UNICEF क्या काम करता है?

1 minute read
833 views
UNICEF kya Hai

किसी भी देश का भविष्य उसकी आने वाली जनरेशन पर कुछ हद तक निर्भर करता है। क्योंकि आने वाली पीढ़ी ही चीजों को बेहतर से बेहतर बनाने पर कार्य करेंगी, जिसके चलते देश और अधिक विकसित होगा। आने वाली जनरेशन को सोचते हुए ही यूनिसेफ फॉर्म किया गया था। आइए विस्तार से जानते हैं कि UNICEF kya hai, और यह कैसे काम करता है।

UNICEF क्या है?

यूनिसेफ की फुल फॉर्म संयुक्त राष्ट्र बाल कोष है। यह संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी है जो दुनिया भर में बच्चों को हुमानिटरियन और डेवलपमेंटल असिस्टेंस प्रदान करता है। यूनिसेफ में 190 सदस्य देश हैं। इसमें एरिया में प्रजेंस के साथ एजेंसी दुनिया में सबसे कम्प्रेहैन्सिव और पहचानने योग्य सोशल वेलफेयर आर्गेनाइजेशन में से एक है। यूनिसेफ की एक्टिविटीज में वेक्सिनेशन और बीमारी की रोकथाम प्रदान करना, एचआईवी वाले बच्चों और महिलाओं के लिए ट्रीटमेंट का प्रबंध करना, बचपन और मैटरनल नुट्रिशन को बढ़ाना, स्वच्छता में सुधार करना, शिक्षा को बढ़ावा देना और डिसास्टर्स के जवाब में इमरजेंसी हेल्प प्रदान करना शामिल है।

UNICEF का इतिहास

यूनिसेफ kya hai और इसका इतिहास क्या है इसके बारे में नीचे बताया गया है-

  • संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (यूनाइटेड नेशंस चिल्ड्रन फंड) संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 11 दिसंबर, 1946 को बनाया गया था।
  • पहले इसे संयुक्त राष्ट्र अंतर्राष्ट्रीय बाल आपातकालीन कोष (यूनाइटेड नेशंस इंटरनेशनल चिल्ड्रन इमरजेंसी फंड) कहा जाता था।
  • पोलैंड के चिकित्सक लुडविक रॉश्मन ने यूनिसेफ का गठन करने में प्रमुख भूमिका निभाई।
  • इसे बनाने का प्रमुख उद्देश्य द्वितीय विश्वयुद्ध में तबाह हुए देशों में बच्चों और महिलाओं को इमरजेंसी हालात में भोजन और स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराना था।
  • 1950 में यूनिसेफ के दायरे को विकासशील देशों में बच्चों और महिलाओं की लॉन्ग-टर्म ज़रूरतों को पूरा करने के लिये एक्सटेंड किया गया था।
  • 1953 में यह संयुक्त राष्ट्र का एक परमानेंट हिस्सा बन गया और इस संगठन के नाम में से ‘इंटरनेशनल’ एवं ‘इमरजेंसी’ शब्दों को हटा दिया गया था।
  • यूनिसेफ का हेडक्वार्टर न्यूयोर्क सिटी, यूनाइटेड स्टेट्स में है।
  • वर्तमान समय में यूनिसेफ की ब्रांड एम्बेसडर मिल्ली बॉबी ब्राउन हैं।
  • अगर हम भारतीय यूनिसेफ एम्बेसडर की बता करें तो इसमें हमारे भारतीय भी शामिल है जैसे- 2016 में प्रियंका चोपड़ा, 2005 में अमिताभ बच्चन और रीजनल एम्बेसडर (दक्षिण एशिया) के तौर पर 2013 में सचिन तेंदुलकर और 2014 में आमिर खान रह चुके हैं।

Check out:  डॉक्टर कैसे बने?

इंडिया में यूनिसेफ के ऑफिस

इंडिया में यूनिसेफ के ऑफिस की लिस्ट इस प्रकार है:

  • नई दिल्‍ली
  • आंध्र प्रदेश
  • कर्नाटक
  • गुजरात
  • असम
  • झारखंड
  • बिहार
  • मध्‍य प्रदेश
  • छत्‍तीसगढ़
  • महाराष्‍ट्र
  • ओडिशा
  • उत्‍तर प्रदेश
  • राजस्‍थान
  • तमिलनाडु
  • पश्चिम बंगाल

फोकस फ़ील्ड्स

यूनिसेफ के फोकस फ़ील्ड्स इस प्रकार हैं:

  • बाल विकास और नुट्रिशन
  • चाइल्ड प्रोटेक्शन
  • एजुकेशन
  • चाइल्ड एनवायरनमेंट
  • पोलियो उन्‍मूलन (eradication)
  • रिप्रोडक्टिव और चाइल्ड हेल्थ
  • बच्‍चे और एड्स
  • सामाजिक नीति
  • प्लानिंग
  • मॉनिटरिंग और इवैल्यूएशन
  • एडवोकेसी और पार्टनरशिप
  • बेहेवियर चेंज मैसेज
  • इमरजेंसी प्रेपरेडनेस और एक्शन

यूनिसेफ की नेशनल कमिटीज़

यूनिसेफ की नेशनल कमिटीज़ नीचे दी गई हैं-

  • ये राष्ट्रीय समितियाँ 38 (औद्योगिक) देशों में हैं तथा इनमें से प्रत्येक एक इंडिपेंडेंट लोकल नॉन गवर्नमेंट आर्गेनाइजेशन के रूप में स्थापित है। राष्ट्रीय समितियाँ पब्लिक एरिया से धन जुटाती हैं।
  • यूनिसेफ को पूरी तरह से वोलंटरी योगदान से फाइनेंस किया जाता है और राष्ट्रीय समितियाँ सामूहिक रूप से यूनिसेफ की वार्षिक इनकम का लगभग एक-तिहाई हिस्सा जुटाती हैं। यह दुनिया भर में 60 लाख इंडिविजुअल डोनर्स के कॉर्पोरेशंस, सिविल सोसाइटी आर्गेनाइजेशन के योगदान के माध्यम से आता है।

UNICEF के कार्य

यूनिसेफ बहुत से कार्य करता है, जो इस प्रकार हैं:

  • यह पूरे विश्व के बच्चों की भोजन, शिक्षा और स्वास्थ संबंधी आदि समस्याओं को दूर करने का कार्य करता है।
  • इसकी की स्थापना के समय इसका काम द्वितीय विश्व युद्ध के कारण उत्पन्न समस्याओं में आये बच्चों को सुरक्षा देना था, लेकिन अब यह पूरे विश्व के बच्चों की सुरक्षा और स्वास्थ पर ध्यान देता है।
  • यह पूरी दुनिया में बच्चों के वेक्सिनेशन के लिए 300 करोड़ टीके पहुँचाता है।
  • यूनिसेफ बहुत से देशों में एचआईवी/एड्स से बचने के लिए बहुत से कार्य कर रहा है।

UNICEF के कार्य क्षेत्र

यूनिसेफ के कार्य क्षेत्र नीचे दिए गए हैं-

  • यूनिसेफ का अधिकांश कार्यक्षेत्र 190 देशों/क्षेत्रों में मौजूद है। 150 से अधिक देशों के कार्यालयों/ मुख्यालयों और यूनिसेफ के नेटवर्क से जुड़े अन्य कार्यालयों तथा 34 राष्ट्रीय समितियाँ मेज़बान सरकारों के साथ विकसित कार्यक्रमों के माध्यम से यूनिसेफ के मिशन को पूरा करती है। सात क्षेत्रीय कार्यालय आवश्यकतानुसार देशों के कार्यालयों को तकनीकी सहायता प्रदान करते हैं।
  • यूनिसेफ का आपूर्ति विभाग कोपेनहेगन में स्थित है और यह एचआईवी, पोषण संबंधी खुराक, रैनबसेरे, परिवारों के पुनर्मिलन तथा बच्चों और माताओं के लिये टीके, एंटी-रेट्रोवायरल दवाओं जैसी आवश्यक वस्तुओं के वितरण के प्राथमिक बिंदु के रूप में कार्य करता है।
  • 36 सदस्यीय कार्यकारी बोर्ड इसकी नीतियों को तय करता है, कार्यक्रमों को मंज़ूरी देता है और प्रशासनिक तथा वित्तीय योजनाओं की देख-रेख करता है। कार्यकारी बोर्ड उन सरकारी प्रतिनिधियों से मिलकर बना है जो आमतौर पर तीन साल के लिये संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक परिषद द्वारा चुने जाते हैं।

कांटेक्ट इन्फो

यूनिसेफ के तमाम सोशल मीडिया व वेबसाइट के लिंक्स इस प्रकार हैं:

नोडल मंत्रालय: महिला एवं बाल विकास मंत्रालय
प्रमुख प्रकाशन: द स्‍टेट ऑफ द वर्ल्‍ड चिल्‍ड्रन्; प्रोग्रेस फॉर चिल्‍ड्रन्‍स
वेबसाइट: http://unicef.in/
फेसबुक: https://www.facebook.com/unicefindia
ट्विटर: https://twitter.com/UNICEFIndia
इंस्‍टाग्राम: https://www.instagram.com/unicefindia/
यूट्यूब: https://www.youtube.com/user/unicefindia

Source:Oneindia Hindi

FAQs

यूनिसेफ की हिंदी फुल फॉर्म क्या है?

यूनिसेफ की हिंदी फुल फॉर्म संयुक्त राष्ट्र बाल कोष है।

यूनिसेफ के सदस्य देश कितने हैं?

यूनिसेफ में फ़िलहाल 190 सदस्य देश हैं।

यूनिसेफ की स्थापना कब हुई थी?

यूनिसेफ की स्थापना 11 दिसंबर 1946 को हुई थी।

यूनिसेफ का मुख्यालय कहाँ स्थित है?

यूनिसेफ का मुख्यालय न्यू यार्क, अमेरिका में है।

यूनिसेफ के मौजूदा सीईओ कौन हैं?

यूनिसेफ की मौजूदा सीईओ हेनरिटा फोर हैं।

Source – UNICEF

आशा करते हैं कि आपको UNICEF kya hai की पूरी जानकारी इस ब्लॉग में मिल गयी होगी। यदि आप विदेश में पढ़ाई करना चाहते हैं तो आज ही हमारे Leverage Edu एक्सपर्ट्स को 1800572000 पर कॉल करें और 30 मिनट का फ्री सेशन बुक करें।

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

2 comments
    1. आपका बहुत-बहुत धन्यवाद, ऐसे ही हमारी वेबसाइट पर बने रहिए।

    1. आपका बहुत-बहुत धन्यवाद, ऐसे ही हमारी वेबसाइट पर बने रहिए।

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert