Ambedkar Shayari in Hindi : पढ़िए भीमराव अम्बेडकर के जीवन पर आधारित शायरी, जो आपको संघर्षों की गौरवगाथा सुनाएंगी

1 minute read
Ambedkar Shayari in Hindi

समाज में समय-समय पर कई ऐसे महापुरुषों ने जन्म लिया, जिन्होंने समाजिक समरसता के लिए समाज का पुनरुत्थान किया। समाज को संगठित करना हो या सभी को एक समान अधिकार देना हो, “डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर” ने इसके लिए जीवनभर संघर्ष किया। भारत जैसे महान राष्ट्र को एक संपूर्ण संविधान देने वाले “डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर” जी की संघर्ष गाथा को, शायरी के माध्यम से भी जन-जन तक पहुंचाने का काम कई शायरों ने किया है। Ambedkar Shayari in Hindi विद्यार्थियों को प्रेरणा से भर देंगी, जिसके बाद उनके जीवन में एक सकारात्मक परिवर्तन देखने को मिलेगा। डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर जी के जीवन पर लिखित शायरी को पढ़ने के लिए इस ब्लॉग को अंत तक अवश्य पढ़ें।

कौन हैं भीमराव अम्बेडकर?

Ambedkar Shayari in Hindi पढ़ने सेे पहले आपको भीमराव अम्बेडकर जी का जीवन परिचय पढ़ लेना चाहिए। भारत की स्वतंत्रता के लिए अनेकों स्वतंत्रता सेनानियों ने अपना सर्वस्व न्योछावर किया, जिनमें से एक नाम भीमराव अम्बेडकर जी का भी आता है। संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर जी की संघर्ष गाथा भारत के युवाओं को प्रेरित करती रहेगी।

14 अप्रैल 1891 को भीमराव अम्बेडकर जी का जन्म मध्य प्रदेश के इंदौर शहर के महू में हुआ था। डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर एक दलित समुदाय से आते थे, जिन्होंने कर्मों से अपनी पहचान को सिद्ध किया।

डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर के बचपन का नाम “भिवा, भीम, भीमराव, बाबासाहेब अंबेडकर” आदि था। डॉ भीमराव अंबेडकर ने सन् 1907 में मैट्रिकुलेशन पास करने के बाद एली फिंस्टम कॉलेज से सन् 1912 में ग्रेजुएशन की शिक्षा प्राप्त की। जिसके बाद वर्ष 1915 में कोलंबिया विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में एमए की शिक्षा ली। 

भीमराव अम्बेडकर जी ने भारत के हर वर्ग को समान दृष्टी से देखा और समान अधिकार देने के लिए भारत के संविधान का निर्माण किया। 65 वर्ष की आयु में समाज सुधारक भीमराव अम्बेडकर जी का निधन 6 दिसम्बर 1956 को देश की राजधानी दिल्ली में हुआ।

टॉप 10 Ambedkar Shayari in Hindi

Ambedkar Shayari in Hindi के माध्यम से आप भीमराव अम्बेडकर जी के जीवन संघर्षों पर आधारित शायरी को पढ़ पाएंगे, जो कि कुछ इस प्रकार हैं:

“कर्म ही हैं जिनसे मानव जग में ख्याति पाते हैं
कर्मयोगी ही इस जग में सदा ही पूजे जाते हैं…”

मयंक विश्नोई 

“छुआछूत से परे जाकर आओ समाज को सभ्य बनाएं
एक समान है मानव सारे, आओ मानवता को अपनाएं…”

-मयंक विश्नोई

“संघर्षों में साहस की शरण में जाना
सुनो! निज अधिकारों की रक्षा करना और वीर कहलाना…”

-मयंक विश्नोई

“शिक्षित व्यक्ति ही समाज को सद्मार्ग दिखाता है
शिक्षित समाज ही मानव को जीवन जीना सिखाता है…”

