बिजनेस लॉ में करियर कैसे बनायें?

1 minute read
21 views
विदेश में पढ़ने से बढ़ती है एशिया लिटरेसी
Freepik

बिजनेस लॉ प्रमुख रूप से किसी कंपनी को चलाने की वैधता से संबंधित है। यह नियंत्रित करता है कि किसी भी प्रकार के बिजनेस को कैसे शुरू करना, खरीदना, मैनेज करना और बंद करना या बेचना है। ग्लोबलाइजेशन और कॉर्पोरेट संस्कृति के एवोलुशन के कारण किसी संगठन के कामकाज से संबंधित कानूनी प्रथाओं में पारंगत पेशेवरों को नियुक्त किया जाता है। यदि आप बिजनेस लॉ में करियर बनाना चाहते हैं तो बिजनेस लॉ में करियर विकल्पों के बारे में जानने के लिए ब्लॉग को अंत तक पढ़ें।

बिजनेस लॉ क्या है? 

बिजनेस लॉ को अक्सर मर्केंटाइल लॉ या कमर्शियल लॉ कहा जाता है। यह अध्ययन का वह क्षेत्र है जो जनता, सरकार और अन्य कंपनियों के साथ बातचीत करते समय उत्पन्न होने वाले मुद्दों से संबंधित है। ये लीगल प्रोफेशन इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी, रियल एस्टटे, टैक्स लॉ, एंप्लॉयमेंट लॉ आदि के बारे में ज्ञान प्रदान करता है। 

बिजनेस लॉ में करियर क्यों बनाएं? 

बिजनेस लॉ में करियर क्यों बनाना चाहिए यह जानने के लिए नीचे दिए गए पॉइंट्स को पढ़ें:

  • बिजनेस लॉ सबसे स्थिर, तेजी से बढ़ता और आकर्षक क्षेत्र है। 
  • वकील बनने के अलावा, लॉ ग्रेजुएट्स विभिन्न क्षेत्रों जैसे मीडिया और कानून, शिक्षा, कॉमर्स और उद्योग, सामाजिक कार्य, राजनीति और बहुत कुछ के लिए बेहतरीन उम्मीदवार हैं।
  • लॉ की पढ़ाई करने से प्राप्त ज्ञान और कौशल छात्रों को जटिल परिस्थितियों या समस्याओं के दोनों पक्षों को एनालाइज करने और मजबूत तर्क और महत्वपूर्ण सोच के आधार पर सर्वोत्तम समाधान तैयार करने की सुविधा प्रदान करते हैं।
  • एक मजबूत कानूनी नेटवर्क बनाने का अवसर मिलेगा। 
  • बिजनेस लॉ में करियर की संभावनाएं अधिक हैं। 
  • बिजनेस लॉ कई स्पेशलाइजेशंस है जिसमें से आप अपने अनुसार चुनाव कर सकते हैं। जो आपके ज्ञान के साथ-साथ स्किल्स को बढ़ाएगा। 

स्किल्स

बिजनेस में करियर बनाने के लिए कुछ स्किल्स का होना जरूरी है, जो इस प्रकार हैं:

  • कम्युनिकेशन में क्लेरिटी
  • एक्सीलेंट कम्युनिकेशन स्किल्स
  • रिसर्च के प्रति झुकाव
  • एनालिटिकल स्किल्स
  • लॉजिकल रीजनिंग स्किल्स
  • प्रेजेंटेशन स्किल्स
  • राइटिंग स्किल्स

कोर्सेज

कानून में करियर बनाने के लिए बहुत मेहनत और धैर्य की आवश्यकता होती है, लेकिन यह आर्थिक रूप से फायदेमंद है। नीचे कई विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में विश्व स्तर पर पेश किए जाने वाले कोर्सेज की सूची दी गई है:

  • BBA LLB/BA LLB/B.Com in Business Law
  • LLM / Post Graduate Diploma/JD/MBA/MA in Business Law
  • LLM/Post Graduate Diploma in Corporate and Business Law
  • LLM in International Business Law
  • LLM in Business and Economic Law
  • PhD in Law

सब्जेक्ट्स

बिजनेस लॉ में पढ़ाए जाने वाले मुख्य सब्जेक्ट्स नीचे दिए गए हैं:

  • लीगल मेथड
  • फाइनेंशियल मैनेजमेंट
  • ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट
  • लॉ ऑफ़ कॉन्ट्रैक्ट-I
  • आर्गेनाईजेशनल बिहेवियर
  • फैमिली लॉ-II
  • लीगल इंग्लिश एंड कम्युनिकेशन स्किल्स
  • मार्केटिंग मैनेजमेंट
  • कांस्टीट्यूशनल लॉ-II
  • प्रिंसिपल्स ऑफ़ मैनेजमेंट
  • फैमिली लॉ-I
  • लॉ ऑफ़ क्राइम्स-II
  • मैनेजरियल इकॉनॉमिक्स
  • कॉन्स्टिट्यूशनल लॉ-I
  • एडमिनिस्ट्रेटिव लॉ
  • लॉ ऑफ़ कॉन्ट्रैक्ट -II
  • लॉ ऑफ़ क्राइम्स-I
  • स्ट्रैटेजिक मैनेजमेंट
  • कंज्यूमर प्रोटेक्शन राइट्स
  • बिजनेस एनवायरमेंट & एथिकल प्रैक्टिसेज़
  • एनवायरमेंटल स्टडीज एंड एनवायरमेंटल लॉ
  • लॉ ऑफ़ एविडेंस
  • इंटरनेशनल लॉ
  • टैक्स लॉ
  • कॉर्पोरेट लॉ
  • प्रॉपर्टी लॉ
  • लॉ एंड इमर्जिंग टेक्नोलॉजी
  • कोड ऑफ़ सिविल प्रोसीजर
  • इन्वेस्टमेंट एंड कंपटीशन लॉ 
  • ह्यूमन राइट्स
  • अल्टरनेटिव डिस्प्यूट रिसॉल्यूशन (ADR)
  • कोड ऑफ़ क्रिमिनल प्रोसीजर 
  • इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स
  • लेबर लॉ-II

विदेश की टॉप यूनिवर्सिटीज़

विभिन्न शैक्षणिक संस्थान हैं जो बिजनेस लॉ में बैचलर्स और मास्टर्स कोर्सेज प्रदान करते हैं। नीचे टॉप लॉ कॉलेजों की सूची नीचे दी गई है :

भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज़

जो लोग भारत में बिजनेस लॉ करना चाहते हैं, उनके लिए कुछ यूनिवर्सिटीज़ की लिस्ट नीचे दी गई है:

  • नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी, बैंगलोर
  • नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, नलसारी
  • एनएलआईयू, भोपाल
  • यूपीईएस, देहरादून
  • सिम्बायोसिस लॉ स्कूल, पुणे
  • राष्ट्रीय न्यायिक विज्ञान विश्वविद्यालय, कोलकाता
  • सिम्बायोसिस लॉ स्कूल, नोएडा
  • एनएलयू, पटियाला
  • एनएलयू, रांची
  • एमिटी यूनिवर्सिटी, नोएडा

योग्यता 

जो छात्र बिजनेस लॉ लेना चाहते हैं, उन्हें योग्यता मानदंड के बारे में पता होना चाहिए। हालांकि मानदंड विश्वविद्यालय के चुने हुए और आवेदन किए गए कोर्स के लेवल के आधार पर भिन्न होता है, बेसिक योग्यता मानदंड समान रहता है। जो इस प्रकार है:

  • उम्मीदवार जो पांच वर्षीय इंटीग्रेटेड BBA LLB कोर्स का विकल्प चुनते हैं, उन्होंने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से स्कूली शिक्षा पूरी करनी होगी। 
  • पीजी लेवल पर, यदि कोई छात्र बिजनेस लॉ के लिए आवेदन करता है, तो उसे पांच साल का इंटीग्रेटेड कोर्स पूरा करना होगा या तीन साल की एलएलबी की डिग्री होनी चाहिए। 
  • विदेश के लिए इंग्लिश प्रोफिशिएंसी टेस्ट जैसे IELTS, TOEFL, PTE के स्कोर
  • बिजनेस लॉ कोर्स में एडमिशन के लिए यूनिवर्सिटीज़ प्रवेश परीक्षाओं का आयोजन करती हैं उन्हें पास करना जरूरी है। विदेश के लिए LSAT, CLT, LNAT आदि जैसे एंट्रेंस टेस्ट देने होते हैं। बाकी कुछ प्रवेश परीक्षाओं की लिस्ट आपको नीचे देखने को मिलेगी। 

आवेदन प्रक्रिया 

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीज़ा और छात्रवृत्ति / छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  • यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज़ 

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

प्रवेश परीक्षाएं

कुछ लॉ प्रवेश परीक्षाओं की लिस्ट नीचे दी गई है:

  • CLAT
  • AILET 
  • LSAT 
  • MH CET Law
  • DU LLB
  • CULEE 
  • ULSAT
  • BVP CET लॉ
  • SLAT एग्जाम
  • LFAT
  • BHU UET (Law)
  • AIL LET (मोहाली)
  • KIITEE 
  • KLEE
  • TS LAWCET/PGLCET
  • AP LAWCET/PGLCET

बुक्स

बिजनेस लॉ के लिए कुछ बुक्स नीचे दी गई हैं:

करियर स्कोप

फाइनेंस सेक्टर, सेल्स टैक्स & एक्सीज डिपार्टमेंट्स, बिजनेस हाउसेस, लीगल कंसलटेंसीज़, MNCs, न्यूज़ चैनल्स, बैंक्स आदि क्षेत्रों में बिजनेस लॉयर्स की मांग में वृद्धि हुई है। यहाँ बिजनेस लॉ में करियर बनाने के लिए टॉप जॉब प्रोफ़ाइल दी गई हैं जिन्हें आप अपना सकते हैं:

  • बिजनेस एनालिस्ट
  • लीगल मैनेजर
  • बिजनेस प्रोसेस मैनेजर
  • लीगल एडवाइजर
  • बिजनेस डेवलपमेंट एग्जीक्यूटिव
  • फाइनेंशियल लॉयर्स
  • रिस्क एनालिस्ट
  • इमीग्रेशन लॉयर
  • लोन ऑफिसर

जॉब प्रोफ़ाइल और सैलरी

बिजनेस लॉ में करियर विकल्पों की तलाश कर रहे ग्रेजुएट्स के लिए टॉप जॉब प्रोफ़ाइल और Payscale के अनुसार सैलरी नीचे दी गई है:

जॉब प्रोफ़ाइल अनुमानित सालाना सैलरी
कॉर्पोरेट लॉयर INR 1.51 लाख-20 लाख
अटॉर्नी INR 1.56 लाख-30 लाख
लीगल एडवाइजर INR 2.52 लाख-40 लाख
लीगल मैनेजर INR 3.54 लाख-20 लाख

FAQs

किस क्षेत्र में बिजनेस लॉयर की मांग अधिक है? 

फाइनेंस सेक्टर, सेल्स टैक्स & एक्सीज डिपार्टमेंट्स, बिजनेस हाउसेस, लीगल कंसलटेंसीज़, MNCs, न्यूज़ चैनल्स, बैंक्स आदि क्षेत्रों में बिजनेस लॉयर्स की मांग में वृद्धि हुई है।

बिजनेस लॉ क्या है?

बिजनेस लॉ को अक्सर मर्केंटाइल लॉ या कमर्शियल लॉ कहा जाता है। यह अध्ययन का वह क्षेत्र है जो जनता, सरकार और अन्य कंपनियों के साथ बातचीत करते समय उत्पन्न होने वाले मुद्दों से संबंधित है। ये लीगल प्रोफेशन इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी, रियल एस्टटे, टैक्स लॉ, एंप्लॉयमेंट लॉ आदि के बारे में ज्ञान प्रदान करता है। 

टॉप बिजनेस लॉ कोर्सेज कौन से हैं? 

नीचे कई विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में विश्व स्तर पर पेश किए जाने वाले कोर्सेज की सूची दी गई है:
1.BBA LLB / BA LLB / B.Com in Business Law
2. LLM / Post Graduate Diploma/JD /MBA/MA in Business Law
3. LLM /Post Graduate Diploma in Corporate and Business Law
4. LLM in International Business Law
5. LLM in Business and Economic Law
6. PhD in Law

उम्मीद है, बिजनेस लॉ में करियर विकल्पों के बारे में आपको इस ब्लॉग में पता चल गया होगा। यदि आप बिजनेस लॉ कोर्स विदेश में करना चाहते हैं तो 1800 572 000 पर कॉल करके Leverage Edu एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का सेशन बुक करें और बेहतर गाइडेंस पाएं। 

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert