इस बार गर्मी की छुटियों का आनंद कैसे उठाये

Rating:
0
(0)
grishma avkash ka sadupyog kaise kare

अवकाश शब्द सुनते ही हम सबके चेहरे पर एक अलग रौनक और मुस्कान आती है। हर किसी को अवकाश बहुत प्यार लगती है । हफ्ते के अंत में सबको अपने कार्य से आज़ादी मिलती है । जहां बड़े लोगों को अवकाश का इतना आनंद आता है तो स्कूल में पढ़ ले बच्चों को के लिए तो  ये एक अवसर की तरह है । ग्रीष्म अवकाश आने के बाद बच्चों का मन प्रफुलित हो जाता हैं । लेकिन ये अवकाश इतनी लम्बी होती है की बच्चें कुछ समय के बाद उब जाते हैं । घुमने फिरने तक तो ठीक है लेकिन इन ग्रीष्म अवकाश का सदुपयोग करना जरूरी है जिससे वो कुछ नया सीख सखे । आज हम इस ब्लॉग में जानेंगे की  Grishma Avkash ka Sadupyog Kaise Kare की बच्चें कुछ मूल्यवान सीखें ।

Grishma Avkash ka Sadupyog Kaise Kare Tips 

ग्रीष्म अवकाश के समय छात्रों के पास यह अच्छा मौका है अपनी स्किल्स में निखार लाए। Grishma Avkash ka Sadupyog Kaise Kare इसके लिए नीचे महत्वपूर्ण टिप्स दी गयी है-

ऑनलाइन कोर्स में एडमिशन ले

इंटरनेट अब ऑनलाइन कोर्सेज से भरा हुआ है, कोई नई स्किल सिखानी हो , प्रोफेशनल ट्रेंनिंग लेनी हो , सभी प्रकार के पेड और फ़्री कोर्सेज अब इंटरनेट पर उपलब्ध हैं। आपकी रुचि और जरूरत के आधार पर, गर्मी की छुट्टियां एक नई स्किल सीखने का अच्छा अवसर है जो आपको आगे जाकर मददगार साबित होगा । 

नई भाषा सीखे

नई भाषा सीखने का कोई सबसे अच्छा या बुरा समय नहीं होता है। नई भाषा सीखने से आपको नौकरी के लिए साक्षात्कार, नया कल्चर सीखने, यात्रा के दौरान मददगार साबित होगा ।  Multilinguial  होने से आपको जीवन में आत्मविश्वासी बढ़ाने में भी मदद मिलेगी। साथ ही कम  उम्र में आप इसे ग्रैब भी जल्दी कर पाएगे। 

ज्यादा  एक्सपोजर देने वाली एक्टिविटी अपनाए

अगर आप अपनी ग्रीष्म आवास की छुट्टियों के समय किसी भी सोशल सर्विस या वालंटियर सर्विस का हिस्सा बनते है तो ये आपको लोगों के घुलने मिलने का मौका देगा साथ ही आप क्लासमेट के अलावा नए दोस्त भी बना सकते है जो आपकी अलग- अलग एक्टिविस्ट में एक्टिव रख्नेगे और आप तरोताजा महसूस करेगें ।

हॉबी क्लास जॉइन करे

यदि आप किसी विशेष एक्टिविटी  में रुचि रखते हैं जैसे संगीत वाद्ययंत्र बजाना, गाना, नृत्य करना, आर्ट एंड क्राफ्ट्स  आदि। इसे आगे बढ़ाने का यह सही समय है। ये ना सिर्फ ग्रीष्म अवकाश का सदुपयोग होगा बल्कि आप इसमें आगे काफी करियर आप्शन भी शामिल है ।

अपने से छोटे बच्चों को पढाए

अपने से छोटे बच्चों को पढ़ाने से न केवल आपको रिवीजन करने में मदद करेगा। बल्कि आपको एक्स्ट्रा पॉकेट मनी कमाने में भी मदद मिलेगी। जिसका यूज़ आप कुछ भी खरीदने के लिए कर सकते हैं। अपने आस-पास के छोटे बच्चों की तलाश करें जो एक शिक्षक की तलाश में हैं और अपने मजबूत विषय को पढ़ाते रहें। जिससे आप अपनी ग्रीष्म अवकाश का सदुपयोग कर पाएगे ।

