महिला क्रिकेट का नायब हीरा -Mitali Raj

Rating:
0
(0)
Mithali Raj

Mithali Raj एक ऐसी शख्सियत जिन्होंने पूरे विश्व में भारत का सिर गर्व से ऊंचा किया है। भारतीय महिला टीम में कम ऐसे सदस्य होंगे जो इतनें  लोकप्रिय होंगे और उन्हें लोग अपने आइडल की तरह देखते होंगे। भारत में हम क्रिकेट को धर्म की तरह पूजते हैं लेकिन महिला क्रिकेटर के बारे में कम ही बात की जाती है। Mithali Raj हमेशा अपनी बेहतरीन परफॉर्मेंस के कारण सुर्खियों में बनी रहती है। उन्होंने बहुत ही कंपोस्ट ढंग से अपनी टीम को बनाया है। वह कठिन परिश्रम में विश्वास रखती हैं जिसके बलबूते ही आज उन्होंने भारतीय महिला क्रिकेट टीम को उस शिखर तक पहुंचा सकी है जिसके बारे में हम कल्पना ही कर सकते हैं, इन्होंने गर्दिशों के बादलों में से भारतीय महिला क्रिकेट टीम को निकालकर चक दे इंडिया जैसा हौसला दिया है। वह कहते हैं कोयल सी रात कर लो हीरे सी सुबह चमकेगी। चलिए जानते हैं Mithali Raj के बारे में विस्तार से।

Check Out:  क्रिकेट के महाराजा – सौरव गांगुली

नाम (Name) मिताली राज 
उपनाम (Nickname) Lady Sachin 
जन्म (Birthday) 3  दिसंबर , 1982,जोधपुर   
माता (Mother) लीला राज 
पिता (Father) दोरज राज 
पति  (Husband ) अविवाहित 
अंतरराष्ट्रीय डेब्यू(International Debut ) Test— 14 जनवरी  1997 vs इंग्लैंड (लखनऊ )
ODI — 26 जून 1999  vs आयरलैंड  (मिल्टन केएस ) T-20 — 5  अगस्त 2006 vs इंग्लैंड( डर्बी )
अंतरराष्ट्रीय सन्यास  (International Retirement)    Test- मार्च  2019  vs इंग्लैंड (गुवाहाटी )  

Mitali Raj -जीवन परिचय 

Mithali Raj का जन्म  3 दिसंबर 1982 जोधपुर , राजस्थान में एक तमिल परिवार में हुआ था । इनके पिताजी दोरज राज भारतीय वायु सेना में एयर मैन थे और उनकी माता का नाम लीला राज है। मिथुन राज इनके बड़े भाई हैं। इनकी हाई स्कूल की पढ़ाई सिकंदराबाद के केएस हाई स्कूल में हुई थी। कस्तूरबा गांधी जूनियर कॉलेज सिकंदराबाद में उन्होंने आगे की पढ़ाई की। मिताली राज अपने बड़े भाई के साथ कोचिंग लिया करती थी स्कूल में खेलते वक्त हमेशा लड़कों के साथ मैच  प्रैक्टिस किया करती थी । इनके भाई हमेशा से इनके प्रेरणाश्रोत रहे हैं। 10 साल की उम्र में क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था।

क्लासिकल डांस था पहला प्यार

Mithali Raj का जन्म Tamil परिवार में हुआ था इसी कारण से उन्होंने बचपन से क्लासिकल डांस सीखना शुरू कर दिया था। 10 साल की उम्र तक वह भरतनाट्यम में एक्सपर्ट हो गई थी वह इसमें अपना करियर बनाने की  सोचने लगी थी। उन्होंने इंटरव्यू में भी कहा था कि उनका पहला प्यार डांस है। इनके पिता बचपन से ही इनको एक्टिव बनाना चाहते थे इसलिए उन्हें क्रिकेट खेलने के लिए कहा। इनकी डांस टीचर ने  इन्हें क्रिकेट और डांस में से एक चुनने के लिए कहा। इनका पहला प्यार हमेशा से डांस रहा था लेकिन उनके पिता ने उन्हें स्पोर्ट्स में काफी सपोर्ट किया था और उनकी मां ने भी इसके लिए नौकरी तक छोड़ दी थी इसलिए उन्होंने अपना करियर स्पोर्ट्स में बनाने का फैसला किया । मिताली के पिता क्रिकेट खेल चुके थे और उनके अंदर क्रिकेट के प्रति पैशन और प्यार नजर आया।

Check out : Rohit Sharma Ki Safalta Ki Kahani

17 साल की उम्र में मिला भारत को हीरा 

1997 में वर्ल्ड कप के दौरान टीम में खिलाने की बात चली लेकिन अंतिम मुकाबले से पहले इन्हें शामिल नहीं किया गया। उस समय यह महज 14 साल की थी। 26 जून 1999 को आयरलैंड के खिलाफ उन्होंने अपना पहला odi खेला आयरलैंड के खिलाफ खेले गए पहले ही मैच में उन्होंने नाबाद 114 रन और यहां से शुरू हुआ सफर भारत के एक अनमोल रतन का सफ़र शुरू हुआ । मिताली राज ने अपने करियर में कई महान खिलाड़ियों के साथ खेला जैसे अंजुम चोपड़ा ,अंजू जैन।

इनके प्रदर्शन और काबिलियत को देखकर 2002 विश्वकप के अंतिम मुकाबले में उन्होंने भारत का नेतृत्व किया। 2002 में इन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ अपना पहला टेस्ट मैच खेला जिसमें यह जीरो पर आउट हो गई थी। “वह अक्सर कुछ भी कर लेते हैं जो डर को बाहर फेंक के अंदर हौसला भर देते हैं “इसी बात को ध्यान रखते हुए इन्होंने तीसरे टेस्ट मैच में 214 रन की अद्भुत पारी खेली और करण रोल्टन के 209 रनों का रिकॉर्ड तोड़ दिया।

2005 में एक बार फिर उन्होंने महिला क्रिकेट विश्व कप में ‘कप्तानी की थी और इन्हीं की कप्तानी भारत ने पहली बार इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीती। “सच तेरा हर एक ख्वाब होगा अगर हौसला जो तेरा से लाभ होगा”  2005 में इनके इसी जुनून की वजह से भारत ने  एशिया कप भी जीता।

2006 में फिर महिला क्रिकेट टीम ने इंग्लैंड का दौरा किया और खिलाडियों  ने जमकर पसीना बहाया । दूसरे टेस्ट मैच में भारत में इंग्लैंड को करारी शिकस्त दी जिससे इन्होंने सीरीज 1-0 से जीत ली इसके लिए मिताली एंड कंपनी को भरपूर प्रशंसा भी मिली साथ ही  जीत का श्रेय भी उन्हें गया।

“इबादत काम की कर तुझे खुदा मिल जाएगा सब जैसा मुकाम नहीं तुझे सबसे जुदा मिलेगा”।  इसी की बदौलत यह 2010, 2011, 2012 में आईसीसी वर्ल्ड रैंकिंग में प्रथम स्थान पर रही। Mithali Raj प्रथम भारतीय महिला हैं जिन्हें 2015 में “Wisden Indian cricketer of the Year” का ख़िताब मिला।अपनी दमदार परफॉरमेंस के बलबूते ये टीम को 2017 वर्ल्ड कप के फाइनल तक ले गयी थी । 2017 में वर्ल्ड कप  खेलने के बाद मिताली राज ने एक इंटरव्यू में कहा था कि भारतीय टीम में प्रतिभाशाली खिलाड़ी बनाने हैं तो ज्यादा से ज्यादा टेस्ट मैच खेलने चाहिए।

22 साल का बेहतरीन सफ़र

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की सचिन तेंदुलकर के नाम से मशहूर मिताली राज ने अपने नाम एक और रिकॉर्ड दर्ज करा लिया है वह विश्व की पहली महिला बन गई हैं जिन्होंने 22 वर्ष तक क्रिकेट खेला। सचिन तेंदुलकर के 22 साल और 91 दिनों तक खेलने का रिकॉर्ड यह जल्द ही तोड़ देगी। किसी ने यह नहीं सोचा होगा कि एक महिला होकर वह इतने कंसिस्टेंट तरीके से और लगातार अच्छा प्रदर्शन करके इस मुकाम को हासिल कर लेंगे। 

Check Out: Virat Kohli Biography in Hindi क्रिकेटर

रिकॉर्ड की सिकंदर

इनके नाम लगातार 7 अर्धशतक बनाने का रिकॉर्ड है साथ ही एकदिवसीय क्रिकेट में 6000 से ज्यादा रन बनाने वाली इकलौती महिला है। इस  कीर्तिमान पर इन्होंने कहा था मुझे मेरे करियर पर बधाई के संदेश प्राप्त करना अच्छा लगता है। साथ ही उन्होंने तीनों फॉर्मेट में अपने 10000 रन भी पूरे कर लिए हैं। ऐसा करने के बाद उन्होंने इंग्लैंड के पूर्व कप्तान चार्ल्स  एडवर्ड्स को पीछे छोड़ दिया है। उन्होंने तेज़ गेंदबाज साइबर की गेंद पर चौका जड़कर अपना नया कीर्तिमान स्थापित किया न्यूजीलैंड की सूजी बेट्स तीसरे नंबर पर हैं। सबसे सफल कप्तान बनने से बस एक जीत दूर है। जिस पर सचिन तेंदुलकर ने इन्हें बधाई देते हुए कहा यूं ही आगे बढ़ते रहो!!

अवॉर्ड 

  • 2004 में अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।
  • 2015 में विस्डन इंडियन क्रिकेटर का सम्मान प्राप्त करने वाली पहली भारतीय महिला बनी
  • 2015 में इन्हें पदम श्री अवार्ड से नवाजा गया।

Check Out: जानिए साइना नेहवाल की सफलता के पीछे का संघर्ष

शादी से क्यों बनाई दूरी!!

2018 में एक इंटरव्यू में मिताली राज ने बताया क्यों अपनी निजी जीवन में काफी खुश हैं और वह शादी नहीं करना चाहती हैं । इनसे जब कारण पूछा गया तो उन्होंने कहा-” यह (शादी) [मेरे दिमाग एक बार आई थी ] बहुत समय पहले, जब मैं छोटी थी । लेकिन अब जब मैं शादीशुदा लोगों को देखती हूं तो यह मेरे दिमाग में नहीं आता। मैं सिंगल रहकर बहुत खुश हूं।”जब मिताली राज से पूछा गया कि क्या उन्हें बहुत अधिक मेल फैन्स की अटेंशन मिली है या नहीं, क्योंकि वह इतनी बड़ी क्रिकेटर हैं? जिस पर मिताली ने खुलासा किया था, “ईमानदारी से कहूं तो मैं वास्तव मुझे उस तरह अटेंशन नहीं मिली  जिस तरह पुरुष टीम को उनकी महिला प्रशंसकों से मिलता है।”

Check Out:मिल्खा सिंह: The Flying Sikh of India

Shabash Mithu

Mithali Raj के जीवन पर बायोग्राफिकल ड्रामा मूवी बनाई जा रही है। जिसमें उनके निजी संघर्ष और भारतीय क्रिकेट टीम को फर्श से अर्श तक लाने की कहानी दिखाई जाएगी। साथ ही कई युवाओं के लिए भी प्रेरणा का काम करेगी खासकर लड़कियां जो अपना करियर क्रिकेट या किसी और खेल में बनाना चाहती हैं । अपने विश्वास और हौसले के दम पर आप कुछ भी कभी भी हासिल कर सकते हैं। इस मूवी में मिताली राज का किरदार तापसी पन्नू निभाएंगे इस पर तापसी पन्नू ने ट्विटर पर लिखा-

“मुझसे हमेशा पूछा जाता है कि आपका पसंदीदा पुरुष क्रिकेटर कौन है, लेकिन आपको उनसे पूछना चाहिए कि उनकी पसंदीदा महिला क्रिकेटर कौन है। हर क्रिकेट प्रेमी ये सवाल है की वो क्या वे खेल से प्यार करते हैं या इसे खेलने वाले जेंडर  से। @M_Raj03 आप एक ‘गेम चेंजर’ हैं,”।

Source:Bollygrad Studioz

 Check Out:भारत के बैडमिंटन विश्व चैंपियन पीवी सिंधु की प्रेणादायक कहानी

आज हमनें  भारतीय महिला क्रिकेट कप्तान Mithali Raj ने अपने शांत और कंपोज़ नेचर से भारतीय टीम में एक नई जान भर दी वो हर एक युवा लड़की के लिए रोल मॉडल है। जो अपना करियर स्पोर्ट्स में बनना चाहती हैं । अपने खेल में हमेशा निरंतरता कैसे बानाये आपको इस Mithali Raj ब्लॉग से सीखने को मिलेगा।  इसी तरह आप भी अपने जीवन में निरंतरता बनाए रखे और  Leverage Edu  के साथ खेलों के दिग्गजों के बारे में पढ़े !!!

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like

Ras Hindi Grammar
Read More

मियाँ नसीरुद्दीन Class 11 : पाठ का सारांश, प्रश्न उत्तर, MCQ

मियाँ नसीरुद्दीन शब्दचित्र हम-हशमत नामक संग्रह से लिया गया है। इसमें खानदानी नानबाई मियाँ नसीरुद्दीन के व्यक्तित्व, रुचियों…
Bajar Darshan
Read More

Bajar Darshan Class 12 NCERT Solutions

बाजार दर्शन’ (Bajar Darshan) श्री जैनेंद्र कुमार द्वारा रचित एक महत्त्वपूर्ण निबंध है जिसमें गहन वैचारिकता और साहित्य…
Harivansh Rai Bachchan
Read More

हरिवंश राय बच्चन: जीवन शैली, साहित्यिक योगदान, प्रमुख रचनाएँ

हरिवंश राय बच्चन भारतीय कवि थे जो 20 वी सदी में भारत के सर्वाधिक प्रशिक्षित हिंदी भाषी कवियों…