिए गए हैं-

  • फिटनेस ट्रेनर का काम होता है अपने क्लाइंट्स को एक्सरसाइज कराना उसके अनुसार डाइट प्लानिंग कराना या बताना।
  • कसरत से आधारित सभी जानकारी अपने क्लाइंट्स को देना फिटनेस ट्रेनर के लिए आवश्यक होता है।
  • सभी ट्रेनिंग से संबंधित उपकरणों की नॉलेज होना बहुत आवश्यक है।
  • व्यक्ति के अनुसार तथा शरीर के मुताबिक कसरत और डाइट प्लान को बताना होता है।
  • फिटनेस ट्रेनर को पोषण, वजन प्रबंधन, तनाव कम करना, वजन घटाना, वजन बढ़ना, आहार से संबंधित आदि विषयों पर ध्यान देना होता है।

फिटनेस ट्रेनर के प्रकार

ऐसे कई अलग-अलग क्षेत्र हैं जिनमें एक ट्रेनर स्पेशलाइजेशन हासिल कर सकता है। आइए नीचे जानते हैं फिटनेस ट्रेनर के प्रकार-

  • वेट मैनेजमेंट ट्रेनर: लाइफस्टाइल और वेट मैनेजमेंट सभी की एक आम चिंता बन गई है, इस प्रकार, ऐसे ट्रेनर लोगों को उनके सेट टारगेट के अनुसार वजन कम करने या बढ़ाने में मदद करते हैं और एक संतुलित लाइफस्टाइल प्राप्त करने में भी उनकी मदद करते हैं।
  • ऑर्थोपेडिक ट्रेनर: ऑर्थोपेडिक ट्रेनर उन क्लाइंट्स को अटेंड करते हैं जिनके पास विशेष रूप से घुटनों में मेडिकल कंडीशंस हैं और उनकी चिकित्सा स्थिरता को ध्यान में रखते हुए विशेष एक्सरसाइज और निर्देव की आवश्यकता होती है।
  • मेडिकल ट्रेनर: एक मेडिकल फिटनेस ट्रेनर उन लोगों का मैनेजमेंट करता है जो मेडिकल ट्रीटमेंट से गुजर रहे हैं या उन्हें कोई बीमारी है। जिसके कारण उन्हें एक निश्चित स्तर की फिजिकल फिटनेस बनाए रखनी होती है।
  • स्पेशल या सेलिब्रिटी ट्रेनर: फिटनेस ट्रेनर जो एडवांस ट्रेनिंग में स्पेशलाइजेशन रखते हैं, वे आमतौर पर लोकप्रिय सेलेब्स के साथ काम करते हैं और एक भूमिका के लिए उनकी बॉडी को प्राप्त करने में उनकी मदद करते हैं।

फिटनेस ट्रेनर बनने ले लिए टिप्स?

फिटनेस ट्रेनर
Source – SGO Fitness

फिटनेस ट्रेनर बनने के लिए नीचे टिप्स दिए गए हैं:

