बीएससी जूलॉजी कैसे करें?

1 minute read
95 views
बीएससी जूलॉजी

बीएससी जूलॉजी में जानवरों की स्टडी करायी जाती है, जिसमें उनका व्यवहार, संरचना, जीव विज्ञान, जीवन शैली शामिल है। जूलॉजी के इस कोर्स में इचथोलॉजी (मछली का अध्ययन), कीट विज्ञान (कीड़ों का अध्ययन) और हरपेटोलॉजी (सरीसृप और उभयचरों का अध्ययन) और पक्षीविज्ञान जैसे कई उपक्षेत्रों का अध्ययन शामिल है। बीएससी जूलॉजी के बाद आप जैव प्रौद्योगिकी, फार्मा प्रबंधन, डेयरी प्रबंधन जैसे विषय में मास्टर डिग्री भी कर सकते हैं। बीएससी जूलॉजी के बारे और जानने के लिए यह ब्लॉग पढ़ें।

कोर्स का नाम जूलॉजी में बैचलर ऑफ साइंस (बीएससी जूलॉजी) 
अवधि 3 वर्ष
भारत में प्रवेश परीक्षा BHU UET, MCAER CET, NEST, JEST
बीएससी जूलॉजी के बाद कोर्स एमएससी जूलॉजी, पीएचडी जूलॉजी
नौकरियां इकोलॉजिस्ट, नेचर कंज़र्वेशन ऑफ़िसर, एनवायरनमेंट मैनेजर, कंज़र्वेशनिस्ट, ज़ू क्यूरेटर, वेटरनरी डॉक्टर
वेतन 2.5 लाख से 7 लाख

बीएससी जूलॉजी क्या है?

बीएससी जूलॉजी एक 3 साल का अंडरग्रेजुएट प्रोग्राम है जो बायोलॉजिकल ओशनोग्राफी, कॉम्पिटिटिव फिजियोलॉजी, इकोलॉजी, डेवलपमेंटल एंड सेल बायोलॉजी, वर्टेब्रेट एंड इनवर्टेब्रेट जूलॉजी, पैरासिटोलॉजी आदि के क्षेत्र में उन्नत अध्ययन और रिसर्च को शामिल करता है। इसमें जैव केमिकल जेनेटिक्स, बायोलॉजिकल कंट्रोल और रिसर्च के अन्य विशेष क्षेत्रों से संबंधित विभिन्न विषयों का अध्ययन शामिल है।

बीएससी जूलॉजी को क्यों चुनें?

कुछ कारण यहाँ दिए गए हैं जो आपको बीएससी जूलॉजी क्यों करना चाहिए यह बताएंगें:

  • बीएससी जूलॉजी के बाद आपके पास मास्टर्स, ग्रेजुएट डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स करने का विकल्प होता है। इन कोर्सेज में बायोकेमिस्ट्री, एंड बायो टेक्नोलॉजी जैसे विषय शामिल है।
  • इस कोर्स में आपको जानवरों की जीव विज्ञान, व्यवहार और संरचना के बारे में गहन अध्ययन कराया जाता है।
  • इस कोर्स को करने के बाद आप रिसर्चर शिक्षक, प्रोफेसर, जूलॉजिस्ट, चिड़ियाघर एनिमल वेलफेयर के रूप में काम कर सकते हैं।
  • आप बीएससी जूलॉजी के बाद मेडिकल कोर्सेज का चुनाव भी कर सकते हैं। जैसे: M.Sc. (Hons.) Botany, M.Sc. (Hons.) Microbiology, M.Sc. Medical Lab Technology, M.Sc. Medical Imaging Technology, M.Sc. Medical Lab Technology आदि। 

बीएससी जूलॉजी के लिए स्किल्स

बीएससी जूलॉजी के लिए कुछ स्किल्स नीचे दी गई हैं:

  • टाइम मैनेजमेंट स्किल
  • हार्ड वर्क
  • इंडिपेंडेंस
  • टीम बिल्डिंग स्किल्स
  • कम्युनिकेशन स्किल
  • लिसनिंग स्किल्स
  • लीडरशिप स्किल्स
  • रिसर्च स्किल्स

बीएससी जूलॉजी के विषय

बीएससी जूलॉजी में पढ़ाए जाने वाले सामान्य विषयों की सूची नीचे दी गई है:

  • बायोलॉजी
  • इन्वेर्टेब्रेटेस
  • सेल बायोलॉजी
  • एनिमल फिजियोलॉजी
  • जेनेटिक्स
  • स्ट्रक्चरल बायोलॉजी
  • बायो स्टेटिस्टिक्स
  • एनवायरनमेंट फिजियोलॉजी
  • डेवलपमेंट बायोलॉजी
  • कम्प्यूटेशन इन लाइफ साइंसेज
  • इम्म्यूनोलॉजी
  • माइक्रोबायोलॉजी एंड बायोटेक्नोलॉजी

बीएससी जूलॉजी का सिलेबस

बीएससी जूलॉजी का सिलेबस नीचे दिया गया है :

बीएससी जूलॉजी सिलेबस प्रथम वर्ष

  • एकॉलोजी
  • माइक्रोबायोलॉजी
  • बायोकेमेस्ट्री एंड सेल्यूलर बेसिस ऑफ लाइफ
  • इवोल्यूशन एंड जेनेटिक्स
  • सेल एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी
  • वाइल्डलाइफ फॉरेंसिक
  • माइक्रोवेव डायवर्सिटी
  • बायोस्फीयर
  • डेवलपमेंट एंड मैनेजमेंट ऑफ ब्रिटिश हैबिटेट

बीएससी जूलॉजी सिलेबस द्वितीय वर्ष

  • बायोलॉजी ऑफ वर्टेब्रेट
  • वर्टेब्रेट ऑर्गेनेज्म
  • एंटोंमोलॉजी
  • एनिमल बिहेवियर
  • ऑर्गेंज्मल एंड पापुलेशन बायोलॉजी
  • रिचार्ज मेथड
  • ज़ू साइंस 
  • वाइल्डलाइफ कंजर्वेशन
  • एथोलॉजी

बीएससी जूलॉजी सिलेबस तृतीय वर्ष

  • मरीन इकोलॉजी
  • कंजर्वेशन ऑफ इकोलॉजी
  • बायोडायवर्सिटी
  • ऑंकोलॉजी एंड इम्यूनोलॉजी 
  • बिहेवियरल साइकोलॉजी
  • कम्युनिटी एंड पापुलेशन इकोलॉजी
  • पैरासाइटोलॉजी
  • वाइल्डलाइफ कंजर्वेशन
  • एंथ्रोपोजेनिक थ्रेटस टू बायोस्फीयर
  • वेलफेयर एंड बिहेवियर ऑफ डॉमेस्टिकेटेड एनिमल्स 

विदेश में टॉप यूनिवर्सिटीज

यदि आप विदेश जाकर बीएससी जूलॉजी की पढ़ाई करना चाहते हैं, तो विदेश की कुछ टॉप यूनिवर्सिटीज की सूची यहाँ दी गई है:

भारत में टॉप यूनिवर्सिटीज

भारत में बीएससी जूलॉजी मास्टर कार्यक्रम, ग्रेजुएट डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स कराने वाली कई यूनिवर्सिटीज हैं। कुछ टॉप यूनिवर्सिटीज की लिस्ट नीचे दी गई है :

  • कुमाऊं विश्वविद्यालय
  • शूलिनी विश्वविद्यालय
  • बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, रांची
  • जैव सूचना विज्ञान केंद्र (बीसी), पुडुचेरी
  • सेंट एलॉयसियस इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी
  • डिब्रूगढ़ यूनिवर्सिटी इंस्टिट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी डिब्रूगढ़
  • एनआईटी राउरकेला
  • मणिपाल विश्वविद्यालय

योग्यता

  • किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज/विश्वविद्यालय से 10+2 योग्यता या इसके समकक्ष न्यूनतम योग्यता अंकों के साथ। 
  • भारत में बीएससी जूलॉजी में प्रवेश पाने के लिए, आपको उस विश्वविद्यालय के आधार पर बीएचयू यूईटी, एमसीएईआर सीईटी, एनईएसटी, जेस्ट आदि परीक्षाओं को उत्तीर्ण करने की आवश्यकता हो सकती है।
  • अन्य आवश्यक दस्तावेजों के साथ आपके शैक्षणिक ट्रांसक्रिप्ट की प्रमाणित प्रतियां। 
  • यदि आप विदेश में अध्ययन करने की योजना बना रहे हैं, तो आपको निम्नलिखित प्रदान करना होगा:
  • अंग्रेजी भाषा प्रवीणता परीक्षा: IELTS/ TOEFL/PTE स्कोर
  • LOR और SOP

