बीटेक मरीन इंजीनियरिंग क्या है और कैसे करें?

1 minute read
24 views
बीटेक मरीन इंजीनियरिंग

मरीन इंजीनियरिंग, इंजीनियरिंग की एक ब्रांच है जो शिप्स, डॉक्स, हार्बर इंफ्रास्ट्रक्चर आदि की मशीनरी के ऑपरेशन्स और डिज़ाइन पर फोकस्ड होता है। एक मरीन इंजीनियर बनने की इस ट्रेनिंग में आपको पानी में इस्तमाल आने वाली मशींस को क्रिएट, मेन्टेन और रिपेयर करने की प्रक्रिया को भी सिखाया जाता है जो एक मरीन इंजीनियर बनने के लिए अनिवार्य है। यह कोर्स मुख्य रूप से मशीन प्रिंसिपल्स और कॉम्प्रिहेंशन, डिज़ाइन और बाकी समुद्री उपकरणों के बारे में पढ़ने और उन्हें बारीकी से जान्ने की तरफ फोकस्ड है। 

ट्रांसपोर्टेशन और बाकी राज्यों में काम एक्सपेंशन के कारण यह टेक्नोलॉजी और इसके साथ साथ इसमें पढ़ाई को महत्वता दी जा रही है। इसके चलते मरीन इंजीनियरिंग में बीटेक भी छात्रों में काफी प्रचलित कोर्सेज में से एक है। आइए इस ब्लॉग के ज़रिए हम बीटेक मरीन इंजीनियरिंग के बारे में विस्तार से चर्चा करते हैं। 

कोर्स का नाम  B.E./B.Tech इन मरीन इंजीनियरिंग 
कोर्स का लेवल  अंडरग्रेजुएट 
ड्यूरेशन  चार साल 
योग्यताएं  बारहवीं पास (फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स)
एवरेज सैलरी  INR 3 – 10 लाख 
टॉप जॉब प्रोफाइल्स  ग्रेड IV मरीन इंजीनियर (जूनियर कैडर), मर्चेंट नवल कैडर, नैशनल एंड इंटरनेशनल नवल लॉजिस्टिक्स एंड शिपमेंट्स, नवल मैनेजमेंट फैकल्टी, लेक्चरर आदि। 

बीटेक मरीन इंजीनियरिंग क्या है?

बीटेक मरीन इंजीनियरिंग एक चार साल का अंडरग्रेजुएट कोर्स है जो मुख्य रूप से मरीन टेक्नोलॉजीज़ और फंक्शनल ऑपरेशन्स की नॉलेज देने की तरफ अग्रसर है। अगर आप अपनी दसवीं के बाद PCM सब्जेक्ट्स का सिलेक्शन कर लेते हैं तो आपको यह कोर्स करने और समझने में काफी आसानी होगी। मरीन इंजीनियरिंग एक इंटरेस्टिंग और बढ़िया करियर विकल्प उपब्ध कराने वाली फील्ड है जो आपको देश और विदेश दोनों में बेहतर ऑप्शन प्रदान करने में सक्षम हैं। कोर्स के दौरान आप इंजीनियरिंग प्रोसेसेज और मरीन स्ट्रकचर्स मेंइसतमाल होने वाली टेक्नोलॉजीज के बारे में सीखते हैं। 

बीटेक मरीन इंजीनियरिंग क्यों करें?

कैंडिडेट्स जो मरीन इंजीनियरिंग से जुड़े कार्यों में और इस डिग्री में रूचि रखते हैं वे इस इसमें होने वाले फायदों को जानकार अत्यंत प्रसन्न होंगे। हमने नीचे दिए गए पॉइंटर्स में इन फायदों का ज़िक्र किया है:-

  • मरीन इंजीनियरिंग आपको दुनिया भर में एक्सप्लोर करने और नए नए लोगो से मिलने का मौका देता है जिससे आपके लिंक्स और कम्युनिकेशन स्किल्स इम्प्रूव होती हैं। यह चीज़ आपके आने वाले भविष्य और भविष्य में मिलने वाले बेहतर ऑप्शन के दरवाज़े खुल जाते है। 
  • मरीन इंजीनियरिंग में आप भिन्न भिन्न आस्पेक्ट्स को स्टडी करते है जिनमें प्रैक्टिकल आस्पेक्ट्स भी शामिल होते हैं। यह प्रक्रिया आपको एक स्ट्रांग प्रॉब्लम सॉल्वर भी बनाती हिअ जिससे आप हर सिचुएशन में बेहतर निर्णय लेने के काबिल बनते है। 
  • यह कोर्स आपको टीम में काम करने की स्किलभी सिखाता है और यह इसलिए पॉसिबल हो पता है क्योकि इस कोर्स में आने वाले ज़्यादा तर आस्पेक्ट्स और प्रक्टिकल्स टीम में दिए जाते है। इसके साथ साथ आप टाइम मैनेजमेंट की कला को भी अपने अंदर ला पाते हैं। 
  • बेहतरीन मशीन टेक्नोलॉजी का ज्ञान आपको IT स्किल्स के साथ टेक्निकल नॉलेज में अव्वल बनाने की राह की और लेकर जाता है।

बीटेक मरीन इंजीनियरिंग सिलेबस 

बीटेक मरीन इंजीनियरिंग में आने वाले मुख्य विषय आपकी चुनी गई यूनिवर्सिटी के हिसाब से बदल सकते है।  हमने कुछ कोर सब्जेक्ट्स को नीचे टेबल में लिस्ट किया है-

फंडामेंटल्स ऑफ़ मैकेनिकल इंजीनियरिंग  इंजीनियरिंग मैथमेटिक्स 
अप्लाइड थर्मोडाइनामिक्स  फ्लूइड मैकेनिक्स 
मरीन इंजीनियरिंग  नवल आर्किटेक्चर 
मरीन कंट्रोल इंजीनियरिंग  शिप ऑपरेशन एंड मैनेजमेंट 
सीमैनशिप  गैस टर्बाइन्स आदि 
एडवांस्ड मरीन हीट इंजिन्स  एनवायर्नमेंटल साइंस एंड टेक्नोलॉजी 
एडवांस्ड मटेरियल साइंस एंड सरफेस कोटिंग इंजीनियरिंग  रिन्यूवेबल एनर्जी सोर्सेज एंड एप्लीकेशनस 

विदेश में बीटेक मरीन इंजीनियरिंग कोर्स के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज 

बीटेक मरीन इंजीनियरिंग के लिए विदेश की टॉप यूनिवर्सिटीज के नाम नीचे दिए गए है-

आप UniConnect के जरिए विश्व के पहले और सबसे बड़े ऑनलाइन विश्वविद्यालय मेले का हिस्सा बनने का मौका पा सकते हैं, जहाँ आप अपनी पसंद के विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि से सीधा संपर्क कर सकेंगे।

भारत में बीटेक मरीन इंजीनियरिंग कोर्स के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज

बीटेक मरीन इंजीनियरिंग के लिए भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज के नाम कुछ इस प्रकार हैं-

  • कोचिन यूनिवर्सिटी ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी, कोचिन 
  • सी. वी. रमन ग्लोबल यूनिवर्सिटी, भुबनेश्वर 
  • आई.के गुजराल पंजाब टेक्निकल यूनिवर्सिटी, पंजाब 
  • MAKAUT, कोलकाता 
  • गणपत यूनिवर्सिटी, मेहसाना 
  • इंडियन मेरीटाइम यूनिवर्सिटी, चेन्नई  \
  • मरीन इंजीनियरिंग एंड रिसर्च इंस्टिट्यूट, मुंबई 
  • CMC, कोइम्बटोर 
  • HIMT कॉलेज, चेन्नई 

बीटेक मरीन इंजीनियरिंग के लिए योग्यताएं 

यदि आप बीटेक मरीन इंजीनियरिंग के क्षेत्र में डिग्री प्राप्त करने के इच्छुक हैं, तो आपको अपने चुने हुए विश्वविद्यालय द्वारा निर्धारित योग्यताओं को पूरा करना होगा। ये आवश्यकताएं कोर्सेज के स्तर के अनुसार भिन्न होती हैं, जैसे बैचलर, मास्टर या डिप्लोमा। बीटेक मरीन इंजीनियरिंग में कोर्स के लिए कुछ सामान्य योग्यताएं इस प्रकार हैं:

  • बैचलर्स डिग्री प्रोग्राम के लिए ज़रुरी है कि उम्मीदवारों ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2(PCM) में कम से कम 50 % मार्क्स अर्जित किए हों।
  • कुछ यूनिवर्सिटीज प्रवेश परीक्षा के आधार पर भी एडमिशन स्वीकार करतीं हैं।
  • विदेश की अधिकतर यूनिवर्सिटीज मास्टर्स कोर्सेज के लिए GRE स्कोर की मांग करते हैं।
  • साथ ही मास्टर्स में एडमिशन के लिए आपकी अंडरग्रेजुएट डिग्री में कम से कम 50 % मार्क्स का होना आवश्यक है। 
  • विदेश की यूनिवर्सिटीज में एडमिशन के लिए IELTS या TOEFL टेस्ट स्कोर, अंग्रेजी प्रोफिशिएंसी के प्रमाण के रूप में ज़रूरी होते हैं।
  • विदेश यूनिवर्सिटीज में पढ़ने के लिए SOP, LOR, सीवी/रिज्यूमे और पोर्टफोलियो भी जमा करने की ज़रूरत होती है।

क्या आपको IELTS या TOEFL की तैयारी में दिक्कत आ रही है? तो आज ही Leverage Live पर रजिस्टर करें और अच्छे अंक प्राप्त करें।

आवेदन प्रक्रिया 

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है:

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेज़ों जैसे SOP, निबंध, सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टैस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज़ जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीज़ा और छात्रवृत्ति/छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लैटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

