जाने विश्व की सबसे प्राचीन भाषा के बारे में

Rating:
5
(1)
Hindi vs Sanskrit

Hindi Vs Sanskrit में संस्कृत भाषा को विश्व की सबसे प्राचीनतम भाषा में से एक माना जाता है। अधिकांश हिंदू धर्म ग्रंथ संस्कृत भाषा में ही लिखे गए हैं। संस्कृत भाषा से कई भाषाएं उत्पन्न हुई जैसे- हिंदी,बांग्ला,मराठी,पंजाबी आदि। संस्कृत भाषा को देव भाषा माना जाता है। जब हम यह सुनते हैं तो हमारे मन में कई प्रश्नचिन्ह खड़े हो जाते हैं कि एक भाषा से इतनी सारी भाषाएं कैसे उत्पन्न हुई और हम संस्कृत भाषा में रुचि भी लेने लगते हैं। Hindi Vs Sanskrit, इसका अर्थ यह है कि हिंदी और संस्कृत एक दूसरे से कितने अलग हैं तथा इन दोनों में क्या समानता है। Hindi Vs Sanskrit की पूरी जानकारी इस ब्लॉग में दी गई है। जो Hindi Vs Sanskrit में अंतर करने में आपकी सहायता करेगी। तो आइए देखें Hindi Vs Sanskrit-

Hindi Vs Sanskrit

Hindi Vs Sanskrit

Which is better Sanskrit or Hindi

हिंदी भाषा को हमारी राज्यभाषा माना जाता है। संस्कृत भाषा सबसे प्राचीनतम भाषा में से एक है। हिंदू धर्म के कई उपन्यास संस्कृत भाषा में ही लिखे गए हैैं तथा हिंदी भाषा हिंदुस्तानी भाषा का मानकीकृत रूप है। हिंदी भाषा में तत्सम तथा तद्भव शब्दों का समावेश है। भारत में हिंदी भाषा सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषा है परंतु संस्कृत भाषा का बोलचाल की भाषा में बहुत कम प्रयोग किया जाता है। हिंदी भाषा भारत,नेपाल,दक्षिण अफ्रीका आदि देशों में बोली जाती है। जबकि संस्कृत भाषा दक्षिण एशिया (प्राचीन और मध्ययुगीन), दक्षिण पूर्व एशिया के भाग (मध्ययुगीन) आदि देशों में बोली जाती है। हिंदी की अपेक्षा संस्कृत भाषा को अधिक जटिल माना जाता है। हिंदी भाषा में कुल वर्णों की संख्या 44 है जबकि संस्कृत भाषा में कुल वर्णों की संख्या 52 है। हिंदी भाषा में 11 स्वर और 33 व्यंजन होते हैं जबकि संस्कृत भाषा में 16 स्वर और 36 व्यंजन होते हैं। हिंदी भाषा को 380.00 मिलियन तथा संस्कृत भाषा को 14.10 मिलियन लोगों द्वारा बोली जाती है। हिंदी भाषा के मूल 7 वीं शताब्दी  तथा संस्कृत भाषा के मूल 2000 ई.पू.  में प्राप्त हुए ऐसा माना जाता है।हिंदी भारत की सबसे लोकप्रिय बोली जाने वाली भाषाओं में से एक है और अपनी आबादी के लिहाज से दुनिया में चौथी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है। हिन्दी को आज भी पढ़ने के छात्र इच्छुक है तथा करियर के रूप में हिंदी को चुनते हैं। किसी भी अन्य भाषा की तरह, हिंदी को भी अलग-अलग शिष्टाचारों में पढ़ाया जाता है जैसे कि पाठ पढ़ना, बोलना पाठ और उन्नत स्तर के पाठ्यक्रम इसमें होते जो हम चयन कर सकते हैं। कुछ लोकप्रिय हिंदी पाठ्यक्रम हैं जिन्हें आप अपनी दक्षता के आधार पर अध्ययन कर सकते हैं।

        Key points                हिंदी संस्कृत
वर्णों की संख्या 44 52
स्वरों की संख्या  11 16
व्यंजनों की संख्या 33 36
कितने लोगों द्वारा बोली जाती है 380.00 मिलियन 14.10 मिलियन 
मूल कब प्राप्त हुआ है 7 वीं शताब्दी 2000 ई.पू.  

Check Out: जानिए BA Hindi की संपूर्ण जानकारी

हिंदी और संस्कृत में से कौन सी भाषा है आसान

हिंदी भाषा संस्कृत भाषा से उत्पन्न हुई है। संस्कृत भाषा सबसे प्राचीनतम भाषा मानी जाती है परंतु हिंदी भाषा सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषा में से एक है। हिंदी भाषा का उच्चारण थोड़ा सरल होता है परंतु संस्कृत भाषा को उच्चारण करना थोड़ा मुश्किल होता है। परंतु यह भी कहीं ना कहीं सत्य है कि हम जिस भाषा का प्रयोग बचपन से करते आ रहे हैं वह हमारे लिए आसान सिद्ध होती है आज भी भारत में कई ऐसे प्रदेश है जहां पर संस्कृत भाषा का प्रयोग की बोलचाल की भाषा में किया जाता है तो उनके लिए यह भाषा आसान होगी इसी के साथ यदि कोई हिंदी भाषा बोलने वाला क्षेत्र है तो उनके लिए संस्कृत भाषा का बोले जाना थोड़ा मुश्किल सिद्ध होगा।

Source: India In Details

प्राचीनतम संस्कृत भाषा

“संस्कृत नाम दैवी वागन्वाख्याता महर्षिभि:” वाक्य में जिसे देवभाषा या ‘संस्कृत’ कहा गया है। कुछ विद्वानों का मत है कि “संस्कृत” शब्द का प्रयोग सर्वप्रथम वाल्मीकि रामायण के सुंदरकांड (30 सर्ग) में हनुमन् द्वारा किया गया था। संस्कृत भारत के साहित्यिक ,सांस्कृतिक ,धार्मिक ,आध्यात्मिक ,नैतिक ,राजनैतिक और ऐतिहासिक जीवन आदि सभी इसी भाषा में मिलते हैं। विद्वानों के अनुसार इसका प्रारंभ 3500 ई. लगभग जब ऋग्वेद की रचना हुई तब का माना जाता है। विश्व की तरह-तरह की भाषाओं में से यही एक भाषा है जो वस्तुतः स्वर्गावतीर्ण हुई हैं क्योंकि विश्व वाङ्गमय का सबसे पुराना अनादिग्रन्थ वेद की रचना भगवान् ने इसी भाषा में की है—

अनादि निधना नित्या वागुत्सृष्टा स्वयम्भुवा ।।
आदौ वेदमयी दिव्या यतः सर्वाः प्रवृत्तयः ।।

Hindi और  Sanskrit में से किसे चुनें? 

हम हिंदी और संस्कृत में किसे भाषा के रूप में चुने यह चुनाव करना थोड़ा मुश्किल होता है इसलिए नीचे दोनों भाषाओं के कई सारे फायदे दिए गए हैं जो इन भाषाओं का चुनाव करने में आपकी सहायता करेंगे-

