झोपड़ी से आईआईएम प्रोफेसर बनने तक रंजीत रामचंद्रन की संघर्ष की कहानी

Rating:
5
(2)
रंजीत रामचंद्रन की संघर्ष की कहानी

दुनिया में ऐसे कई लोग हैं जिन्होंने अपने संघर्ष की मिसाल पेश की है। कई ऐसे साधारण लोग भारत देश में जन्मे हैं जिन्होंने बाधाओं और कठिनाइयों को पीछे छोड़ सफलता हासिल की है। कुछ लोगों की संघर्ष कहानियां इतनी प्रेरित करने वाली होती है कि उनकी कहानी सुनते ही हमारी आंखों में आंसू छलक उठते हैं। कुछ लोग ऐसा सोचते हैं की एक साधारण आदमी कुछ हासिल नहीं कर सकता परंतु यह कहने से पहले हम यह नहीं सोचते है कि सफलता की सीढ़ी पर बैठा हुआ आदमी भी किसी ना किसी प्रकार वहां पहुंचा होगा वह भी एक मनुष्य है यदि वह सफलता हासिल कर सकता है कोई साधारण आदमी ऐसा क्यों नहीं कर सकता। आए दिन रोज हम एक नया सपना देखते हैं कि हम यह करेंगे ऐसे करेंगे इत्यादि परंतु उनमें से कुछ लोग होते हैं जो उस सपने को पूरा करने के लिए उसमें अपनी जान डाल देते हैं। इसी पर एपीजे अब्दुल कलाम ने कहा भी है कि-“सपने वो नहीं होते हैं जो नींद में देखे जाते हैं, सपने वो होते हैं जो आपको नींद ही नहीं आने देते हैं । इसी तरह है रंजीत रामचंद्रन की संघर्ष की कहानी जिन्होंने एक साधारण आदमी से सफलता की ऊंचाइयों पर अपना नाम सुनहरे अक्षरों में लिखा दिया है।

आज रंजीत रामचंद्रन की संघर्ष की कहानी से रूबरू कराने हम यह ब्लॉग लेकर आए हैं।रंजीत रामचंद्रन की संघर्ष की कहानी उन कहानियों में से हैं जो हमें प्रेरित तो करती हैं परंतु कहीं ना कहीं हमें भावुक भी कर देती हैं। और जिंदगी में कुछ करने पर जोर देती हैं। रंजीत रामचंद्रन की संघर्ष की कहानी ऐसी कहानी है जिसे सुनते ही हमारे मन में रंजीत रामचंद्रन के प्रति आदर सम्मान और भी बढ़ जाता है।

Check it: Indira Gandhi Biography in Hindi

एक प्रेरक फेसबुक पोस्ट 

28 वर्षीय रंजीत रामचंद्रन ने फेसबुक पर अपनी पोस्ट से जैसे खलबली मचा दी। इस पोस्ट में थी रंजीत रामचंद्रन की संघर्ष की कहानी ।उनके पोस्ट के बाद लोगों का ध्यान खींचा जिसमें लिखा था कि ” एक आईआईएम प्रोफेसर का जन्म यहां हुआ था ।” पोस्ट में उसकी झोपड़ी की तस्वीर थी जो टपकती हुई बारिश के पानी को रोकने के लिए तिरपाल शीट से ढकी हुई थी। पोस्ट में यह भी विवरण था कि कैसे उसने अपने सपने को हासिल करने के लिए कोई प्रयास नहीं किया। आज भी हम में से कई लोग हैं जो गरीब परिवार से होने के बाद भी ऊंचाइयों तक पहुंचने का सपना देखते हैं और संघर्ष की मिसाल कायम करते हैं। इसी प्रकार रंजीत रामचंद्रन ने भी अपने संघर्ष को दुनिया के सामने जाहिर किया तथा बतायी रंजीत रामचंद्रन की संघर्ष की कहानी।आईआईएम प्रोफेसर रंजीत रामचंद्रन की संघर्ष की कहानी और जानने के लिए पढ़ना जारी रखें-

Credits – Timesnowhindi
Source: Facebook, Ranjit Ramachandran Facebook Post

रंजीत रामचंद्रन की फेसबुक पोस्ट का हिंदी अनुवाद

Check it: पीएम नरेंद्र मोदी की कहानी

रंजीत रामचंद्रन की संघर्ष की कहानी में खुलासा करने वाला दिन के उजाले में रात का सपना 

 रंजीत रामचंद्रन का प्रत्येक दिन अंतहीन संभावनाओं के साथ शुरू होता है।लेकिन रामचंद्रन की रातें महत्वाकांक्षाओं, आशाओं और विशाल सपनों से भरी थीं। अपने विनम्र घर से आकर, रामचंद्रन के पिता एक दर्जी थे और उनकी माँ एक MGNREGS कार्यकर्ता थीं।रामचंद्रन ने कासरगोड के पनाथुर में एक बीएसएनएल टेलीफोन एक्सचेंज में एक रात के चौकीदार के रूप में काम किया और एक जिला कॉलेज- सेंट पियस एक्स कॉलेज से अपनी अर्थशास्त्र की डिग्री हासिल की।

“… दिन के समय में, मैं अध्ययन करूंगा। मेरे सामने एकेडमिक करियर के लिए दरवाजे खुले जो मुझे लगा कि मैं एक बार हार चुका हूं। ”

Check it: डॉ भीमराव अंबेडकर का जीवन परिचय

अपनी स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद, रामचंद्रन IIT, मद्रास में चले गए। उसने अध्ययन करना मुश्किल पाया क्योंकि वह केवल मलयालम में धाराप्रवाह था। वह निराश हो गए और उन्होंने पीएचडी छोड़ने का फैसला किया। कार्यक्रम। उनके गुरु और मार्गदर्शक ने तब उन्हें आश्वस्त किया और अपने लक्ष्य के बारे में निर्धारित होने के लिए राजी किया।

Credits – The Quint

“मेरे मार्गदर्शक (डॉ। सुभाष) को यकीन था कि मेरा निर्णय गलत था, और मुझे असफल होने और पीछे हटने से पहले लड़ने के लिए कहा। मुझे ऐसा लगा जैसे मैंने हारना शुरू कर दिया है, मुझे उस दिन से जीतने की जिद थी। ”

Check it: Shahrukh Khan Biography in Hindi

रामचंद्रन ने तब दृढ़ निश्चय किया कि छोटी बाधाओं को अपने वास्तविक उद्देश्य में बाधा न बनने दें। वे चले गए और क्राइस्ट यूनिवर्सिटी, बेंगलुरु में सहायक प्रोफेसर बन गए। हालाँकि, उसका लक्ष्य सतह से गहरा था। रामचंद्रन IIM में एक सहायक प्रोफेसर के रूप में अपने सपने के बारे में भावुक थे। यहां तक ​​कि सभी वित्तीय बाधाओं के बावजूद, वह संघर्ष करते रहे और IIM (sic) में एक संकाय के रूप में अपनी योग्य स्थिति हासिल की।

Check it: ये हैं 10 Motivational Books जो देगी आपको आत्मविश्वास

उन्होंने कहा, “जिस क्षण से उन्हें लगा कि वह हार गए हैं, उन्होंने अपनी जिंदगी बदल दी और सफलता हासिल की और यह सभी के लिए प्रेरणा है। हमारे सामने केआर नारायणन सहित महान हस्तियों की जीवन गाथाएँ हैं, जिन्होंने असाधारण इच्छाशक्ति के साथ सफलता प्राप्त की और देश के पहले नागरिक बने। [श्री] रंजीथ जैसे लोगों का जीवन, जो विभिन्न संकटों के कारण हतोत्साहित होने से इनकार करते हैं और सामाजिक और आर्थिक पिछड़ेपन को दूर करने के लिए शिक्षा को एक हथियार के रूप में उपयोग करते हैं, सभी के लिए प्रेरणा हैं। “

-टीएम थॉमस इसाक जो केरल के वित्त मंत्री हैं, ने रंजीथ रामचंद्रन के पद को साझा किया और उनकी दृढ़ता को सराहा। 

Check it: Virat Kohli Biography in Hindi

उनके आकर्षक पोस्ट के बारे में पूछे जाने पर रामचंद्रन ने कहा,

“मैंने कभी नहीं सोचा था कि पोस्ट वायरल होगी। मैंने अपनी जीवन कहानी पोस्ट की, उम्मीद है कि यह कुछ अन्य लोगों को प्रेरित करेगी। मैं चाहता हूं कि हर कोई अच्छे सपने देखे और अपने सपनों के लिए लड़े। मैं चाहता हूं कि अन्य लोग इससे प्रेरित हों और सफलता पाएं। ”

रंजीत रामचंद्रन की संघर्ष की कहानी जानने के लिए जरूर देखें :

Source: The Reporting World

रंजीत रामचंद्रन की संघर्ष की कहानी हमें यह बताती है कि एक गरीब परिवार का लड़का भी ऊंचाइयों को छू सकता है। रंजीत रामचंद्रन ने यह सिद्ध किया कि सफलताओं तक पहुंचने के लिए हमें महंगी वस्तुओं की आवश्यकता नहीं होती।रंजीत रामचंद्रन की संघर्ष की कहानी का नाम यादगार और प्रेरक कहानियों में लिया जाएगा।

Check it: Motivational Poems in Hindi

आशा है आप को रंजीत रामचंद्रन की संघर्ष की कहानी ने इंस्पायर किया होगा।रंजीत रामचंद्रन की संघर्ष की कहानी का यह ब्लॉग यदि आपको पसंद आया हो तो कमेंट सेक्शन में हमें लिखकर बताएं।रंजीत रामचंद्रन की तरह यदि आप भी सपनों को पूरा करना चाहते हैं तो आज ही Leverage Edu से संपर्क करें । 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like

Harivansh Rai Bachchan
Read More

हरिवंश राय बच्चन: जीवन शैली, साहित्यिक योगदान, प्रमुख रचनाएँ

हरिवंश राय बच्चन भारतीय कवि थे जो 20 वी सदी में भारत के सर्वाधिक प्रशिक्षित हिंदी भाषी कवियों…
Success Story in Hindi
Read More

Success Stories in Hindi

जीवन में सफलता पाना हर एक व्यक्ति की प्राथमिकता होती है, मनुष्य का सपना होता है कि वह…