कैम्पिंग में जाए

कुछ दिनों के लिए कैंप में जाने की योजना बनाएं। ये , नए दोस्त बनाने के लिए यह एक बेहतरीन जगह है। इसके अलावा, बड़ी संख्या में अलग -अलग कैंप  हैं जिनमें से आप अपना एडमिशन  कर सकते हैं।बच्चे कुछ दिनों के लिए पूरी तरह से अलग लाइफ का आनंद ले सकेंगे। छात्र आउटडोर कैंप से बहुत कुछ सीखेंगे और इससे उनके व्यक्तित्व विकास में मदद मिलेगी।

योग क्लास ज्वाइन करे

योगा करने से आपके अन्दर कंट्रोल आ जाता है  । ये बच्चों के लिए काफी लाभदायक है जिससे वो अपना मन शांत रख सकते है । आप इसे ऑनलाइन सीख सकते हैं विपसाना मैडिटेशन का सबसे अच्छे तरीको में से है जो बच्चों के मन को एकाग्र करने में मदद करेगा ।

नई किताबें पढ़ें

तय करे की  आप एक महीने की छुट्टी में कम से कम तीन  किताबें पढ़ें।  किताब के बारे में अपने विचार लिखने की आदत डालें। बच्चों को दैनिक समाचार पत्र को अच्छी तरह से पढ़ना चाहिए क्योंकि यह करंट अफेयर्स के बारे में उनके ज्ञान को बढ़ाने के लिए आवश्यक है।

गार्डनिंग सीखे

इस समय पृथ्वी को बहुत सारे पौधों की आवश्यकता है, और हमारे दैनिक जीवन में, कोई भी वास्तव में इसके बारे में नहीं सोचता है । ग्रीष्म अवकाश की छुट्टियों के दौरान आप गार्डनिंग सीख सकते है जिससे आप इसकी नई  तकनीक भी सीख अकते है और भविष्य में इसे एक करियर आप्शन की तरह चुन सकते है । 

Check Out:ये है सोशल मीडिया की बेस्ट जॉब्स

Grishma Avkash ka Sadupyog Kaise Kare पर 200 शब्दों में  निबंध

स्कूल में काफी लंबा वक्त गुज़रना मुश्किल होता है, माता-पिता भी कम परेशान नहीं होते। धूप और गर्मी से तबीयत खराब ना हो जाए इस कारण वर्ष माता- पिता बच्चों को बाहर नहीं जाने देते और घर पर ही टीवी वीडियो गेम्स मोबाइल गेम्स के सामने दिन भर बिताते हैं। जिससे उनकी सेहत पर खराब असर पड़ता है। ग्रीष्मकालीन अवकाश के समय ज्यादातर बच्चे अपनी छुट्टियां का सदुपयोग नहीं करते, जबकि वहीं छुट्टियों का भरपूर आनंद ले सकते हैं। अपने अंदर की प्रतिभा में निखार ला सकते हैं या कोई नया कार्य सीख सकते हैं। जिससे उनको आगे चलकर लाभ हो। ग्रीष्मकालीन अवकाश का उपयोग वह तैराकी सीकर कर सकते हैं जिससे वह चुस्त-दुरुस्त रहेंगे साथ ही उन्हें आनंद भी प्राप्त होगा सुमन करने से हार से जुड़ी समस्याएं उत्पन्न नहीं होती। हर रोज स्विमिंग करने से डेली एक्सरसाइज भी हो जाती है जिससे वजन घटाने में भी मददगार साबित होती है। आपकी बॉडी में खून का थक्का जमता नहीं है और सांस संबंधी समस्या में भी सुधार आता है। इन छुट्टियों के दौरान आप कई प्रकार की कोचिंग भी ज्वाइन कर सकते हैं जैसे क्रिकेट एकेडमी वालीबॉल अकैडमी टेबल टेनिस बैडमिंटन आदि। जिससे आपके खेल में निखार तो आएगा ही साथ ही आगे चलकर आपको अच्छे अवसर भी प्रदान कर सकता है। किस से चलकर आप आगे अपना खेल में भी करियर बना सकते हैं।

Check Out: Mera Bharat Mahan Hindi Nibandh

Grishma Avkash ka Sadupyog Kaise Kare पर 300 शब्दों में  निबंध

दुनिया में सबसे मूल्यवान काम यह है कि आप समय का सदुपयोग करें और ग्रीष्म अवकाश आपको सबसे अच्छा अवसर प्रदान करता है। वैसे मनुष्य की प्रवृत्ति होती है कि वह अक्षर खाली समय का लाभ उठाएं। बच्चों की ग्रीष्मावकाश आने से पहले अभिभावक को पहले ही सोच लेना चाहिए बच्चों की छुट्टियों का उपयोग कैसे करेंगे? बच्चे इधर-उधर टहलते हैं जिससे वह अपना मनोरंजन कर सके उसके लिए वह मोबाइल गेम्स कंप्यूटर गेम्स जैसी चीजों का सहारा लेते हैं। 2 महीने के उपरांत खाली बैठने बोर होने लगते हैं। इसमें सबसे बड़ा योगदान अभिभावकों का है जो बच्चों का ध्यान रचनात्मक कार्यों की तरफ आकर्षित कर सकते हैं। हर बच्चे की अपनी रुचि होती है जो समय के साथ अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए अफसर ढूंढते हैं। उनके अंदर प्रतिभाओं का असीम भंडार होता है जिसे बाहर जाना बहुत जरूरी है। उनकी रूचि के अनुसार जैसे खेलकूद, म्यूजिक, आदि को विकसित करने की और ध्यान देना चाहिए। उन्हें जूडो कराटे जिमनास्टिक जैसी कलात्मक गतिविधियों के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए जिनसे उनकी छिपी हुई प्रतिभा बाहर निकले। साथ ही उनमें आत्मविश्वास पैदा हो। बच्चों को ग्रीष्म अवकाश मैं व्यस्त रखना बहुत जरूरी होता है। सेवानिवृत्त होते हैं साथियों का मनोवैज्ञानिक विकास भी होता है। डांस और म्यूजिक के द्वारा बच्चे प्रसंता का मूल मंत्र सीखते हैं। डांस और म्यूजिक का अर्थ ही होता है आनंद। ग्रीष्मकालीन अवकाश में बच्चों के पास पूरा मौका होता है कि वह अपने आप को बहुमुखी प्रतिभा के धनी बन सके। बच्चे पूरे अवकाश के समय नई-नई शैतानियां करने लगते हैं जो कभी कबार उचित नहीं होता। बच्चों को उनकी रूचि के अनुसार प्रोत्साहित करना जरूरी है। जिससे वह अपनी प्रतिभा पर निखार ला सकें। इसमें माता-पिता का सबसे अहम रोल है जिसमें उन्हें बच्चों को समय का सदुपयोग कैसे करें सिखाना आवश्यक है। समय कैसी बहुमूल्य चीज है जिसके निकल जाने के बाद इंसान सिर्फ पछतावा करता है। छोटी उम्र में बच्चों को अधिक चीजें सिखाना आसान होता है। इस प्रकार ग्रीष्म अवकाश का सदुपयोग करके वह अपना जीवन सफल बना सकते हैं।

Check Out: Essay on Importance of Water in Hindi (जल का महत्व पर निबंध)

Grishma Avkash ka Sadupyog Kaise Kare पर 400 शब्दों में  निबंध

संकेत बिंदु :
मनोरंजन का साधन 
मानसिक रूप से विकसित 
परंपरागत खेल

अवकाश शब्द किसी के भी मन को उत्साह से भर देता है। यह हमें मस्ती खेलकूद करने के अवसर दिलाती है। जिसका स्कूल के बच्चों में सबसे ज्यादा उत्साह दिखता है। जहां 5 या 6 दिन लगातार पढ़ने के बाद मैं छुट्टी के दिन को एक अफसर की तरह देखते हैं जिसमें वह अपनी सारी शरारती कर सकें। वही ग्रीष्मकालीन अवकाश तो उनके लिए एक वरदान जैसा होता है। बचपन में हम सभी कभी ना कभी स्कूल जाने से कतराते हैं। आज छुट्टी का नाम आने से हम सबके चेहरे पर मुस्कुराहट आ जाती है । वही लगातार दो महीने की छुट्टियां बच्चों के अंदर इतना जोश भर देती है कि वह नई -नई शैतानियां करने लगते हैं।

ग्रीष्मकालीन अवकाश का समय बच्चों के लिए सबसे अहम है। बच्चों के लिए मनोरंजन अवसर होता है। ग्रीष्मकालीन के अवकाश बच्चों के लिए बहुत मायने रखती है क्योंकि यह उनको रोज स्कूल जाने के कार्यक्रम से आराम दिलाती है। ग्रीष्मकालीन अवकाश देने का सबसे महत्वपूर्ण कारण है एग्जाम्स की टेंशन से आराम। परीक्षा खत्म होने के बाद बच्चे काफी थका हुआ महसूस करते हैं।

इसलिए उन्हें खुद को रिफ्रेश रखने के लिए अवकाश की जरूरत पड़ती है। लेकिन गर्मियों की छुट्टी का इस समय सिर्फ मनोरंजन करके गवाने का ही नहीं होता। बल्कि एक बड़े स्तर पर बच्चों में निखार लाने का भी होता है। इस गर्मी के दौरान वह घर पर ही रह कर काफी गेम्स खेल सकते हैं जो, उन्हें मानसिक तौर पर विकसित करें जैसे कि चैस लूडो सुदकु , अखबारों में दिए गए पजल्स, रिडल्स सॉल्व करके। इसकी आदत माता-पिता को बच्चों में बचपन से ही विकसित कर देनी चाहिए।

गर्मी की छुट्टियों में अगर आप बाहर नहीं भी जाएं तो अपने परिवार के साथ बैठकर अवकाश का आनंद उठा सकते है । साथ ही शाम के समय बच्चों को परंपरागत खेल जैसे पिट्ठू ,खो-खो ,कबड्डी छुपन -छुपाई जैसे गेम खिला कर एक्टिव रख सकते हैं। जिससे वह कुछ नया तो सीखेंगे ही साथ ही नए लोगों से भी जुड़ पाएंगे जो उनकी सोशल इंटरेक्शन स्किल्स में काफी लाभदायक होगा। साथी आजकल इंटरनेट के माध्यम से बच्चे अपने यूट्यूब चैनल बनाकर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करते हैं जिससे वह समय के साथ कैमरे के साथ फ्रेंडली हो जाते हैं। छुट्टियों के समय हम बच्चों कोई मीनिंग फुल किताब पढ़ा सकते हैं। जिससे उन्हें नॉलेज मिले या कोई ऐसी मूवी दिखा सकते हैं कुछ नया सीखे और बोर भी ना हो। खेल के रूप में हम क्रिकेट फुटबॉल हॉकी आदि जैसे खेल खेल सकते हैं साथ ही ऑप्शन है जो आपको मानसिक रूप से और शांत भी रखता है।

Check Out: Paragraph writing in Hindi

Grishma Avkash ka Sadupyog Kaise Kare पर मित्र को पत्र 

विनायक,
गाजियाबाद।
7 जुलाई , 2021 

विषय : ग्रीष्म अवकाश का सदुपयोग 

प्रिय रिया ,
सस्नेह नमस्कार।
तुम्हारा पत्र मिला। घर-परिवार के बारे में जानकारी मिली सुनकर अच लगा सब कुशल मंगल है । इस वर्ष ग्रीष्म अवकाश में मैं अपने बड़े मामा सोनू के पास लुधियाना जा रहा हूँ। वहाँ पर मैं आगामी बोर्ड की दसवीं कक्षा की परीक्षा हेतु जमकर तैयारी करूंगा। इस कार्य में मामा मेरा सहयोग करेंगे। इस प्रकार ग्रीष्म अवकाश का सदुपयोग भी हो जाएगा। तुम अपने विषय में लिखना।
तुम्हारा मित्र
विक्रम 

Check Out: Feature Lekhan किसे कहते हैं

आशा है, आपको Grishma Avkash ka Sadupyog Kaise Kare अच्छा लगा होगा , अगर आपको अच्छा  लगा है तो ज्यादा से ज्यादा अपने दोस्तों के साथ शेयर करें ताकि वो भी Grishma Avkash ka Sadupyog Kaise Kare पढ़ कर लाभ उठा सके और अच्छे अंक प्राप्त कर सके । हमारे Leverage Edu में आपको इसी प्रकार के कई सारे ब्लॉग मिलेंगे जिसे पढ़कर आप कई सारी जानकारियां प्राप्त कर सकेंगे ।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like

Motivational Quotes in Hindi (1)
Read More

200+ Motivational Quotes in Hindi

हिंदी मोटिवेशनल कोट्स (Motivational quotes in Hindi)  आपको अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए मजबूत करते हैं,…