-मयंक विश्नोई

“जीवन भर जिन्होंने अपने अधिकारों के लिए संघर्ष किया
उन्हीं भीमा के दिखाए मार्ग पर चलकर भारत विश्वगुरु बनेगा…”

-मयंक विश्नोई

“ज़िंदगी को खुलकर जीने वाले ही
ज़िंदगी के उलझे रहस्यों को सुलझाते हैं…”

-मयंक विश्नोई

“समान अधिकारों के संरक्षक भीम हैं
दलित समुदाय के मसीहा भीम हैं…”

-मयंक विश्नोई

“जिए जो गरीबों की प्रखर आवाज़ बनकर
भीमराव अम्बेडकर का वही सच्चा सिपाही है…”

-मयंक विश्नोई

“संविधान के निर्माता हैं, लोकतंत्र की मर्यादा हैं
राजनीति से परे वो साहस की शिक्षा की परिभाषा हैं…”

-मयंक विश्नोई

“कभी भी अंत से घबराना नहीं, आरंभ को गले लगाना
समान अधिकारों पर अड़े रहना, मिलकर आवाज़ उठाना…”

-मयंक विश्नोई

जय भीम शायरी

Ambedkar Shayari in Hindi के माध्यम से आप भीमराव अम्बेडकर जी के जीवन पर आधारित जय भीम शायरी को पढ़ पाएंगे, जो निम्नवत हैं:

“जय भीम नारा है समान अधिकारों का
जय भीम नारा है स्वतंत्र विचारों का…”

-मयंक विश्नोई

“ज़िंदगी को तस्सल्ली से अपनाया बहुत
इंसा ने इंसा को यहाँ झुठलाया बहुत…”

-मयंक विश्नोई

“हक़ की बात करना कहाँ गलत हुआ
हक़ का जहाँ क़त्ल हुआ, वहां गलत हुआ…”

-मयंक विश्नोई

“आज़ादी से रहना सिखाया हमारे भीम ने
ज़िंदगी भर मज़लूमो के लिए आवाज़ उठाई हमारे भीम ने…”

-मयंक विश्नोई

“आज़ादी का मतलब दूसरे का हक़ मारना कहाँ है
आज़ादी का मतलब ज़माने पर ज़ुल्म करना कहाँ है…”

-मयंक विश्नोई

विद्यार्थियों को प्रेरित करने वाली शायरी

Ambedkar Shayari in Hindi के माध्यम से आप भीमराव अम्बेडकर जी के जीवन पर आधारित ऐसी शायरी को पढ़ पाएंगे, जो विद्यार्थियों को प्रेरित करेंगी। ऐसी कुछ शायरी निम्नवत हैं:

“पढ़ लिखकर समाज में ज्ञान का प्रकाश फैलाएंगे
हम डॉक्टर अम्बेडकर के विचारों को अपनाएंगे…”

-मयंक विश्नोई

“तालीम चाहिए हर इंसा को ज़िंदगी को जीने की
तालीम चाहिए हर इंसा को जग के अश्कों को पीने की…”

-मयंक विश्नोई

“शिक्षा का अधिकार हर व्यक्ति का बराबर का है
विभाजन के आधार पर शिक्षित समाज की कल्पना नहीं की जाती…”

-मयंक विश्नोई

“समाज में परिवर्तन की अलख जगाता है
एक शिक्षित व्यक्ति ही मानवता को बचाता है…”

-मयंक विश्नोई

“एक शिक्षित व्यक्ति जग में जलती वह ज्वाला है
जिसका हर दफा अंधकार से पड़ता पाला है…”

-मयंक विश्नोई

आशा है कि Ambedkar Shayari in Hindi के माध्यम से आप डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर जी के जीवन पर आधारित शायरी पढ़ पाएं होंगे, जो कि आपको सदा प्रेरित करती रहेंगी। साथ ही यह ब्लॉग आपको इंट्रस्टिंग और इंफॉर्मेटिव भी लगा होगा, इसी प्रकार की अन्य कविताएं पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट Leverage Edu के साथ बने रहें।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*