बीएससी जेनेटिक्स क्या है और कैसे करें?

2 minute read
25 views
Leverage-Edu-Default-Blog

साइंस से जुड़े बेहतरीन कोर्सेज आज मार्किट में मौजूद है लेकिन कुछ कोर्सेज अपनी जगह सबसे अलग बना ही लेते हैं। वजह होती है उसमें मौजूद सब्जेक्ट्स और उसके बाद मिलने वाले जॉब ऑप्शंस। ऐसा ही एक कोर्स है बीएससी जेनेटिक्स। लिविंग बॉडीज और हेरीडिटी में आने वाले वैरिएशंस को इस कोर्स में पढ़ाया जाता है। मुख्य रूप से इसमें एक जनरेशन से दूसरी जनरेशन में आए जेनेटिक्स ट्रांसपोर्टेशन की इन्डेप्थ नॉलेज दी जाती है। तो ये तो था इसका एक बेसिक आईडिया, अगर आप इस कोर्स यानी बीएससी जेनेटिक्स के बारे में बेहतर जानकरी चाहते हैं तो इस ब्लॉग को आखिर तक पढ़ें। 

कोर्स लेवल  अंडरग्रेजुएट डिग्री 
कोर्स की अवधि  तीन साल 
फुल फॉर्म  बैचलर ऑफ़ साइंस इन जेनेटिक्स 
जॉब पोज़िशन्स  जेनेटिकिस्ट्स, बायो-टेक्नीशियन, जेनेटिक कॉउंसलर, गेनोमिक्स, बायोफिज़िसिस्ट, एपिडेमीओलॉजिस्ट, फॉरेंसिक साइंटिस्ट
नौकरी मिलने के सेक्टर्स/एरियाज  हैल्थकेयर सेंटर्स, कन्सल्टेंसीज़, फॉरेंसिक डिपार्टमेंट्स, टेस्टिंग लैब्स, हॉस्पिटल्स, फार्मास्युटिकल्स इंडस्ट्री

बीएससी जेनेटिक्स क्या है?

बीएससी जेनेटिक्स की फुल फॉर्म बैचलर ऑफ़ साइंस इन जेनेटिक्स है। कैंडिडेट जो इस कोर्स को करना चाहते हैं उनका इंटरेस्ट मेडिकल हेरीडिटी और क्लोनिंग में होना आवश्यक है। इस कोर्स के साथ कैंडिडेट्स को जेनेटिक्स  डिसॉर्डर, हेट्रोजेनिटी, हिस्ट्री ऑफ़ जेनेटिक्स जैसे आस्पेक्ट्स को गहराई से जानने का मौका मिलता है। कैंडिडेट्स जो इस कोर्स के लिए अप्लाई कर रहे हैं उनके पास थ्योरी और एक्टिव लर्निंग की कला का होना आवश्यक है। इस कोर्स की अवधि कुल 3 वर्ष है जिसे 6 सेमेस्टर में बांटा गया है। आज के वक्त में नई टेक्नीक्स और एडवांसमेंट के आने से स्टूडेंट्स इस कोर्स के लिए काफी अप्लाई करते नज़र आ रहे हैं। 

बीएससी जेनेटिक्स क्यों करें?

हालांकि बीएससी जेनेटिक्स करने के कई सारे फायदे आपको देखने को मिलेंगे लेकिन हमने आपकी सहूलियत के लिए कुछ फायदों को नीचे पॉइंटर्स में बताया है। आइए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से-

  • इस कोर्स के माध्यम से आप अपनी मेडिकल हेरीडिटी और क्लोनिंग टेक्नीक्स की स्किल्स को इम्प्रूव कर सकते हैं। 
  • यह कोर्स आपके पीएचडी, एमफिल, एमएससी जैसे कोर्स तक पहुंचने का पहला कदम हो सकता है। 
  • इस कोर्स के पूरा होने के बाद आप क्लासिकल जेनेटिक्स, क्वांटिटेटिव जेनेटिक्स, मॉलिक्यूलर जेनेटिक्स आदि जैसी प्रोफाइल्स में आसानी से नौकरी पा सकते हैं। 
  • यह कोर्स आपकी थेराप्यूटिक एंड डायग्नोस्टिक स्किल्स को बेहतर बनाता है। 
  • इस कोर्स की मदद से आप अपनी इंटरप्रिटेशन स्किल्स को इम्प्रूव कर सकते हैं। 

बीएससी जेनेटिक्स सिलेबस

हालांकि कोर्सेज का सिलेबस आपकी चुनी गई यूनिवर्सिटी के मुताबिक़ बदल सकता है। हमने एक बेसिक जानकारी के लिए नीचे दिए गए टेबल में बीएससी जेनेटिक्स में आने वाले विषय मेंशन किए हैं। सम्पूर्ण जानकरी के लिए टेबल को ध्यान से पढ़ें-

सेमेस्टर 1  सेमेस्टर 2 
स्कोप ऑफ़ जेनेटिक्स  हिस्ट्री ऑफ़ जेनेटिक्स 
माईक्रोस्कोपी  लॉ ऑफ़ सेग्रीगेशन 
मॉडल ऑर्गैनिस्म  एलिमेंट्स ऑफ़ बॉयोमैट्री 
अल्ट्रास्ट्रक्चर ऑफ़ सेल्स एंड सेल्स ऑरगॅनेल्स  मल्टीपल एलेलेस 
सेल साईकल एंड सेल डिवीजन  जीन इंटरेक्शन 
प्रैक्टिकल 1  सेक्स डेटर्मिनेशन 
लॉ ऑफ़ इंडिपेंडेंट असॉर्टमेंट 
बायोग्राफी ऑफ़ मेंडेल 
सेमेस्टर 3  सेमेस्टर 4 
कल्चरिंग एंड हैंडलिंग ऑफ़ ड्रोसोफिला  न्युक्लिएक एसिड्स 
स्टडी ऑफ़ टाइप्स ऑफ़ ड्रोसोफिला  केमिकल बेसिस ऑफ़ हेरीडिटी 
जेनेटिक प्रॉब्लम ऑफ़ लिंकेज एंड क्रासिंग ओवर  DNA रेप्लिकेशन 
स्टडी ऑफ़ क्रोमोसोम्स  जीन एक्सप्रेशन 
ड्रोसोफिला मिलानोगेस्टर  जीनोम ऑर्गनाइज़ेशन 
सलाईवरी ग्लैंड क्रोमोसोम  इंट्रोडक्शन टू जेनोमिक्स एंड प्रोटॉमिक 
म्यूटेशंस 
बैक्टीरियल जेनेटिक्स 
ट्रांसपोज़ेबल एलिमेंट्स 
सेमेस्टर 5  सेमेस्टर 6 
इंट्रोडक्शन टू RDT  डेवलपमेंट जेनेटिक्स 
टूल्स ऑफ़ RDT  इवॉल्यूशनरी जेनेटिक्स 
टेक्नीक्स ऑफ़ RDT  पापुलेशन जेनेटिक्स 
आइसोलेशन ऑफ़ जीन  बायोमेट्रिकल जेनेटिक्स 
डायरेक्ट जीन ट्रांसफर मेथड 
सिलेक्शन एंड स्क्रीनिंग ऑफ़ रेकॉम्बिनैंट 
ऍप्लिकेशन्स 

विदेश में बीएससी जेनेटिक्स कोर्स के लिए बेस्ट यूनिवर्सिटीज

 विदेश में बीएससी जेनेटिक्स कोर्स करने के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज की लिस्ट नीचे दी गई है-

भारत में बीएससी जेनेटिक्स कोर्स के लिए बेस्ट यूनिवर्सिटीज

 भारत में बीएससी जेनेटिक्स कोर्स के लिए टॉप कॉलेजेस की लिस्ट नीचे दी गई है-

  • द ऑक्सफ़ोर्ड कॉलेज ऑफ़ साइंस, बैंगलोर 
  • सेंट एन कॉलेज फॉर वीमेन, हैदराबाद 
  • क्रिस्तु जयंती कॉलेज, बैंगलोर 
  • रमईया कॉलेज ऑफ़ आर्ट्स, साइंस एंड कॉमर्स, बैंगलोर 
  • जैन यूनिवर्सिटी, बैंगलोर 
  • ज्योति निवास कॉलेज, बैंगलोर 
  • केलिकट यूनिवर्सिटी, केलिकट 
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ जेनेटिक इंजीनियरिंग, कोलकाता 
  • मौलाना अबुल कलाम आज़ाद यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी(MAKAUT), कोलकाता 
  • दयानन्द सागर यूनिवर्सिटी, बैंगलोर 
  • चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़ 
  • दयाल सिंह कॉलेज, DU 
  • AIMS इंस्टिट्यूट, बैंगलोर 

बीएससी जेनेटिक्स के लिए योग्यताएं

अगर आप अब्रॉड में बीएससी जेनेटिक्स की डिग्री के लिए पढ़ने जा रहे हैं तो आपको कुछ योग्यताओं के बारे में पता होना आवश्यक होगा। वैसे तो ये आवश्यकताएं कोर्सेज के स्तर के अनुसार भिन्न होती हैं, जैसे बैचलर, मास्टर या डिप्लोमा। बीएससी जेनेटिक्स कोर्स के लिए कुछ सामान्य योग्यताएं इस प्रकार हैं:

  • बैचलर्स डिग्री प्रोग्राम के लिए ज़रुरी है कि उम्मीदवारों ने किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2(PCB) में कम से कम 50 % मार्क्स अर्जित किए हों।
  • कुछ यूनिवर्सिटीज प्रवेश परीक्षा के आधार पर भी एडमिशन स्वीकार करतीं हैं।
  • विदेश की अधिकतर यूनिवर्सिटीज मास्टर्स कोर्सेज के लिए GRE स्कोर की मांग करते हैं।
  • साथ ही मास्टर्स में एडमिशन के लिए आपकी अंडरग्रेजुएट डिग्री में कम से कम 50 % मार्क्स का होना आवश्यक है। 
  • विदेश की यूनिवर्सिटीज में एडमिशन के लिए IELTS या TOEFL टेस्ट स्कोर, अंग्रेजी प्रोफिशिएंसी के प्रमाण के रूप में ज़रूरी होते हैं।
  • विदेश यूनिवर्सिटीज में पढ़ने के लिए SOP, LOR, सीवी/रिज्यूमे और पोर्टफोलियो भी जमा करने की ज़रूरत होती है।

आवेदन प्रक्रिया 

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है:

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेज़ों जैसे SOP, निबंध, सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टैस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज़ जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्र वीज़ा और छात्रवृत्ति/छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे । 
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लैटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है। 

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है:

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूज़र नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  • यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज़  

कुछ ज़रूरी दस्तावेज़ों की लिस्ट नीचे दी गई है–

प्रवेश परीक्षाएं

बीएससी जेनेटिक्स के लिए देने वाले एंट्रेंस एग्जाम की लिस्ट नीचे दी गई है-

  • JET 
  • NPAT 
  • BHU UET 
  • SUAT 
  • CUET 
  • GSAT 
  • GRE 
  • SAT 
  • MDUCEE 
  • KCET 
  • DUET 

बीएससी जेनेटिक्स के लिए स्टडी मटेरियल 

बीएससी जेनेटिक्स में बेहतर स्कोर करने के लिए हमने इस ब्लॉग में आपके लिए कुछ ज़रूरी स्टडी मटेरियल अटैच किए हैं। नीचे दिए टेबल पर खास ध्यान दें-

किताब के नाम  लेखक का नाम 
Cell Biology, Genetics, Molecular Biology, Evolution and Ecology Verma P S and Agarwal V K
Epithelial Cell Culture Protocols (Methods in Molecular Biology Clare Wise
Mycobacteria Protocols (Methods in Molecular Biology) Tanya Parish and Amanda Claire Brown
Developmental Genetics Gurbachan S Miglani
Recombinant DNA Technology Keya Chaudhuri
Human Molecular Genetics Tom Strachan and Andrew Read
Advances in Human Genetics Harry Harris and Kurt Hirschhorn
Fundamentals of Cytogenetics and Genetics Mahabal Ram
Integrative Observations and Assessments (Ecological Research Monographs) Shin-ichi Nakano and Tetsukazu Yahara

करियर स्कोप

बीएससी जेनेटिक्स के बाद अगर आप अपनी ग्रेजुएशन डिग्री के साथ नौकरी करना चाहते हैं तो हम आपको जॉब प्रोफाइल्स की लिस्ट नीचे मेंशन करेंगे। लेकिन अगर आप अपनी पढ़ाई को आगे बढ़ाना चाहते हैं और अपनी फील्ड की बेहतर नॉलेज लेना चाहते हैं तो आप जेनेटिक्स में ही मास्टर्स करने का ऑप्शन चुन सकते हैं। एमएससी जेनेटिक्स आपके लिए एक बेहतर विकल्प साबित होगा। अगर बेहतर डिग्री के लिए आप एमफिल इन जेनेटिक्स भी कर सकते हैं। पीएचडी इन जेनेटिक्स भी आपके लिए मौजूद है जिसके बाद आप अपनी फील्ड के महारथी कहलाएंगे। यह पूरी तरह स्टूडेंट पर निर्भर करता है की वह अपनी ग्रेजुएशन के बाद किस पड़ाव को चुनना चाहता है और आगे बढ़ना चाहता है। बीएससी जेनेटिक्स के बाद मिलने वाली नौकरीओं के लिए हमारा यह ब्लॉग पढ़ना जारी रखिए। कोर्स जिन्हे आप अपनी ग्रेजुएशन के बाद चुन सकते हैं नीचे दिए गए हैं-

