Shahrukh Khan Biography in Hindi

Rating:
5
(1)
Shahrukh khan biography in Hindi

“तुम औरतों का भी अजीब है… अच्छे भले आदमी को देवता बना देना”, हां आपने सही सोचा यह दीवाना मूवी का डायलॉग है। इस मूवी में ने भारत के सभी लोगों को दीवाना ही बना दिया। और इसी के साथ मिला 1992 में फिल्मी जगत का एवरग्रीन सितारा जिनकी आवाज ने हमारा मन मोह लिया, जिनकी अदायगी ने दीवाना कर दिया, जिनका रोमांस आज भी एवरग्रीन है, जिन्होंने हीरो के रोल में तो झंडे गाड़े ही हैं साथ-साथ विलन के रोल में भी सबको आश्चर्यचकित कर दिया।यह कोई नहीं, यह है फिल्मी जगत के किंग खान, आपने सही समझा द लीजेंड शाहरुख खान। उनके लिए सिर्फ इतना ही कहना कम है उनका जीवन तथा शाहरुख खान से द लीजेंड शाहरुख खान बनने तक का सफर बहुत ही रोचक है। शाहरुख खान के बारे में और जानने के लिए Shahrukh Khan biography in Hindi नीचे दी गई है।

वैसे तो आपने Shahrukh Khan biography in Hindi कई बार पढ़ी होगी लेकिन मुझे पूरी उम्मीद है कि ये Shahrukh Khan biography in Hindi ब्लॉग आपको उससे ज्यादा अच्छा लगेगा तो आइए देखते हैं Shahrukh Khan biography in Hindi-

Read it in English: Education of Shahrukh Khan

Shahrukh Khan biography in Hindi: King of Romance (किंग ऑफ रोमांस के रूप में )

शाहरुख खान ने हर रोल बखूबी निभाया है। उनके फिल्म में पार्टनर के साथ रोमांस करने को अभी तक कोई स्टार टक्कर नहीं दे पाया है। उनका रोमांस करने का तरीका तथा डायलॉग मानों दिलों पर छाप छोड़ जाते हैं इसीलिए शाहरुख खान को किंग ऑफ रोमांस भी जाना जाता है। कई सारी मूवी के रोमांटिक डायलॉग जैसे लोगों के कानों में गूंजते रहते हैं चाहे फिर वह कल हो ना हो मूवी का डायलॉग “प्यार तो बहुत लोग करते हैं लेकिन मेरे जैसा प्यार कोई नहीं कर सकता क्योंकि किसी के पास तुम जो नहीं हो..” हो,

Shahrukh khan biography in Hindi
Source : Wikibio

फिल्म कुछ कुछ होता है का- “हम एक बार जीते हैं,एक बार मरते हैं शादी भी एक बार होती है और प्यार.. भी एक ही बार होता है” हो या ओम शांति ओम का दिलों पर राज करने वाला डायलॉग जो हर शख्स की जबान पर रहता है जब शाहरुख खान को याद करते हैं, “इतनी शिद्दत से मैंने तुम्हे पाने की कोशिश की है हर जर्रे ने मुझे तुमसे मिलाने की साजिश की है..”इतना ही नहीं अभी कई सारे अवॉर्ड्स, मूवीस, डायलॉग आदि आना बाकी है पढ़ना जारी रखें-

शाहरुख खान का बचपन और संघर्ष वर्ष (Shahrukh Khan’s Childhood and Struggling years)

2 नवंबर 1965 को मीर ताज मुहम्मद खान और लतीफ फातिमा के घर जन्मे, खान ने अपने शुरुआती पांच साल अपने नाना-नानी के साथ मंगलौर में बिताए। अहिंसक स्वतंत्रता कार्यकर्ता के बेटे होने के नाते, खान एक अनुशासित और संरचित माहौल में बड़ा हुआ। खान ने विभिन्न साक्षात्कारों में अपने करियर के दौरान आने वाली कठिनाइयों के बारे में बात की। छोटी प्रस्तुतियों के लिए भूमिकाएं करने से लेकर अभिनय के क्षेत्र में एक प्रतिष्ठित व्यक्ति के रूप में उभरने तक, शाहरुख खान की शिक्षा उनकी यात्रा को समझने के लिए महत्वपूर्ण है।शुरुआत से ही, शाहरुख खान ने पढ़ाई में गहरी दिलचस्पी ली।

shahrukh khan biography in hindi
Source : Celebs99.com

खेलों में उनकी सक्रिय भागीदारी ने उन्हें ” स्वॉर्ड ऑफ़ ऑनर ” पुरस्कार दिया, जो स्कूल में किसी को भी प्राप्त हो सकता है, जो उच्च स्तर का सम्मान था।एक खिलाड़ी बनने की ख्वाहिश, खान के करियर को एक चोट से रोकने के बाद यू-टर्न ले लिया। शाहरुख खान ने नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा में अभिनय भी सीखा!वर्ष 1991 में, डायबिटीज की जटिलताओं के कारण खान ने अपनी माँ को खो दिया और किसी तरह मुंबई जाकर अपना फ़िल्मी करियर शुरू करने का फैसला किया। 

Indira Gandhi Biography in Hindi

बॉलीवुड का किंग खान बनने तक का सफ़र (Shahrukh khan ki kahani)

खान ने टीवी में अपने अभिनय करियर की शुरुआत लीख टंडन(Lekh Tandon) की फिल्म दिल दरिया में अपनी पहली भूमिका से की, जिसकी शूटिंग 1988 में शुरू हुई थी, लेकिन प्रोडक्शन में कुछ देरी हुई, जिसके कारण फौजी ने राज कुमार कपूर द्वारा निर्देशित टीवी पर अपना पहला डेब्यू किया। फिल्मों में काम करने के लिए पर्याप्त आत्मविश्वास महसूस नहीं होने पर, उन्होंने दूरदर्शन के सर्कस, वागले की दुनिया, इन एनी गिव इट इट अज़ एंड इडियट जैसे टीवी शो में कई भूमिकाएँ निभाईं ।कई ब्लॉकबस्टर फिल्मों के साथ शाहरूख खान बन गए बॉलीवुड के किंग खान। इसके अलावा किंंग खान ने कई सारी सुपरहिट फिल्में दी जिनमें लोगों ने सबसे ज्यादा – डॉन, वीर-ज़ारा, मैं हूँ ना जैसी फिल्में हैं।

shahrukh khan biography in hindi
KapanLagi.com

Check it: Hindi ASL Topics

शाहरुख खान की शिक्षा (Shahrukh khan Education qualification)

शुरुआती स्कूली शिक्षा सेंट कोलंबा स्कूल
स्नातक की पढ़ाई बीए अर्थशास्त्र, हंसराज कॉलेज
स्नातकोत्तर अध्ययन पत्रकारिता और जनसंचार में मास्टर्स, जामिया मिल्लिया इस्लामिया
अभिनय अध्ययन दिल्ली का थिएटर एक्शन ग्रुप, बैरी जॉननेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा
मानद उपाधि ला ट्रोब विश्वविद्यालय से मानद डॉक्टरेट

पीएम नरेंद्र मोदी की कहानी

Shahrukh khan ki Patni

शाहरुख खान की पत्नी का नाम गौरी खान है जिनका जन्म  8 अक्टूबर 1970 को नई दिल्ली में हुआ। शादी से पहले उनका नाम गौरी छिबर था। गौरी खान फ़िल्म निर्माता, इंटीरियर डिजाइनर तथा फैशन डिजाइनर भी है। उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय लेडी श्री राम कॉलेज से अपनी शिक्षा ली। गौरी खान ने कई फेमस पर्सनालिटी के घरों को चार चांद लगाए हैं जैसे सिद्धार्थ मल्होत्रा के नए घर को उन्होंने डिजाइन किया। सिद्धार्थ मल्होत्रा के अलावा कई जानी-मानी हस्तियों के साथ इन्होंने काम किया जैसे मुकेश अंबानी, रोबर्टो कावाली, रॉफ़ लौरेन, करण जोहर,जैकलिन फ़र्नांडीस आदि। कम्पनी रेड चिलीज़ एंटरटेनमेंट की यह सह अध्यक्ष हैं।

शाहरुख के बच्चे: (Shahrukh khan ka Beta)

शाहरुख खान तथा गौरी खान की तीन संताने आर्यन खान, सुहाना ख़ान और अब्राम खान हैं। शाहरुख खान की बेटी सुहाना खान अभिनेत्री बनने में रुचि रखती हैं तथा आर्यन खान फिल्म निर्देशन और लेखन में रुचि रखते हैं। आर्यन का जन्म सन् 1997 में तथा सुहाना का जन्म 2000 में हुआ तथा उनके सबसे छोटे बेटे का जन्म 27 मई 2013 को हुआ।

Check it: डॉ भीमराव अंबेडकर का जीवन परिचय

शाहरुख खान के माता पिता

उनके पिता का नाम ताज मोहम्मद था जो कि एक स्वतंत्र सेनानी थे भारत विभाजन से पूर्व पेशावर के किस्सा कहानी बाज़ार से दिल्ली आए थे। शाहरुख खान के माता पिता मूल से पठान थे। उनकी माता का नाम लतीफ़ा फ़ातिमा जिनके पिता मेजर जनरल थे जिनका नाम शाहनवाज़ ख़ान था।लतीफ़ा फ़ातिमा रावलपिंडी से आई थी। शाहरुख खान की एक बहन थी जिन्हें प्यार से लालारुख बुलाया जाता है उनका असल नाम शहनाज़ है। उनके पिता ताज मोहम्मद ख़ान की मृत्यु 1981 में तथा मां लतीफ़ा फ़ातिमा की मृत्यु 1990 में हुई।

Check it: हरिवंश राय बच्चन: जीवन शैली, साहित्यिक योगदान, प्रमुख रचनाएँ

शाहरुख खान की टोटल मूवी (Shahrukh Khan Total Movies)

Year Movies
1992 -दीवाना
-चमत्कार
-दिल आशना है
-राजू बन गया जेंटलमैन
1993 -माया मेमसाब
-पहला नशा
-किंग अंकल
-बाज़ीगर
-डर
1994 -कभी हाँ कभी ना
-अंजाम
1995 करन अर्जुन
जमाना दीवाना
गुड्डू
ओह डार्लिंग ! ये है इंडिया
दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे
रामजाने
त्रिमूर्ति
1996 इंग्लिश बाबू देसी मेम
चाहत
आर्मी
दुश्मन दुनिया का
1997 गुदगुदी
कोयला
यस बास
परदेस
दिल तो पागल है
1998 डुप्लीकेट
अचानक
दिल से
कुछ कुछ होता है
1999 बादशाह
फिर भी दिल है हिन्दुस्तानी
हे राम
जोश
2000 हर दिल जो प्यार करेगा
मोहब्बतें
गज गामिनी
2001 वन टू का फोर
अशोका
कभी खुशी कभी ग़म
2002 हम तुम्हारे हैं सनम
देवदास
शक्ति:द पावर
साथिया
2003 चलते चलते
कल हो ना हो
2004 ये लम्हें जुदाई के
मैं हूँ ना
वीर-ज़ारा
स्वदेश
2005 कुछ मीठा हो जाए
काल
सिलसिलें
पहेली
2006 अलग
कभी अलविदा ना कहना
डॉन
आई सी यू
2007 चक दे! इंडिया
हे बेबी
ओम शान्ति ओम
2008 शौर्य
क्रेज़ी 4
भूतनाथ
किस्मत कनेक्शन
रब ने बना दी जोड़ी
2009 लक बाय चांस
2010 दूल्हा मिल गया
माइ नेम इज़ ख़ान
शाहरुख बोला “खूबसूरत है तू”
2011 आलवेज़ कभी कभी
लव ब्रेकअप्स ज़िंदगी
रा.वन
डॉन २
2012 जब तक है जान
2013 बॉम्बे टॉकीज़
चेन्नई एक्सप्रेस
2014 भूतनाथ
हैप्पी न्यू ईयर
2015 दिलवाले
2016 फैन
तूतक तूतक तूतिया
ऐ दिल है मुश्किल
डियर ज़िन्दगी
2017 रईस
जब हैरी मेट सेजल
2018 द गृहप्रवेश पूजा 25 मार्च 2018

Check it: Rohit Sharma Ki Safalta Ki Kahani

Check it: आप की अदालत में नजर आए शाहरुख खान देखिए वीडियो-

Credits: India TV

Shahrukh Khan Biography in Hindi: पुरस्कार और उपलब्धियां

स्क्रीन पर अपने दिल को लूटने वाले प्रदर्शन के लिए नामांकित होने के अलावा, शाहरुख खान ने कई पुरस्कार अपने नाम किए। स्टार ने 92 राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त किए हैं और अपने पूरे अभिनय करियर में 72 नामांकन प्राप्त किए हैं।फ़िल्म उद्योग में अपने अतुल्य योगदान के लिए , द स्टार ऑफ द डिकेड , एंटरटेनर ऑफ द ईयर , फन फ़ियरलेस मेल ऑफ़ आल टाइम से लेकर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड्स तक , प्रमुख भूमिकाएँ प्राप्त करने से लेकर , खान को उनके ऑन-स्क्रीन प्रदर्शन के लिए काफी सराहा गया है। भारत सरकार ने उन्हें 2005 में पद्म श्री (चौथा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार) से सम्मानित किया। खान को कला और पत्र के आदेश के साथ निवेश किया गया थाफ्रांस सरकार द्वारा और उन्हें 2014 में ऑर्डर ऑफ द लीजन ऑफ ऑनर से सम्मानित किया गया जो देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है।

Check it: जानिए साइना नेहवाल की सफलता के पीछे का संघर्ष

शाहरुख खान ने भी 2017 में अपनी पहली TED टॉक दी, जिसमें उन्होंने प्रसिद्धि की अपनी यात्रा के बारे में बात की, मानवता, प्रसिद्धि और प्यार पर उनके मजाकिया विचारों।

Credits: Ted talks

Shahrukh Khan Biography in Hindi: Shahrukh Khan का एक्टिंग के अलावा अन्य काम

शाहरुख खान आईपीएल की कोलकाता नाइट राइडर्स टीम के मालिक है। यह अभिनेता के अलावा प्रोड्यूसर तथा टीवी होस्ट भी हैं। शाहरुख खान के दो प्रोडक्शन हाउस रेड चिलीज एंटरटेनमेंट एवं ड्रीम्ज अनलिमिटेड हैं गौरी खान जिसकी सह अध्यक्ष और सह संस्थापक हैं। मैं हूं ना और इसके अलावा कई फिल्मों को शाहरुख खान ने प्रोड्यूस किया है। 

Facts about Shahrukh Khan

  1. शाहरुख खान की दादी ने उनका नाम अब्दुल रहमान रखा था जिसे उनके पिता ने बदल दिया और शाहरुख खान रख दिया।
  2. पिताजी की मृत्यु के बाद शाहरुख खान ने उनका रेस्टोरेंट भी संभाला।
  3. जब शाहरुख खान स्ट्रगल कर रहे थे तब उन्होंने पंकज उदास के यहां हेल्पर स्टाफ  के रूप में काम किया।
  4. दीवाना से पहले उन्होंने अपना पहला अपीरियंस फिल्म in which Annie gives it those ones में स्कूल स्टूडेंट की भूमिका निभाकर पेश किया।

Shahrukh Khan Biography in Hindi :Quiz

Shahrukh Khan Biography in Hindi Quiz

Shahrukh Khan Top 10 Famous dialogues ( शाहरुख खान के टॉप 10 लोकप्रिय डायलॉग)

“जिंदगी में कुछ बनना हो, कुछ हासिल करना हो, कुछ जीतना हो तो हमेशा अपने दिल की सुनो, और अगर दिल से भी कोई जवाब ना आये तो अपनी आंखें बंद करके अपने मां और बाबा का नाम लो। फिर देखना तुम हर मंजिल पा सकोगे, हर मुश्किल आसान हो जायेगी, जीत तुम्हारी ही होगी, सिर्फ तुम्हारी।”

“प्यार दोस्ती है, अगर वो मेरी सबसे अच्छी दोस्त नहीं बन सकती, तो मैं उसे कभी प्यार कर ही नहीं सकता। क्योंकि दोस्ती बिना तो प्यार होता ही नहीं, सिंपल प्यार दोस्ती है।”

“आज एक हंसी और बांट लूं, आज एक दुआ और मांग लूं, आज एक आंसू और पी लूं, आज एक जिंदगी और जी लूं, आज एक सपना और देख लूं, आज क्या पता कल हो ना हो।”

“डॉन अपने दोस्तों का हाल पूछे या ना पूछे, अपने दुश्मनों की खबर हमेशा रखता है।”

“कहते हैं अगर दिल किसी चीज को चाहो तो पूरी कायनात उसे तुमसे मिलाने की कोशिश में लग जाती है।”

Check it: जानिए हिन्दी साहित्य के रत्न कहे जाने वाली इन हस्तियों को

“आज इस बात का भी यकीन हो गया कि हमारी फिल्मों की तरह हमारी जिंदगी में भी एंड में सब ठीक हो जाता है, हैप्पी एंडिंग्स। और अगर ठीक ना हो तो वो एंड नहीं है दोस्तों पिक्चर अभी बाकी है।:

“प्यार जिंदगी की तरह होता है, जिसका हर मोड़ आसान नहीं होता, हर रास्ते पर खुशी नहीं मिलती, पर जब हम जिंदगी का साथ नहीं छोड़ते तो हम प्यार का साथ क्यों छोड़ दें।”

“डोंट अंडरएस्टीमेट द पावर ऑफ अ कॉमन मैन”

“रोने का इजहार नहीं किया तो प्यार का कैसे करें”

“दिल तो सबके पास होता है। लेकिन सब दिलवाले नहीं होते।”

आशा है, शाहरुख खान की फिल्म और डायलॉग जैसे हमेशा एवरग्रीन रहेंगे उसी तरह Shahrukh Khan Biography in Hindi के इस ब्लॉग ने आपके दिलों पर छाप छोड़ी होगी और दी गई सभी जानकारी आपके लिए सहायता योग्य होगी। शाहरुख खान की तरह यदि आप भी सपनों की उड़ान भरना चाहते हैं और देश में नाम कमाना चाहते हैं तो आज ही Leverage Edu के एक्सपर्ट से संपर्क करें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

10,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today.

+91
Talk to an expert for FREE

You May Also Like

Harivansh Rai Bachchan
Read More

हरिवंश राय बच्चन: जीवन शैली, साहित्यिक योगदान, प्रमुख रचनाएँ

हरिवंश राय बच्चन भारतीय कवि थे जो 20 वी सदी में भारत के सर्वाधिक प्रशिक्षित हिंदी भाषी कवियों…
Success Story in Hindi
Read More

Success Stories in Hindi

जीवन में सफलता पाना हर एक व्यक्ति की प्राथमिकता होती है, मनुष्य का सपना होता है कि वह…