फ्लिपकार्ट से लेकर भारत की सबसे बड़ी फिनटेक चलाने तक, समीर निगम की सफलता की यात्रा

1 minute read
139 views

आज की दुनिया में सुविधा और आराम पर जोर दिया जाता है। मोबाइल वॉलेट और अन्य डिजिटल भुगतान प्रणालियों की शुरुआत होने से, नकद रुपए ले जाना अव्यावहारिक हो गया है। किराने का सामान, बिजली बिल, फोन रिचार्ज और अन्य लेनदेन, सभी मोबाइल एप्लिकेशन का उपयोग करके किए जाते हैं। PhonePe एक भुगतान ऐप है जिसने लाखों भारतीयों के जीवन को आसान बना दिया है। PhonePe का उपयोग तत्काल पैसे के लेनदेन के लिए किया जा सकता है। लेकिन क्या कभी आपने इस शानदार ऐप PhonePe के मास्टरमाइंड के बारे में सोचा? इस ब्लॉग में हम PhonePe के संस्थापक समीर निगम के बारे में बात करेंगे, जिन्होंने अपने शानदार विचार से बाजार को बदल दिया।

जन्म 1978
उम्र 44 (2022)
राष्ट्रीयता  इंडियन
शिक्षा यूनिवर्सिटी ऑफ मुंबई,
यूनिवर्सिटी ऑफ एरिजोना,
द व्हार्टन स्कूल
प्रोफेशन एंटरप्रेन्योर
पोजीशन PhonePe का फाउंडर और सीईओ 

कौन हैं समीर निगम?

समीर निगम
Source: Economics Times

समीर निगम एक भारतीय व्यवसायी हैं, जिन्होंने 2015 में एक UPI-आधारित ऑनलाइन भुगतान प्रणाली PhonePe की स्थापना की और वर्तमान में इसके सीईओ के रूप में कार्यरत हैं। उन्होंने फ्लिपकार्ट में इंजीनियरिंग के वरिष्ठ उपाध्यक्ष के रूप में भी काम किया। उन्होंने 2009 में अपनी पहली कंपनी, Mime360 की स्थापना की, जो सामग्री मालिकों को सामग्री प्रदाताओं से जोड़ती है। इकोनॉमिक टाइम्स ने उन्हें चालीस साल से कम उम्र के शीर्ष 40 भारतीय व्यापार अधिकारियों में से एक का नाम दिया। समीर निगम वर्तमान में कर्नाटक के बैंगलोर शहर में रहते हैं।

समीर निगम की शिक्षा

समीर ने अपनी स्कूली शिक्षा डीपीएस, नोएडा से प्राप्त की। उन्होंने मुंबई विश्वविद्यालय से कंप्यूटर इंजीनियरिंग में डिग्री के साथ ग्रेजुएशन किया। इसके बाद उन्होंने एरिज़ोना विश्वविद्यालय (1991-2001) से कंप्यूटर इंजीनियरिंग में मास्टर ऑफ साइंस की पढ़ाई की। बाद में, उन्होंने पेंसिल्वेनिया विश्वविद्यालय के व्हार्टन स्कूल (2007-2009) से उद्यमिता में मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन की उपाधि प्राप्त की।

व्यावसायिक यात्रा

मई 2001 से जून 2007 तक, समीर Shopzilla में खोज उत्पाद विकास निदेशक थे। Mime360, एक ऑनलाइन सोशल मीडिया वितरण मंच, उनकी अपनी कंपनी थी, जिसे उन्होंने 2009 में स्थापित किया था और अंततः फ्लिपकार्ट द्वारा खरीदा गया था।

अक्टूबर 2011 से अगस्त 2015 तक उन्होंने फ्लिपकार्ट के लिए काम किया। उन्होंने मार्केटिंग और इंजीनियरिंग सहित कई क्षेत्रों में ई-कॉमर्स दिग्गज के उपाध्यक्ष और वरिष्ठ उपाध्यक्ष के रूप में कार्य किया। 2015 में, उन्होंने अपना डिजिटल वॉलेट प्लेटफॉर्म PhonePe भी स्थापित किया, जहां वे वर्तमान में CEO के रूप में कार्य करते हैं।

समीर निगम एक सफल उद्यमी है और उत्पाद मार्केटिंग, ई-कॉमर्स, रणनीतिक गठबंधन, ऑनलाइन मार्केटिंग, डिजिटल रणनीति, उपयोगकर्ता अनुभव, वेब एप्लिकेशन, स्टार्टअप, मोबाइल मार्केटिंग, डिजिटल मीडिया, विशेष आवश्यकता, कंपनी विकास, वेब विकास, वेब में विशेषज्ञता प्रदर्शित करता है। उन्हें टीम प्रबंधन, डिजिटल मार्केटिंग, गैर-चिकित्सा होमकेयर, लीड जनरेशन, एसईओ, रणनीति, मोबाइल ऐप, मोबाइल विज्ञापन और ऑनलाइन विज्ञापन में व्यापक अनुभव है।

माइम360 के संस्थापक

साल 2009 में, समीर निगम ने अपना पहला उद्यम माइम360 लांच किया था। जोकि ऑनलाइन मीडिया वितरण चैनल थी। जिसका मुख्यालय मुंबई भारत में है। कंपनी सामग्री के मालिकों को सारेगामा इंडियाटाइम्स और अन्य सहित सामग्री प्रकाशकों के साथ जोड़ने के लिए एक्सचेंज प्लेटफार्म प्रदान करती है।

माइम360 की सुरक्षा एपीआई फीड्स द्वारा सहायता प्राप्त है जो पायरेसी को रोकने में मदद करती है और बड़ी संख्या में प्रकाशकों को विश्व स्तर पर लाइसेंस प्राप्त सामग्री को बेचने की अनुमति देती है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि माइम सामग्री प्रबंधन, भंडारण और स्थानीय डाटा सेंटर बैंडविथ सहित भागीदारों के लिए विभिन्न बुनियादी ढांचे की लागत को समाप्त करता है और सामग्री मालिकों को क्षेत्रीय मूल्य निर्धारण करने के लिए अधिकृत करता है।

फ्लिपकार्ट ने बाद में माइम360 का टेकओवर  किया। अपने कार्यबल का विस्तार करने के लिए, ई-कॉमर्स की दिग्गज कंपनी छोटे व्यवसायों को खरीदने की कोशिश कर रही है। अधिग्रहण के बाद, कई माइम कार्यकर्ता फ्लिपकार्ट में शामिल हो गए, बाद में एक डिजिटल संगीत वितरण सेवा शुरू करने के इरादे से।

PhonePe के संस्थापक

दिसंबर 2015 में, समीर ने एक यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस  (UPI) आधारित व्यवसाय PhonePe की स्थापना की। वह बैंगलोर स्थित कंपनी PhonePe के संस्थापक और सीईओ हैं। वह कंपनी के निदेशक मंडल में कार्यकरता हैं और मार्केटिंग और अन्य रणनीतिक सलाह प्रदानकरता हैं।

समीर ने अपने दो दोस्तों राहुल चारी और बुर्जिन इंजीनियर की मदद से यूपीआई पर आधारित एक ऑनलाइन भुगतान सॉफ्टवेयर बनाने की अवधारणा पेश की। अगस्त 2016 में, PhonePe एप्लिकेशन ऑनलाइन हो गया। यह वर्तमान में उपयोगकर्ताओं के लिए 11 से अधिक भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है।

पुरस्कारों और सम्मानों की सूची

समीर निगम ने बहुत ही कम समय में बहुत ही ज्यादा उपलब्धियां हासिल की है। व्हार्टन बिजनेस स्कूल, पेंसिलवेनिया विश्वविद्यालय ने उन्हें 2008 में  वेंचर अवार्ड से सम्मानित किया है। उन्होंने दो कार्यक्रमों में भाग लिया है। उन्होंने 5 नवंबर 2019 को बैंगलोर, कर्नाटका, भारत एशिया में आयोजित 16वें NASSCOM उत्पाद कॉन्क्लेव 2019 में भाग लिया। उन्होंने 19 मार्च, 2019 को मध्य क्षेत्र, सिंगापुर, एशिया में आयोजित एक स्पीकर के रूप में मनी 20/20 में भी भाग लिया जो कि सिंगापुर में आयोजित की गई थी। इसके अन्य भी उन्होंने कुछ पुरस्कार प्राप्त करें-

  • नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने यूपीआई नेटवर्क पर सबसे अधिक व्यापारी लेनदेन को आकर्षित करने के लिए फोनपे को सम्मानित किया। (2018)
  • IAMAI इंडिया डिजिटल अवार्ड्स 2018 में सर्वश्रेष्ठ मोबाइल भुगतान उत्पाद या सेवा के लिए सम्मानित किया गया
  • NPCI ने 2018 में PhonePe को UPI डिजिटल इनोवेशन अवार्ड से सम्मानित किया
  • 2018 में सुपरस्टार्टअप एशिया अवार्ड
  • इंडिया एडवरटाइजिंग अवार्ड्स ‘टेलीकॉम एंड टेक्नोलॉजी कैटेगरी (2018) को जीता।
  • सर्वश्रेष्ठ मोबाइल भुगतान उत्पाद या सेवा के लिए IAMAI का 9वां भारत डिजिटल पुरस्कार 2019 जीता।
  • ज़ी बिजनेस और द इकोनॉमिक टाइम्स ने 2019 में 8वें वार्षिक इंडियन रिटेल एंड ई रिटेल अवार्ड्स में सर्वश्रेष्ठ डिजिटल वॉलेट पहल से सम्मानित किया।

नेट वर्थ

समीर निगम की नेट वर्थ 17.7 करोड़ रुपये हैं और वो अपनी पत्नी और बच्चों के साथ बेंगलुरु में ही रहतें हैं। समीर शुरू से ही एंटरप्रेन्योर मानसिकता के रहें है, उन्होंने PhonePe एप्प को दिसंबर 2015 में शुरू किया था और ये अगस्त 2016 उपयोगकर्ताओं के लिए लाइव हो गया था। नवंबर 2016 में भारत सरकार  द्वारा नोटबंदी लागू करना PhonePe के लिए बहुत फायदेमंद साबित हुआ। उस समय उपयोगकर्ताओं के पास UPI जैसा बहुत कम विकल्प था और लोगो ने दिनभर ATM और बैंको में लम्बी लाइन लगाने से बेहतर UPI जैसे एप्प्स को कार्य में लाना समझा, जो की PhonePe जैसे कंपनी को ऊचाइंयों तक पहुंचाने में बहुत ही मददगार साबित हुआ।

रोचक तथ्य

समीर निगम भारत के नोएडा शहर में पले बढ़े हैं। उनका जन्म वर्ष 2078 में हुआ था और उनका उम्र अभी 43 वर्ष है। उनके माता पिता अत्यधिक शिक्षित है और इसीलिए शुरू से ही उनके उद्यमी कैरियर के लिए उनको घर से पूरा सहयोग था। कुछ संदर्भों के अनुसार समीर के पिता आईआईटियन है जिन्होंने INS Arihant और चंद्रयान जैसे बड़े परियोजनाओं में काम किया है, शुरुवात में वे भारतीय नौसेना में थे और L&T जैसे बड़े बहुराष्ट्रीय कंपनी में भी काम कर चुकें हैं। समीर की माँ ने पीएचडी किया था और वो टीसीएस की प्रारंभिक कर्मचारी थीं| बाद में वो भी एक उद्यमी बन गई थी।

FAQs 

समीर निगम की कुल आय कितना है? 

उत्तर- समीर निगम की कुल संपत्ति 17.7 करोड़ INR है।

PhonePe का रिवेन्यू क्या है? 

उत्तर- PhonePe का रिवेन्यू 690 करोड़ रुपये है।  

समीर निगम का क्वालिफिकेशन क्या है? 

उत्तर- समीर निगम ने मुंबई विश्वविद्यालय से कंप्यूटर इंजीनियरिंग की डिग्री, एरिज़ोना विश्वविद्यालय से एमएस और द व्हार्टन स्कूल, पेन्सिलवेनिया विश्वविद्यालय से उद्यमिता में एमबीए पूरा किया है। 

समीर निगम की उम्र कितनी है?

उत्तर – समीर निगम की उम्र 44 वर्ष है उनका जन्म साल 1978 में हुआ था।

समीर निगम का जन्म कहां हुआ था?

उत्तर- समीर निगम का जन्म भारत के दिल्ली में हुआ था।

यह सब गेमचेंजर – समीर निगम के बारे में था। यदि आप भी समीर निगम की तरह एरिज़ोना विश्वविद्यालय, द व्हार्टन स्कूल, पेन्सिलवेनिया विश्वविद्यालय आदि जैसे टॉप विश्वविद्यालय में पढ़ना चाहते हैं तो आज ही Leverage Edu एक्सपर्ट्स को 1800 572 000 पर कॉल करके 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें और आप भी सफलता की ऊंचाइयों को छुएं।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert