PTI टीचर कैसे बनें?

1 minute read
1.0K views
10 shares
PTI Teacher Kaise Bane

PTI टीचर शारीरिक प्रशिक्षण गतिविधियों को करने के लिए स्कूलों, फ़िटनेस क्लब, अस्पतालों और क्लब्स में काम पर रखे जाते हैं। वे स्वस्थ और शारीरिक रूप से फिट व्यक्ति हैं जो फिटनेस में कुछ यूजी या पीजी डिग्री रखते हैं जो उन्हें अपने ग्राहकों को सलाह देने के योग्य बनाता है। पीटीआई शिक्षक न केवल शारीरिक व्यायाम की सलाह देते हैं, बल्कि उपयुक्त आहार का भी सुझाव देते हैं जो एक व्यक्ति को अपने दैनिक जीवन में चाहिए। चलिए जानते हैं PTI Teacher Kaise Bane के बारे में।

PTI टीचर का अर्थ क्या है?

P= Physical
T= Training
I= Instructor.

फिजिकल ट्रेनिंग इंस्ट्रक्टर एक शब्द है जिसका इस्तेमाल मुख्य रूप से ब्रिटिश सैनिकों, पुलिस, साथ ही अन्य राष्ट्रमंडल देशों में फिटनेस में शिक्षक के लिए किया जाता है। प्रत्येक विद्यालय में पीटीआई टीचर की विशेष मान्यता होती है जिस का फुल फॉर्म “Physical training instructor” होता है जिसे हिंदी में “शारीरिक प्रशिक्षण अनुदेशक” कहा जाता है।

PTI टीचर के कर्तव्य

एक खेल या पीई शिक्षक के कर्तव्यों में छात्रों को खेल खेलना, राष्ट्रीय शारीरिक शिक्षा परीक्षण का प्रशासन करना, छात्रों की प्रगति की निगरानी करना, सिखाने और शारीरिक विकलांग छात्रों की शारीरिक जरूरतों को पूरा करना, छात्रों के प्रदर्शन को ग्रेड करना और शिक्षकों और माता-पिता के साथ संवाद करना शामिल है।

शिक्षकों को मजबूत संचारक होने और विभिन्न आकारों की कक्षाओं का नेतृत्व करने में सहज होने की आवश्यकता है। PTI टीचर विभिन्न खेलों के एथलेटिक कोच भी हो सकते हैं। वे अक्सर लंबे समय तक काम करते हैं और एथलेटिक गतिविधियों की निगरानी के लिए स्कूल के बाद रहने की आवश्यकता होती है।

आवश्यक स्किल

PTI टीचर के पास कुछ आवश्यक स्किल होनी चाहिए, जिनके बारे में नीचे बताया गया है:

  • शारीरिक फिटनेस, टीम के खेल में अनुभव, और मजबूत पारस्परिक और संचार कौशल इच्छुक शारीरिक शिक्षा शिक्षकों के लिए एक अच्छी नींव प्रदान करते हैं।
  • टीम की गतिशीलता, काइन्सियोलॉजी और पोषण का ज्ञान नए शारीरिक शिक्षा शिक्षकों को रोजगार खोजने में मदद कर सकता है।
  • एक PTI टीचर का लक्ष्य शारीरिक फिटनेस को बढ़ावा देना और छात्रों को उचित स्वास्थ्य और खाने की आदतों का मूल्य सिखाना है।
  • अच्छे PTI टीचर अपने छात्रों के लिए रोल मॉडल होते हैं, और इसलिए उन्हें अच्छे स्वास्थ्य और फिटनेस के सभी गुणों का प्रदर्शन करना चाहिए।
  • PTI टीचर अपने छात्रों को स्वस्थ, सक्रिय जीवन जीने के लिए प्रेरित करते हैं।

PTI टीचर के विभिन्न प्रकार

अगर आप एक अच्छे PTI टीचर बनना चाहते हैं तो इसके अंतर्गत विभिन्न प्रकार की पोस्ट होती है जहां पर आप अपनी इच्छा अनुसार चयन करते हुए अच्छी नौकरी हासिल कर सकते हैं।

  • स्पोर्ट्स कोच— यह एक ऐसे टीचर की भूमिका होती है, जहां पर किसी विशेष खेल को निर्देशित किया जाता है जिसके अंतर्गत क्रिकेट, फुटबॉल, वॉलीबॉल, जैसे खेलों को खिलाने का काम किया जाता है। जिसमें खिलाड़ियों को सही दिशा निर्देश का ध्यान देते हुए आगे बढ़ने की सलाह दी जाती है और सही तरीके से नियमों का पालन करना सिखाया जाता है।
  • शारीरिक प्रशिक्षक— यह एक ऐसा प्रशिक्षक होता है जो विद्यार्थियों को विभिन्न प्रकार के व्यायाम के माध्यम से फिट रहना सिखाते हैं जिससे शारीरिक स्वास्थ्य को सही बनाया जा सकता है।
  • स्वास्थ्य कोच— यह एक ऐसा संरक्षक होता है जिसके माध्यम से विद्यार्थियों और लोगों को स्वस्थ रहना सिखाया जाता है साथ ही साथ स्वस्थ जीवन शैली के बारे में भी जानकारी दी जाती है।
  • क्रिकेट कोच— यह एक ऐसे व्यक्ति के रूप में होते हैं, जो विशेष रूप से क्रिकेट कार्यों का प्रशिक्षण देते हैं और विद्यार्थियों को ज्यादा से ज्यादा बारीकी सिखाते हैं ताकि वे विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिता में शामिल हो सकें।

PTI टीचर बनने के फायदे

अगर आप एक अच्छे पीटीआई टीचर बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कुछ विशेष फायदे प्राप्त होते हैं–

  • इससे आपको उच्च नौकरी में सुरक्षा प्राप्त होती है जिसके माध्यम से आगे बढ़ पाने के लिए सजग होते हैं।
  • इसके माध्यम से छात्रों को विशेष रूप से शारीरिक स्वास्थ्य प्राप्त करने के लिए जागरुक किया जा सकता है।
  • पीटीआई टीचर बनने के बाद आप खुद को भी फिट रख सकते हैं जिससे दूसरों को प्रेरणा प्राप्त होती है।
  • पीटीआई टीचर बनने के बाद आपको छात्रों का विशेष प्रेम प्राप्त होता है जिसके अंतर्गत आप उन्हें विभिन्न खेलों के लिए जागरूकता लाते हुए आगे बढ़ा सकते हैं।
  • ऐसे में बच्चों के विभिन्न प्रकार से उत्सुकता को देखते हुए उन्हें विभिन्न खेलों के प्रति आगे बढ़ाने का भी कार्य किया जा सकता है।

PTI बनने के लिए प्रमुख कोर्स

PTI Teacher Kaise Bane के लिए प्रमुख कोर्स नीचे दिए गए हैं

  • D.P.Ed.-Diploma in Physical Education: यह कोर्स कक्षा 1 से 8 तक के विद्यार्थियों के लिए शारीरिक शिक्षक बनने के लिए है। इस कोर्स की अवधि 2 वर्ष है। इस कोर्स में एडमिशन लेने के आवेदक उच्च माध्यमिक परीक्षा में न्यूनतम 50 प्रतिशत अंकों से उत्तीर्ण होना चाहिए। अंतरराष्ट्रीय/राष्ट्रीय/एसजीएफआई खेल प्रतियोगिताओं में भाग लेने वाले उम्मीदवारों को 5 प्रतिशत की छूट देय है।
  • B.P.Ed.-bachelor of physical education: यह कोर्स  कक्षा 6-10 तक के विद्यार्थियों के लिए शारीरिक शिक्षक तैयार करने एवं कक्षा 11-12 के विद्यार्थियों की शारीरिक शिक्षा, खेलकूद आयोजित कराने के लिए है। इस कोर्स की अवधि 2 वर्ष या 4 सेमेस्टर है तथापि उम्मीदवार अधिकतम 3 वर्षों में इसे पूरा कर सकते हैं।
  • M.P.Ed.-master of physical education: यह कोर्स कक्षा 11 व 12 के छात्रों के लिए शारीरिक शिक्षक तैयार करने का व्यवसायिक कोर्स है। विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में प्रोफेसर/निदेशक/खेल अधिकारी एवं शारीरिक शिक्षक कॉलेजों/शारीरिक विश्वविद्यालय केे विभागों में शारीरिक शिक्षकों को प्रशिक्षण देने हेतु शिक्षक तैयार करने के लिए यह कराया जाता है। इस कोर्स की की अवधि दो वर्ष अथवा चार सेमेस्टर में है।

PTI टीचर बनने के लिए आयु सीमा

अगर आप पीटीआई टीचर बनना चाहते हैं और आपकी विषय रुचि है तो आप की न्यूनतम आयु सीमा 18 वर्ष होनी चाहिए और अधिकतम 44 वर्ष आयु सीमा होना निर्धारित किया गया है। लेकिन अगर आपने एमपीएड का कोर्स किया है, तो ऐसे में आयु सीमा का कोई भी प्रतिबंध नहीं होता है और आप किसी भी आयु सीमा में रहते हुए यह कोर्स पूरा कर सकते हैं।

PTI टीचर बनने के लिए दुनिया के टॉप विश्वविद्यालय

दुनिया भर में विभिन्न विश्वविद्यालय और कॉलेज हैं जो इस क्षेत्र में विशेष और उच्च श्रेणी के कोर्स प्रदान करते हैं। कुछ टॉप यूनिवर्सिटीज़ की लिस्ट नीचे दी गई है:

विश्वविद्यालय  अवधि
सिरैक्यूज़ यूनिवर्सिटी, यूएसए 4 वर्ष
बर्मिंघम विश्वविद्यालय, यूके 3 वर्ष
ओक्लाहोमा स्टेट यूनिवर्सिटी, यूएसए 4 वर्ष
सिडनी विश्वविद्यालय, ऑस्ट्रेलिया 4 वर्ष
क्वींसलैंड विश्वविद्यालय, ऑस्ट्रेलिया 4 वर्ष
राइस यूनिवर्सिटी, यूएसए 4 वर्ष

PTI टीचर बनने के लिए भारत के टॉप कॉलेज

अगर आप एक अच्छे PTI टीचर बनना चाहते हैं, तो इसके लिए आप इन मुख्य कालेजों में एडमिशन लेने के लिए विचार कर सकते हैं:

  1. लक्ष्मीबाई नेशनल इंस्टीट्यूट आफ फिजिकल एजुकेशन, ग्वालियर |
  2. वाईएमसीए कॉलेज आफ फिजिकल एजुकेशन, चेन्नई |
  3. इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट आफ फिजिकल एजुकेशन एंड स्पोर्ट्स साइंसेज, दिल्ली |
  4. ज्योतिबा कॉलेज ऑफ फिजिकल एजुकेशन, नागपुर |
  5. गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ फिजिकल एजुकेशन, भुनेश्वर |
  6. बलिया पाल कॉलेज ऑफ फिजिकल एजुकेशन, बालासोर |
  7. कॉलेज ऑफ फिजिकल एजुकेशन, पुणे |
  8. एस ई एसएस कॉलेज ऑफ फिजिकल एंड कॉलेज ऑफ एजुकेशन, जलगांव |

योग्यता

यदि आप इस क्षेत्र में डिग्री प्राप्त करने के इच्छुक हैं, तो आपको अपने चुने हुए विश्वविद्यालय द्वारा निर्धारित पात्रता मानदंडों को पूरा करना होगा। ये आवश्यकताएं कोर्सेज के स्तर के अनुसार भिन्न होती हैं, जैसे बैचलर, मास्टर या डिप्लोमा। PTI Teacher Kaise Bane के लिए आवश्यक योग्यता नीचे दी गई है।

  • डिप्लोमा या बैचलर्स डिग्री प्रोग्राम के लिए ज़रुरी है कि उम्मीदवारों ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 प्रथम श्रेणी से पास किया हो।
  • मास्टर डिग्री प्रोग्राम के लिए संबंधित क्षेत्र में प्रथम श्रेणी के साथ बैचलर्स डिग्री होना आवाश्यक है। साथ ही कुछ यूनिवर्सिटीज प्रवेश परीक्षा के आधार पर भी एडमिशन स्वीकार करतीं हैं।
  • विदेश की अधिकतर यूनिवर्सिटीज बैचलर्स के लिए SAT और मास्टर्स कोर्सेज के लिए GRE स्कोर की मांग करते हैं।
  • विदेश की यूनिवर्सिटीज में एडमिशन के लिए IELTS या TOEFL टेस्ट स्कोर, अंग्रेजी प्रोफिशिएंसी के प्रमाण के रूप में ज़रूरी होते हैं।
  • विदेश यूनिवर्सिटीज में पढ़ने के लिए SOP, LOR, सीवी/रिज्यूमे और पोर्टफोलियो भी जमा करने की जरूरत होती है।

नोट: अधिकांश राज्यों को शिक्षकों को कक्षा में पढ़ाने के लिए लाइसेंस प्राप्त करने की आवश्यकता होती है। लाइसेंसिंग आवश्यकताएं राज्य द्वारा भिन्न होती हैं, लेकिन आम तौर पर एक मान्यता प्राप्त शिक्षा कार्यक्रम से ग्रेजुएट होना, आवश्यक इंटर्नशिप पूरा करना और प्रमाणन परीक्षा उत्तीर्ण करना शामिल है।

आवेदन प्रक्रिया 

PTI Teacher Kaise Bane के लिए विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीज़ा और छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  1. सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  2. यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  3. फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  4. अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  5. इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  6. यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज 

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

PTI टीचर कैसे बनें

PTI Teacher Kaise Bane के लिए गाइड नीचे नीचे दी गई है:

  • शारीरिक शिक्षा या स्वास्थ्य शिक्षा या काइन्सियोलॉजी जैसे निकट से संबंधित विषय में बैचलर्स डिग्री प्राप्त करें।
  • एक शारीरिक शिक्षा सेटिंग में एक इंटर्नशिप पूरा करें।
  • शारीरिक शिक्षा अनुमोदन के लिए अपने राज्य के आवश्यक परीक्षण लें।
  • अपने शिक्षण लाइसेंस के लिए आवेदन करें।
  • PTI टीचर पदों के लिए आवेदन करना शुरू करें।
  • पब्लिक स्कूल PTI को उस ग्रेड स्तर के लिए राज्य शिक्षक प्रमाणन अर्जित करना होगा जो वे पढ़ाना चाहते हैं।
  • अधिकांश राज्यों में, शारीरिक शिक्षा पर जोर देने के साथ चार वर्षीय बैचलर्स डिग्री एक व्यक्ति को राज्य प्रमाणन परीक्षा में बैठने के योग्य बनाती है।
  • कई राज्य वैकल्पिक प्रमाणन मार्ग भी प्रदान करते हैं जिनमें शारीरिक शिक्षा की डिग्री में मास्टर्स शामिल हो सकते हैं।

जॉब और सैलरी

आज के समय में टीचर बनना एक बहुत ही गर्व का पद माना जाता है। अगर आप एक पीटीआई टीचर हैं, तो आप प्रति महीने ₹10000 से लेकर ₹20000 तक आसानी कमा सकते हैं हैं। अगर आप कहीं सरकारी रूप से कार्यरत हैं, तो ₹10,000 से ₹34,800 प्रति महीने प्राप्त होते हैं। ऐसे में प्रत्येक राज्य के पीटीआई टीचर को मिलने वाली सैलरी अलग-अलग होती है जिसमें समय के साथ वृद्धि की जाती है। यूएस ब्यूरो ऑफ लेबर स्टैटिस्टिक्स (BLS) का अनुमान है कि शारीरिक शिक्षा और खेल शिक्षकों सहित प्राथमिक, मध्य और उच्च विद्यालय स्तर पर सभी शिक्षकों के लिए रोजगार के अवसर 2019 से 2029 तक 4% बढ़ जाएंगे।

FAQ

B.P.Ed. कोर्स के लिए क्या जरूरी है?

B.P.Ed. कोर्स करने के लिए सबसे पहले किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं की परीक्षा किसी भी विषय के पास करनी होती है। 12वीं में कम से कम 50% अंक लाने होते हैं। 12वीं की परीक्षा किसी भी विषय से पास कर सकते हैं पर आपकी 12वीं में फिजिकल एजुकेशन का विषय होना अनिवार्य है।

B.P.Ed. कितने साल का कोर्स होता है?

B.P.Ed. एक अंडग्रेजुएट कोर्स होता है। इसकी फुल फॉर्म बैचलर ऑफ फिजिकल एजुकेशन होता है। इसकी अवधि 3 से 4 साल होती। इस कोर्स में शारीरिक शिक्षा और खेलों के बारे में पढ़ाया जाता है।

शारीरिक फिटनेस के कितने गुण हैं?

स्वास्थ्य संबंधी फिटनेस के गुण : (i) हृदय संबंधी फिटनेस, (ii) पेशियों की ताकत, (iii) पेशियों की सहनशक्ति, (iv) शारीरिक संरचना और (v) लचीलापन।

आशा करते हैं कि PTI Teacher Kaise Bane  का ब्लॉग अच्छा लगा होगा। यदि आप भी विदेश से पढ़ाई करना चाहते हैं, तो आज ही 1800 572 000 पर कॉल करके हमारेLeverage Edu के विशेषज्ञों के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें। वे आपको उचित मार्गदर्शन प्रदान करने में मदद करेंगे।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert