Hindi Diwas Speech in Hindi | जानिए कैसे तैयार करें हिंदी दिवस पर स्पीच

1 minute read
Hindi Diwas Speech in Hindi

हिंदी दिवस हर साल 14 सितंबर को मनाया जाता है। स्कूल, काॅलेजों और अन्य संगठनों की ओर से कई कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। हिंदी दिवस पर छात्रों और शिक्षकों की ओर से स्पीच भी दी जाती है, लेकिन कई भी स्पीच देने से पहले हमें अच्छे से तैयारी करना जरूरी है। स्पीच का समय आयोजन से तय होता है, इसलिए इस ब्लाॅग में आप 100, 200 और 300 शब्दों में Hindi Diwas Speech in Hindi लिखने और तैयार करने के बारे में जानेंगे।

हाइलाइट्स

आयोजन हिंदी दिवस
आयोजन दिवस 14 सितंबर, 2023
आयोजन की घोषणा 1949 से
पहली बार आयोजन 1953
ऑफिशियल वेबसाइट rajbhasha.gov.in

हिंदी दिवस क्या है?

हिंदी भारत की सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषाओं में से एक है, उत्तर भारत के अधिकांश लोग इस भाषा को अपनी मातृभाषा के रूप में मनाते हैं। हिंदी का महत्व जानने और और भारत की ऑफिशियल लैंग्वेज के रूप में हिंदी के अनुकूलन (adaptation) होने पर हिंदी दिवस मनाया जाता है। केंद्र सरकार की राजभाषा नीति को अनुच्छेद 120 (भाग-5), अनुच्छेद 210 (भाग-6), अनुच्छेद 343, 344 और अनुच्छेद 348 से 351 के तहत विस्तार से बताया गया है। अंग्रेजी, स्पेनिश और मंदारिन के बाद हिंदी दुनिया में चौथी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है। 

यह भी पढ़ें- Hindi Divas | जानिए हिंदी दिवस क्यों मनाते हैं और क्या है इसका इतिहास

पहली बार हिंदी दिवस कब मनाया गया?

भारत में हिंदी दिवस 14 सितंबर को मनाया जाता है। आधिकारिक तौर पर पहला राष्ट्रीय हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 को मनाया गया। हर साल पर भारत के राष्ट्रपति दिल्ली में एक समारोह में भाषा में उनके योगदान के लिए लोगों को राजभाषा पुरस्कार देते हैं।

हिंदी दिवस पर स्पीच कैसे तैयार करें?

कहीं भी स्पीच देने का अलग ही महत्व होता है। हिंदी दिवस पर स्पीच देने से हिंदी की अलख भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया देखती है। Hindi Diwas Speech in Hindi कैसे तैयार करें के बारे में यहां जानेंगेः

  • हिंदी दिवस पर सही से स्पीच तैयार करने और समय का ध्यान रखते हुए आगे बढ़ना चाहिए। 
  • हिंदी दिवस पर स्पीच लिखते समय आपको शब्दों का सही चयन करना होगा।
  • अपनी स्पीच में हिंदी भाषा के बारे में भी बोलना होगा। 
  • स्पीच की शुरुआत हिंदी के कविताओं और कोट्स से भी कर सकते हैं।
  • स्पीच में हिंदी के कवियों और लेखकों भी जोड़ सकते हैं।

हिंदी दिवस पर स्पीच 100 शब्दों में

100 शब्दों में Hindi Diwas Speech in Hindi इस प्रकार हैः

हमारे देश की एकता में हिंदी भाषा का महत्त्वपूर्ण योगदान है। हमें समाज के लोगों से बातचीत करने के लिए और कम्युनिकेशन करने के लिए किसी एक विशेष भाषा या बोली की जरूरत होती है। हम सभी के जीवन में भाषा बहुत ही महत्त्वपूर्ण है। भारत में हिंदी को उचित स्थान दिया गया है। भारतीयों और हिंदी प्रेमियों के लिए हिंदी दिवस बहुत खास माना जाता है, क्योंकि आज दुनिया के कई देशों में हिंदी को बढ़ावा दिया जा रहा है। हिंदी दिवस मनाने की शुरुआत इस उद्देश्य के साथ की गई थी कि विश्व में हिंदी को बढ़ावा मिल सके। 

हिंदी दिवस पर स्पीच 200 शब्दों में

200 शब्दों में Hindi Diwas Speech in Hindi इस प्रकार हैः

हिंदी भारत की नहीं बल्कि विश्व की दूसरी बड़ी भाषा कही जाती है। हिंदी भाषा का उपयोग आज सर्वाधिक आबादी द्वारा किया जा रहा है। दुनिया भर में आधे अरब से अधिक लोग हिंदी बोलते हैं।

