कैसे करें कंटेंट मार्केटिंग?

2 minute read
512 views
content marketing in Hindi

वर्तमान में कंटेंट मार्केटिंग तेजी से बढ़ता करियर है। डिजिटल मीडिया के विश्व स्तर पर बढ़ने के कारण इसका उपयोग अक्सर विज्ञापन और मार्केटिंग में किया जाता है। हर बिजनेस, ऑर्गेनाइजेशन या व्यक्ति सबके ध्यान का केंद्र बने रहने की कोशिश करता है। विभिन्न प्रकार के मार्केटिंग हैं जिनका उपयोग कंपनियां करती हैं। अधिकांश डिजिटल संचार कंटेंट मार्केटिंग पर निर्भर करती है। इनमें कंटेंट मार्केटिंग काफी लोकप्रिय है। यदि आप कंटेंट मार्केटिंग में करियर शुरू करना चाहते हैं, तो आइए इस ब्लॉग में विस्तार से जानते हैं content marketing in Hindi, कंटेंट मार्केटिंग क्या है, कंटेंट मार्केटिंग में करियर आदि के बारे में।

This Blog Includes:
  1. कंटेंट मार्केटिंग क्या है?
  2. कंटेंट मार्केटिंग वर्सेज कंटेंट राइटिंग
  3. कंटेंट मार्केटिंग वर्सेज सोशल मीडिया मार्केटिंग
  4. कंटेंट मार्केटिंग के प्रकार
    1. ब्लॉग
    2. केस स्टडी
    3. ई बुक्स
    4. GIF/मीम्स
    5. इंफोग्राफिक्स
    6. पॉडकास्ट
    7. वीडियो मार्केटिंग
  5. एक कंटेंट मार्केटर क्या करता है?
    1. कंटेंट बिल्डिंग
    2. कंटेंट डिस्ट्रीब्यूशन
    3. आंकड़े
  6. कंटेंट मार्केटिंग के लिए महत्त्वपूर्ण स्किल्स
    1. रिसर्च स्किल्स
    2. SEO और अन्य तकनीकी स्किल्स
    3. डिज़ाइन और रचनात्मक स्किल्स
    4. लेखन कौशल और व्याकरण
    5. सोशल मीडिया ऑप्टिमाइज़ेशन (SEO)
  7. कंटेंट मार्केटिंग के लिए टॉप ऑनलाइन कोर्सेज
  8. टॉप कंटेंट मार्केटिंग कोर्सेज
  9. मार्केटिंग कोर्सेज के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज
  10. मार्केटिंग कोर्सेज के लिए भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज
  11. योग्यताएं
  12. आवेदन प्रक्रिया
  13. आवश्यक दस्तावेज़  
  14. मार्केटिंग कोर्सेज की फीस
  15. कंटेंट मार्केटिंग में करियर कैसे शुरू करें?
  16. टॉप रिक्रूटर्स
  17. कंटेंट मार्केटिंग में करियर और वेतन
  18. FAQs

कंटेंट मार्केटिंग क्या है?

कंटेंट मार्केटिंग एक मार्केटिंग स्ट्रेटजी है जिसका उपयोग रिलेवेंट लेख, वीडियो, पॉडकास्ट और अन्य मीडिया बनाकर और शेयर करके दर्शकों को आकर्षित करने, संलग्न करने और बनाए रखने के लिए किया जाता है। कंटेंट मार्केटिंग रिलेवेंट, उपयोगी कंटेंट का विकास और वितरण है। कंटेंट मार्केटिंग का लगातार उपयोग आपके संभावित और मौजूदा ग्राहकों के साथ संबंध स्थापित करता है। सीधे शब्दों में कहें, तो अपने ग्राहकों तक पहुंचने और उनके साथ बातचीत करने के लिए, ट्रेडिशनल मार्केटिंग की तुलना में कंटेंट मार्केटिंग एक कम दखल देने वाला तरीका (intrusive way) है। कंटेंट मार्केटिंग का मकसद ग्राहकों को उपयोगी, सूचनात्मक, दिलचस्प, मनोरंजक और आकर्षक कंटेंट प्रदान करके उन्हें अपनी कंपनी, ब्रांड के प्रति आकर्षित करना है।

