ICICI बैंक ने यूके में लांच की भारतीय छात्रों के लिए स्पेशल अकाउंट सुविधा

1 minute read
26 views
ICICI ने यूके में लांच किया भारतीय छात्रों के लिए स्पेशल अकाउंट
Source – Glassdoor

3 अक्टूबर 2022 को वडोदरा मुख्यालय वाले ICICI बैंक की पूर्ण स्वामित्व (subsidiary) वाली सहायक कंपनी ICICI बैंक यूके ने ब्रिटेन में उच्च शिक्षा के लिए जाने वाले भारतीय छात्रों के लिए डिज़ाइन किया गया एक नया खाता शुरू करने की घोषणा की है।

HomeVantage करंट अकाउंट (HVCA), यह एक वीज़ा डेबिट कार्ड के साथ आता है, यह दुनिया में कहीं भी उपयोग के लिए मान्य है। इसे छात्रों के भारत छोड़ने से पहले डिजिटल रूप से एक्टिवेट किया जा सकता है।

भारत में एक सेविंग अकाउंट के बराबर, अकाउंट होल्डर एक बार एक्टिव होने के बाद इंटरनेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग को एक्टिवेट कर सकता है।

छात्र इस फिजिकल डेबिट कार्ड को भारतीय या यूके के पते पर डिलीवर करने का विकल्प चुन सकते हैं।

ICICI बैंक यूके PLC के रिटेल बैंकिंग हेड प्रताप सिंह ने कहा कि हम आगे की शिक्षा के लिए यूके आने वाले छात्रों की यूनिक बैंकिंग आवश्यकताओं को समझते हैं और उनके लिए बैंकिंग को आसान बनाने का प्रयास कर रहे हैं।

प्रताप सिंह ने आगे कहा कि डिजिटल खाता खोलने की सुविधा से भारतीय छात्रों को यूके बैंक खाते में आसानी से ऑनबोर्ड करने में मदद मिलती है, चाहे छात्र अभी भी भारत में ही क्यों न हों। HomeVantage करंट अकाउंट और वीज़ा डेबिट कार्ड छात्रों को यूके में अपनी दिन-प्रतिदिन की बैंकिंग आवश्यकताओं की देखभाल करने में मदद करता है।

वहीं ICICI बैंक यूके का दावा है कि यह पर्सनल, बिज़नेस और कॉर्पोरेट बैंकिंग सर्विसेज की एक सीरीज के माध्यम से एक दशक से अधिक समय से भारतीय इमिग्रेंट्स की सेवा करने के उसके प्रयासों का हिस्सा है।

प्रताप सिंह का यह भी कहना है कि नया खाता उसके मोबाइल ऐप या ऑनलाइन आवेदन पत्र के माध्यम से स्थापित किया जा सकता है। जॉइंट खातों के लिए छात्र ICICI बैंक की किसी भी शाखा में जा सकते हैं।

अगस्त 2022 में जारी यूके के गृह कार्यालय के नए और लेटेस्ट आंकड़ों के अनुसार, ब्रिटेन के इंस्टीट्यूशंस में अध्ययन के लिए वीज़ा जारी किए जाने वाले सबसे बड़े राष्ट्रीयता के रूप में भारतीयों ने चीन को पीछे छोड़ दिया है।

जून 2022 के अंत में लगभग 118,000 भारतीय छात्रों को यूके का छात्र वीज़ा प्राप्त हुआ है। इस आंकड़े में जून 2021 की तुलना में 89 प्रतिशत की बढ़ोतरी देखी गई है।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*