आवदेन प्रक्रिया से सम्बन्धित जानकारी और मदद के लिए Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800572000 पर संपर्क करें

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है:

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूज़र नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  • यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज़  

कुछ ज़रूरी दस्तावेज़ों की लिस्ट नीचे दी गई है–

छात्र वीजा पाने के लिए भी Leverage Edu विशेषज्ञ आपकी हर सम्भव मदद करेंगे।

प्रवेश परीक्षाएं 

बीटेक मरीन इंजीनियरिंग  आवश्यक एंट्रेंस एग्जाम निम्नलिखित हैं :-

करियर स्कोप

बीटेक मरीन इंजीनियरिंग में अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद आपको प्राइवेट और सरकारी दोनों सेक्टर्स में नौकरी मिलने का मौका मिलता है। इसके साथ साथ अगर आप अपनी पढ़ाई पूरी करने का निर्णय लेते हैं तो MTech और MBA आपके लिए एक बेहतर ऑप्शन साबित हो सकते हैं। हलाकि MTech प्रोग्राम आपकी फर्स्ट चॉइस हो सकती है अगर आप अपनी ही फील्ड में बेहतर करना चाहते हैं। लेकिन अगर आप अपनी डिग्री के साथ मैनेजमेंट की फील्ड में भी खुदको एक्स्प्लोर करना चाहते हैं तो MBA करना एक बढ़िया विकल्प रहेगा। इसके अलावा अगर आप नौकरी करने का निर्णय लेते हैं तो एक बीटेक मरीन इंजीनियरिंग पास कैंडिडेट को नौकरी देने में सक्षम कंपनीज़ निम्नलिखित हैं :-

  • Shipping companies
  • Naval academy
  • Shipyards
  • Port Trust
  • Repairing Yards
  • Merchant Naval
  • Companies

जॉब प्रोफाइल्स एंड सैलरी

एक बीटेक मरीन इंजीनियरिंग डिग्री हासिल करने के बाद आप दी गई जॉब प्रोफाइल्स में अपना सिक्का आज़मान सकते हैं :-

जॉब प्रोफाइल्स  एवरेज एनुअल सैलरी 
लॉजिस्टिक्स एग्ज़िक्युटिव  INR 7-8 लाख 
लॉजिस्टिक्स मैनेजर  INR 7-8 लाख 
ट्रांसपोर्ट एंड डिस्ट्रीब्यूशन मैनेजर  INR 6-7 लाख
वेयर हॉउस मैनेजर  INR 6-7 लाख
GM कमर्शियल  INR 8-9 लाख

FAQs 

बीटेक मरीन इंजीनियरिंग क्या है?

बीटेक मरीन इंजीनियरिंग एक चार साल का अंडरग्रेजुएट कोर्स है जो मुख्य रूप से मरीन टेक्नोलॉजीज़ और फंक्शनल ऑपरेशन्स की नॉलेज देने की तरफ अग्रसर है। आगरा आप अपनी दसवीं के बाद PCM सब्जेक्ट्स का सिलेक्शन कर लेते हिअ तो आपको यह कोर्स करने और समझने में काफी आसानी होगी। मरीन इंजीनियरिंग एक इंटरेस्टिंग और बढ़िया करियर विकल्प उपब्ध कराने वाली फील्ड है जो आपको देश और विदेश दोनों में बेहतर ऑप्शन प्रदान करने में सक्षम हैं। कोर्स के दौरान आप इंजीनियरिंग प्रोसेसेज और मरीन स्ट्रकचर्स मेंइसतमाल होने वाली टेक्नोलॉजीज के बारे में सीखते हैं।

बीटेक मरीन इंजीनियरिंग के लिए कौनसे एंट्रेंस एग्ज़ाम आवश्यक है?

बीटेक मरीन इंजीनियरिंग  आवश्यक एंट्रेंस एग्जाम निम्नलिखित हैं :-
1. JEE Mains 
2. JEE Advanced 
3. AICET 
4. IMU CET 
5. MERI Entrance Exam

बीटेक मरीन इंजीनियरिंग के लिए अब्रॉड की टॉप यूनिवर्सिटीज कौनसी हैं?

बीटेक मरीन इंजीनियरिंग के लिए विदेश की टॉप यूनिवर्सिटीज के नाम नीचे दिए गए हैं-
1. नार्वेजियन यूनिवर्सिटी ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी
2. शंघाई जिआओ टोंग यूनिवर्सिटी 
3. यूनिवर्सिटी ऑफ़ स्ट्रेथक्लाइड 
4. मैसाचुसेट्स इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी (MIT)

हम आशा करते हैं कि अब आप जान गए होंगे कि बीटेक मरीन इंजीनियरिंग कैसे करें? अगर आप बीटेक मरीन इंजीनियरिंग कोर्स करना चाहते हैं और साथ ही एक उचित मार्गदर्शन चाहते हैं तो आज ही 1800572000 पर कॉल करके हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. Engineering
Talk to an expert