  • आवश्यक स्किल्स प्राप्त करें: फिटनेस क्षेत्र में प्रभावी होने के लिए, आपको फिट होने और दूसरों को भी ऐसा करने में मदद करने के लिए समर्पित होना चाहिए। फिटनेस ट्रेनर व्यक्तियों को कसरत करने के लिए प्रेरित करने में मदद कर सकते हैं। एक फिटनेस ट्रेनर के लिए मजबूत इंटरपर्सनल स्किल्स की आवश्यकता होती है।
  • क्वालिफिकेशन परीक्षा दें:  किसी मान्यता प्राप्त संघ द्वारा सर्टिफिकेशन फिटनेस इंडस्ट्री में शामिल होने का एक मानदंड है। कई संगठन लिखित और वास्तविकता मूल्यांकन के साथ स्वास्थ्य जांच प्रोग्राम प्रदान करते हैं।
  • स्पेशलाइजेशन: आप अपने चुने हुए क्षेत्र में विशेष कोर्स को करके अपने ट्रेनिंग अनुभव का विस्तार करते हैं। यदि आप वेट लिफ्टिंग या फंक्शनल फिटनेस में शामिल हैं, तो उस क्षेत्र के लिए विशिष्ट एडवांस्ड कोर्सेज के लिए एनरोल करें।
  • ऑन-द-जॉब ट्रेनिंग: यदि आप एक प्रोफेशनल फिटनेस ट्रेनर बनना चाहते हैं तो कार्य अनुभव एक आवश्यकता है। कई कंपनियां स्पेशलाइजेशन के आधार पर लोगों को भर्ती करती हैं। प्रैक्टिक अनुभव प्राप्त करने के लिए फ्रेशर्स ट्रेंड फिटनेस प्रोफेशनल्स के साथ असिस्टेंट के रूप में काम कर सकते हैं।

Check Out: योग क्या है? (Yog Kya Hai)

फिटनेस ट्रेनर बनने के लिए स्पेशलाइजेशन

फिटनेस ट्रेनर बनने के लिए नीचे स्पेशलाइजेशन फील्ड दिए गए हैं-

  • स्ट्रेंथ और कंडीशनिंग कोच
  • ग्रुप एक्सरसाइज इंस्ट्रक्टर
  • फिटनेस मैनेजर
  • सीनियर फिटनेस स्पेशलिस्ट
  • यूथ फिटनेस स्पेशलिस्ट
  • वेट लॉस ट्रांसफॉर्मेशन स्पेशलिस्ट
  • बॉडीबिल्डिंग स्पेशलिस्ट
  • करेक्टिव एक्सरसाइज स्पेशलिस्ट

फिटनेस ट्रेनर बनने के लिए कोर्सेज

दुनिया भर की यूनिवर्सिटीज कई कोर्सेज ऑफर करती हैं जो आपको एक फिटनेस ट्रेनर बनने में मदद करते हैं। कुछ लोकप्रिय अंडरग्रेजुएट और पोस्टग्रेजुएट फिटनेस ट्रेनरकोर्सेज इस प्रकार हैं:

अंडरग्रेजुएट कोर्सेज

BA in Kinesiology and Exercise Science BSc (Hons) in Sport and Exercise Science BSc in Exercise Science (Fitness Specialist)
Bachelor of Science in Athletic Training Bachelor in Exercise Physiology and Rehabilitation BSc in Exercise Science
Bachelor in Physical Activity and Health Science Bachelor’s in Exercise Science and Health Promotion BSc (Hons) in Sport, Physical Activity and Health
BSc Sports Science Bachelor in Sport and Motor Performance BSc Sport & Exercise Science

पोस्टग्रेजुएट कोर्सेज

Master of Science in Exercise Science MSc in Physical Education MA in Applied Sport and Exercise Physiology
Master in Clinical Exercise Physiology MSc in Exercise Rehabilitation Master in Sport Sciences
Master in Human Movement Sciences: Sport, Exercise and Health MSc in Sports and Exercise Therapy Master of Science in Sport – Specialization in Physical Activity Assessment and Prescription
Master’s Degree in Research in Physical Activity and Sports Sciences MSc in Exercise Science and Wellness – Fitness and Performance MSc in Kinesiology and Recreation – Exercise Physiology
MSc in Sport and Exercise Science MSc in Strength and Conditioning MA in Applied Sport and Exercise Science

आप AI Course Finder की मदद से अपने पसंद के कोर्सेस और यूनिवर्सिटीज का चयन कर सकते हैं।

टॉप विदेशी यूनिवर्सिटीज

फिटनेस ट्रेनर बनने के लिए दुनिया की टॉप यूनिवर्सिटीज के नाम इस प्रकार हैं:

यूनिवर्सिटीज सालाना ट्यूशन फीस
टीसाइड विश्वविद्यालय GBP 14,000 (INR 14 लाख)
विस्कॉन्सिन विश्वविद्यालय USD 18,666 (INR 14 लाख)
यूनिवर्सिटी कॉलेज बर्मिंघम GBP 13,400 (INR 13.40 लाख)
ऑक्सफोर्ड ब्रूक्स विश्वविद्यालय GBP 12,000 (INR 12 लाख)
कॉन्ट्रा कोस्टा के कॉलेज USD 8,034 (INR 6.02 लाख)
एक्सेटर विश्वविद्यालय GBP 25,000 (INR 25 लाख)
विल्टशायर कॉलेज और विश्वविद्यालय केंद्र GBP 11,500 (INR 11.50 लाख)
डियाब्लो वैली कॉलेज USD 7,728 (INR 5.79 लाख)
पेनसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी USD 15,895 (INR 11.92 लाख)
सेंटेनियल कॉलेज CAD 15,385 (INR 9.23 लाख)

टॉप भारतीय कॉलेज

देश के कुछ टॉप कॉलेज जो ट्रेनिंग कोर्सेज ऑफर करते हैं उनके नाम इस प्रकार हैं:

  • एचवीपीएम, अमरावती
  • इंदिरा गांधी शारीरिक शिक्षा और खेल विज्ञान संस्थान (IGIPESS)
  • लक्ष्मीबाई नेशनल कॉलेज ऑफ फिजिकल एजुकेशन, केरल
  • साई, नेताजी सुभाष राष्ट्रीय खेल संस्थान, पटियाला
  • साई, एनएस पूर्वी केंद्र, साल्ट लेक सिटी, सेक्टर – III, कोलकाता
  • साई, एनएस साउथ सेंटर, यूनिवर्सिटी कैंपस, बैंगलोर
  • अर्श योग विद्या पीठम ट्रस्ट (आर्य वैद्य फार्मेसी (सीबीई) लिमिटेड की एक इकाई) कोयंबटूर
  • व्यायाम विज्ञान अकादमी
  • बिभु यूनिवर्सल फिटनेस
  • जेएलओ फिटनेस इंस्टिट्यूट

योग्यता

फिटनेस ट्रेनर बनने के लिए योग्यता इस प्रकार है:

  • किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 (कोई भी स्ट्रीम) उत्तीर्ण की होनी ज़रूरी है।
  • कैंडिडेट ने किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से बैचलर्स डिग्री प्राप्त की हो।
  • किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से कैंडिडेट ने मास्टर्स डिग्री उत्तीर्ण की हो।
  • विदेश में पढ़ने के लिए इंग्लिश लैंग्वेज टेस्ट जैसे IELTS/TOEFL के अंक अनिवार्य हैं।
  • SOP और LOR

क्या आप IELTS/TOEFL/SAT/GRE में अच्छे अंक प्राप्त करना चाहते हैं? आज ही इन परीक्षाओं  की बेहतरीन तैयारी के लिए Leverage Live पर रजिस्टर करें और अच्छे अंक प्राप्त करें।

भारतीय विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  • यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

विदेश में आवेदन प्रक्रिया

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स और यूनिवर्सिटी का चुनाव है। 
  • कोर्स और यूनिवर्सिटी के चुनाव के बाद उस कोर्स के लिए उस यूनिवर्सिटी की पात्रता मानदंड के बारे में रिसर्च करें। 
  • आवश्यक टेस्ट स्कोर और दस्तावेज एकत्र करें।
  • यूनिवर्सिटी की साइट पर जाकर एप्लीकेशन फॉर्म भरें या फिर आप Leverage Edu एक्सपर्ट्स की भी सहायता ले सकते हैं।
  • ऑफर की प्रतीक्षा करें और सिलेक्ट होने पर इंटरव्यू की तैयारी करें। 
  • इंटरव्यू राउंड क्लियर होने के बाद आवश्यक ट्यूशन शुल्क का भुगतान करें और स्कॉलरशिप, छात्रवीजा, एजुकेशन लोन और छात्रावास के लिए आवेदन करें।

आवदेन प्रक्रिया से सम्बन्धित जानकारी और मदद के लिए Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800 572 000 पर संपर्क करें

आवश्यक दस्तावेज

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

  • आधिकारिक शैक्षणिक टेप 
  • स्कैन किए हुए पासपोर्ट की कॉपी
  • IELTS या TOEFL, आवश्यक टेस्ट स्कोर 
  • प्रोफेशनल/एकेडमिक LORs
  • SOP 
  • निबंध (यदि आवश्यक हो)
  • पोर्टफोलियो (यदि आवश्यक हो)
  • अपडेट किया गया सीवी / रिज्यूमे
  • एक पासपोर्ट और छात्र वीजा 
  • बैंक विवरण 

छात्र वीजा पाने के लिए भी Leverage Edu विशेषज्ञ आपकी हर सम्भव मदद करेंगे।

करियर स्कोप

फिटनेस इंडस्ट्री में रोजगार के लिए कई अवसर हैं। जैसे ही आप अपना कोर्स पूरा करते हैं, आप कई क्षेत्रों में एक फिटनेस ट्रेनर के रूप में नौकरी कर सकते हैं। नौकरी के अवसर कुछ नीचे दिए गए हैं-

  • जिम
  • प्रशिक्षण केंद्र
  • अस्पताल या स्वास्थ्य केंद्र
  • फिटनेस वर्कशॉप
  • क्रूज शिप
  • व्यक्तिगत प्रशिक्षण स्टूडियो
  • सामुदायिक केंद्र प्रशिक्षण संस्थान
  • घर में प्रशिक्षक

सैलरी

Payscale.com के अनुसार भारत में एक फिटनेस ट्रेनर सालाना INR 3-15 लाख के बीच कमा सकता है। वहीं अमेरिका में फिटनेस ट्रेनर की सालाना सैलरी USD 49,156 (INR 34-36.86 लाख) और यूके में GBP 20,000-22,000 (20-22 लाख) सालाना होती है।

FAQs

फिटनेस ट्रेनर का क्या काम होता है?

फिटनेस ट्रेनर कार्डियोवैस्कुलर कसरत (दिल और खून के बहाव के लिए), स्ट्रेंथ ट्रेनिंग और स्ट्रेचिंग सहित एक्सरसाइज एक्टिविटीज में इंडिवीडुअल्स या ग्रुप को लीड, इंस्ट्रक्ट और मोटीवेट करते हैं। वे सभी उम्र और स्किल लेवल्स के लोगों के साथ काम करते हैं।

फिटनेस ट्रेनर हफ्ते में कितने घंटे काम करते हैं?

Exercise.com के अनुसार फिटनेस ट्रेनर ट्रेनिंग एक्सपीरियंस प्राप्त करने के बाद हफ्ते में 25-30 घंटे काम करते हैं।

क्या फिटनेस ट्रेनर को सर्टिफाइड होने की आवश्यकता होती है?

आपके एक्सपीरियंस लेवल के बावजूद प्रोफेशनली क्वालिफाइड फिटनेस ट्रेनर बनने के लिए कुछ सर्टिफिकेशन की आवश्यकता होती है। TAFE NSW उन प्रोफेशनल्स के साथ कम्प्रेहैन्सिव हैंड्स-ऑन ट्रेनिंग ऑफर करता है जो पहले से ही इंडस्ट्री में काम कर रहे हैं।

उम्मीद है कि इस ब्लॉग से आपको फिटनेस ट्रेनर कैसे बनें इसकी जानकारी मिली होगी। यदि आप विदेश में फिटनेस ट्रेनिंग कोर्सेज करना चाहते हैं तो हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800 572 000 पर कॉल करके आज ही 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert