CTET Preparation in Hindi

Rating:
4
(4)
CTET की तैयारी कैसे करें

जैसा कि आप सभी जानते हैं प्रारंभिक शिक्षा विद्यार्थियों के जीवन की नींव होती है। इसी पर विद्यार्थियों का भविष्य निर्भर करता है यदि उनकी प्रारंभिक शिक्षा अच्छी, गुणवत्ता युक्त होती हैं तो वह आगे चलकर अच्छा भविष्य पाते हैं इसी के साथ स्कूलों में प्राइमरी शिक्षक बहुत ही जरूरी होते हैं क्योंकि यह बच्चों को एक अच्छी शिक्षा की संरचना और रूपरेखा प्रदान करते हैं। हमारे आज के ब्लॉग CTET Preparation in Hindi में हम आपको बताएंगे CTET परीक्षा के बारे में जिसके द्वारा आप शिक्षक बनकर किसी भी केंद्र सरकार के अंतर्गत आने वाले सरकारी तथा प्राइवेट स्कूलों में प्राइमरी शिक्षक के लिए आवेदन कर सकते हैं। 

Ssc से जुड़ी समस्त जानकारी बस एक क्लिक पर

CTET Preparation in Hindi : CTET Exam क्या है? 

जैसा कि आप सभी को पता होगा CTET अथवा STET को सरकार ने अनिवार्य कर दिया है। CTET अथवा STET परीक्षा उन विद्यार्थियों के लिए है जो शिक्षक बनने का सपना देखते हैं। इस परीक्षा को पास किए बिना आपके शिक्षक बनने का सपना पूरा नहीं हो सकता। CTET Exam की फुल फॉर्म Central Teacher Eligibility Test होता है। 

 यह परीक्षा CBSE बोर्ड द्वारा देश के हर राज्य में आयोजित होती है और इस परीक्षा के द्वारा आप हमारे देश के किसी भी प्राइवेट तथा CBSE बोर्ड के स्कूलों में पढ़ा सकते हैं। शिक्षक पात्रता परीक्षा की आवश्यकता इसलिए पड़ी क्योंकि भारत में अनेक ऐसे संस्थान है जो बिना कक्षा में उपस्थिति के भी डिग्री बांट रहे थे या यूं कहें कि डिग्री बेच रहे थे। ऐसे में नियमित विद्यार्थी परेशान हो रहे थे। इस व्यवस्था से वह विद्यार्थी भी  परेशान हो गए जो नियमित DLD, BTC ,B.Ed आदि अन्य शैक्षणिक योग्यता को पूरा करने के लिए मेहनत रहे थे और इसी के चलते शिक्षक की गुणवत्ता पर भी प्रश्न उठ रहा था। इस व्यवस्था पर लगाम लगाने के लिए सरकार ने वर्ष 2010 से CTET लागू किया।

टैक्स ऑफिसर कैसे बने? 

CTET Preparation in Hindi

सभी विद्यार्थियों के मन में परीक्षा फॉर्म भरने के बाद यह प्रश्न बार-बार आता है कि परीक्षा की तैयारी कैसे करें? कहां जाएं? क्या करें ताकि वह इस परीक्षा को सफलतापूर्वक पास कर सके। आपके दोस्त जब आपको तरह-तरह की कोचिंग के बारे में बताते हैं।आज हम आपको हमारे ब्लॉग CTET Preparation in Hindi में संपूर्ण जानकारी देने का प्रयास करेंगे जिससे आपके Time की बचत हो और आप घर बैठे बैठे आसानी से CTET Preparation in Hindi की तैयारी भी कर सके। 

जो लोग CTET 2021 की तैयारी कर रहे हैं, उनके लिए CTET 2021 प्रवेश परीक्षा के महीने से 100 दिन पहले उनका time table निम्नानुसार होना चाहिए-

विषय का नाम पेपर I के लिए समर्पित होने का समय पेपर II के लिए समर्पित होने का समय
गणित कम से कम 2 घंटे
बाल विकास और शिक्षाशास्त्र कम से कम 2 घंटे कम से कम 2 घंटे
वातावरण का अध्ययन न्यूनतम 1 घंटा
भाषा I न्यूनतम 1 घंटा कम से कम 2 घंटे
भाषा II न्यूनतम 1 घंटा कम से कम 2 घंटे
सामाजिक विज्ञान/गणित और विज्ञान न्यूनतम 6 घंटे न्यूनतम 6 घंटे
  • घर पर रहकर ही सिर्फ 30 मिनट देकर इस परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं। 
  • इसके लिए आपको सीटेट की पूर्व परीक्षा में आए हुए प्रश्नों के प्रारूप को देखना होगा कि पहले परीक्षाओं में किस तरह के प्रश्न पूछे गए हैं आप उन सभी प्रश्नों का अध्ययन करें इसके लिए आपको सीबीएसई की वेबसाइट देखनी होगी। 
  • बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र के प्रश्न आपके B.Ed, BTC, DLD लेवल के होते हैं। 
  • बाकी सभी प्रश्न CBSE पाठ्यक्रम की कक्षा 1-5  तक के होते हैं। 
  • इसके अलावा आप जिस विषय में आपको परीक्षा देनी है उस विषय से संबंधित NCERT की कक्षा 6 से 8वीं तक की बुक्स खरीद ले। 
  • इनमें से आप मुख्य बिंदुओं, घटनाओं, प्रश्नों आदि को रजिस्टर  या कॉपी में लिखे और daily इन्हें पढ़े। 
  • आप स्वयं के नोट्स बना कर भी इस परीक्षा के लिए तैयारी कर सकते हैं।

जाने IAS कैसे बने?

CTET Preparation in Hindi: CTET Exam के लिए योग्यता

 अभी तक हमने जाना कि CTET क्या होता है? इसका पुरा नाम क्या है और यह परीक्षा किसके द्वारा आयोजित की जाती है। अब हम जानेंगे कि इस परीक्षा में बैठने के लिए आपके पास क्या योग्यता होनी चाहिए तो आइये देखते हैं CTET परीक्षा के लिए योग्यता- जैसा कि आप लोग जानते हैं कि इसमें 2 पेपर होते हैं अब हम यहां इन दोनों पेपर के लिए आवश्यक योग्यता के बारे में जानेंगे। 

  1. Paper-I
  • इस पेपर के द्वारा आप कक्षा 1- 5वीं तक के teacher बन सकते हैं। 
  • पहले पेपर की परीक्षा देने के लिए आप को किसी मान्यता प्राप्त board से  किसी भी विषय (arts, science,commerce ) में बारहवीं कक्षा कम से कम 60℅ अंकों से पास करनी होती है। 
  • 12वीं के साथ-साथ आपको किसी मान्यता प्राप्त इंस्टीट्यूट से DEd(diploma in education) का कोर्स करना होता है। 
  • और इसके साथ ही आपको अच्छे मार्क्स  लाना भी जरूरी होता है। 
  1. Paper-II
  • इस पेपर के द्वारा आप कक्षा 6 से 8वीं तक के शिक्षक बन सकते हैं। 
  • दूसरे पेपर की परीक्षा देने के लिए आपको 12वीं क्लास किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 60% अंकों के साथ पास करनी होती है। 
  • इसके साथ ही आपको किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी या कॉलेज से किसी भी विषय में ग्रेजुएशन की डिग्री 50% अंकों के साथ पास करनी होती है। 
  • ग्रेजुएशन के साथ आपको B.Ed कोर्स करना जरूरी होता है तभी आप दूसरे की परीक्षा दे सकते हैं। 
  • ग्रेजुएशन और B.Ed करने वाले उम्मीदवारों duno level की परीक्षा दे सकते हैं। 

जाने 2021 मे आने वाले इंजीनियरिंग enterance exams

Tips For CTET Preparation 

वर्तमान समय में शिक्षक की नौकरी के लिए सीटेट (CTET Preparation in Hindi) की परीक्षा पास करना सरकार द्वारा आवश्यक कर दिया गया है, इसकी परीक्षा हर साल आयोजित की जाती है। जिसे पास करने के बाद विद्यार्थी विभिन्न सरकारी स्कूलों जैसे नवोदय विद्यालय समिति, केंद्रीय विद्यालय व अन्य स्कूलों में पढ़ाने योग्य हो जाता है। इस परीक्षा का result declared होने के अगले 7 वर्षों तक valid रहता है।

आइये अब हम जानते है CTET Preparation in Hindi के परीक्षा पैटर्न के बारे में-

  • CTET Preparation in Hindi इसमें मुख्यातया दो परीक्षा होती है–   पेपर 1 व पेपर 2। 
  • पहला पेपर प्राइमरी कक्षाओं में पढ़ाने के लिए जबकि दूसरा पेपर कक्षा 6 से 8वीं तक के लिए होता है।
  • इन दोनों पेपर में कुल 150 प्रश्न होते हैं। यह आप पर निर्भर करता है कि आप एक पेपर देते हैं या दोनों।
  • इस परीक्षा के लिए आप को  कुल 2 घंटे 30 मिनट का समय दिया जाता है। 
  • इस परीक्षा में हिंदी से 30 अंक, अंग्रेजी से 30 अंक, गणित से 30 अंक v बाल विकास से 30 अंक एवं पर्यावरण के प्रश्न पूछे जाते हैं। 
  • इन दोनों पेपरों में अनिवार्य 30 प्रश्न बाल विकास व शिक्षाशास्त्र से पूछे जाते हैं अर्थात 20% प्रश्न बाल विकास व शिक्षाशास्त्र से आते हैं इसलिए आपको CTET preparation in hindi की तैयारी हेतु इस पर जरूर ध्यान देना चाहिए। 
  • यह भाग बाल शिक्षा आधारित होता है। जैसे कि बच्चों पर कैसे ध्यान दें, बच्चे कैसे सोचते हैं, उनकी तैयारी कैसे कराये आदि।

आज हम हमारे ब्लॉग CTET Preparation in Hindi में आपको बताएंगे इस भाग को तैयार करने के सबसे आसान व सरल TIPS-

  • इस सेक्शन के तीन सबसेक्शन हैं जिसमें 30 प्रश्नों में 15 प्रश्न बाल विकास से, 5 प्रश्न स्पेशल नीड्स ऑफ चिल्ड्रन से व शेष 10 प्रश्न शिक्षा शास्त्र से पूछे जाते हैं। आइए जानते हैं इन तीनों भागों के बारे में- 
  • जो विद्यार्थी पेपर 1 देने की तैयारी कर रहे हैं उन विद्यार्थियों के लिए यहां संक्षेप में पूछे जाने वाले प्रश्नों की रूपरेखा को बताया गया है-
  1. बाल विकास: 
  • इस भाग को हल करने के लिए छात्रों को बच्चों के विकास से जुड़े हर बिंदु पर ध्यान देना चाहिए। 
  • बाल विकास के प्रिंसिपल से लेकर उनके संपूर्ण सर्वांगीण विकास सारे प्रमुख कॉन्सेप्ट आपको याद होने चाहिए। 
  • दूसरे शब्दों में कहे तो इस भाग में कॉन्सेप्ट, विचार, सिद्धांत से जुड़े प्रश्न पूछे जाएंगे। 
  • आप सभी बच्चों को लेकर एक साथ कैसे चलते हैं व विशेष आवश्यकता वाले छात्रों पर उसी क्लासरूम में कैसे ध्यान देते हैं। इस भाग को पास करने के लिए आपको इन प्रश्नों की practice करनी चाहिए।  
    • जैसे- विकास का प्रत्यय एवं अधिगम से संबंध
    •  बाल विकास के सिद्धांत । 
    • वंशानुक्रम और वातावरण। 
    •  समाजीकरण की प्रक्रिया । 
    • बुद्धि का प्रत्यय । 
    • भाषा एवं विचार। 
    •  बुद्धि परीक्षण के प्रकार । 
    • किशोरावस्था में भाषा विकास । 
    • भाषा विकास और शिक्षा। 
    • व्यक्तिगत विभिन्नता एवं सतत एवं व्यापक मूल्यांकन। 
  1. शिक्षाशास्त्र:  इस प्रकार के प्रश्न क्लास रूम के माहौल को मध्यनाज़र में रखकर बनाए जाते हैं। इन प्रश्नो के उत्तर देने के लिए  आपको क्लास रूम की आवश्यकताओं को ध्यान में रखना होगा। 
  • अधिगम बच्चे कैसे सोचते हैं एवं कैसे सीखते हैं? 
  •  बच्चा समस्या समाधानकर्ता के रूप मे। 
  • शिक्षा से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य। 
  •  शिक्षा एवं संविधान । 
  • शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009
  • प्रमुख शिक्षण विधियां। 
  • भारतीय शिक्षा का इतिहास। 
  1. विशिष्ट आवश्यकता वाले बच्चे: 
  • समावेशी शिक्षा 
  • अधिगम अक्षमता
  •  सृजनात्मक बालक 
  • प्रतिभाशाली बालक 
  • मंदबुद्धि बालकों की शिक्षा 
  • विशेष आवश्यकता वाले बालकों की सहायता हेतु आसान तरीके
  • वे विद्यार्थी जो सीटेट परीक्षा पेपर-2  के लिए तैयारी कर रहे हैं  उनके लिए भी विषय समान होते हैं लेकिन इन विषय में आने वाले topic में कुछ और topic add कर दिये जाते हैं। आइये देखते हैं 
  1. बाल विकास:
  • विकास का प्रत्यय एवं अधिगम से संबंध
  •  बाल विकास के सिद्धांत
  •  वंशानुक्रम और वातावरण
  •  समाजीकरण की प्रक्रिया
  •  वृद्धि एवं विकास के सिद्धांतों का शैक्षिक महत्व
  •  बाल केंद्रित एवं प्रगतिशील शिक्षण। 
  • बुद्धि का प्रत्यय । 
  • परीक्षणों के प्रकार। 
  •  भाषा एवं बचपन में भाषा के विकास की विशेषताएं। 
  • किशोरावस्था से पूर्व भाषा की विशेषताएं।
  • भाषा विकास को प्रभावित करने वाले तत्व। 
  • समाज निर्माण एवं लैंगिक मुद्दे । 
  • व्यक्तिगत विभिन्नता आकलन, मूल्यांकन, सतत एवं व्यापक मूल्यांकन। 
  1. विशिष्ट आवश्यकता वाले बच्चे एवं समावेशी शिक्षा की अवधारणा:
  • अधिगम अक्षमता। 
  • समावेशी शिक्षा। 
  • प्रतिभाशाली बालक। 
  • मंदबुद्धि बालक। 
  • सृजनात्मक बालक। 
  • मंदबुद्धि बालकों की शिक्षा। 
  • शारीरिक दृष्टि से विकलांग समस्या वाले बालक। 
  1. शिक्षण शास्त्र एवं अधिगम:
  • बच्चे कैसे सोचते वह सीखते हैं? 
  •  शिक्षण की प्रमुख विधियां। 
  • एक बालक समस्या समाधानकर्ता के रूप में। 
  • अभिप्रेरणा अधिगम को प्रभावित करने वाले कारक।
  • शिक्षा से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य। 
  • शिक्षा एवं संविधान। 
  • भारतीय शिक्षा का इतिहास। 
  • शिक्षा अधिकार अधिनियम 2009

CTET 2021 की तैयारी कैसे आपको महीने के अनुसार विवरण नीचे दिया गया है:

विषय नाम 3 महीने पहले 2-महीने के विषय 1-महीने के विषय
गणित सभी विषयों का पूरा रिवीजन
मॉक टेस्ट पेपर का अभ्यास
डेटा हैंडलिंग और यूनिट का मापन
अंकगणित
गणित की शिक्षाशास्त्र
क्षेत्रमिति
संख्या प्रणाली
बीजगणित
ज्यामिति
बाल विकास और शिक्षाशास्त्र सभी विषयों का पूरा रिवीजन
मॉक टेस्ट पेपर का अभ्यास
शिक्षाशास्त्र सीखना
सीखने की अवधारणा
शिक्षाशास्त्र मुद्दा
सोच और विचार
बाल विकास
विशेष आवश्यकता
समावेशी शिक्षा की अवधारणा
वातावरण का अध्ययन सभी विषयों का पूरा रिवीजन
मॉक टेस्ट पेपर का अभ्यास
सामान्य ज्ञान
चीजें जो हम बनाते और करते हैंपर्यावरण अध्ययन की शिक्षाशास्त्र
भोजन और पोषण
पारिवारिक मित्र
जल और यात्रा
आश्रयों
भाषा I (अंग्रेज़ी) सभी विषयों का पूरा रिवीजन
मॉक टेस्ट पेपर का अभ्यास
भाषा कौशल आधारित शिक्षाशास्त्र
अंग्रेजी व्याकरण आधारित शिक्षाशास्त्र
भाषा शिक्षण अध्यापन के सिद्धांत
आरसी कविता प्रकार
आरसी निबंध प्रकार
भाषा II (हिंदी) सभी विषयों का पूरा रिवीजन
मॉक टेस्ट पेपर का अभ्यास
भाषा कौशल आधारित शिक्षाशास्त्र
हिंदी व्याकरण आधारित शिक्षाशास्त्र
भाषा शिक्षण अध्यापन के सिद्धांत
आरसी कविता प्रकार
आरसी निबंध प्रकार
विज्ञान सभी विषयों का पूरा रिवीजन
मॉक टेस्ट पेपर का अभ्यास
प्राकृतिक संसाधन
प्राकृतिक घटना
शैक्षणिक मुद्दों से संबंधित प्रश्न
सामग्री
खाना
चलती चीजें (लोग और विचार)
जीने की दुनिया
सामाजिक विज्ञान सभी विषयों का पूरा रिवीजन
मॉक टेस्ट पेपर का अभ्यास

सामाजिक पर्यावरण से संबंधित प्रश्न
भारतीय राजव्यवस्था
सामाजिक अध्ययन शिक्षाशास्त्र
भूगोल
इतिहास

सभी प्रकार की प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए important विलोम शब्द

CTET Exam के बाद कैरियर

  • CTET परीक्षा देने के बाद आप किसी भी प्राइवेट या फिर सीबीएसई बोर्ड के स्कूलों में प्राइमरी शिक्षक के लिए आवेदन कर सकते हैं। 
  • CTET परीक्षा देने के बाद आप किसी भी प्राइवेट या फिर सीबीएसई बोर्ड के स्कूलों में प्राइमरी शिक्षक के लिए आवेदन कर सकते हैं। 
  • CTET परीक्षा देने के बाद आप किसी भी प्राइवेट या फिर सीबीएसई बोर्ड के स्कूलों में प्राइमरी शिक्षक के लिए आवेदन कर सकते हैं। 

वाक्यांश के लिए एक शब्द

CTET के लिए Best Books

जाने SSC CLG के बारे मे संपूर्ण जानकारी

आप कोचिंग ले अथवा नहीं यह आप पर निर्भर करता है। आप रोज घर पर शांत मन से कम से कम एक घंटा पूरी ईमानदारी से दें और प्रश्न का प्रारूप आवश्यक रूप से समझे। आप अपना ज्यादा से ज्यादा समय पुराने प्रश्न पत्र को हल करने में लगाएं।आपको जरूर सफलता मिलेगी। आज के हमारे ब्लॉग CTET Preparation in Hindi में हमने आपको प्राइमरी टीचर बनने के लिए उपयोगी सभी जानकारी उपलब्ध कराई है ।उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई होगी ।ऊपर दी गई जानकारी आपको कैसी लगी हमें Comment Box में Comment करके जरूर बताएं, इसी तरह की और जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट  Leverage Edu  पर बने रहे। 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like