भारत के कई राज्यों में सरकारी संवाद की भाषा हिंदी है। इसका उपयोग केंद्र सरकार और भारतीय संसद में भी किया जाता है। बिजनेस में भारत में संचार के लिए हिंदी एक आवश्यक भाषा है। कई व्यवसायों को अपने कर्मचारियों को हिंदी में पारंगत होने की आवश्यकता होती है, खासकर यदि वे देश के उत्तरी हिस्सों में काम करते हैं जहां हिंदी प्रमुख भाषा है।

हिंदी सीखना उन लोगों के लिए भी फायदेमंद हो सकता है जो भारत में काम करने या व्यवसाय करने की योजना बना रहे हैं। हिंदी जानने से आपको भारतीय राजनयिकों और अधिकारियों के साथ अधिक प्रभावी ढंग से संवाद करने में मदद मिल सकती है। भारतीय न्यायपालिका की भाषा भी हिंदी है और कई कानूनी दस्तावेज़ हिंदी में लिखे जाते हैं। शिक्षा के क्षेत्र में देश भर के कई स्कूलों और विश्वविद्यालयों में शिक्षा का माध्यम हिंदी है। कई शैक्षणिक संस्थान हिंदी को दूसरी भाषा के रूप में भी पेश करते हैं और छात्रों को हिंदी सीखने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। 

हिंदी दिवस पर स्पीच 300 शब्दों में

300 शब्दों में Hindi Diwas Speech in Hindi इस प्रकार हैः

स्पीच की शुरुआत में

हिंदी दिवस पर स्पीच की शुरुआत में सबसे पहले जहां स्पीच दे रहे हैं वहां के वरिष्ठ लोगों का संबोधन करना है और फिर हिंदी दिवस के ऊपर थोड़ी स्पीच देनी है, जैसे- भारत में हिंदी दिवस 14 सितंबर को मनाया जाता है। आधिकारिक तौर पर पहला राष्ट्रीय हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 को मनाया गया था। 

स्पीच में क्या बोलें?

भारत में ज्यादातर लोग हिंदी भाषा ही बोलते हैं। हिंदी भारत की आधिकारिक भाषाओं में से एक है, और यह देश में सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है। भारत के कई हिस्सों में हिंदी सरकार, शिक्षा और व्यवसाय की भाषा है। हिंदी बॉलीवुड की भाषा भी है, जो दुनिया की सबसे बड़ी फिल्म इंडस्ट्री मानी जाती है। हिंदी भाषा का महत्व भारतीय जीवन के विभिन्न पहलुओं में देखा जा सकता है। दुनिया भर में आधे अरब से अधिक लोग हिंदी बोलते हैं। भारत के कई राज्यों में सरकारी संवाद की भाषा हिंदी है। 

वैश्विक बाजार में भी आवश्यक है हिंदी

भारतीय न्यायपालिका की भाषा भी हिंदी है और कई कानूनी दस्तावेज़ हिंदी में लिखे जाते हैं। शिक्षा के क्षेत्र में देश भर के कई स्कूलों और विश्वविद्यालयों में शिक्षा का माध्यम हिंदी है। भारत के कई हिस्सों में हिंदी व्यापार की भाषा है। वैश्विक बाज़ार में हिंदी भी एक आवश्यक भाषा है। हिंदी जानने से भारत में व्यवसायों को प्रतिस्पर्धात्मक बढ़त मिल सकती है।

स्पीच के अंत में

हिंदी हम सबके दिल में है और हिंदी हमारे देश की शान है। हिंदी के कवियों और लेखकों ने अपनी छाप वैश्विक पटल छोड़ी है। हिंदी को और बढ़ावा देने के लिए हिंदी दिवस जैसे आयोजन बहुत महत्वपूर्ण हैं। आधुनिक युग में हिंदी भाषा को काफी महत्व दिया जा रहा है। इन वाक्यों के साथ मैं अपनी स्पीच को विराम देता हूं। आशा करता हूं कि आपको मेरे वक्तव्य आपको अच्छे लगे होंगे। सभी को हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। धन्यवाद।

हिंदी दिवस पर भाषण कैसे दें?

Hindi Diwas Speech in Hindi देते समय इन बातों का ध्यान रखना जरूर हैः

  • अपनी स्पीच को ज्यादा बड़ा न रखें।
  • अपनी स्पीच को देते समय तय वक्त का भी ध्यान रखें।
  • स्पीच देने से पहले उसे लिखें या समझ कर तैयार करें।
  • स्पीच देने से पहले एक-दो बार उसे बोलने का प्रयास करें।
  • अपनी स्पीच को तैयार करते समय गलतियों से बचें।
  • अपनी स्पीच में सब्जेक्ट से रिलेटेड ही चीजें रखें, टाॅपिक से न भटकें।
  • अपनी स्पीच को बोलते समय फैक्ट्स का ध्यान रखें।
  • स्पीच देने के समय भूलने से बचने को शाॅर्ट नोट तैयार कर सकते हैं।
  • स्पीच देते समय अपनी आवाज को भी सही रखना आवश्यक है।

हिंदी भाषा का महत्व क्या है?

Hindi Diwas Speech in Hindi जानने के साथ ही हिंदी भाषा का महत्व जानना जरूरी है, जोकि इस प्रकार बताया गया हैः

  • वर्ष 1953 में पहला हिंदी दिवस मनाया गया था। हिंदी दिवस मनाने का कारण यह है कि इस दिन ‘महान और प्रसिद्ध हिंदी साहित्य व्यहार राजेंद्र सिंहा’ का जन्म हुआ था।
  • दुनिया भर में आधे अरब से अधिक लोग हिंदी बोलते हैं।
  • शिक्षा के क्षेत्र में देश भर के कई स्कूलों और विश्वविद्यालयों में शिक्षा का माध्यम हिंदी है।
  • हिंदी भारत की उन 7 भाषाओं में से एक है जिसका उपयोग वेब एड्रेस (यूआरएल) बनाने के लिए किया जाता है।
  • 1918 में हिंदी साहित्य सम्मेलन में महात्मा गांधी ने पहली बार हिंदी भाषा को राष्ट्रभाषा बनाने की बात कही थी। भारत के कई राज्यों में सरकारी संवाद की भाषा हिंदी है। इसका उपयोग केंद्र सरकार और भारतीय संसद में भी किया जाता है। 
  • भारतीय न्यायपालिका की भाषा भी हिंदी है और कई कानूनी दस्तावेज़ हिंदी में लिखे जाते हैं।
  • “नमस्ते” शब्द हिंदी भाषा में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला शब्द है।
  • हिंदी का पहला वेब पोर्टल 2000 में अस्तित्व में आया, तभी से हिंदी ने इंटरनेट पर अपनी पहचान बनानी शुरू कर दी, जिसने अब रफ्तार पकड़ ली है।
  • बिजनेस में भारत में संचार के लिए हिंदी एक आवश्यक भाषा है। 
  • भारत के कई हिस्सों में हिंदी व्यापार की भाषा है।
  • भारतीय साहित्य में हिंदी एक महत्वपूर्ण भाषा है। कई प्रसिद्ध भारतीय लेखकों ने हिंदी में लिखा है और हिंदी साहित्य भारतीय संस्कृति का एक अनिवार्य हिस्सा है।
  • 1977 में पहले विदेश मंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा को पहली बार हिंदी में संबोधित किया था।

हिंदी भाषा से जुड़े रोचक तथ्य

हिंदी भाषा से जुड़े रोचक तथ्य इस प्रकार हैंः

  • दादा साहब फाल्के द्वारा बनाई गई पहली हिंदी फिल्म राजा हरिश्चंद्र 1913 में रिलीज हुई थी।
  • विश्व के 180 से अधिक यूनिवर्सिटीज में हिंदी पढ़ाई जाती है, जिनमें से 45 अमेरिकी यूनिवर्सिटीज हैं।
  • स्पेनिश, मंदारिन और अंग्रेजी के बाद हिंदी दुनिया में चौथी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली पहली भाषा है।
  • संयुक्त अरब अमीरात में हिंदी को तीसरी ऑफिशियल अदालती भाषा के रूप में अपनाया गया है।
  • हिंदी भाषा की पहली पत्रिका इंटरनेट पर 2000 में प्रकाशित हुई थी।
  • प्रेम सगुर 1805 में लल्लू लाल द्वारा लिखित पहली प्रकाशित हिंदी पुस्तक थी। यह पुस्तक श्री कृष्ण के बारे में है।
  • बिहार भारत का पहला राज्य है, जिसने हिंदी को अपनी ऑफिशियल लैंग्वेज के रूप में स्वीकार किया।
  • भारत सरकार का केंद्रीय हिंदी निदेशालय हिंदी भाषा से संबंधित प्रावधानों को विनियमित करता है।

FAQs

हिंदी भाषा कितनी पुरानी है?

हिंदी भाषा 12वीं शताब्दी की मानी जाती है।

संविधान में हिंदी को क्या कहा गया है?

संविधान में हिंदी को देश की राजभाषा कहा गया है।

भारत में हिंदी दिवस कब मनाया जाता है?

भारत में हिंदी दिवस 14 सितंबर को मनाया जाता है।

आशा है कि इस ब्लाॅग में आपको Hindi Diwas Speech in Hindi के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। इसी तरह के अन्य ट्रेंडिंग आर्टिकल्स पढ़ने के लिए Leverage Edu के साथ बने रहें।

प्रातिक्रिया दे

Required fields are marked *

*

*