 हिंदी भाषा के फायदे

  • यह दुनिया भर में लाखों लोगों द्वारा बोली जाती है – कई देशों में हिंदी मूल भाषा के रूप में बोली जाती है । इसके बोले जाने की संख्या की वजह से इसे दुनिया की चौथी सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषा माना जाता है ।
  • हिंदी अविश्वसनीय रूप से उर्दू के समान है – अगर आप कोई ऐसी भाषा सीखना चाहते हो जो अधिक मूल्य प्रधान करती हो तो आप हिंदी सीखने के बारे में सोच सकते है क्योंकि अगर आप हिंदी सीख लेते है तो आपको उर्दू सीखने में ज्यादा परेशानी नहीं होगी ।
  • यह व्यापार में उपयोगी है – भारत में समय के साथ तेजी से व्यापार भी बढ़ता जा रहा है , अगर आप भी दक्षिण पूर्व में व्यापार करना चाहते है तो आपको हिंदी आना बहुत जरूरी है क्योंकि भारत में सबसे ज्यादा हिंदी ही बोली जाती है और ये भारत की महत्वपूर्ण भाषाओं में से एक है ।
  • हिंदी भाषी बॉलीवुड का आनंद ले सकते हैं… – बॉलीवुड हिंदी फिल्म उद्योग के नाम से जाना जाता है वो हिंदी सीखने के लिए बड़ा संसाधन है । अगर आप हिंदी पिक्चर इंग्लिश सबटाइटल के साथ भी देखते है तो आप सुनने से भी हिंदी में सुधार कर सकते है और नए शब्द वाक्यांश सिख सकते ।
  • भारतीय संस्कृति अधिक व्यापक रूप से  – अगर आपकी फिल्में देखने में रुचि नहीं है तो आप किसी  देश की संस्कृति से भी उसकी भाषा के बारे में सीख सकते ठीक इसी प्रकार अगर आप हिंदी सीखना चाहते है तो आप भारत की संस्कृति से सीख सकते है जैसे उसके साहित्य , कला , संगीत के माध्यम से ।
  • यात्रा करते समय हिंदी मदद कर सकती है – अगर आप भारत में यात्रा करने के बारे सोच रहे है तो आपको हिंदी आना बहुत जरूरी है क्योंकि भारत में सबसे ज्यादा हिंदी का ही प्रयोग होता है । अगर आपको  हिंदी आती है तो आपकी यात्रा  ओर सुखमय हो जाती है ।
  • हिंदी  एक Phonetic (ध्वन्यात्मक) भाषा है – हिंदी भाषा एक सरल भाषा है अगर आप हिंदी सीखना चाहते आप बिलकुल सीख सकते है क्योंकि हम जैसे हिंदी बोलते ठीक उसी तरह नीचे लिख सकते है । 

संस्कृत भाषा के फायदे

  • प्रचीनतम भाषा – संस्कृत भाषा प्राचीनतम भाषाओं में से मानी जाती है संस्कृत भाषा में ही हिंदू धर्म के कई सारे पुराण काव्य आदि लिखे गए हैं। यदि हम संस्कृत भाषा का चुनाव करते हैं तो हमें हिंदू धर्म के सभी वेद जैसे ऋग्वेद सामवेद अथर्ववेद यजुर्वेद सभी वेद आसानी से पढ़ सकते हैं।
  • कई भाषाओं की जननी- संस्कृत भाषा कई भाषाओं की जननी है क्योंकि संस्कृत भाषा से ही कई भाषाएं निकली है जैसे उर्दू पंजाबी गुजराती लैटिन ग्रीक आदि अनेकों भाषाएं संस्कृत से ही निकली है। यह जानने के लिए कि एक भाषा से इतनी सारी भाषाएं कैसे उत्पन्न हुई है आप संस्कृत का चुनाव कर सकते हैं।
  • करियर में भागीदारी- आप सब्जेक्ट के रूप में भी संस्कृत भाषा का चुनाव कर सकते हैं आज भी कई प्रदेशों में संस्कृत भाषा को पढ़ाया जाता है। और संस्कृत भाषा को भारत में आज भी कक्षाओं में विषय के रूप में दिया जाता है। यदि आप इस भाषा का चुनाव करते हैं तो इसमें भी आप अपना करियर बना सकते हैं।
  • रोचक भाषा– संस्कृत भाषा एक रोचक भाषा है इसमें एक शब्द के हजारों अर्थ निकले होते हैं। यह बोलने में थोड़ी मुश्किल परंतु समझ लेने पर बहुत ही मनभावन होती है।

Hindi and Sanskrit Words

तत्सम शब्द -वे शब्द होते हैं जो संस्कृत भाषा से हिंदी भाषा में ज्यों के त्यों लिए जाते हैं इनमें किसी प्रकार का परिवर्तन नहीं होता है ऐसे कई शब्द है जो संस्कृत भाषा से बिना किसी परिवर्तन के लिए गए हैं।

तद्भव शब्द- वे शब्द होते हैं जो संस्कृत भाषा से हिंदी भाषा में लिए जाने पर समय के अनुसार परिवर्तित कर के लिए गए हैं यह लगभग समान होते हैं परंतु एक दूसरे से भिन्न होते हैं।

तत्सम तथा तद्भव शब्दों की सूची नीचे दी गई है-

तत्सम शब्द तद्भव शब्द
आभीर अहेर
आर्य आरज
अनार्य अनाड़ी
आश्विन आसोज
आश्चर्य अचरज
अक्षर अच्छर
अगम्य अगम
अक्षत अच्छत
अक्षय आखा
अष्टादश अठारह
अग्नि आग
आम्रचूर्ण अमचूर
आमलक आँवला
अमूल्य अमोल
अंगुलि अँगुरी
अक्षि आँख
अर्क आक
अट्टालिका अटारी
अशीति अस्सी
ईर्ष्या ईर्षा
उज्ज्वल उजला
उद्वर्तन उबटन
उत्साह उछाह
ऊषर ऊसर
उलूखल ओखली
उच्छवास उसास
किरण किरन
कटु कड़वा
कपर्दिका कौड़ी
कर्तव्य करतब
कंकण कंगन
कुपुत्र कपूत
काष्ठ काठ
कृष्ण किसन
कार्तिक कातिक
कार्य कारज
कर्म काम
किंचित कुछ
कदली केला
कुक्षि कोख

Hindi Vs Sanskrit कोर्स

Hindi Vs Sanskrit कोर्स नीचे दिए गए हैं-

Sanskrit किए जाने वाले कोर्स

  • बीए (ऑनर्स।) संस्कृत
  • बीए (संस्कृत साहित्य)
  • बीए (संस्कृत)
  • बीए (वेदांत)
  • एमए (ऑनर्स।) (संस्कृत)
  • एमए (संस्कृत और लेक्सोग्राफी)
  • एमए (संस्कृत साहित्य)
  • एम.फिल। (संस्कृत)
  • पीएच.डी. (संस्कृत)
  • संस्कृत में डिप्लोमा
  • संस्कृत में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (जूनियर)
  • संस्कृत में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (वरिष्ठ)
  • बीएड
  • जूनियर रिसर्च फेलोशिप

Check Out: कैसे करें MA Hindi

Hindi किए जाने वाले कोर्स

  • बीए (ऑनर्स) हिंदी
  • बीए (हिंदी साहित्य)
  • बीए (हिंदी)
  • एमए (ऑनर्स) (हिंदी)
  • एमए (हिंदी और लेक्सोग्राफी)
  • एमए (हिंदी साहित्य)
  • एम.फिल। (हिंदी)
  • पीएच.डी. (हिंदी)
  • हिंदी में डिप्लोमा
  • हिंदी में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (जूनियर)
  • हिंदी में स्नातकोत्तर डिप्लोमा (वरिष्ठ)
  • बीएड
  • जूनियर रिसर्च फेलोशिप

Check Out: कैसे करें Sanskrit में MA

Hindi Vs Sanskrit जॉब और करियर

Hindi Vs Sanskrit जॉब और करियर नीचे दिए गए हैं-

Sanskrit में जॉब और करियर

  • संस्कृत टाइपिस्ट
  • ऑनलाइन ट्रांसक्रिप्ट
  • प्रशिक्षण अधिकारी हिंदी  
  • सामग्री डेवलपर
  • व्याख्याता
  • संस्कृत शिक्षक
  • स्कूल के शिक्षक
  • भाषा शिक्षक
  • अनुवादक
  • कंटेंट लेखक
  • साहित्यिक आलोचक
  • अनुकृति संपादक

Check Out : जानिए BA Sanskrit के बारे में विस्तार से

Hindi में जॉब और करियर

  • व्याख्याता / सहायक प्रोफेसर
  • शोधकर्ता
  • हिंदी अनुवादक
  • पत्रकार
  • संपादक
  • भाषा विशेषज्ञ
  • कथानक का लेखक
  • लेखक
  • गीतकार 
  • कंटेंट लेखक
  • न्यूज़रीडर / समाचार पत्र
  • सरकारी अधिकारी
  • शिक्षक
  • दुभाषिया
  • भाषण लेखक
  • आवाज सहायक
  • हिंदी अधिकारी
  • कस्टम सेवा सहयोगी
  • हिंदी बिक्री समन्वयक
  • अंशकालिक शिक्षक
  • अध्यापक
  • सलाहकार
  • तथ्य दाखिला प्रचालक
  • टेली कॉलर
  • पर्यटन क्षेत्र
  • मुद्रण माध्यम
  • पत्रकारिता
  • पटकथा लेखन(Screenwriting) 
  • वॉयस एसोसिएट

Check Out: CBSE Class 9 Hindi Syllabus

रोजाना उपयोग किए जाने वाले शब्द 

हिंदी संस्कृत 
नमस्ते नमस्कारः
धन्यवाद धन्यवादः
तुम कैसे हो?  कथमस्ति भवान्
शुभ रात्रि शुभ रात्री
शुभ सन्ध्या शुभ सायंकालः
सुप्रभात सुप्रभातम्
खेद कृपया क्षम्यताम्
अलविदा पुनः मिलामः
मुझे माफ करें कृपया क्षम्यताम्
तुम क्या करते थे  त्वम ‌‍‍किम् कुरुत्
तू कहां जाता है ? त्वं कुत्र गच्छसि
क्या वह जाता है ? किं सः गच्छति ?
वहां कौन है ? तत्र कः अस्ति ?
तू जाता है क्या ? त्वं गच्छसि किम् ?
बालक विद्यालय जाता है। बालकः विद्यालयं गच्छति।
यह रमेश की पुस्तक है। इदं रमेशस्य पुस्तकम् अस्ति।
मन्दिर के चारों ओर भक्त है। मन्दिरं परितः भक्ताः सन्ति।
मुझे घर जाना चाहिए। कहीं गृहं गच्छेयम्।
तुम पुस्तक पढ़ो त्वं पुस्तकं पठ।

Check Out: रंजीत रामचंद्रन की संघर्ष की कहानी

Hindi Vs Sanskrit Colleges

Hindi Vs Sanskrit कॉलेजों की सूची नीचे दी गई है-

Sanskrit कॉलेज

  • मिरांडा हाउस , नई दिल्ली
  • लेडी श्री राम कॉलेज फॉर विमेन, नई दिल्ली
  • हिंदू कॉलेज, नई दिल्ली
  • हंस राज कॉलेज, नई दिल्ली
  • श्री वेंकटेश्वर कॉलेज, नई दिल्ली
  • गार्गी कॉलेज, नई दिल्ली
  • फर्ग्यूसन कॉलेज , पुणे
  • रामजस कॉलेज, नई दिल्ली
  • अटल बिहारी वाजपेयी हिंदी विश्व विद्यालय – [ABVHV]

Check Out: CBSE Class 10 Hindi Syllabus

Hindi कॉलेज

  • जेएनयू
  • बीएचयू
  • ओपी जिंदल
  • दिल्ली विश्वविद्यालय [DU], नई दिल्ली
  • जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • लोयोला कॉलेज, चेन्नई
  • प्रेसीडेंसी कॉलेज, चेन्नई
  • फर्ग्यूसन कॉलेज, [एफसी] पुणे
  • क्राइस्ट यूनिवर्सिटी, बैंगलोर
  • मुंबई विश्वविद्यालय
  • हिंदू कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय
  • मिरांडा हाउस, दिल्ली विश्वविद्यालय
  • लेडी श्रीराम कॉलेज, [एलएसआर] नई दिल्ली
  • हंस राज कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय
  • गार्गी कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय
  • रामजस कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय
  • इंद्रप्रस्थ कॉलेज फॉर वुमन, [आईपी] नई दिल्ली
  • आत्म राम सनातन धर्म कॉलेज, [एआरएसडी] नई दिल्ली
  • दौलत राम कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय
  • महाराजा अग्रसेन कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय
  • मेहर चंद महाजन दयानंद एंग्लो वैदिक कॉलेज, [MCMDAV] चंडीगढ़
  • मैत्रेयी कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • पटना वीमेंस कॉलेज, [PWC] पटना
  • लक्ष्मीबाई कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय
  • कन्या महाविद्यालय, [केएम] जालंधर
  • सच्चिदानंद सिन्हा कॉलेज, औरंगाबाद
Source – MakeToss – Sanskrit

Hindi vs Sanskrit Counting 1-100

# संस्कृत हिंदी
1 प्रथमः एक 
2 द्वितीयः दो
3 तृतीयः,त्रीणि तीन
4 चतुर्थः चार
5 पंचमः पाँच
6 षष्टः छः
7 सप्तमः सात
8 अष्टमः आठ
9 नवमः नौ
10 दशमः दस
11 एकादशः ग्यारह
12 द्वादशः बारह
13 त्रयोदशः तेरह
14 चतुर्दशः चौदह
15 पंचदशः,पञ्चदश पन्द्रह
16 षोड़शः सोलह
17 सप्तदशः सत्रह
18 अष्टादशः अठारह
19 एकोनविंशतिः,ऊनविंशतिः उन्नीस
20 विंशतिः बीस
21 एकविंशतिः इक्कीस
22 द्वाविंशतिः बाइस
23 त्रयोविंशतिः तेइस
24 चतुर्विंशतिः चौबीस
25 पञ्चविंशतिः पच्चीस
26 षड्विंशतिः छब्बीस
27 सप्तविंशतिः सत्ताईस
28 अष्टविंशतिः अट् ठाईस
29 नवविंशतिः,एकोनत्रिंशत् उनतीस
30 त्रिंशत् तीस
31 एकत्रिंशत् इकत्तीस
32 द्वात्रिंशत् बत्तीस
33 त्रयस्त्रिंशत् तेतीस
34 चतुर्त्रिंशत् चौतीस
35 पञ्चत्रिंशत् पैंतीस
36 षट्त्रिंशत् छत्तीस
37 सप्तत्रिंशत् सैंतीस
38 अष्टात्रिंशत् अड़तीस
39 ऊनचत्वारिंशत्, एकोनचत्वारिंशत् उनतालीस
40 चत्वारिंशत् चालीस
41 एकचत्वारिंशत् इकतालीस
42 द्वाचत्वारिंशत् बियालीस
43 त्रिचत्वारिंशत् तेतालीस
44 चतुश्चत्वारिंशत् चबालीस
45 पंचचत्वारिंशत् पैंतालीस
46 षट्चत्वारिंशत् छियालीस
47 सप्तचत्वारिंशत् सैंतालीस
48 अष्टचत्वारिंशत् अड़तालीस
49 एकोनपञ्चाशत्, ऊनचत्वारिंशत् उडनचास
50 पञ्चाशत् पचास
100 शतम्, एकशतम् सौ, एक सौ
1000 सहसम्र एक हजार
10000 अयुतम् दस हजार
100000 लक्षम् एक लाख

आशा है, Hindi Vs Sanskrit के बारे में दी गई सभी जानकारी आपके लिए उपयोगी सिद्ध होगी। Hindi Vs Sanskrit ब्लॉग यदि आपको पसंद आया तो कमेंट सेक्शन में लिखकर बताएं। अध्ययन संबंधित किसी भी जानकारी के लिए या करियर का चयन करने के लिए यदि सलाह की आवश्यकता है तो Leverage Edu   से आज ही संपर्क करें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like

Motivational Quotes in Hindi (1)
Read More

200+ Motivational Quotes in Hindi

हिंदी मोटिवेशनल कोट्स (Motivational quotes in Hindi)  आपको अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए मजबूत करते हैं,…