  • MSc in Genetics 
  • MSc in Human Genetics 
  • MSc (Hons.) Genetics
  • M.Phil in Genetics 
  • PhD in Genetics 
  • PhD in Human Genetics 

जॉब प्रोफाइल एंड सैलरी

 बीएससी जेनेटिक्स में अपनी डिग्री करने के बाद आपको आपके सामने आपकी फील्ड में काफी ऑप्शंस नज़र आएंगे। हालांकि आपको मिलने वाली नौकरीओ के ऑप्शंस आपकी स्किल्स और टैलेंट पर निर्भर करती है। किन क्षेत्रों में आपको नौकरी मिलने की संभावनाएं है यह आप नीचे दिए टेबल के माध्यम से जान सकते हैं :-

एजुकेशनल इंस्टिट्यूशन  जेनेटिक्स टेस्टिंग लैब्स 
कंस्ल्टेंसीज़  हॉस्पिटल्स 
DNA फॉरेंसिक डिपार्टमेंट्स  एनिमल्स साइंसेज 
फार्मास्युटिकल इंडस्ट्री  एग्रीकल्चरल फर्मस 
R&D इंस्टिट्यूट्स  फ़ूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्रीज़ 
हॉर्टिकल्चरल सेंटर्स  ब्यूटी केयर सेंटर्स 

बीएससी जेनेटिक्स के बाद जिन जॉब प्रोफाइल्स के लिए आप अप्लाई कर सकते हैं उनकी एक लिस्ट हमने नीचे टेबल में दी है। ज़्यादा तर यह जॉब प्रोफाइल्स बायोलॉजी, बायोमेडिकल, मटेरियल साइंस, लाइफ साइंसेज आदि सेक्टर्स से जुड़ी होंगी। आइए डालते हैं एक नज़र :-

जॉब प्रोफाइल  एवरेज सैलरी (INR/सालाना)
फॉरेंसिक साइंटिस्ट  6-8 लाख 
जेनेटिक्स कॉउंसलर  3-5 लाख
जेनेटिसिस्ट  4-6 लाख
बायो-टेक्नीशियन  4-7 लाख
असिस्टेंट प्रोफेसर  5-7 लाख

FAQs

क्या मैं जेनेटिक्स में बीएससी कर सकता हूं?

हाँ, बीएससी जेनेटिक्स एक उत्कृष्ट कार्यक्रम है । इस क्षेत्र में नई प्रगति और दृष्टिकोण के कारण, इस पाठ्यक्रम की छात्रों के बीच उच्च मांग है। इसके अलावा, इस पाठ्यक्रम को सफलतापूर्वक पूरा करने के बाद, आप आकर्षक कार्य संभावनाओं और भविष्य के कैरियर के अवसरों के लिए पात्र होंगे।

क्या बीएससी जेनेटिक्स के बाद नौकरी मिल सकती है?

हां, जेनेटिक्स के क्षेत्र में अवसरों की अच्छी गुंजाइश है । आप जेनेटिक काउंसलर, फोरेंसिक साइंस रिसर्च एसोसिएट्स / साइंटिस्ट, एग्रीकल्चर एंड फूड में जेनेटिक साइंटिस्ट, साइंटिफिक रिसर्चर, मेडिकल साइंटिस्ट, साइंटिफिक राइटर के रूप में काम करेंगे।

बीएससी करने से क्या फायदा होता है?

BSc में डिग्री करने का सबसे ज्यादा लाभ तो यह होता है कि इन ग्रेजुएट्स के लिए रिसर्च और डेवलपमेंट के क्षेत्र में रोज़गार के काफी अवसर मौजूद हैं। भारत में आर एंड डी सेक्टर (रिसर्च और डेवलपमेंट क्षेत्र) को मजबूत बनाने के लिए ही वास्तव में भारत सरकार BSc ग्रेजुएट्स को इतनी आकर्षक स्कॉलरशिप्स ऑफर करती है।

हम आशा करते हैं कि अब आप जान गए होंगे कि बीएससी जेनेटिक्स कैसे करें? अगर आप बीएससी जेनेटिक्स कोर्स करना चाहते हैं और साथ ही एक उचित मार्गदर्शन चाहते हैं तो आज ही 1800572000 पर कॉल करके हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट्स के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए। 

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. Bachelors of Science
Talk to an expert