भारत के बेस्ट फार्मेसी कॉलेज

1 minute read
1.0K views
10 shares
Leverage Edu Default Blog Cover

मेडिकल की कई ब्रांचेज के बीच मेडिसिन और केमिकल साइंस को जोड़ने में फार्मेसी जरूरी भूमिका निभाता है। चूंकि भारत दुनिया में जेनेरिक मेडिसिन के सबसे बड़ा सेलर है यानी इसमें करीब 30 प्रतिशत हिस्सा भारत का है, भारत फार्मा सेक्टर में सस्ती मेडिसिन के लिए कई डॉक्टरों और प्रोफेशनल मेन्युफेक्चरर के साथ काम कर रहा है जिन्होंने इस इंडस्ट्री को एक अलग लेवल पर पंहुचाया है। इस जरूरी इंडस्ट्री को आगे बढ़ाने के लिए भारत में कई बेहतरीन कॉलेज हैं जो फार्मेसी में कैरियर बनाने में इंटरेस्टेड स्टूडेंट्स को प्रेक्टिकल एक्सपोज़र के साथ-साथ बेस्ट एकेडेमिक ट्रेनिंग भी देते हैं। तो आइए भारत के बेस्ट फार्मेसी कॉलेज के बारे में इस ब्लॉग द्वारा पता लगाते हैं।

डी फार्मा क्या है ?

D Pharma को डिप्लोमा इन फार्मेसी भी कहा जाता है। यह फार्मेसी विज्ञान का बहुत ज्यादा प्रचलित कोर्स है। D Pharma दवाओं की मैन्यूफैक्चरिंग, मार्केटिंग, दवाओं की क्वालिटी, स्टोरेज और डिस्ट्रीब्यूशन का विज्ञान है। आजकल हेल्थ केयर मार्किट में फार्मेसी एक्सपर्ट की काफी डिमांड है। फार्मेसी का यह कोर्स 2 साल का होता है। इस कोर्स के लिए आवश्यक योग्यता 12वीं में PCM या PCB बिषय पास होना अनिवार्य है। डी फार्मेसी कोर्स के बाद आप फार्मासिस्ट के तौर पर आसांनी से जॉब पा सकते हैं।

ये भी पढ़ें : भारत में लाइब्रेरी साइंस कॉलेज

जामिया हमदर्द

भारत के बेस्ट फार्मेसी कॉलेज की बात करें तो दिल्ली का, जामिया हमदर्द भारत के टॉपफार्मेसी कॉलेजों में से एक है। यहाँ न्यूरोबिहेवियरल फार्माकोलॉजी लैब (neurobehavioral pharmacology lab), नैनोमेडिसिन लैब (nanomedicine lab), माइक्रोबियल और फार्मास्यूटिकल टेक्नोलॉजी लैब (microbiology & pharmaceutical technology lab) और कई रिसर्च लैबोरेट्रीज जैसी एक्सीलेंट फैसिलिटीज हैं। हर एक डिपार्टमेंट रिसर्च में जुटा है जिनमें न्यूरो-फ़ार्माकोलॉजी, प्रोड्रग्स, मेटाबोलॉमिक्स, कंप्यूटर-एडेड ड्रग डिज़ाइन, इको-फ्रेंडली प्रोसेस और सिंथेसिस ऑफ प्रोड्रग्स और म्यूचुअल प्रोड्रग्स, कार्डियोवैस्कुलर फार्माकोलॉजी जैसे विषयों में रिसर्च चल रहे हैं । जामिया हमदर्द, छात्रों को टीसीएस, बिरलासॉफ्ट, एचसीएल जैसी कंपनियों में इंटर्नशिप और प्लेसमेंट का मौका प्रोवाइड करता है।

यूनिवर्सिटी इंस्टिट्यूट ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंसेस (UIPS) 

चंडीगढ़ में स्थित यूआईपीएस(UIPS) पंजाब यूनिवर्सिटी (PU) के साथ एफिलिएटेड कॉलेज है। यह अपने टॉप क्लास ट्रेनिंग और प्रोफेशनल फैकल्टी के चलते भारत के बेस्ट फार्मेसी कॉलेज में जगह बनाए हुए है। यूनिवर्सिटी अपने छात्रों को बैचलर ऑफ फार्मा, मास्टर्स इन फार्मेसी और पीएचडी. इन फार्मेसी में डिग्री ऑफर करती है। यूआईपीएस(UIPS) छात्रों को एक्सेंचर, रैनबैक्सी, डॉ रेड्डी, सैनफार्मा जैसी कंपनियों में प्लेसमेंट प्रोवाइड करता है।

इंस्टिट्यूट ऑफ केमिकल टेक्नोलॉजी, मुंबई 

मुंबई में स्थित इंस्टिट्यूट ऑफ केमिकल टेक्नोलॉजी भारत के बेस्ट फार्मेसी कॉलेज की हमारी लिस्ट में एक और डिजर्विंग इंस्टीट्यूशन है। भारत के कुछ टॉप इंडस्ट्रियलिस्ट और CEO यहाँ के एलुमनाई हैं, जिन्होंने यहाँ से एक्सीलेंट ट्रेनिंग ली है। यह इंस्टिट्यूट रिसर्च के लिए कई फैसिलिटीज और टूल्स प्रोवाइड करता है। आईसीटी(ICT) ड्रग फॉर्मुलेशन, इफेक्ट, डोसेज  और रेगुलेटरी रिक्वायरमेंट पर फोकस्ड रहती है। यह इंस्टीट्यूट महाराष्ट्र में अपनी तरह का पहला है। यह फार्माकोग्नॉसी, फार्मास्यूटिकल एनालिसिस, मेडिकल केमिस्ट्री आदि विषयों पर विस्तृत ट्रेनिंग और स्टडीज प्रोवाइड करता है। ICT सिप्ला, जॉनसन एंड जॉनसन, ITC लिमिटेड जैसी कंपनियों में इंटर्नशिप और प्लेसमेंट देता है।

ये भी पढ़ें : BHMS कोर्स डिटेल्स

नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ फार्मास्यूटिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, मोहाली

वर्ष 1998 में बना एनआईपीईआर(NIPER), मोहाली भारत के बेस्ट फार्मेसी कॉलेज में से एक है और भारत सरकार ने इसे इंस्टिट्यूट ऑफ नेशनल इम्पोर्टेंस माना है। यह इंस्टिट्यूट M.S. Pharm, M.Pharm, M.Tech Pharma, MBA Pharma, और PH.D. में डिग्री प्रोवाइड करता हैI यह इंस्टिट्यूट बायोकॉन, एसट्राजेनेका, सिनजीन, एब्बोट जैसी कंपनियों में प्लेसमेंट दिलवाता है। एकेडमिक स्टडीज फ़ार्माकोइनफ़ॉर्मेटिक्स, ट्रेडिशनल मेडिसिन, फार्मास्यूटिकल एनालिसिस, फार्मास्यूटिकल मैनेजमेंट, फार्माकोलॉजी और टॉक्सिकोलॉजी, रेगुलेटरी टॉक्सिकोलॉजी इत्यादि जैसे कई स्ट्रीम्स को कवर करता है।

नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ फार्मास्यूटिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, हैदराबाद

एनआईपीईआर(NIPER), हैदराबाद भारत के बेस्ट फार्मेसी कॉलेज की लिस्ट में 5वें नंबर पर है और इसे एक्सटेंसिव एडवांस्ड रिसर्च के लिए जाना जाता है। यह पब्लिक इंस्टिटूशन M.Tech., MBA,  M.S., and और Ph.D. में डिग्री प्रोवाइड करता है। एनआईपीईआर हैदराबाद की टॉप फैकल्टी मेंबर्स ने कई अवार्ड भी जीते हैं। इंस्टीट्यूट के कई इंडस्ट्रीज और एक्सपर्ट्स  के साथ संबंध हैं, उन्हें अक्सर खास लेक्चर्स और सेमिनार के लिए बुलाया जाता है। कोर्सेज में फार्माकोलॉजी और टॉक्सिकोलॉजी, मेडिसिनल केमिस्ट्री, फार्मास्यूटिकल एनालिसिस आदि जैसे सब्जेक्ट शामिल हैं।

बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस, पिलानी (BITS)

1950 में स्थापित भारत के बेस्ट फार्मेसी कॉलेज में शुमार बिट्स(BITS) पिलानी फार्मेसी के लिए सबसे पुराने इंस्टीट्यूटों में से एक है। यह कई कनेक्शन और पार्टनरशिप्स के साथ फार्मास्यूटिकल्स में स्टडी का सबसे प्रमुख कॉलेज है। बिट्स(BITS) फार्मेसी में ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट और डॉक्टरेट प्रोग्राम करवाता है जो टॉप प्रोफेशनल्स और प्रोफेसर्स की एक टीम द्वारा प्रोवाइड किया जाता है। सरकारी फंडिंग एजेंसियों जैसे एआईसीटीई(AICTE), सीएसआईआर(CSIR), डीएसटी(DST), एमएचआरडी(MHRD), और यूजीसी(UGC) द्वारा फंडेड रिसर्च में यह इंस्टिट्यूट सबसे आगे रहा है। बिट्स(BITS) पिलानी की प्लेसमेंट दर 2019 में ओरेकल, सिस्को, आदि जैसी कंपनियों में 100% थी।

मणिपाल कॉलेज ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंसेज

मणिपाल कॉलेज भारत के बेस्ट फार्मेसी कॉलेज की लिस्ट में एक जाना-माना नाम है, जो हार्वर्ड मेडिकल स्कूल, क्वींसलैंड यूनिवर्सिटी और ग्रिफ़िथ यूनिवर्सिटी जैसे नामी विदेशी यूनिवर्सिटीज के साथ कोलेबोरेट करता है। यह छात्रों के लिए एडवांस फैसिलिटीज औरलैबोरेट्रीज के साथ अपने एक्सटेंसिव रिसर्च के लिए फेमस है। मणिपाल कॉलेज छात्रों को ग्लोब्लाइज़ पर्सेप्टिव के लिए राष्ट्रीय और इंटरनेशनल वर्कशॉप और सेमिनार भी करवाता है। एमसीओपीएस(MCOPS) डिप्लोमा इन फार्मेसी, बैचलर ऑफ फार्मेसी और डॉक्टर ऑफ फार्मेसी की डिग्री प्रोवाइड करता है। 99% की प्लेसमेंट दर के साथ सिप्ला, औरोबिंदो फार्मा, जीएसके (GSK) फार्मा, पारेक्सल आदि कंपनियों में इंटर्नशिप और प्लेसमेंट दिए जाते हैं। 

डी फार्मा कोर्स के लिए विकल्प

डिप्लोमा इन फार्मेसी के लिए विकल्प निम्नलिखित हैं :-

  • सरकारी और प्राइवेट क्षेत्र में फार्मासिस्ट
  • ड्रग इंस्पेक्टर
  • ड्रग मैन्युफैक्चरिंग कंपनी में मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव
  • मेडिसिन मार्केटिंग
  • मेडिकल स्टोर
  • ड्रग इंस्पेक्टर
  • मेडिकल एजेंसी
  • रिसर्च सेंटर
  • साइंटिफिक ऑफिसर
  • प्रोडक्शन एग्जीक्यूटिव

ये भी पढ़ें : रेलवे परीक्षा 2021- पात्रता, परीक्षा पैटर्न, अनुसूचीऔर चयन प्रक्रिया

करियर स्कोप

इस समय में डी फार्मा स्टूडेंट्स की काफी ज्यादा डिमांड है। इसमे एक या दो नही बहुत से कैरियर के विकल्प मौजूद हैं। आज मेडिसिन के फील्ड में हर दिन नई से नई से नई दवाओं की खोज हो रही है। इसी वजह से पिछले कुछ सालों से फार्मेसी एक्सपर्ट मेडिसिन रिसर्च और मेडिसिन बिजनेस में काफी अहम भूमिका निभा रहे हैं। सबसे अच्छी बात तो ये है कि डिप्लोमा इन फार्मेसी के बाद ही आप आसानी से रोजगार मिल जाते हैं।

FAQs

यूपी में बी फार्मा के गवर्नमेंट कॉलेज कितने हैं?

उत्तर प्रदेश में कई व्यावसायिक डिग्री, डिप्लोमा और विशेष पाठ्यक्रम की एक विस्तृत श्रृंखला की पेशकश कॉलेजों की है। b. pharma-बैचलर ऑफ़ फार्मेसी प्रोफेशनल कोर्स / डिग्री की पेशकश उत्तर प्रदेश में 176 से अधिक कॉलेजों में सटीक होना लेकिन यदि आप विशिष्ट कॉलेजों की खोज करना चाहते हैं, तो हम आपकी सहायता के लिए हैं।

फार्मेसी कोर्स क्या होता है?

ऐसे में फार्मेसी कोर्स कर करियर बनना एक अच्छा विकल्प हो सकता है। फार्मेसी के इस क्षेत्र में नई-नई दवाइयों की खोज और उसके विकास का कार्य किया जाता हैं। इसके अलावा फार्मेसी के इस क्षेत्र में दवाओं के बनाने से लेकर, पैकेजिंग,मार्केटिंग ,वितरण और मैनेजमेंट तक के सभी काम किए जाते हैं।

डी फार्मा की फीस कितनी है?

डी फार्मा कोर्स की फीस अलग- अलग संस्थानो की अलग- अलग होती है। फिलहाल इस कोर्स की गवर्नमेंट द्वारा निर्धारित फीस 45 हजार के आसपास है। प्राइवेट कॉलेज में इस कोर्स की फीस 70 हजार से 1 लाख तक होती है।

फार्मेसी में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

अगर सीधे सीधे बात की जाए कि डी फार्मा कोर्स को करने के दौरान आपको 12 विषय पढ़ने होते हैं।

डी फार्मा की 2 साल की फीस कितनी होती है?

डी फार्मा 2 साल की अवधि का कोर्स होता है, किसी भी राज्य से यदि आप एक सरकारी कॉलेज से डी फार्मा करते हैं तो आपको on average 15,000 से 30,000 रुपए तक की फीस कॉलेज को देनी होती है।

उम्मीद है आपको हमारा भारत के बेस्ट फार्मेसी कॉलेज पर ब्लॉग पसंद आया होगा। यदि आप विदेश में पढ़ना चाहते हैं तो हमारे Leverage Edu के एक्सपर्ट्स से 1800 572 000 पर कांटेक्ट कर आज ही 30 मिनट का फ्री सेशन बुक कीजिए।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert