जानिए दलाई लामा का इतिहास

1 minute read
444 views
Dalai Lama ka Jivan

बौद्ध धर्म छठी शताब्दी पूर्व में शुरू हुआ था । बौद्ध धर्म आज सबसे धर्मों में से एक है भारत में यह साउथ ईस्ट में फैला हुआ है। बौद्ध धर्म में चार बातों को सत्य माना जाता है।इनमें सच्चाई, अस्तित्व, मृत्यु जीवन और स्वयं की शिक्षा के बारे में कई बातें हैं।दलाई लामा बौद्ध धर्म के सबसे बड़े फॉलोअर हैं। उन्होंने तिब्बतियों को उनके अधिकारों को दिलवाने में बहुत महत्वपूर्ण योगदान दिया है वह विश्व शांति के लिए भी काम करते हैं जिसके लिए उनको नोबेल शांति पुरस्कार सभी सम्मानित किया जा चुका है। आज हम इस ब्लॉग में Dalai Lama ka Jivan की प्रारंभिक जीवन उनकी शिक्षा कार्य विवादों सम्मान के बारे में बात करेंग। तो चलिए शुरू करते हैं।

CheckOut: बौद्ध धर्म का इतिहास

दलाई लामा के जीवन पर नज़र -Dalai Lama ka Jivan

नाम (Name ) तेनजिन ग्यास्तो(ल्हामो धोणडुप)
जन्म (Birth) 6 जुलाई 1935, तक्त्सैर, उत्तरी तिब्बत 
पिता (Father Name) तोक्योंग त्सेरिंग
माता (Mother Name) बिकी त्सेरिंग
शिक्षा  1959 में गेशे लहारापा की डिग्री (बौद्ध दर्शन मेंपी.एच.डी )
आवर्ड  विश्व में शांति फैलाने के लिए नोबल पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

प्रारम्भिक जीवन 

Dalai Lama ka Jivan के इस ब्लॉग में 6 जुलाई 1935, तक्त्सैर, उत्तरी तिब्बत एक किसान परिवार जन्म हुआ था ।इनके पिता का नाम चोक्योंग त्सेरिंग और माता का नाम डिकी त्सेरिंग है।इनके वंसज करुणा अवलोकेतेस्वर बुद्ध के गुणों के रूप माने जाते हैं। शिक्षा की शुरुआत 6 साल की आयु में की और 23वर्ष गेशे ल्हारापा की डिग्री (बौध दर्शन में पी.एच.डी ) प्राप्त की। संस्कृत, औषधि, बौद्ध तत्वज्ञान, तर्कशास्त्र और तिब्बत की कला एवं संस्कृति समेत संगीत, ज्योतिष विज्ञान, और संगीत में भी शिक्षा हासिल की । 

चीन से मतभेद 

1949 से चीन लगातार तिब्बत पर हमलें करता रहता था । राजनीति में आने से पहले वो चीन गए और वह के नेताओ से मिले और 1949 में 949 चीनी आक्रमण ने तिब्बत को इस तरह खत्म कर दिया की वो लोग वह से जाने के लिए मजबूर हो गए ।1959में तिब्बती लोगों में गुस्सा बढ़ गया और दलाई लामा की ज़िन्दगी खतरे में थी ।चीन Dalai Lama ka Jivan को अलगाववादी मानता था और तिब्बत पर कब्ज़ा न कर पाना उसकी वजह इन्हें माना गया । भारत में श्रण ली और हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला शहर में बस गये।सयुंक्त राष्ट्र संघ के महासभा  में मुद्दा उठाया लेकिन कोई हल नहीं निकला ।

CheckOut: अच्छे विद्यार्थी के 10 गुण

दलाई लामा की तिब्बत की मांग 

Dalai Lama ka Jivan ने 1963 में डेमोक्रेटिक देश की मांग की और सविधान तैयार किया। 1990 में तिब्बत में चुनाव किए गए । 11 वी तिब्बती संसद के सदस्यों का चुनाव दुनियाभर में रहने वालें तिब्बतियों के एक मेम्बर वोट के आधार पर माना गया।1992 में दलाई लामा ने तिब्बत को  डेमोक्रेटिक देश बनाने की मांग की । 

विश्व शांति के लिए कोशिश 

Dalai Lama ka Jivan शुरू से शांति से समस्या का हल निकालने में मानते थे । 1987 में उनहोंने 5  सूत्रीय शांति बनाया जिसमें लिखा तिब्बत एक शांति देश में बदल जाए लेकिन वो नाकाम रहे ये ही 5  सूत्रीय शांति अमेरिका के सामने रखे –

  1. पहला विचार यह था कि तिब्बत देश को एक शांति एवं शांतिपूर्ण क्षेत्र में बदला जाए ।
  2. चीन तिब्बतियों को अपने देश में शरण देने काअधिकार त्याग नहीं करेगा ।
  3. . तिब्बतियों को मानवाधिकरो और लोकतान्त्रिक आज़ादी का सम्मान किया जाए ।
  4. तिब्बत के पर्यावरण की देखभाल की जाए ।
  5. तिब्बत और चीन के बीच बातचीत होती रहे ।

CheckOut: Personality Development Tips in Hindi

दलाई लामा अवार्ड्स 

साल  क्षेत्र अवार्ड्स 
1959 सामुदायिक नेतृत्व  रमन मैग्सेसे 
1989 शांति के प्रयास के लिए  नोबल शांति पुरस्कार
1994 शांति के प्रयास के लिए  विश्व सुरक्षा वार्षिक शांति 
2003 ह्यूमैनिटी के लिए  इंटरनेशनल लीग फॉर ह्यूमन राइट्स अवॉर्ड
2009 विश्व शांति के लिए  लैंटोस मानवाधिकार पुरस्कार 

CheckOut:100 Motivational Quotes in Hindi

Quotes of Dalai Lama ka Jivan

कभी -कभी शांत रहना भी बेहतर होता है 

मेरा धर्म बहुत सरल है मेरा धर्म दयालुता है 

हमारी बाहरी दुनिया में कभी शान्ति नहीं पा सकते है , जब तक की हम अन्दर से शांत न हो 

एक छोटे से विवाद से एक महान रिश्ते को घायल मत होने देना 

मैं अपने दुश्मनों को हराने के लिए उन्हें अपना दोस्त बना लेता हूँ 

हमारे जीवन का उद्देश खुश रहना हैं 

नींद सबसे अच्छा चिंतन है 

मंदिरों की अवश्यकता नहीं हैं , ना हीं जटिल तत्वज्ञान की , मेरा मस्तिष्क और मेरा हृदय मेरे मंदिर हैं मेरा तत्वज्ञानदयालुता हैं 

अगर आप सोचते है की आप बहुत छोटे है तो एक मच्छर के साथ सो कर देखिये आशा करते हैं कि आप को Dalai Lama ka Jivan ब्लॉग अच्छा लगा हो, आप भी दलाई लामा की तरह अपने जीवन को शान्ति और खुशियों से भरने का प्रयास करे और  जितना हो सके अपने दोस्त बाकी सब को  Dalai Lama ka Jivan शेयर करें ताकि वह भी इसकी जानकारी प्राप्त कर सके । हमारे  Leverage Edu में आपको इसी प्रकार के कई सारे ब्लॉग मिलेंगे जहां आप अलग-अलग जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।   

Leave a Reply

Required fields are marked *

*

*

15,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.
Talk to an expert