आवेदन प्रक्रिया

विदेश के विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदन प्रक्रिया इस प्रकार है–

  • आपकी आवेदन प्रक्रिया का फर्स्ट स्टेप सही कोर्स चुनना है, जिसके लिए आप AI Course Finder की सहायता लेकर अपने पसंदीदा कोर्सेज को शॉर्टलिस्ट कर सकते हैं। 
  • एक्सपर्ट्स से कॉन्टैक्ट के पश्चात वे कॉमन डैशबोर्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से कई विश्वविद्यालयों की आपकी आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे। 
  • अगला कदम अपने सभी दस्तावेजों जैसे SOP, निबंध (essay), सर्टिफिकेट्स और LOR और आवश्यक टेस्ट स्कोर जैसे IELTS, TOEFL, SAT, ACT आदि को इकट्ठा करना और सुव्यवस्थित करना है। 
  • यदि आपने अभी तक अपनी IELTS, TOEFL, PTE, GMAT, GRE आदि परीक्षा के लिए तैयारी नहीं की है, जो निश्चित रूप से विदेश में अध्ययन करने का एक महत्वपूर्ण कारक है, तो आप Leverage Live कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं। ये कक्षाएं आपको अपने टेस्ट में उच्च स्कोर प्राप्त करने का एक महत्त्वपूर्ण कारक साबित हो सकती हैं।
  • आपका एप्लीकेशन और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद, एक्सपर्ट्स आवास, छात्रवीज़ा और छात्रवृत्ति/छात्र लोन के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू करेंगे।
  • अब आपके प्रस्ताव पत्र की प्रतीक्षा करने का समय है जिसमें लगभग 4-6 सप्ताह या उससे अधिक समय लग सकता है। ऑफर लेटर आने के बाद उसे स्वीकार करके आवश्यक सेमेस्टर शुल्क का भुगतान करना आपकी आवेदन प्रक्रिया का अंतिम चरण है।

भारत के विश्वविद्यालयों में आवेदन प्रक्रिया, इस प्रकार है–

  • सबसे पहले अपनी चुनी हुई यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करें।
  • यूनिवर्सिटी की वेबसाइट में रजिस्ट्रेशन के बाद आपको एक यूजर नेम और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • फिर वेबसाइट में साइन इन के बाद अपने चुने हुए कोर्स का चयन करें जिसे आप करना चाहते हैं।
  • अब शैक्षिक योग्यता, वर्ग आदि के साथ आवेदन फॉर्म भरें।
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म जमा करें और आवश्यक आवेदन शुल्क का भुगतान करें। 
  • यदि एडमिशन, प्रवेश परीक्षा पर आधारित है तो पहले प्रवेश परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करें और फिर रिजल्ट के बाद काउंसलिंग की प्रतीक्षा करें। प्रवेश परीक्षा के अंको के आधार पर आपका चयन किया जाएगा और लिस्ट जारी की जाएगी।

आवश्यक दस्तावेज

कुछ जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट नीचे दी गई हैं–

बीएससी जूलॉजी के लिए किताबें

बीएससी जूलॉजी के लिए कुछ महत्वपूर्ण किताबें यहाँ दी गई हैं:

प्रवेश परीक्षाएं

भारत के शीर्ष कॉलेजों में प्रवेश के लिए, आवेदकों को विभिन्न प्रवेश परीक्षाओं के लिए उपस्थित होना पड़ता है। भारत में बीएससी जूलॉजी में प्रवेश के लिए आप कुछ शीर्ष प्रवेश परीक्षाएं दे सकते हैं:

  • NEST
  • BHU UET
  • JEST
  • IIT JAM
  • IELTS, TOEFL, PTE (विदेश के लिए) 
  • SAT/ACT (विदेश के लिए) 

बीएससी जूलॉजी कोर्स के बाद हायर स्टडीज

बीएससी जूलॉजी कोर्स करने के बाद अगर आप हायर स्टडी करना चाहें तो आप एमएससी जूलॉजी कर सकते हैं, जिसके बाद जूलॉजी विषय में M. Phil और P.H.D भी कर सकते हैं। बीएससी जूलॉजी कोर्स करने के बाद आप जूलॉजी में पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स यानि M.Sc. करने के बाद ज़ूलॉजिस्ट भी बन सकते हैं।

करियर स्कोप

बीएससी जूलॉजी के बाद नौकरी ना करके अपनी पढ़ाई को आगे बढ़ाना चाहते हैं तो आप बीएससी जूलॉजी के बाद कोर्स के बारे में इस ब्लॉग से जान सकते हैं। बीएससी जूलॉजी के बाद सरकारी और प्राइवेट नौकरी की सूची नीचे दी गई है: 

  • रिसर्च ऑफिसर
  • फॉरेस्ट ऑफिसर
  • प्रोजेक्ट मैनेजर
  • लैब असिस्टेंट
  • एसोसिएट प्रोफेसर
  • एंटोंमोलॉजिस्ट
  • इंफॉर्मेशन ऑफिसर
  • टेक्निकल ऑफिसर
  • मेडिकल ऑफिसर
  • एनवायरमेंटल कंसलटेंट
  • रिसर्च साइंटिस्ट आदि। 

नीचे शीर्ष सरकारी संगठन की सूची दी गई है जहाँ आप बीएससी जूलॉजी के बाद जॉब कर सकते हैं :

  • Indian Forest Services
  • Indian Council of Agricultural Research (ICAR)
  • Ministry of Environment, Forest and Climate Change
  • National Dairy Research Institute (NDRI)
  • Zoological Survey of India
  • wildlife organization
  • Institute for Advanced Study in Science and Technology (IASST)
  • State Biodiversity Board
  • Forest department
  • research institutes in india

जॉब प्रोफाइल्स और सैलरी

बीएससी जूलॉजी के बाद आप विभिन्न क्षेत्रों में नौकरी कर सकते हैं। नीचे कुछ टॉप जॉब प्रोफाइल और उनकी सैलरी दी गई है:

जॉब प्रोफाइल सैलरी (लगभग) 
माइक्रोबायोलॉजिस्ट INR1.2-9.7 LPA
रिसर्च साइंटिस्ट , बायो टेक्नोलॉजी  INR 2-10 LPA
रिसर्च एनालिस्ट INR 1.6-7.4 LPA
क्लीनिकल रिसर्च कोऑर्डिनेटर (CRC) INR 1.20-5 LPA
प्रोजेक्ट साइंटिस्ट INR 5.6-7 LPA
जूनियर रिसर्च फेलो INR 3.7-5 LPA
सीनियर प्रोजेक्ट एसोसिएट INR 5-7 LPA

FAQs

क्या मैं बीएससी जूलॉजी के बाद एमबीबीएस कर सकता हूं?

जी हां, आप बीएससी जूलॉजी पूरा करने के बाद एमबीबीएस कर सकते हैं। एमबीबीएस के लिए अप्लाई करने से पहले आपको आयु सीमा चेक कर लेनी चाहिए।  

बीएससी जूलॉजी के बाद कौन-कौन से जॉब ऑप्शन उपलब्ध है?

बीएससी जूलॉजी के बाद आप सरकारी और निजी दोनों क्षेत्रों में जॉब कर सकते हैं :
प्रोजेक्ट मैनेजर
लैब असिस्टेंट
एसोसिएट प्रोफेसर
एंटोंमोलॉजिस्ट
एनवायरमेंटल कंसलटेंट
रिसर्च साइंटिस्ट
मरीन बायोलॉजिस्ट
लेक्चरर/प्रोफेसर
कंजर्वेशन ऑफिसर

बीएससी जूलॉजी के बाद टॉप कोर्सेज कौनसे हैं?

बीएससी जूलॉजी के बाद टॉप कोर्सेज-
1. M.Sc. Zoology
2. M.Sc. (Hons) Botany
3. M.Sc. Bioinformatics
4. M.Sc. Microbiology
5. M.Sc. in Life Science
6. M.Sc. Biotechnology

उम्मीद है कि आपको इस ब्लॉग से बीएससी जूलॉजी के बारे में पूरी जानकारी मिली होगी। यदि आप भी विदेश में बीएससी जूलॉजी या उसके बाद की पढ़ाई करना चाहते हैं, तो आज ही हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट के साथ 30 मिनट का फ्री सेशन 1800 572 000 पर कॉल करके बुक करें।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today. Zoology
Talk to an expert