कंटेंट मार्केटिंग वर्सेज कंटेंट राइटिंग

कंटेंट मार्केटिंग और कंटेंट राइटिंग में कुछ प्रमुख अंतर नीचे बताया गया है–

कंटेंट राइटिंग कंटेंट मार्केटिंग
कंटेंट राइटिंग का संबंध “लेखन” से है। कंटेंट राइटिंग में कंटेंट के संबंध में रिसर्च करना और सही जानकारी प्रदान करते हुए एक अच्छा आकर्षक कंटेंट लिखना शामिल है। कंटेंट मार्केटिंग का संबंध “मार्केटिंग” से है। मार्केटिंग का अर्थ है किसी व्यवसाय को बढ़ावा देना।
कंटेंट लेखन में, आप अपने पाठकों को सूचित करने, व्यक्त करने, मनोरंजन करने या मनाने के लिए कंटेंट लिखते हैं। एक बार कंटेंट लिख जाने के बाद, आप इसे प्रकाशित करते हैं और सभी काम हो जाते हैं। कंटेंट राइटिंग में लिखना ही मुख्य कार्य है। Content marketing in Hindi में, आपका वास्तविक काम आपके द्वारा कंटेंट लिखने के बाद शुरू होता है।एक बार कंटेंट का अंश लिखे जाने के बाद, आप ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए इसे बढ़ावा देने के लिए मार्केटिंग रणनीतियों को लागू करते हैं। इसका मतलब है कि कंटेंट मार्केटिंग आपके व्यवसाय को बढ़ावा देने का एक इनडायरेक्ट तरीका है।
कंटेंट राइटिंग = कंटेंट का एक अंश लिखना। कंटेंट का अंश लिखने से तात्पर्य है कि लोगों को अपने प्रोडक्ट या कम्पनी के जरिए वो जानकारी उपलब्ध कराना, जो वे जानना चाहते हैं। कंटेंट मार्केटिंग = कंटेंट का एक अंश लिखना और अधिक व्यवसाय उत्पन्न करने के लिए इसे बढ़ावा देना अर्थात् इसकी मार्केटिंग करना, ताकि ये ज्यादा लोगों तक पहुंच सकें।

कंटेंट मार्केटिंग वर्सेज सोशल मीडिया मार्केटिंग

कंटेंट मार्केटिंग और सोशल मीडिया मार्केटिंग में अंतर, इस प्रकार है:

कंटेंट मार्केटिंग सोशल मीडिया मार्केटिंग
कंटेंट मार्केटिंग, कंटेंट प्रोडक्शन और रचनात्मक विचार पर केंद्रित है। सोशल मीडिया मार्केटिंग सोशल मीडिया को एक सफल डिलीवरी मैकेनिज्म बनाने पर केंद्रित है।
कंटेंट मार्केटिंग, कंटेंट शेयर करने और प्राप्त करने के तरीकों पर आधारित है। सोशल मीडिया मार्केटिंग कंटेंट के वितरण के लिए सोशल मीडिया को एक सफल तंत्र बनाने पर आधारित है।
कंटेंट मार्केटिंग को डिजिटल मार्केटिंग अभियानों के लिए शुरुआती बिंदु माना जाता है। यदि एक स्मॉल बिजनेस ओनर बड़ी संख्या में ग्राहकों को आकर्षित करना चाहता है और वेबमास्टर अपनी वेबसाइट पर अधिक विजिटर्स की तलाश कर रहे हैं, तो कंटेंट मार्केटिंग उनके लिए सबसे अच्छा समाधान होगा।  वहीं सोशल मीडिया मार्केटिंग, सोशल मीडिया से अपने उत्पादों को बढ़ावा देने का एक जरिया है। सोशल मीडिया मार्केटिंग आपके ब्रांड बनाने, बिक्री बढ़ाने और वेबसाइट ट्रैफ़िक को चलाने के लिए अपने दर्शकों से जुड़ने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का उपयोग है।

कंटेंट मार्केटिंग के प्रकार

Content marketing in Hindi के प्रकारों के बारे में नीचे विस्तार से बताया गया है–

ब्लॉग

जब आप कंटेंट मार्केटिंग के बारे में सोचते हैं तो ब्लॉगिंग, कंटेंट के पहले रूपों में से एक हो सकती है। ब्लॉगर और बिजनेस समान रूप से ब्लॉग कंटेंट का उपयोग लॉयल फॉलोवर्स को बनाने और उनसे कमाई करने के लिए करते रहे हैं। गूगल जैसे अत्यधिक प्रचलित और लोकप्रिय सर्च इंजन में लोग अपनी पसंद और रुचि के अनुसार कंटेंट सर्च करते हैं। ऐसे में कंटेंट की अच्छी तरह से जानकारी प्रदान करने वाला ब्लॉग टॉप पर होता है, जिससे अधिक से अधिक दर्शक उस ब्लॉग के माध्यम से आपके कंटेंट और मुख्यतः आपकी कंपनी से जुड़ते हैं। अतः ब्लॉग कंटेंट मार्केटिंग का एक महत्त्वपूर्ण प्रकार है।

केस स्टडी

केस स्टडी आपके द्वारा बनाई गई कंटेंट का एक अंश है जो किसी विशेष ग्राहक के साथ आपकी सफलता की रूपरेखा तैयार करती है। केस स्टडी, उद्योग में विशेष रूप से प्रभावी हैं, जहां खरीद में आमतौर पर उच्च लागत और अधिक जोखिम शामिल होता है। जब आप एक केस स्टडी लिखते हैं, तो पहले अपने ग्राहक को और अपने उत्पाद को दूसरे स्थान पर हाइलाइट करें। दूसरे शब्दों में, आपके केस स्टडी को आपके क्लाइंट के बारे में एक कहानी की तरह पढ़ना चाहिए जो आपके ब्रांड को एक सफल सहायक भूमिका के रूप में दिखाता है। अपने संतुष्ट ग्राहकों को दिखाकर, आप बिक्री की संभावनाओं को दिखाते हैं कि आप उनके लिए सकारात्मक परिणाम दे सकते हैं।

ई बुक्स

ई-बुक्स, आपके ब्रांड को आपके उद्योग में एक ऑफिशियल या नॉलेजेबल वाइस के रूप में स्थापित करने का एक शानदार तरीका है। ग्राहकों को बढ़ाने और योग्य मार्केटिंग लीड की पहचान करने के लिए ई-बुक्स को आमतौर पर लीड मैग्नेट के रूप में उपयोग किया जाता है। एक बिजनेस एक ई-बुक बनाता है जो मुफ्त में डाउनलोड करने के लिए उपलब्ध है और इसे वितरित करने के लिए एक लैंडिंग पेज का उपयोग करता है। संभावित ग्राहक को ई-बुक फ़ाइल प्राप्त करने के लिए न्यूज़लेटर की सदस्यता लेने या अपना ईमेल एड्रेस प्रदान करने की आवश्यकता होती है। 

GIF/मीम्स

जबकि सूचनात्मक कंटेंट कई व्यवसायों के लिए अच्छा काम करती है, वहीं कभी-कभी आपके उपभोक्ता मनोरंजन के जरिए भी आकर्षित होते हैं। यहीं से GIF और मीम्स चलन में आते हैं। GIF एक इमेज फ़ाइल है जिसका उपयोग एनिमेटेड चित्र बनाने के लिए किया जाता है। मीम एक टेक्स्ट ओवरप्ले वाली एक इमेज है जो इंटरनेट और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल रूप से फैलती है। GIFs और मीम्स वायरल मार्केटिंग की दुनिया में सबसे ऊपर हैं । वायरल मार्केटिंग अपने सबसे अच्छे रूप में वर्ड-ऑफ-माउथ मार्केटिंग है। जब एक व्यक्ति वायरल पोस्ट देखता है, तो वे इसे कई लोगों के साथ शेयर करता है। नए दर्शकों तक पहुंचने पर केंद्रित सोशल मीडिया स्ट्रेटजी में GIF और मेम विशेष रूप से अच्छी तरह से काम करते हैं।

इंफोग्राफिक्स

इंफोग्राफिक्स दो शब्दों से मिलकर बना है जैसे- इन्फो से इन्फॉर्मेशन और ग्राफिक्स से विजुअल इमेज। इसका सीधा मतलब है कि किसी जानकारी को इमेज के रूप में ग्राफिक्स के माध्यम से दिखाया जाना। इंफोग्राफिक्स की मदद से आप अपनी जानकारी को लोगों तक जल्दी और आसानी से पहुँचा सकते है। इंफोग्राफिक्स, जितना आकर्षक होगा लोगों का ध्यान उतना ही जल्दी अपनी ओर खींचेगा। एक रिसर्च के अनुसार 80-90% जानकारी जो आपके दिमाग में आती है वो विजुअल कंटेंट के कारण आती है इसी लिए कंटेंट मार्केटिंग में इंफोग्राफिक्स एक प्रभावशाली माध्यम है।

पॉडकास्ट

पॉडकास्ट डिजिटल ऑडियो फाइलें हैं जो आमतौर पर किश्तों में ऑनलाइन वितरित की जाती हैं। उपभोक्ता ऑडियो फ़ाइलें डाउनलोड कर सकते हैं, अपनी वेबसाइट पर सुन सकते हैं या स्पॉटीफाई जैसे ऐप्स पर पॉडकास्ट एक्सेस कर सकते हैं। पॉडकास्ट एक बढ़िया प्रकार की कंटेंट मार्केटिंग है जो उपभोक्ताओं को अन्य कार्यों को करते समय उनकी जानकारी प्राप्त करने का अधिकार देता है। उदाहरण के लिए जब आप गाड़ी चला रहे हों, दौड़ रहे हों या खाना बना रहे हों, तो आप पॉडकास्ट से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। ई-बुक पढ़ते समय या वीडियो देखते समय मल्टीटास्क करना कठिन होता है। 

वीडियो मार्केटिंग

वीडियो मार्केटिंग की प्रभावशीलता SEO और सोशल मीडिया में लगातार बढ़ रही है। इन प्लेटफॉर्म के जरिए आप अपने कंटेंट या ब्रांड की जानकारी अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचेगी। जैसे-जैसे YouTube और TikTok जैसे प्लेटफॉर्म बढ़ते रहेंगे, कंटेंट मार्केटर्स के लिए वीडियो मार्केटिंग एक आवश्यकता बन जाएगी।

एक कंटेंट मार्केटर क्या करता है?

एक कंटेंट मार्केटर की विभिन्न भूमिकाएँ होती हैं। Content marketing in Hindi में करियर कैसे बनाया जाए, इसे समझने के लिए कंटेंट मार्केटर के कर्तव्यों को जानना जरूरी है। एक कंटेंट मार्केटर की भूमिका में मुख्य रूप से 3 चरण शामिल होते हैं ।

कंटेंट बिल्डिंग

कंटेंट निर्माण एक टारगेट ऑडियंस के लिए आवश्यक जानकारी के साथ अच्छी तरह से अपडेट डेटा का चित्रण (illustration) है। कंटेंट में वह शामिल होना चाहिए जो ग्राहक पाठक को जानना चाहता है। सभी डिजिटल कंटेंट के रूप में ओरिएंटेड, मुख्य रूप से Google एक प्रसिद्ध सर्च इंजन है। कंटेंट मार्केटिंग में  एक अच्छे करियर के लिए कंटेंट मार्केटर को सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO) से अच्छी तरह परिचित होना चाहिए। कंटेंट को पढ़ने के लिए मनोरंजक बनाने के लिए कंटेंट में अच्छी मात्रा में वीडियो, चित्र, इन्फोग्राफिक्स, चित्र होने चाहिए। कंटेंट को शीर्षकों और उपशीर्षकों में भी विभाजित किया जाना चाहिए जिससे पढ़ना और आसान हो जाता है। 

कंटेंट डिस्ट्रीब्यूशन

यह सुनिश्चित करना भी महत्वपूर्ण है कि आपके द्वारा बनाए गए कंटेंट अधिक दर्शकों तक पहुंच रही है या नहीं। यदि कंटेंट अधिक लोगों तक नहीं पहुंचती है तो इसका कोई फायदा नहीं होगा । कंटेंट वितरण आमतौर पर मंचों, प्रश्न और उत्तर साइटों, सोशल मीडिया द्वारा किया जाता है।

आंकड़े

आँकड़ों का ध्यान रखना कंटेंट मार्केटर की एक और महत्वपूर्ण भूमिका है। यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि एनालिटिक्स उच्च हैं। कंटेंट मार्केटिंग प्रक्रिया कैसे चल रही है, इसकी तुलना करने के लिए कंटेंट मार्केटर द्वारा साप्ताहिक या मासिक रिपोर्ट को ट्रैक में रखा जाना चाहिए।

कंटेंट मार्केटिंग के लिए महत्त्वपूर्ण स्किल्स

कंटेंट मार्केटिंग में जो लोग करियर बनाना चाहते हैं, उनके लिए जरूरी स्किल्स होनी चाहिए। हमने कंटेंट मार्केटिंग में करियर बनाने के लिए आवश्यक महत्वपूर्ण कौशलों की एक सूची बनाई है, जो इस प्रकार है:

  • रिसर्च स्किल्स
  • SEO और अन्य तकनीकी स्किल्स
  • डिजाइन और रचनात्मक स्किल्स
  • लेखन कौशल और व्याकरण
  • सोशल मीडिया ऑप्टिमाइज़ेशन

रिसर्च स्किल्स

कंटेंट बनाने के लिए स्रोतों से डेटा एकत्र करने, प्रमुख बिंदुओं की पहचान करने, बिंदुओं को नोट करने के लिए बहुत अधिक रिसर्च की आवश्यकता होती है। एक उचित और अच्छी तरह से रिसर्च किया गया कंटेंट हमेशा उपयोगकर्ताओं के लिए अधिक आकर्षक होता है।

SEO और अन्य तकनीकी स्किल्स

SEO महत्वपूर्ण है क्योंकि यह आपके कंटेंट के खोज पृष्ठों (search pages) के टॉप पर होने की संभावना को बढ़ाता है। कंटेंट मार्केटिंग में करियर बनाने के लिए आपको SEO की समझ होनी चाहिए। SEO के कुछ महत्वपूर्ण कंपोनेंट्स में नियमित अंतराल पर कीवर्ड का उपयोग, उपयुक्त पेज हेडिंग का उपयोग, चित्र, मेटा डिस्क्रिप्शन और वीडियो शामिल हैं।

तकनीकी कौशल जैसे HTML, CSS का ज्ञान और एनालिटिक्स और एल्गोरिदम की समझ होनी चाहिए। आप कंटेंट मार्केटिंग के अंतर्गत अक्सर वर्डप्रेस और CMS के साथ भी काम करेंगे, इसलिए उनमें अनुभव होना अच्छा है।

डिज़ाइन और रचनात्मक स्किल्स

एक कंटेंट मार्केटर के रूप में, आपको अपने कंटेंट में बहुत सारी इमेज और वीडियो जोड़ने की आवश्यकता हो सकती है। यह आपके कंटेंट को आकर्षक बनायेगा और पाठक को आकर्षित करेगा । यह निश्चित रूप से आपके ब्रांड को कंटेंट मार्केटिंग में बढ़ावा देगा, इसलिए कंटेंट मार्केटिंग में करियर बनाने के लिए सही डिजाइन और क्रिएटिव स्किल्स का होना जरूरी है।

लेखन कौशल और व्याकरण

यह जरूरी है कि आपका कंटेंट व्याकरणिक रूप से (grammatically) गलत नहीं है और आपके दर्शकों को समझने के लिए उपयुक्त लेखन और व्याकरण का उपयोग कंटेंट में किया गया है। अच्छा लेखन और पठन कौशल होने से किसी भी गलत कंटेंट की जाँच करने में बहुत मदद मिलती है।

सोशल मीडिया ऑप्टिमाइज़ेशन (SEO)

यदि आप कंटेंट मार्केटिंग में एक सफल करियर बनाना चाहते हैं तो सोशल मीडिया ऑप्टिमाइजेशन का ज्ञान महत्वपूर्ण है। आपके कंटेंट का कोई मूल्य नहीं है यदि वह अधिक दर्शकों तक नहीं पहुंची है। कई सोशल एप्लीकेशन का ज्ञान आपको एल्गोरिदम को समझने में मदद करता है और आपको अपने कंटेंट को बढ़ावा देने के बारे में विचार देता है।

कंटेंट मार्केटिंग के लिए टॉप ऑनलाइन कोर्सेज

Content marketing in Hindi में टॉप ऑनलाइन कोर्सेज की लिस्ट नीचे दी गई है–

कोर्स अवधि कोर्स फीस प्लेटफॉर्म
The Strategy of Content Marketing 19 घंटे INR 2,159 Coursera
Content Strategy for Professionals Specialization 4 महीने INR 3,649/ माह Coursera
Search Engine Optimization (SEO) Specialization 5 महीने INR 3,649/ माह Coursera
Viral Marketing & How to Craft Contagious Content 4 घंटे INR 5,586 Coursera
Brand & Content Marketing 15 घंटे INR 2,904/माह Coursera
Transmedia Storytelling: Narrative worlds, emerging technologies, and global audiences 26 घंटे INR 2,159 Coursera
The Ultimate Content Marketing Course 55 मिनट फ्री Udemy
Learn How To Make Video Blogs And Advanced Video Marketing 2.5 घंटे INR 525 Udemy
Content Marketing Fundamentals Course with Ashley Segura 1 घंटे 18 मिनट फ्री Udemy
Crash Course For New Content And Affiliate Marketers 56 मिनट फ्री Udemy
GetResponse Content Marketing 1.5 घंटे INR 525 Udemy
Content Marketing 101: Your Guide to Effective Blogging 1.5 घंटे INR 525 Udemy
Professional Certificate in Digital Marketing Fundamentals 4 महीने INR 23,263 edX
Leading Innovation with Vijay Govindarajan 2 महीने INR 26,605 edX
Content Marketing Course: Get Certified in Content Marketing 6 घंटे 20 मिनट फ्री Hubspot Academy
Content Strategy for Professionals: Engaging Audiences 6 महीने INR 3,649/माह Coursera
Content Strategy for Professionals: Managing Content 6 महीने INR 3,649/माह Coursera

आप AI Course Finder की मदद से अपनी प्रोफाइल के अनुसार सही यूनिवर्सिटी और अपनी पसंद का कोर्स चुन सकते हैं।

टॉप कंटेंट मार्केटिंग कोर्सेज

Content marketing in Hindi के लिए कोई विशेष कोर्स नहीं है, लेकिन आप विभिन्न डिजिटल मार्केटिंग कोर्सेज के जरिए कंटेंट मार्केटिंग के लिए बेसिक नॉलेज और स्किल्स हासिल कर सकते हैं। इन कोर्सेज की मदद से आप विभिन्न मार्केटिंग फील्ड्स में अपने करियर की शुरुआत कर सकते हैं। कुछ टॉप कोर्सेज की लिस्ट नीचे दी गई है–

मार्केटिंग कोर्सेज के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज

content marketing in Hindi कोर्सेज के लिए टॉप विश्वविद्यालयों की लिस्ट नीचे दी गई है–

आप UniConnect के ज़रिए विश्व के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन विश्वविद्यालय मेले का हिस्सा बनने का मौका पा सकते हैं, जहाँ आप अपनी पसंद के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि से सीधा संपर्क कर सकेंगे।

मार्केटिंग कोर्सेज के लिए भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज

मार्केटिंग कोर्सेज के लिए भारत में शीर्ष कॉलेजों की लिस्ट नीचे दी गई है–

  • आईआईएम
  • आईआईटी
  • जेवियर लेबर रिलेशंस इंस्टिट्यूट
  • एसपी जैन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड रिसर्च (SPJIMR)
  • IMT
  • जेवियर इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल सर्विस
  • MIT स्कूल ऑफ बिजनेस 
  • इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस 
  • फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज
  • Ta Pai इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट
  • सिम्बायोसिस इंस्टीट्यूट ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट
  •  गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी
  • चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी 
  • निम्स यूनिवर्सिटी 

योग्यताएं

इन विभिन्न मार्केटिंग कोर्सेज के लिए योग्यता इस प्रकार है:

  • बैचलर्स कोर्सेस में प्रवेश लेने के लिए जरूरी है कि उम्मीदवार ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से किसी भी स्ट्रीम में 12वीं पूरा किया हो। इन कोर्सेज के लिए कॉमर्स स्ट्रीम के छात्रों को अत्यधिक महत्व दिया जाता है।
  • कुछ कॉलेज और विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा भी आयोजित करते हैं। विदेश में बैचलर्स के लिए SAT या ACT स्कोर्स की मांग की जाती है।
  • मास्टर्स कोर्सेस के लिए जरूरी है कि उम्मीदवार ने किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या कॉलेज से संबंधित डिग्री जैसे BBA, BMS या किसी भी स्ट्रीम में बैचलर्स डिग्री प्राप्त की हो।
  • मास्टर्स कोर्सेस में एडमिशन के लिए कुछ विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं इसके बाद ही आप इन कोर्सेस के लिए पात्र हो सकते हैं। विदेश की कुछ यूनिवर्सिटीज में मास्टर्स के लिए GRE स्कोर की अवश्यकता होती है।
  • साथ ही विदेश के लिए आपको ऊपर दी गई आवश्यकताओं के साथ IELTS या TOEFL स्कोर की भी आवश्यकता होती है।
  • विदेश के विश्वविद्यालयों में एडमिशन के लिए SOP, LOR, CV/रिज्यूमे  और पोर्टफोलियो  भी जमा करने होंगे।

क्या आप IELTS/TOEFL/SAT/GRE में अच्छे अंक प्राप्त करना चाहते हैं? आज ही इन परीक्षाओं की बेहतरीन तैयारी के लिए Leverage Live पर रजिस्टर करें और अच्छे अंक प्राप्त करें।

आवेदन प्रक्रिया

किसी भी कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको उसकी प्रक्रिया पता होनी चाहिए। भारत और विदेश में मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव बनने के लिए आपको नीचे बतायी गई प्रक्रिया को चरण दर चरण फॉलो करना होगा।

भारत और विदेश में मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव के लिए आवेदन प्रक्रिया

  • विश्वविद्यालय की ऑफिशियल वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करें। यूके में एडमिशन के लिए आप यूसीएएस वेबसाइट (UCAS) पर जाकर रजिस्ट्रेशन करें। यहाँ से आपको यूजर आईडी और पासवर्ड प्राप्त होंगे।
  • यूज़र आईडी से साइन इन करें और कोर्स चुनें जिसे आप चुनना चाहते हैं। 
  • अगली स्टेप में अपनी शैक्षणिक जानकारी भरें।  
  • शैक्षणिक योग्यता के साथ  IELTSTOEFL, प्रवेश परीक्षा स्कोर, SOPLOR की जानकारी भरें। 
  • पिछले सालों की नौकरी की जानकारी भरें। 
  • रजिस्ट्रेशन फीस का भुगतान करें।
  • अंत में आवेदन पत्र जमा करें।
  • कुछ यूनिवर्सिटी, सिलेक्शन के बाद वर्चुअल इंटरव्यू के लिए इनवाइट करती हैं।

आवदेन प्रक्रिया से सम्बन्धित जानकारी और मदद के लिए Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800572000 पर संपर्क करें

आवश्यक दस्तावेज़  

मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव की पढ़ाई करने निम्नलिखित दस्तावेज़ों की आवश्यकता होगी:

हम आपकी आकर्षक SOP और LOR बनाने में भी मदद करते हैं, ताकि आपकी एप्लीकेशन बिना किसी परेशानी के जल्दी सेलेक्ट कर ली जाए।

मार्केटिंग कोर्सेज की फीस

कोर्सेज और यूनिवर्सिटी के हिसाब से फीस अलग – अलग हो सकती है। यूनिवर्सिटी या कॉलेज का प्राइवेट और सरकारी होना भी फीस पर प्रभाव डालता है। प्राइवेट कॉलेजों की फीस सरकारी कॉलेजों की तुलना में अधिक होती है। भारत में विभिन्न मार्केटिंग कोर्सेज के लिए औसत वार्षिक फीस 25 हजार रू. से 8 लाख रू. के बीच हो सकती है। वहीं विदेशों में इन कोर्सेज की फीस औसत 15 लाख रू. से 20 लाख रू. के बीच हो सकती है।

कंटेंट मार्केटिंग में करियर कैसे शुरू करें?

कंटेंट मार्केटिंग में करियर एक ऐसा करियर है जिसमें बहुत अधिक शोध और रचनात्मकता की आवश्यकता होती है। कंटेंट को शुरू से अंत तक ग्राहकों को आकर्षित करने की आवश्यकता होती है, जिससे ग्राहक आवश्यक जानकारी प्राप्त करते हैं जिनकी उन्हें तलाश होगी। यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं जो आपको कंटेंट मार्केटिंग में अपना करियर शुरू करने में मदद करेंगे–

  • अपने खुद के ब्लॉग शुरू करना: बहुत सारी साइटें हैं जो आपको ब्लॉग बनाने में मदद करती हैं। यह आपकी ब्रांड वैल्यू को ऊंचा रखेगा और आपके लेखन कौशल को तेज करेगा।
  • इंटर्नशिप: कंटेंट राइटिंग इंटर्नशिप के लिए आवेदन करें। यह आपको पेशेवरों के साथ काम करने का अनुभव हासिल करने में भी मदद करेगा।
  • फ्रीलांसिंग: अगर आप शॉर्ट टर्म जॉब की तलाश में हैं, तो आप Fiverr और Upwork पर फ्रीलांस जॉब में काम कर सकते हैं।

टॉप रिक्रूटर्स

Content marketing in Hindi के लिए टॉप रिक्रूटर्स के नाम इस प्रकार हैं:

  • Freelancer
  • Tata Consultancy Services
  • Amazon
  • Zoho
  • IBM
  • Flipkart
  • Prime Focus Technologies
  • Leverage Edu
  • Myntra
  • Cognizant Technology Solutions

कंटेंट मार्केटिंग में करियर और वेतन

Content marketing in Hindi निस्संदेह आज मार्केटिंग और विज्ञापन क्षेत्र में सबसे तेजी से बढ़ते करियर में से एक है। लिंक्डइन के ताज़ा शोध के अनुसार, कंटेंट मार्केटर्स के लिए जॉब ओपनिंग मार्केटिंग डोमेन में अन्य लोकप्रिय ओपनिंग को पछाड़ दिया है। इसमें कोई संदेह नहीं है कि आने वाले वर्षों में ये आंकड़े और अधिक बढ़ने वाले हैं। 2020 के आंकड़ों के अनुसार, भारत में एक कंटेंट मार्केटर का औसत वेतन प्रति वर्ष 5.45 लाख रू/सालाना है। वेतन सीमा व्यक्ति के अनुभव और बैकग्राउंड के अनुसार भिन्न होती है और प्रति वर्ष 12 लाख रुपये/सालाना तक जा सकती है। 

अधिकांश कंटेंट क्रिएशन में रचनात्मकता शामिल होती है। एक महान कंटेंट मार्केटर वह होता है जो रचनात्मक कंटेंट का उपयोग करते हुए अधिक लोगों तक अपने कंटेंट को पहुंचाता है। इसमें दर्शकों या खरीदार के व्यक्तित्व को समझना, कीवर्ड रिसर्च, प्रतियोगी का कंटेंट ऑडिट, आकर्षक हेडिंग बनाना आदि शामिल हैं।

असाधारण लेखन कौशल के साथ, SEO, एनालिटिक्स, बेसिक कोडिंग और मेट्रिक्स का अच्छा ज्ञान एक बेहतरीन कंटेंट मार्केटर के लिए एक संपूर्ण पैकेज बनाता है। नीचे कंटेंट मार्केटिंग के अंतर्गत कुछ प्रमुख जॉब प्रोफाइल और Payscale के अनुसार उनका वेतन दिया गया है।

जॉब प्रोफाइल भारत में वेतन (INR/सालाना) UK में वेतन (INR/सालाना) USA में वेतन (INR/सालाना)
कंटेंट मार्केटिंग मैनेजर 4-8 लाख 20-28 लाख 40-50.73 लाख
कंटेंट मार्केटिंग स्पेशलिस्ट 2-8 लाख 20-29.70 लाख 30-38 लाख
SEO स्पेशलिस्ट 2-5 लाख 20-23 लाख 30-36.10 लाख
सोशल मीडिया मैनेजर 3-5 लाख 20-25.36 लाख 30-39.73 लाख
SEM एनालिस्ट 2.5-6 लाख 20-32 लाख 30-37.43 लाख
कंटेंट राइटर 2.5-5 लाख 19-23 लाख 30-37 लाख

FAQs

Content marketing in Hindi क्या है?

कंटेंट मार्केटिंग एक मार्केटिंग स्ट्रेटजी है जिसका उपयोग रिलेवेंट लेख, वीडियो, पॉडकास्ट और अन्य मीडिया बनाकर और शेयर करके दर्शकों को आकर्षित करने, संलग्न करने और बनाए रखने के लिए किया जाता है।

कंटेंट मार्केटिंग में करियर की क्या संभावनाएं हैं?

कंटेंट मार्केटिंग निस्संदेह आज मार्केटिंग और विज्ञापन क्षेत्र में सबसे गर्म और सबसे तेजी से बढ़ते करियर में से एक है। लिंक्डइन के हालिया शोध के अनुसार, कंटेंट मार्केटर्स के लिए जॉब ओपनिंग मार्केटिंग डोमेन में अन्य लोकप्रिय ओपनिंग को पछाड़ दिया है। इसमें कोई संदेह नहीं है कि आने वाले वर्षों में ये आंकड़े और अधिक बढ़ने वाले हैं।

भारत में कंटेंट मार्केटिंग के क्षेत्र में औसत वेतन कितना है?

भारत में कंटेंट मार्केटिंग के क्षेत्र में औसत वेतन प्रति वर्ष 5.45 लाख रू. से 10 लाख रू. तक हो सकता है। वेतन सीमा, व्यक्ति के अनुभव और बैकग्राउंड के अनुसार भिन्न होती है और प्रति वर्ष 12 लाख रुपये तक जा सकती है।

Content marketing in Hindi में प्रमुख जॉब प्रोफाइल्स कौन सी हैं?

कंटेंट मार्केटिंग के क्षेत्र में कुछ प्रमुख जॉब प्रोफाइल्स इस प्रकार हैं–
1. कंटेंट मार्केटिंग मैनेजर
2. कंटेंट मार्केटिंग स्पेशलिस्ट
3. SEO स्पेशलिस्ट
4. सोशल मीडिया मैनेजर
5. SEM एनालिस्ट
6. कंटेंट  राइटर

आशा करते हैं कि आपको content marketing in Hindi की सारी जानकारी इस ब्लॉग के माध्यम से मिल गई होंगी। यदि आप मार्केटिंग कोर्सेज विदेश में करना चाहते हैं तो आज ही हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से संपर्क करें। वे आपको सही कोर्स और यूनिवर्सिटी चुनने से लेकर एप्लीकेशन प्रोसेस और वीजा तक में आपकी सहायता करेंगे। एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करने के लिए 1800572000 पर कॉल करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. Marketing
Talk to an expert